Lunar Eclipse: नंगी आंखों से चंद्र ग्रहण देख सकते हैं या नहीं, क्या कहता है विज्ञान

एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला Published by: रत्नप्रिया रत्नप्रिया Updated Fri, 10 Jan 2020 11:01 AM IST
File Photo
1 of 5
विज्ञापन
साल 2020 का पहला चंद्र ग्रहण शुक्रवार,  10 जनवरी की रात लग रहा है। चंद्र ग्रहण का ये नजारा पूरे भारत के साथ-साथ यूरोप, अफ्रीका, एशिया और ऑस्ट्रेलिया में भी देखा जा सकेगा। इसकी कुल अवधि चार घंटे एक मिनट होगी। भारतीय समय के मुताबिक चंद्र ग्रहण 10 जनवरी की रात 10 बजकर 37 मिनट पर शुरू होगा और 11 जनवरी को दो बजकर 42 मिनट पर खत्म होगा। रात 12 बजकर 41 मिनट पर यह अपने सबसे विस्तृत रूप में दिखेगा जब चंद्रमा का करीब 90 फीसदी हिस्सा पृथ्वी से ढका होगा। आगे जानें इस ग्रहण के बारे में कुछ जरूरी और रोचक बातें।

lunar eclipse (File Photo)
2 of 5
खास बात है कि यह एक उपछाया चंद्र ग्रहण (Penumbral Lunar Eclipse) होगा। इसे Wolf Moon Eclipse भी कहा जा रहा है। ये क्या होता है और इस ग्रहण को किस तरह देखना सुरक्षित होगा, इस बारे में आगे की स्लाइड्स में पढ़ें।
विज्ञापन
विज्ञापन
Lunar eclipse (File Photo)
3 of 5

क्या होता है उपछाया चंद्र ग्रहण?

  • जब सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी एक सीधी लाइन में नहीं होते तो उपछाया चंद्र ग्रहण लगता है। इसे देखना थोड़ा मुश्किल होता है, क्योंकि ये सामान्य चंद्र ग्रहण की तुलना में ज्यादा अंधेरे में रहता है। 
  • ये ग्रहण तब लगता है जब चंद्रमा पृथ्वी की बाहरी छाया से होकर गुजरता है जिसे उपच्छाया (Penumbra) कहते हैं। पृथ्वी की छाया से चंद्रमा आंशिक रूप से ढक जाता है और सूर्य की किरणें चंद्रमा की सतह तक नहीं पहुंच पाती हैं। 
lunar eclipse (File Photo)
4 of 5

क्यों कहलाता है Wolf Moon Eclips?

ये ग्रहण पौष पूर्णिमा पर लग रहा है। दुनिया में कई जगहों पर ऐसी मान्यता है कि जनवरी के महीने में जब पूर्णिमा होती है, तब भेड़िये जोर-जोर से चिल्लाते हैं। हालांकि इस बात की कोई वैज्ञानिक पुष्टि नहीं है। लेकिन दुनिया के कई देशों में मान्यताओं के आधार पर इसे Wolf Eclipse भी नाम दिया जा रहा है।
विज्ञापन
विज्ञापन
File Photo
5 of 5

कैसे देख सकते हैं ये ग्रहण?

वैज्ञानिकों के अनुसार, इस ग्रहण को देखने के लिए किसी तरह के खास चश्मे की जरूरत नहीं है। आप नंगी आंखों से भी ये चंद्र ग्रहण देख सकते हैं। वैज्ञानिक दृष्टि से ये पूरी तरह सुरक्षित है।

ये भी पढ़ें : साल में 58 दिन मनाया जाता है नया साल, जानें किस देश में कब होती है नववर्ष की शुरुआत 
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00