लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

The Kashmir Files: कौन हैं सुदीप्तो सेन? फिल्मकार नादाव लापिड के 'द कश्मीर फाइल्स' पर दिए गए बयान को दी चुनौती

एंटरटेनमेंट डेस्क, अमर उजाला Published by: साक्षी Updated Wed, 30 Nov 2022 06:28 PM IST
नदाव लापिड, सुदीप्तो सेन
1 of 4
विज्ञापन
इन दिनों 'द कश्मीर फाईल्स' चर्चा में है। दरअसल, 22 नवंबर को 53वें इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया में ज्यूरी हेड और इस्राइल के फिल्मकार नादव लापिड ने कश्मीरी पंडितों के नरसंहार को सबके सामने उजागर करने वाली फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' को भद्दी और प्रोपेगेंडा फैलाने वाली बता दिया था। अब इस पर नई बहस छिड़ गई है। वहीं आईएफएफआई के दूसरे ज्यूरी मेंबर सुदीप्तो सेन ने नादव लापिड के बयान से किनारा कर लिया है। उन्होंने नादव के बयान को उनकी निजी राय बताया है। इस खबर में हम आपको बताने वाले है कि गोवा फिल्म फेस्टिवल के आखिरी दिन अपने बयान से हंगामा खड़ा कर देने वाले नदाव लापिड के बयान को चुनौती देने वाले सुदीप्तो सेन कौन हैं?
द कश्मीर फाइल्स
2 of 4
कौन है सुदीप्तो सेन
सुदीप्तो सेन एक लेखक और निर्देशक हैं। सुदीप्तो सेन ने कई शॉर्ट फिल्में बनाई हैं। साथ ही उन्होंने डॉक्यूमेंट्री का भी निर्माण किया है। उनके द्वारा बनाई गई शॉट फिल्मों में 'अखनूर', 'इन द नेम ऑफ लव', 'इंडियन ऑटम' और 'बैटल ऑफ सरायघाट' शामिल हैं। साथ ही सुदीप्तो सेन 53वें इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया में ज्यूरी बोर्ड के मेंबर हैं।

यह भी पढ़े: Dream Girls 2: आयुष्मान की 'ड्रीम गर्ल-2' की रिलीज डेट में हुआ बदलाव, अब इस तारीख को सिनेमाघरों में आएगी फिल्म
विज्ञापन
द कश्मीर फाइल्स
3 of 4
शॉर्ट फिल्म और डॉक्यूमेंट्री
सुदीप्तो सेन 'आसमा', 'गुरुजी: अहेड ऑफ टाइम', 'लखनऊ टाइम्स', 'द लास्ट मोंक' जैसी फिल्में भी डायरेक्ट कर चुके हैं। साथ ही उन्होंने गुरुजना फिल्म का भी निर्देशन किया है। सुदीप्तो सेन अपनी दमदार डॉक्यूमेंट्री के लिए जाने जाते हैं। सुदीप्तो सेन अक्सर सच्ची घटनाओं पर आधारित डॉक्यूमेंट्री, शॉर्ट फिल्म और फिल्मों का निर्देशन करते हैं।

यह भी पढ़े: Allu Arjun: पुष्पा के प्रमोशन से पहले रूस के लिए रवाना हुए अल्लू अर्जुन, फिल्म का रूसी ट्रेलर भी आया सामने
 
Nadav Lapid
4 of 4
लापिड के बयान पर क्या बोले सुदीप्तो
दरअसल, नादव लापिड के 'द कश्मीर फाइल्स' पर की गई टिप्पणी से सुदीप्तो सेन ने यह कहते हुए दूरी बना ली कि नादव द्वारा दिए गए विचार उनकी अपनी निजी राय है। सुदीप्तो सेन ने बोर्ड की तरफ से बयान जारी करते हुए ट्वीट किया था। सुदीप्तो सेन ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक पोस्ट साझा करते हुए लिखा, '53वें आईएफएफआई के समापन समारोह के मंच से ज्यूरी के अध्यक्ष नादव लापिड द्वारा फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' के बारे में जो कुछ भी कहा गया है, वह पूरी तरह से उनकी निजी राय थी। ज्यूरी बोर्ड ने आधिकारिक तौर पर कभी भी अपनी पसंद या नापसंद के बारे में कुछ नहीं कहा है।'

यह भी पढ़े: Bappi Lahiri: बप्पी लाहिड़ी के नाम वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स ने किया कवर और डाक टिकट का एलान, भावुक हुआ परिवार
विज्ञापन
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें मनोरंजन समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। मनोरंजन जगत की अन्य खबरें जैसे बॉलीवुड न्यूज़, लाइव टीवी न्यूज़, लेटेस्ट हॉलीवुड न्यूज़ और मूवी रिव्यु आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00