Mirzapur 2 Review: कालीन भैया ने लौटते ही जमाया पुराना रुआब, निगाहें इस बार ‘स्त्री शक्ति’ पर

पंकज शुक्ल
Updated Fri, 23 Oct 2020 11:10 AM IST
मिर्जापुर 2 रिव्यू
1 of 6
विज्ञापन
Web Series Review: मिर्जापुर 2
कलाकार: दिव्येंदु शर्मा, अली फजल, श्वेता त्रिपाठी, रसिका दुग्गल और पंकज त्रिपाठी आदि।
निर्देशक: गुरमीत सिंह और मिहिर देसाई
ओटीटी: प्राइम वीडियो
रेटिंग: **1/2


दो साल हो गए मिर्जापुर पर कब्जे की कहानी में खून की नदियां बहे हुए। उत्तर प्रदेश में तब से इतना असली का क्राइम हो चुका है कि प्राइम वीडियो को देश में अपने पांव खड़ा करने वाली इस सीरीज के दूसरे सीजन का खून खराबा फिल्मी लगने लगा है। उत्तर प्रदेश ने इस बीच में बिकरू देखा है। आठ पुलिसवालों की लाशें गिरती देखी हैं। एक माफिया डॉन को मंदिर में शरण लेते देखा है। और, भोर में जानवरों के सड़क पर आ जाने के बाद गाड़ियां पलटती देखी हैं और ये भी देखा है कि महामृत्युंजय मंत्र भले भुजा चीरकर अंदर बैठा दिया जाए, लेकिन अंत बुरे का बुरा ही होता है।
मिर्जापुर 2
2 of 6
प्राइम वीडियो की सीरीज ‘मिर्जापुर’ के दूसरे सीजन के लिए इस बार चुनौती पहले से कहीं ज्यादा बड़ी है। कुछ कुछ वैसे ही जैसे ‘सैक्रेड गेम्स 2’ के लिए इसका पहला सीजन ही कसौटी बन गया था। ‘मिर्जापुर’ का पहला सीजन रगों में दौड़ने की बजाय आंखों से लहू टपकाने वाली नस्ल का तांडव रहा है। इस बार भी कहानी वहीं से फायर हो रही है। कट्टा, तमंचा, गोला, बारूद सब पहले से ज्यादा है। प्राइम वीडियो वालों ने शो को तय समय से पहले भले रिलीज कर दिया हो लेकिन रिव्यू के लिए जो दो एपीसोड समीक्षकों को भेजे गए, उसमें अभी बहुत कुछ खुलना बाकी है।
विज्ञापन
विज्ञापन
मिर्जापुर 2
3 of 6
अखंडानंद उर्फ कालीन भैया का साम्राज्य विस्तार किन किन संधियों और आक्रमणों से होकर गुजरने वाला है, इसका खाका कहानी के शुरू में ही खींच दिया गया है। मूसलाधार बरसती गालियां हैं और तौल में खरीद गई गोलियां हैं। ये दुनिया आम मनोरंजन के शौकीनों के लिए नहीं है। पिछली बार का याद है ना? यहां सब कुछ इफरात में है। फौलादी जिस्म भी और जिस्मानी रिश्ते भी।
मिर्जापुर 2
4 of 6
इस बार की कहानी घायल शेरों के मुकाबले की कहानी बन चुकी है। गुड्डू पंडित को बदला लेना है, हर उस जख्म को जो उसके शरीर पर तो है डिम्पी और गोलू को भी जो अंदर तक छील गया है। बब्लू को वह भूला नहीं है। चूड़ियों की जगह अब कट्टों ने ले ली है और लड़कियों की लाली इस बार खून के रंग से आने वाली है। हर तरफ खून है। सबकी आंखों में खराबा है।
विज्ञापन
विज्ञापन
मिर्जापुर 2
5 of 6
कहानी इस बार मिर्जापुर से चलकर लखनऊ तक पहुंच चुकी है। कंप्यूटर और उसके दोस्तों को लोग इस बार खूब मिस करने वाले हैं। लेकिन, जो किरदार कभी कुछ नहीं मिल करता वो बीना फिर अपना फन काढ़ चुकी हैं। इस कहानी में त्रिया चरित्र भर भरके है, लेकिन ‘मिर्जापुर 2’ के पहले दो एपीसोड्स के सुपरस्टार हैं कालीन भैया यानी अपने पंकज त्रिपाठी। सिनेमा में जोकरई करते दिखने वाले पंकज त्रिपाठी का ये रूप दिल दहला देने वाला है।
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें Entertainment News से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। मनोरंजन जगत की अन्य खबरें जैसे Bollywood News, लाइव टीवी न्यूज़, लेटेस्ट Hollywood News और Movie Reviews आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00