लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Viral Jokes in Hindi: जेलर ने कैदी से कहा- कल तुम्हें फांसी होगी..., बताओ तुम्हारी अंतिम इच्छा क्या है? दिया गजब का जवाब, पढ़िए धमाकेदार जवाब

फीचर डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: धर्मेंद्र सिंह Updated Fri, 25 Feb 2022 03:16 PM IST
जोक्स
1 of 5
विज्ञापन
हंसना सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है। हम सभी को दिन में समय निकालकर एक बार जरूर हंसना चाहिए। हंसने से मन और शरीर दोनों स्वस्थ रहता है। हंसने की वजह से हम सभी मानिसक तनाव से बच सकते हैं। इसीलिए हम आपको हंसाने के लिए लाए हैं कुछ मजेदार जोक्स और चुटकुले जिन्हें पढ़ने के बाद आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे। तो आइए शुरू करते हैं हंसने और हंसाने का सिलसिला...


एक औरत अपने पति की कब्र पर पंखा से हवा कर रही थी।

राह चलते पंडित जी उसकी यह पति भक्ति देखकर ठिठक कर रुक गये।

उसने पास जाकर कहा- बहन जी, अब तो यह मर गया है।

अब इस पर पंखा पखा चलाने से क्या फायदा ?

औरत ने ठंडी सांस लेकर कहा- मैं इस कब्र को जल्द सुखाने की कोशिश कर रही हूं

क्योंकि हमारे यहां का कायदा है कि जब तक पति की कब्र सूख न जाए,

औरत दूसरी शादी नहीं कर सकती है।
जोक्स
2 of 5

संता समोसे को खोलकर सिर्फ अंदर का मसाला ही खा रहा 
था।

बंता- अरे! तू पूरा समोसा क्यों नहीं खा रहा?

संता- अरे... मैं बीमार हूं ना,

डॉक्टर ने बाहर की चीजें खाने से मना किया है।
विज्ञापन
जोक्स
3 of 5
पतियों को दुख इस बात का नहीं होता है कि श्रीमती घर का काम करवाती हैं

तकलीफ ये है

कि काम हो जाने के बाद

सहेली से फोन पर कहती हैं -

ये आदमी किसी काम का नहीं है।
जोक्स
4 of 5
पत्नी- हाय राम आपके सर से खून क्यों निकल रहा है?

पति- मेरे एक दोस्त ने मुझे ईंट मार दी।

पत्नी- आप भी मार देते, आपके हाथ में कुछ नहीं था क्या?

पति- था न, उसकी बीवी का हाथ।

फिर क्या, पत्नी ने भी दो ईंट मार दी उसके सर पर।

अब बेचारा पति अस्पताल में भर्ती है। 
विज्ञापन
विज्ञापन
जोक्स
5 of 5
जेलर- कल तुम्हें फांसी होगी..., बताओ तुम्हारी अंतिम इच्छा क्या है?

कैदी- मैं तरबूज खाना चाहता हूं।

जेलर- लेकिन ये तरबूज का मौसम नहीं है।

कैदी- कोई बात नहीं, मैं इंतजार कर लूंगा।
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00