लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन

Exit Poll: कांग्रेस के लिए एग्जिट पोल के क्या मायने, क्या राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा का असर भी नहीं हुआ?

इलेक्शन डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: हिमांशु मिश्रा Updated Tue, 06 Dec 2022 09:55 AM IST
एग्जिट पोल 2022
1 of 10
गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के साथ-साथ दिल्ली एमसीडी का चुनाव संपन्न हो चुका है। एमसीडी के नतीजे कल यानी सात दिसंबर को घोषित हो जाएंगे, जबकि गुजरात और हिमाचल प्रदेश का परिणाम आठ दिसंबर को जारी होगा। 

इसके पहले सोमवार को तमाम एजेंसियों ने एग्जिट पोल के आंकड़े जारी कर दिए। इसमें अनुमान लगाया गया है कि गुजरात और हिमाचल प्रदेश में भाजपा की सत्ता बरकरार रहेगी, जबकि दिल्ली एमसीडी में अब आम आदमी पार्टी का राज होगा। इन तीनों राज्यों के एग्जिट पोल के आंकड़े भाजपा और आम आदमी पार्टी को तो राहत देते हैं, लेकिन कांग्रेस के लिए खतरे की आहट साबित होने लगी है। गुजरात विधानसभा और दिल्ली एमसीडी चुनाव में सबसे ज्यादा अगर किसी पार्टी को नुकसान हुआ है तो वह कांग्रेस का है। हिमाचल में जरूर कांग्रेस ने मजबूती से फाइट की, लेकिन एग्जिट पोल के आंकड़े बताते हैं कि यहां भी भाजपा का राज कायम रहेगा। 


 
भारत जोड़ो यात्रा में राहुल गांधी।
2 of 10
ऐसे नतीजे तब आ रहे हैं, जब कांग्रेस के सबसे दिग्गज नेता राहुल गांधी 12 राज्यों से होते हुए 3,500 किलोमीटर से ज्यादा का पैदल सफर कर रहे हैं। इसके जरिए वह न सिर्फ पार्टी को मजबूत करने की कोशिश कर रहे हैं, बल्कि नए लोगों को भी जोड़ने में जुटे हैं। यही कारण है कि अब कांग्रेस पर सवाल उठने लगा है। आखिर इतनी मेहनत के बावजूद कांग्रेस कहां चूक कर रही है? क्यों नहीं चुनावों में लोग कांग्रेस को वोट कर रहे हैं? एक-एक करके हर राज्य में कांग्रेस क्यों कमजोर हो रही है? आइए समझते हैं... 
विज्ञापन
गुजरात एग्जिट पोल।
3 of 10
पहले जानिए तीनों राज्यों तीनों राज्यों के एग्जिट पोल क्या कहते हैं? 

गुजरात : गुजरात को लेकर नौ एजेंसियों ने सर्वे किया था। सभी का अनुमान है कि भारतीय जनता पार्टी की सत्ता सूबे में बरकरार रहेगी। भाजपा पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएगी। यही नहीं, पिछली बार के मुकाबले इस बार सीटों में भी बढ़ोतरी हो सकती है। सभी सर्वे की बात करें तो किसी भी सर्वे ने भाजपा को 110 से कम सीट नहीं दी है। ये आंकड़ा अधिकतम 151 तक जा रहा है। ऐसा होता है तो गुजरात के चुनावी इतिहास में ये नया रिकॉर्ड होगा। 

 वहीं, इस बार पूरी ताकत से चुनावी मैदान में उतरी आम आदमी पार्टी को कुछ खास फायदा होता नहीं दिख रहा है। एग्जिट पोल के आंकड़े कहते हैं कि अभी गुजरात में मुख्य लड़ाई कांग्रेस और भाजपा के बीच ही है। 2017 के मुकाबले इस बार कांग्रेस को नुकसान उठाना पड़ सकता है। गुजरात में पिछले 27 साल से भाजपा का राज है और कांग्रेस हर बार दूसरे नंबर पर ही रहती है। अगर इस बार के एग्जिट पोल के आंकड़े सही साबित हुए तो कांग्रेस को काफी ज्यादा नुकसान उठाना पड़ सकता है। 
 
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00