लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Kanwar Yatra 2022: वन-वे हुआ ट्रैफिक, सीसीटीवी कैमरों से होगी कांवड़ियों की निगरानी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला नेटवर्क, मेरठ Published by: Dimple Sirohi Updated Thu, 21 Jul 2022 01:10 PM IST
डीएम दीपक मीणा
1 of 10
विज्ञापन
मेरठ डीएम दीपक मीणा ने कांवड़ियों की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश दिए हैं। वहीं बागपत में भी कांवड़ यात्रा पर 200 कैमरों की निगरानी रहेगी। साथ ही कांवड़ियों की स्वास्थय व्यवस्था की भी देखभाल की जाएगी।

शाम करीब साढ़े चार बजे एडीजी राजीव सब्बरवाल देवबंद की मंगलौर रोड पुलिस चौकी पर पहुंचे जहां उन्होंने कांवड़ मार्ग का निरीक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि शिवभक्त कांवड़ियों को किसी भी तरह की परेशानी नहीं होनी चाहिए। लापरवाही बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। एसपी देहात सूरज रॉय ने बताया कि कांवड़ मार्ग पर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। करीब आधा घंटा सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के बाद एडीजी सहारनपुर की तरफ रवाना हो गए। 

यह भी पढ़ें: UP: आज सीएम योगी से मिलेंगे मंत्री दिनेश खटीक, इस्तीफे पर तोड़ी चुप्पी, बताया-किस बात से हुए ज्यादा आहत

32 सेक्टर में बांटा हाईवे 
एएसपी ब्रह्मपुरी विवेक यादव के मुताबिक एनएच-58 हाईवे को 32 सेक्टर में बांटा गया है। जहां पर बाइकों पर पुलिसकर्मी 24 घंटे गश्त करेंगे। एसएसपी और एसपी सिटी रोजाना इसकी निगरानी करेंगे। सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। ड्रोन से भी निगरानी होगी और 24 और 25 जुलाई के लिए तीन हेलिकॉप्टर मांगे गए हैं। इन हेलिकॉप्टरों से कांवड़ियों पर पुष्पवर्षा होगी और सुरक्षा का भी जायजा लिया जाएगा। 
कांवड़ यात्रा
2 of 10
कांवड़ियों की मदद के लिए लगाए साइन बोर्ड
मेरठ के मुख्य विकास अधिकारी शशांक चौधरी ने बताया कि कांवड़ियों के लिए पानी पीने के लिए हैंडपंप की मरम्मत पूरी की जा चुकी है। हैंडपंप पर अगले हैंडपंप की दूरी भी लिखी गई है। इससे कांवड़ियों को परेशानी नहीं होगी। साइन बोर्ड भी गंगनहर पटरी पर लगा दिए गए हैं, जिससे कोई रास्ता नहीं भटकेगा। वहीं, 24 घंटे तक चलने वाले कंट्रोल रूम का नंबर भी चस्पा कर दिया गया है। परेशानी होने पर तुरंत सूचना दी जा सके। इसके अलावा विकास खंड रोहटा के अंतर्गत गंगनहर पटरी पर जटपुरा से भोला झाल तक सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। कांवड शिविरों में सर्फाइ कर्मचारियों की तैनाती कर दी गई है। मोबाईल टॉयलेट की व्यवस्था की गई है। शिविरों में डिस्पोजल वेस्ट गड्ढा तैयार किया गया है। इन सभी कार्य को ग्राम पंचायत द्वारा कराया गया है।

यह भी पढ़ें: World Athletic Championship: मेरठ की बेटी अन्नु रानी ने भाला फेंक स्पर्धा के फाइनल में बनाई जगह
विज्ञापन
हरिद्वार हाईवे पर कांवड़
3 of 10
वन वे हुआ ट्रैफिक, धड़ाम हुई व्यवस्था
दिल्ली-देहरादून हाईवे पर कांवड़ियों के आवागमन के चलते ट्रैफिक को वनवे कर दिया गया है। ट्रैफिक के वन वे होते ही व्यवस्था धड़ाम हो गई और जाम से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा।
कांवड़ यात्रा को लेकर जगह-जगह पर बैरिकेडिंग कर दी गई है, हाईवे के एक और कांवड़ियां चल रहे हैं तो दूसरी ओर ट्रैफिक को निकाला जा रहा है। ट्रैफिक की व्यवस्था के लिए लगाए गए पुलिसकर्मी भी फेल हो गए। बुधवार को दिनभर हाईवे पर ट्रैफिक व्यवस्था धड़ाम रही। मोदीपुरम चेक पोस्ट से लेकर दुल्हैड़ा चुंगी तक ज्यादा जाम लगा हुआ था। कांवड़ मार्ग पर सिर्फ कांवड़ियों को ही चलने की अनुमति दी गई है। 

यह भी पढ़ें: Meerut: डाकघरों में पहुंचा गंगाजल, गंगोत्री के जल से करें महादेव का अभिषेक
कांवड़ शिविर का शुभारंभ करते लोग
4 of 10
शिविर लगाने की तैयारी में जुटे लोग
शिवरात्रि नजदीक आते देख ग्रामीण क्षेत्रों में भी महाशिवरात्रि को लेकर तैयारियां युद्ध स्तर पर चल रही हैं। सरूरपुर रजबहे की पटरी पर सेवादार दिनभर भंडारे व शिविर लगाने की तैयारी में जुटे रहे। सरूरपुर कॉलेज के पास बुधवार को सरधना कांवड़ संघ की तरफ से भंडारा व दो सेवा शिविर लगाए गए। जिनकी तैयारी में कांवड़ संघ के कार्यकर्ता देर शाम तक लगे रहे। उन्होंने कहा कि कांवड़ियों की सेवा करने पर उन्हें शांति मिलती है व खुशी का अनुभव होता है।

यह भी पढ़ें: महंगाई की मार: अमूल के बाद पराग ने भी बढ़ाए दही-मट्ठे के दाम, बारिश- कांवड़ यात्रा से सब्जियों के भी बढ़े भाव
विज्ञापन
विज्ञापन
शिव कांवड़ को हरियाणा लेकर जा रहे कांवड़िए
5 of 10
हरिद्वार मार्ग पर अब चलेंगे सिर्फ कांवड़िए
बुधवार से कांवड़ियों की संख्या बढ़ गई है  यातायात के लिए नई व्यवस्था बनाई गई है। मुजफ्फरनगर-हरिद्वार मार्ग पर अब कांवड़िये ही चलेंगे। अन्य लोगों के लिए इस मार्ग को बंद कर दिया गया है। आमजन से अपील की गई है कि 21 से 26 जुलाई के बीच हरिद्वार मार्ग पर चलने से बचें। जनपद की सीमा पुरकाजी की भूराहेड़ी व खतौली की भंगेला पुलिस चेक पोस्ट तक वन-वे यातायात व्यवस्था बनाई गई है, वह चलती रहेगी। नई व्यवस्था के चलते भारी वाहनों के लिए रामपुर तिराहा से देवबंद व हरिद्वार वाला मार्ग खुला रहेगा, लेकिन यहां पर भी वाहनों को कम किया जा रहा है। हरिद्वार से आकर सीधे मेरठ-दिल्ली जाने वाले वाहन सहारनपुर से वहलना नहीं जाएंगे बल्कि वह जानसठ मार्ग पर पुल के नीचे से सिखेड़ा, मीरापुर, मवाना से मेरठ जाएंगे। इसमें कार आदि वाहनों के लिए भी यहीं व्यवस्था लागू रहेगी।  

यह भी पढ़ें: Meerut: डाकघरों में पहुंचा गंगाजल, गंगोत्री के जल से करें महादेव का अभिषेक
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00