13 देश, यहां धर्म के नाम पर मिलती है 'सजा-ए-मौत'

Updated Sun, 07 Feb 2016 10:08 AM IST

13 देश, यहां धर्म के नाम पर मिलती है 'सजा-ए-मौत'

countries that have the death penalty for being atheism
1 of 14
विज्ञापन
इन देशों में ईश्वर की खिलाफत करना मौत को दावत देना है। यहां ईशनिन्दा करने या धर्मपुस्तकों के अपमान पर भी सरेआम गोली मार दी जाती है। जानिए इन देशों के बारे में।

13 देश, यहां धर्म के नाम पर मिलती है 'सजा-ए-मौत'

countries that have the death penalty for being atheism
2 of 14
ईरान में ईशनिन्दा के अपराध में सरेआम क्रेन से लटका कर मार डाला जाता है। ये आदेश शरिया अदालतें जारी करती हैं। ऐसी फांसी जनता की मौजूदगी में होती है ताकि लोगों में कानून के लिए डर बना रहे।
विज्ञापन
विज्ञापन

13 देश, यहां धर्म के नाम पर मिलती है 'सजा-ए-मौत'

countries that have the death penalty for being atheism
3 of 14
द वायर डॉट कॉम के अनुसार, पाकिस्तान में ईशनिन्दा पर सरेआम जलाकर मार डाला जाता है। यहां पवित्र कुरान से साथ छेड़छाड़ पर पत्थरों से कुचल दिया जाता है।

13 देश, यहां धर्म के नाम पर मिलती है 'सजा-ए-मौत'

countries that have the death penalty for being atheism
4 of 14
मलेशिया में ईशनिन्दा और ईश्वर के खिला अपशब्द बोलने वालों की खैर नहीं। यहां धर्मपुस्तकों के साथ छेड़छाड़ भी खासा गुनाह है।
विज्ञापन
विज्ञापन

13 देश, यहां धर्म के नाम पर मिलती है 'सजा-ए-मौत'

countries that have the death penalty for being atheism
5 of 14
नाईजीनिया में ईश निंदा करने वाले को सरेआम गोलियों से भून दिया जाता है ताकि दूसरे लोग ईशनिन्दा से डरें।
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें आस्था समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। आस्था जगत की अन्य खबरें जैसे पॉज़िटिव लाइफ़ फैक्ट्स,स्वास्थ्य संबंधी सभी धर्म और त्योहार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें
सबसे तेज और बेहतर अनुभव के लिए चुनें अमर उजाला एप
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00