अलविदा: बिजनौर से रहा कल्याण सिंह का गहरा नाता, भाजपा नेताओं ने निधन पर जताया दुख, सुनाए पुराने कई किस्से

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, बिजनौर Published by: कपिल kapil Updated Sat, 21 Aug 2021 11:53 PM IST
ग्राम शादीपुर में कल्याण सिंह के आगमन के दौरान का फोटो।
1 of 6
विज्ञापन
बिजनौर की सरजमी से पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह का गहरा नाता रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह जब भाजपा से अलग हुए तो उन्होंने भारतीय क्रांति दल का गठन किया था। इस दौरान मंडावर निवासी लाला राम किशन अग्रवाल को जिला अध्यक्ष नियुक्त किया था। लाला राम किशन अग्रवाल उनके नजदीकी रहे हैं। वहीं कल्याण सिंह ने मंडावर में एक जनसभा को संबोधित किया था। पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के निधन से जिले की जनता को गहरा आघात पहुंचा है। 

विशिष्ट बीटीसी शिक्षकों की तीन नियुक्ति
पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के समय में ही सबसे पहले विशिष्ट बीटीसी शिक्षकों की प्राइमरी स्कूलों में सहायक अध्यापकों के पद पर तैनाती की गई थी आदर्श विशिष्ट बीटीसी एसोसिएशन के अध्यक्ष रहे सरदार हरभजन सिंह बताते हैं कि वर्ष 1998 में प्रदेश में 23000 शिक्षकों की नियुक्ति का आदेश पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने जारी किया था। उस दौरान जिले में 320 अध्यापकों की नियुक्ति प्राइमरी स्कूलों में सहायक अध्यापक के पद पर की थी। हरबंत सिंह ने बताया कि बीएड एलटी बेरोजगार शिक्षकों को प्राइमरी स्कूलों में सहायक अध्यापक बनाने का आदेश पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के समय में पारित हुआ था। जिसका लाभ अब तक शिक्षक उठा रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के निधन पर शिक्षकों ने दुख जताया है।
कल्याण सिंह
2 of 6
भाजपा नेता बोले, राजनीति में अपूरणीय क्षति
पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा के दिग्गज नेता कल्याण सिंह के निधन से जिले के भाजपा नेताओं में शोक की लहर दौड़ गई। उनके निधन पर नेता से लेकर कार्यकर्ता तक शोक जता रहे हैं। वहीं उनसे मुलाकात से लेकर बातचीत तक सभी याद कर रहे हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह
3 of 6
मुझे अभी पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के निधन का समाचार मिला। मैं बहुत दुखी हूं। मैंने जब पार्टी ज्वॉइन की थी, तभी से उनसे परिचय था। मेरा उनसे 1991 में मिलना हुआ। वह समर्पित नेता थे। वह रामजन्मभूमि आंदोलन के हीरो थे। देश ने महान राष्ट्रवादी नेता को खो दिया। मैं यह समाचार सुनकर स्तब्ध हूं। देश और पार्टी के लिए अपूरणीय क्षति है। - राजा भारतेंद्र सिंह, पूर्व एमपी एवं भाजपा नेता
यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह
4 of 6
मैं कल्याण सिंह जी के निधन की सूचना से दुखी हूं। वह देश और हिंदुत्व को समर्पित नेता थे। उनका निधन राजनीति के लिए अपूरणीय क्षति है। - सुभाष वाल्मीकि, जिलाध्यक्ष, भाजपा
विज्ञापन
विज्ञापन
लखनऊ पीजीआई में कल्याण सिंह का हालचाल लेने पहुंचे गृह मंत्री अमित शाह।
5 of 6
धामपुर से रहा कल्याण सिंह का गहरा नाता
प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह का धामपुर से गहरा नाता रहा है। एक बार जब अफजलगढ़ में पूर्व ब्लॉक प्रमुख के साथ कोई घटना घटित हो गई थी, तब उनकी खैर खबर लेने के लिए अफजलगढ़ आए थे। तब वहां आने के बाद वह धामपुर में भाजपा के वरिष्ठ नेता रह रहे सतीश ठेकेदार के घर पर करीब एक घंटा रुके थे। वे पूरे जिले का हालात जाने थे। उस समय श्याम स्वरूप सर्राफ भाजपा के नगर अध्यक्ष हुआ करते थे। भाजपा नेता महेंद्र धनोरिया बताते हैं कि पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह का धामपुर से और धामपुर वासियों से गहरा नाता रहा है। छह दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद राम जन्मभूमि ढांचे के ध्वस्त हो जाने के बाद 1993 में वह दो बार धामपुर में आए थे। एक बार उन्होंने धामपुर के  के. एम. इंटर कॉलेज के मैदान में जनसभा को भी संबोधित किया था, जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने पहुंचकर पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के ओजस्वी भाषणों को सुना था।
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00