विकास के खजांची जय से खौफ खाते थे बिजली अफसर, अब भेजा बिल जमा न कराने पर कनेक्शन काटने का अल्टीमेटम

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कानपुर Published by: प्रभापुंज मिश्रा Updated Sun, 26 Jul 2020 11:26 AM IST
vikas dubey news
1 of 5
विज्ञापन
दहशतगर्द विकास दुबे का खजांची ब्रह्मनगर निवासी जय बाजपेई और उसके भाई रजय बाजपेई पर कृपा बरसाने वाले बिजली विभाग के अफसरों ने अब अल्टीमेटम नोटिस भेजा है। दोनो की दबंगई से केस्को कर्मी (कानपुर इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई कंपनी) से लेकर अफसर तक डरते थे। नोटिस भेजने की खानापूरी के बाद भी वे बकायेदारी नहीं खत्म करा पाते थे। जनवरी 2020 में जवाहर नगर सबस्टेशन में तैनात जेई शहजाद खान को क्षेत्र के पवन गुप्ता ने अपने साथियों के साथ मिलकर जमकर पीटा था। इसकी एफआईआर नजीराबाद थाने में दर्ज है। बताया जाता है कि पवन गुप्ता की जय-रजय के साथ बैठकी थी।
vikas dubey news
2 of 5
कुछ लाइनमैन व अफसरों से थी सेटिंग
दोनों भाइयों के अलावा क्षेत्र के दबंगों की केस्को में कुछ लाइनमैनों और अफसरों सेटिंग रहती थी। नोटिस को भेजने से पहले संबंधित को आगाह कर दिया जाता था। जेई शहजाद पर हुए हमले में भी संविदा पर तैनात एक कर्मचारी की भूमिका संदिग्ध पाई गई थी। उसे शहजाद के पहले रहे जेई ने केस्को में बतौर दलाल सेट कराया था। बकायेदारी के खिलाफ अभियान में जब लाइन काटी जाती थी तो जय-रजय और पवन जैसे दबंगों की बिजली संविदा लाइनमैन ही जोड़ आते थे। इसमें अफसरों की मौन सहमति रहती थी। इस भूमिका की भी अब जांच होगी।

 
विज्ञापन
विज्ञापन
vikas dubey news
3 of 5
विवादित रहा जरीब चौकी डिवीजन
जरीब चौकी पिछले दो तीन सालों में बेहद विवादित रहा है। इसके अधीन आने वाले चमनगंज, जवाहर नगर और जरीब चौकी सबस्टेशन में हुए कारनामों की जांच मुख्यालय तक हो रही है। चमनगंज में पिछली दिवाली के पहले 12 लाख रुपये के उपकरणों को बेचने की जांच विजिलेंस से लेकर ऊर्जा मंत्री के यहां से हो रही है। जवाहर नगर सबस्टेशन में कनेक्शन देेने के खेल, भ्रष्टाचार की शिकायत की जांच आरटीआई कार्यकर्ता सौरभ मिश्रा की मांग पर ऊर्जा मंत्री कार्यालय से कराई जा रही है।

 
vikas dubey news
4 of 5
केस्को अफसरों ने बड़ी-बड़ी बकाएदारी के बावजूद सिर्फ दिखाने के लिए चार कनेक्शन पर नोटिस और एक कुर्की की कार्रवाई दिसंबर 2019 में की थी। 72 हजार की बकाएदारी पर तहसील कार्रवाई करती उससे पहले ही उसका ओटीएस में रजिस्ट्रेशन कराकर 12 हजार जमा करा लिए गए। अभी तक कुर्की चल रही है। तहसीलदार अतुल कुमार के मुताबिक केस्को ने ओटीएस की कोई जानकारी नहीं दी है। एमडी को पत्र भेजकर कुर्की वापस कराऊंगा नहीं तो जमा 12 हजार के अलावा और पैसा वसूला जाएगा। भाई रजय के कनेक्शन पर दो लाख बकाया होने के बावजूद आरसी तक जारी नहीं की गई। सिर्फ नोटिस देकर छोड़ दिया गया। 

 
विज्ञापन
विज्ञापन
vikas dubey news
5 of 5
विकास दुबे के फंड मैनेजर जय की केस्को के डिवीजन जरीब चौकी में तैनात अफसरों से लेकर लाइनमैन तक सेटिंग थी। लाइनमैन त्योहारी सीजन में जयकांत बाजपेयी के यहां आकर दस्तक देते थे। अपने रसूख के बूते ही जय वाजपेयी अपने बकाया बिजली को कभी भी समय पर जमा किया ही नहीं। ये दीगर बात है कि मामला तूल पकड़ने पर चौबीस घंटे पहले 1.92 लाख रुपए जमा करा दिए हैं। केस्को के विभागीय अफसरों की संलिप्तता पर जांच शुरू हो गई है।

दबंगई करने के बाद भी केस्को स्टाफ लगातार काम करता रहा। क्षेत्रीय दबंगों ने जनवरी 2020 में केस्को के जेई पर हमला किया, उसे मारापीटा। इसकी एफआईआर दर्ज है लेकिन कार्रवाई नहीं हुई है। बकायेदारी, नोटिस में हीलाहवाली पर विभाग जांच करेगा।
चंद्रशेखर अंबेडकर, मीडिया प्रभारी, केस्को

अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00