health
सेहत की बात

रोजाना सुबह ब्रेकफास्ट में खाएं ये फूड्स, हमेशा दूर रहेंगी बीमारियां

23 अक्टूबर 2021

Play
3:17
आप अपने ब्रेकफास्ट में ओटमील को शामिल कर सकते हैं, इसमें बहुत अच्छी मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड, फोलेट, और पोटेशियम पाया जाता है जो की दिल के लिए काफी अच्छा माना जाता है।ओटमील में फलों को मिलाकर आप इसे और भी हेल्दी बना सकते हैं
... Read More

रोजाना सुबह ब्रेकफास्ट में खाएं ये फूड्स, हमेशा दूर रहेंगी बीमारियां

10
10
X

सभी 132 एपिसोड

शरीर को डिटॉक्स करने के लिए कुछ ड्रिंक्स का नियमित रूप से सेवन करना फायदेमंद हो सकता है।ग्रीन टी, शहद-दालचीनी पेय, काढ़ा, नींबू अदरक की चाय जैसे पेय शरीर पर अद्भुत तरीके से काम करने के साथ डिटॉक्स करने में मदद करते हैं।

एंटीऑक्सिडेंट्स ऐसे कम्पाउंड्स होते हैं जो शरीर को प्राकृतिक तरीके से डिटॉक्स करने का काम करते हैं। यह फ्री रेडिकल्स जो कि कोशिकाओं को क्षति पहुंचाकर कैंसर जैसी कई अन्य क्रोनिक बीमारियों का कारण बनता है, उन्हें कम कर ऐसी बीमारियों के होने के खतरे को कम करते हैं

भीगे हुए चने प्रोटीन और आयरन से भरपूर होते हैं, अगर आप एनीमिया से पीड़ित हैं तो आहार में काले चने को जरूर शामिल करें।चना आयरन से भरपूर होता है और शरीर में हीमोग्लोबिन के स्तर को सुधारने में मदद करता है।इसके अलावा भीगे हुए काले चने फाइबर से भरपूर होते हैं जो पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में मदद करते हैं

रोजाना खाली पेट लहसुन की 4-5 कलियों का सेवन करने से कई स्वास्थ संबंधी दिक्कतों से दूर रखने में मदद मिलती है। लहसुन कई प्रकार के पोषक तत्वों से भरपूर होता है, इसमें आम मसालों की तुलना में कैलोरी कम होती है और इसे विटामिन सी, विटामिन बी-6 और मैंगनीज से भरपूर माना जाता है जो सेहत के लिए विशेष लाभदायक होते हैं

घर से बाहर खुली हवा में आते ही आपको छींकें आना, नाक से पानी आना, गले में खराश या जकड़न, नाक बंद होना या नाक का भरा-भरा महसूस होना, आंखों से पानी आना आदि शुरू हो जाती है, तो यह एलर्जिक राइनाइटिस का इशारा हो सकता है

सर्दियों के मौसम में शरीर को गर्म रखना और खाना पान का विषेश ध्यान रखना बेहद जरूरी हो जाता है। अगर आपका खान पान सही है तो आपकी इम्यूनटी भी बनी रहेगी और आपको सर्दी- जुकाम जैसी चीजों से बचे रहने में मदद मिलेगी

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक नाखूनों का रंग सफेद और उसके नीचे हल्का गुलाबी होना सामान्य है, लेकिन अगर आपके नाखून पीले या मोटे हो जाएं तो यह फंगल संक्रमण का संकेत हो सकता है। जबकि नाखूनों का टूटना या भंगुर होना थायराइड रोग या एनीमिया का संकेत हो सकता है

ओमेगा -3 फैटी एसिड एक ऐसा ही पोषक तत्व है जो मस्तिष्क के स्वास्थ्य से लेकर हृदय को दुरुस्त रखने में मदद करता है। अध्ययनों के अनुसार स्वस्थ वयस्कों के लिए प्रति दिन न्यूनतम 250-500 मिलीग्राम ओमेगा-3 की जरूरत होती है

शारीरिक गतिविधि में कमी के कारण डायबिटीज का जोखिम बढ़ने का खतरा रहता है। व्यायाम न करना, दिनभर ऑफिस में एक ही जगह पर बैठे रहना, शारीरिक गतिविधि में कमी जैसे कई आदतें डायबिटीज के जोखिम को बढ़ावा देती हैं

आंवला एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर होता है। इसमें कई प्रकार के प्रभावी एंटीऑक्सिडेंट्स मौजूद होते हैं, जो शरीर को फ्री रेडिकल्स के प्रभाव से लड़ने में मदद करते हैं। माना जाता है कि एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर आहार कुछ प्रकार के कैंसर, हृदय रोग, टाइप 2 मधुमेह, उम्र बढ़ने के जोखिम को कम करने के साथ मस्तिष्क को होने वाली क्षति से बचाते हैं

आवाज

  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00