लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

. नवंबर की
प्रेत लोक

Horror Story: जाग उठा मुर्दा

5 December 2022

Play
7:56
रात के 12 बजकर 54 मिनट हुए थे. नवंबर की ठंड...घने कोहरे और अंधेरे के बीच सड़क किनारे कब्रिस्तान के अंदर से अचानक जोर-जोर से चिल्लाने की आवाज आती है...सड़क के उस पार बनी एक छोटी सी चाय की दुकान पर रात की बस का इंतजार कर रहे मुसाफिर इस आवाज को सुनते हैं, पहली बार में तो यह आवाज किसी जानवर की लगती है, लेकिन धीरे-धीरे इस चीख में किसी का नाम सुनाई देता है, ऐसा लगता है कि जैसे कोई जोर-जोर से चिल्ला कर मदद मांग रहा हो. सड़क पार खड़े कुछ मुसाफिर डर और बेचैनी के साथ एक-एक कर कब्रिस्तान की तरफ बढ़ने लगते हैं...लेकिन तभी ये आवाज बंद हो जाती है. 

Horror Story: जाग उठा मुर्दा

1.0x
  • 1.5x
  • 1.25x
  • 1.0x
10
10
X

सभी 59 एपिसोड

धीरज ने गांव का घर खोला और प्रियंका और अपने पापा को घर के अंदर कमरे में बैठाया, लेकिन वो जैसे ही कमरे में सामान रखकर वापस लौटा तो धीरज ने देखा कि पापा सोफे पर बेहोश पड़े थे और उनका चेहरा सफेद पड़ गया था...

फलक की मां एक-एक कदम उसके करीब बढ़ी तो देखा कि वो एक जोकर की पोशाक में मौजूद शख्स की गोद में है, जो

1 February 20235 mins 34 secs

Pretlok : जोकर की हंसी

फलक की मां एक-एक कदम उसके करीब बढ़ी तो देखा कि वो एक जोकर की पोशाक में मौजूद शख्स की गोद में है, जो फलक के बालों को सहलाते हुए एक अजीब सी खौफनाक मुस्कुराहट दे रहा था है. यहां गोद में बैठी फलक भी उस जोकर से चिपक कर हंस रही होती है...

राहुल को वो आदमी दिखने में थोड़ा अजीब लग रहा था. तभी अचानक राहुल का फ़ोन बजा. उसने पॉकेट से जैसे ही फ़ोन निकाला फ़ोन उसके हाथ से स्लिप होकर जमीन पर गिर गया. वो जैसे ही जमीन से फ़ोन उठाने के लिए झुका. उसे कुछ ऐसा दिखा जिससे उसकी रूह कांप उठी.
 

एक रात जब वो अपने जिस्म को बिस्तर से लपेटे अपनी मां की यादों में खोया था कि तभी कमरे की खिड़की में एक काली परछाई नज़र आई, जैसे वो अयान को अपने पास बुला रही हो, तभी बेहद दी धीमी आवाज़ में उस परछाई ने उसका नाम पुकारा...

फोटोग्राफ...हमारी अच्छी और बुरी यादों को कैद करने का एक बेहतरीन जरिया. हम इनमें उन लम्हों को कैद करते हैं, जिन्हें हम हमेशा अपने जे़हन में रखना चाहते हैं, लेकिन अगर यही फोटोग्राफ आपको कैद कर ले तो...

पुलकित के घर का रास्ता अब बिलकुल सुनसान मालूम हो रहा था, दूर-दूर तक कोई नज़र नहीं आ रहा था. बस बिल्लियों के अजीबो-गरीब आवाज़ सुनाई दे रही थी.. 12 साल का पुलकित अपने मोबाइल में मस्त अपने घर का फासला तय कर रहा था, कि तभी उसकी नज़र सड़क से गुज़रती औरत पर पड़ी...

रात के करीब 2 बजे के आसपास अपने छोटे से केबिन में लगी सीसीटीवी  स्क्रीन को घूरते-घूरते उसकी आंख लग गई, लेकिन कुछ ही देर बाद उसे एक औरत की अजीब सी गुनगुनाने की आवाज़ सुनाई दी.. उसने सीसीटीवी फुटेज की ओर देखा तो उसे म्यूजियम के अंदर कोई नहीं दिखा...

बेकरी में दाखिल होते ही सबसे पहले दक्षा का स्वागत दो बुज़ुर्गों ने किया. बाकी स्टाफ के बारे में पूछने पर दोनों ने जवाब दिया कि केवल वो दोनों ही यहां काम करते हैं, उनके अलावा और कोई भी यहां नौकरी नहीं करने आता. इसपर दक्षा ने ज्यादा ध्यान नहीं दिया, मगर हितांशु उन दोनों बुज़ुर्गों को देखकर और भी ज्यादा रोने लगा...

पूरे दिन आरव और उसके पापा ने सर्कस में खूब मज़े किए, अलग-अलग तरह के स्टंट को एंज्वाय किया, मगर बीच-ब

21 January 20235 mins 39 secs

Pretlok : डरावना सर्कस

पूरे दिन आरव और उसके पापा ने सर्कस में खूब मज़े किए, अलग-अलग तरह के स्टंट को एंज्वाय किया, मगर बीच-बीच में एक औरत की परछाई सर्कस के बीच में गुज़रती आरव को नज़र आ रही थी, उसे लग रहा था, जैसे वो परछाई उसे ही देख रही हो...
 

अब रोहित की कार को खींचते हुए वह पुरानी कार एक कच्चे रास्ते से आगे बढ़ने लगी। रोहित और पवन को सुकून था कि वो अब इस जंगल से बाहर निकलकर सुरक्षित जगह पहुंच जाएंगे. लगभग आधे घंटे के बाद उनकी कार एक पुरानी हवेली के सामने खड़ी थी...

आवाज

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00