बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
साप्ताहिक राशिफल 09 से 15 मई : इन तीन राशियों के लिए खुशनुमा रहेगा ये सप्ताह
Myjyotish

साप्ताहिक राशिफल 09 से 15 मई : इन तीन राशियों के लिए खुशनुमा रहेगा ये सप्ताह

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

Petrol Diesel Price: चंडीगढ़ में बढ़े पेट्रोल-डीजल के भाव, पंजाब में 92.76 रुपये प्रति लीटर पहुंचा पेट्रोल

पेट्रोल-डीजल पेट्रोल-डीजल

पंजाब में कोरोना : 18 साल से ऊपर वालों को टीका आज से, पहले निर्माण श्रमिकों का नंबर

पंजाब में 18 साल से ऊपर के लोगों के लिए टीकाकरण आज से शुरू हो जाएगा। इसकी शुरुआत निर्माण श्रमिकों को टीका लगाकर की जाएगी। स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने बताया कि इस आयु वर्ग के लिए सिर्फ  एक लाख खुराक ही प्राप्त हुई हैं, इसलिए पहले चरण में निर्माण कामगारों को ही शामिल किया गया है।

उन्होंने बताया कि पंजाब सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया लिमिटेड को 30 लाख खुराकों का ऑर्डर कर दिया है। इससे मई में 18 से ऊपर के आयु वर्ग को भी टीके मिलेंगे। विशेषज्ञ समिति ने कहा है कि सह रोगों से पीड़ित व्यक्तियों को सबसे अधिक जोखिम होता है।

इस कारण अगले चरण में 70 फीसदी डोज इस समूह के लिए निर्धारित की गई है। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि सह-रोगों की सूची केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित की गई है, लेकिन इसमें मोटापा, दिव्यांगता (जैसे कि रीढ़ की हड्डी की चोट) और ज्यादा रोगों को शामिल किया जाएगा। 

सिद्धू ने बताया कि कुछ पेशों में दूसरे व्यक्तियों के साथ ज्यादा बातचीत करनी पड़ती है। इससे उन्हें संक्रमण होने और उनसे संक्रमण फैलने का सबसे अधिक जोखिम होता है। इस कारण 30 प्रतिशत खुराकें इस समूह के लिए निर्धारित की जाएंगी। मई के लिए उच्च जोखिम वाली सिर्फ  तीन श्रेणियों को शामिल किया जाना है जिनमें सरकारी कर्मचारी, निर्माण श्रमिक, अध्यापक और सरकारी व  निजी शैक्षिक संस्थाओं के अन्य कर्मचारी शामिल हैं।

पंजाब में मिले 8531 नए मामले, 191 की मौत
पंजाब में रविवार को कोरोना के 8531 नए मामले सामने आए हैं जबकि 191 की मौत हो गई। 296 संक्रमितों की हालत गंभीर बनी हुई है, जिन्हे वेंटिलेटर पर रखा गया है। अब तक राज्य में 10506 संक्रमितों की मौत हो चुकी है।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, इस समय राज्य में 74343 मामले सक्रिय हैं। 9384 संक्रमितों को ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया है। रविवार को लुधियाना में 22, अमृतसर में 20, पटियाला में 18, मोहाली व बठिंडा में 17-17, रोपड़ में 14, जालंधर व संगरूर में 12-12, मुक्तसर व फाजिल्का में 9-9, गुरदासपुर में 7, होशियारपुर व फिरोजपुर में 6-6, पठानकोट में 4, बरनाला, फरीदकोट, कपूरथला व मानसा में 3-3 और मोगा, फतेहगढ़ साहिब व तरनतारन में 2-2 संक्रमितों ने दम तोड़ दिया।
... और पढ़ें

जज्बे की तस्वीरें: मातृ दिवस पर मां ने शहीद बेटे को दिया कंधा, बिलखते देख हर आंख हो गई नम

21 पंजाब रेजिमेंट के तीन सपूत बरनाला के गांव कर्मगढ़ के सिपाही अमरदीप सिंह, मानसा के गांव हाकम वाला के सिपाही प्रभजोत सिंह और कस्बा कलानौर के गांव दबुर्जी के 24 वर्षीय सिपाही प्रगट सिंह 25 अप्रैल को सियाचिन में बर्फीले तूफान की चपेट में आ गए थे। अमरदीप सिंह और प्रभजोत सिंह तूफान की चपेट में आने से शहीद हो गए थे, जबकि सिपाही प्रगट सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए थे। उन्हें एयरलिफ्ट कर चंडीगढ़ स्थित सेना के कमांड अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। दो दिन पहले उनकी तबीयत अचानक बिगड़ गई और शनिवार को वह शहीद हो गए। रविवार को मातृ दिवस के दिन सिपाही प्रगट सिंह का पार्थिव शरीर तिरंगे में लिपटा गांव पहुंचा तो मां सुखविंदर कौर, बहन किरणदीप व अमनदीप की करुणामयी सिसकियां देख सभी की आंखें नम हो गईं। इसके बाद पूरे सैन्य सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया। 
... और पढ़ें

एकतरफा प्यार में की खौफनाक वारदात: महिला मित्र की मंगनी से भड़का युवक, दोस्तों संग कार में किया अगवा

पंजाब के जगरांव स्थित एक गांव में महिला दोस्त की मंगनी से भड़के युवक ने शुक्रवार को अपने दोस्तों से साथ उसका अपहरण कर लिया। लड़की के भाई ने उसे बचाने का प्रयास किया तो आरोपियों ने तेजधार हथियार से उस पर हमला बोल दिया और युवती को लेकर फरार हो गया। 

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस ने युवती को चंद घंटों बाद नीलो नहर के पास से बरामद कर लिया। हालांकि आरोपी मौके से फरार हो गए है। पुलिस ने पीड़िता की मां की शिकायत पर गुरमनिंदर सिंह निवासी खमाणो के पास गांव लखनपुर और कर्ण सिंह निवासी सोसपुर समेत तीन अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। 

जानकारी के अनुसार जगरांव के पास एक गांव की युवती चंडीगढ़ में आइलेट्स की तैयारी कर रही थी। वहां उसकी पहचान गुरमनिंदर सिंह से हो गई। आरोपी गुरमनिंदर युवती से एकतरफा प्यार करने लगा और उसे शादी करने के लिए परेशान करने लगा। पीड़िता ने उससे शादी करने से साफ मना कर दिया। 

युवती के परिजनों ने एनआरआई युवक से मंगनी पक्की कर दी। जब आरोपी गुरमनिंदर सिंह को इस बात का पता चला तो वह आग बबूला हो गया। शुक्रवार की शाम आरोपी एक कार में अपने पांच दोस्तों को लेकर युवती के गांव पहुंच गया। शाम के समय युवती अपने भाई के साथ गुरुद्वारा साहिब में माथा टेकने जा रही थी। आरोपी ने अपने दोस्तों के साथ उनका रास्ता रोक लिया। 

पीड़िता और उसका भाई आरोपियों से बचने के लिए एक घर में घुस गए लेकिन आरोपी तेज हथियारों के बल पर युवती को अगवा कर कार में ले गए। युवती के भाई ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस ने युवती की तलाश शुरू कर दी। पुलिस के डर के चलते आरोपी युवती को नीलो नहर के पास देर रात छोड़कर फरार हो गए। एएसआई सुरजीत सिंह ने बताया कि पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्जकर उनकी तलाश शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा: किसान आंदोलन को कमजोर करने का सवाल ही नहीं

प्रतीकात्मक तस्वीर
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन को कमजोर करने का सवाल ही पैदा नहीं होता, क्योंकि खुद उनकी सरकार इन कानूनों का कड़ा विरोध करती है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने दोहराया कि राज्य की मौजूदा गंभीर स्थिति के मद्देनजर किसी भी कीमत पर वीकेंड लॉकडाउन और अन्य बंदिशों का उल्लंघन करने की इजाजत नहीं दी जा सकती।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिंदगियां दांव पर लगीं हैं, जिन्हें बचाना हमारी प्राथमिकता है और यह हर पंजाबी की भी जिम्मेदारी है। उन्होंने भारतीय किसान यूनियन (एकता-उगराहां) और भारतीय किसान यूनियन (एकता डकौंदा) के नेताओं से अपील करते हुए कहा कि उनकी टिप्पणियों पर कोई रंगत न दें।

संयुक्त किसान मोर्चा की तरफ से वीकेंड लॉकडाउन का विरोध करने के आह्वान के संदर्भ में मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को डीजीपी से कहा था कि वीकेंड लॉकडाउन की सभी बंदिशों का सख्ती के साथ पालन करवाएं और किसी भी कीमत पर इसका उल्लंघन करने की इजाजत न दी जाए। 

मुख्यमंत्री ने शनिवार को फिर कहा कि किसी को भी लोगों की जान से खेलने की इजाजत नहीं दी जा सकती। मुख्यमंत्री ने कहा कि दो जत्थेबंदियों के नेताओं ने किसान आंदोलन के बारे में उनके इरादों पर शंका पैदा करने के लिए उनके बयान को गलत ढंग से पेश किया। मुख्यमंत्री ने पूछा कि हमारी सरकार किसानों के हितों के खिलाफ कैसे जा सकती है। पंजाब सरकार देश में पहली सरकार थी, जो केंद्र सरकार के खतरनाक कृषि कानूनों को निष्प्रभाव करने के लिए विधानसभा में संशोधन बिल लाई।
... और पढ़ें

पंजाब: गैंगस्टर गैवी के पांच और साथी गिरफ्तार, हेरोइन, तीन पिस्तौल व वाहन बरामद, पाक से जुड़े तार

गैंगस्टर और नशा तस्कर गैवी से पूछताछ में हुए खुलासों के आधार पर कार्रवाई करते हुए पंजाब पुलिस ने शनिवार को उसके पांच साथियों को गिरफ्तार कर पूरे गिरोह का पर्दाफाश किया है। वांछित गैंगस्टर जयपाल के करीबी सहयोगी गैवी सिंह उर्फ विजय उर्फ ज्ञानी को गत 26 अप्रैल को झारखंड के सराए किला खरसावा जिले से पंजाब पुलिस के संगठित अपराध कंट्रोल यूनिट (ओसीसीयू) और एसएएस नगर पुलिस ने साझा ऑपरेशन में गिरफ्तार किया था।

शनिवार को गिरफ्तार आरोपियों की पहचान करनबीर सिंह निवासी गांव अकबरपुरा, हरमनजीत सिंह निवासी ग्राम जोहला, गुरजसप्रीत सिंह निवासी गांव बठल भाईके, रवीन्द्र इकबाल सिंह निवासी हंसलावाला (यह सभी जिला तरनतारन के हैं) और सैमुअल उर्फ सेम निवासी फिरोजपुर के तौर पर हुई है। 

सभी के खिलाफ पंजाब के अलग-अलग जिलों में कई आपराधिक केस दर्ज हैं। डीजीपी दिनकर गुप्ता ने बताया कि पुलिस ने खरड़ के अर्बन होम्स-2 स्थित गैवी के किराए के फ्लैट से 1.25 किलो हेरोइन बरामद की है। इसके अलावा उसके अलग-अलग ठिकानों से 3 पिस्तौल, जिनमें से एक .30 कैलिबर चीनी पिस्तौल और दो .32 कैलिबर पिस्तौल और 23 कारतूस भी बरामद किए हैं।
... और पढ़ें

महामारी के खिलाफ : हरियाणा में पैरामेडिकल स्टाफ का संकट, सेना संभालेगी मोर्चा

पंजाब सरकार का फैसला: रेमडेसिविर इंजेक्शन पर लिखना होगा आईपीडी नंबर, उल्लंघन पर दर्ज होगा केस

रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी रोकने के लिए पंजाब सरकार ने अहम फैसला लिया है। अब विक्रेता के लिए इंजेक्शन की बिक्री के दौरान शीशी पर मरीज और आईपीडी नंबर लिखना अनिवार्य कर दिया गया है। ऐसा नहीं करने पर विक्रेता के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही अन्य जरूरी दवाओं की सुचारु आपूर्ति के लिए राज्य में 60 ड्रग कंट्रोलर प्रतिनियुक्ति पर रखे गए हैं।

पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने बताया कि इंजेक्शन की कालाबाजारी रोकने के लिए विभाग के मुख्यालय में रेमडेसिविर  इंजेक्शन मॉनिटरिंग सेंटर स्थापित किया है। उन्होंने दावा किया कि विभाग के पास इसके गोदामों में पर्याप्त स्टॉक मौजूद है। उन्होंने सरकार के फैसले की जानकारी देते हुए बताया कि अब बिक्री के दौरान इंजेक्शन की शीशी पर मरीज और आईपीडी नंबर का उल्लेख करना अनिवार्य है, ताकि एफडीए की टीमें खाली शीशी को आसानी से सत्यापित कर सकें कि किस मरीज को कोविड केयर सेंटर द्वारा नष्ट करने से पहले इसे दिया गया है।

सिद्धू ने कहा कि पंजाब सरकार ने गुणवत्ता वाली दवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए सतर्क नजर रखने के लिए 60 ड्रग कंट्रोल अधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की है। सिद्धू ने बताया कि दवाओं की कीमतों की निगरानी करने और दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने वाले विक्रेता के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है।

आवंटन से कम मिले इंजेक्शन
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि पंजाब को केंद्र से आवंटित कोटा से कम रेमडेसिविर इंजेक्शन मिले हैं। उन्होंने बताया कि 21 अप्रैल 2021 से 9 मई 2021 तक पंजाब में वितरण के लिए 50000 इंजेक्शन आवंटित किए गए थे, जबकि राज्य सरकार को 41056 इंजेक्शन ही मिले हैं। केंद्र के पत्र अनुसार पंजाब को 9 मई से 16 मई तक 35000 रेमडेसिविर इंजेक्शन और प्राप्त होंगे। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X