लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Punjab ›   Amritsar News ›   Retreat Ceremony: Online entry will be available from January 1

रिट्रीट सेरेमनी : एक जनवरी से मिलेगी ऑनलाइन एंट्री

Punjab Bureau पंजाब ब्‍यूरो
Updated Tue, 06 Dec 2022 11:21 PM IST
Retreat Ceremony: Online entry will be available from January 1
विज्ञापन
संवाद न्यूज एजेंसी

अमृतसर। वाघा बॉर्डर पर ‘बीटिंग द रिट्रीट’ सेरेमनी देखने के लिए अब पर्यटक ऑनलाइन बुकिंग करवा सकेंगे। यह व्यवस्था एक जनवरी से शुरू होने जा रही है। इसके लिए बीएसएफ ने एक पोर्टल http://attari.bsf.gov.in. की शुरुआत की है। पर्यटक जिस दिन रिट्रीट सेरेमनी देखना चाहते हैं, उससे 48 घंटे पहले तक बुकिंग की सुविधा मिलेगी। ऑनलाइन के माध्यम से एक साथ 12 लोग अपनी सीट बुक करवा सकेंगे। बीएसएफ के अधिकारियों ने बताया कि बुकिंग के बाद पूरा विवरण पर्यटकों के मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस के माध्यम से भेजा जाएगा। नई सुविधा के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा।
वर्तमान समय में रिट्रीट सेरेमनी देखने के लिए बुकिंग की कोई सुविधा नहीं है। लोग अपना पहचान पत्र बीएसएफ को दिखाकर सेरेमनी देख सकते हैं। बीएसएफ ने अपने ट्विटर हैंडल से इसकी जानकारी भी साझा की है। बीएसएफ के ट्विट के मुताबिक जेसीपी अटारी वेबसाइट में आपका स्वागत है। संयुक्त रिट्रीट समारोह देखने के लिए बुकिंग अब ऑनलाइन की जा सकती है। बुकिंग 1 जनवरी 2023 से शुरू होगी।

रिट्रीट सेरेमनी को एक साथ 20 से 25 हजार दर्शक देख सकते हैं। बीएसएफ के मुताबिक वीकेंड और स्वतंत्रता व गणतंत्र दिवस पर पर्यटकों की संख्या 40 हजार तक पहुंच जाती है। ऑनलाइन बुकिंग से पर्यटक बीएसएफ संग्रहालय और अटारी सीमा गेट के बगल में बने सीमा स्तंभ संख्या 102 को भी देख सकेंगे।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00