बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
इस दिन होगा शनि का राशि परिवर्तन, इन राशियों से हटेगी शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या
Myjyotish

इस दिन होगा शनि का राशि परिवर्तन, इन राशियों से हटेगी शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

नौकरी पर रार: पंजाब में बेरोजगार दिव्यांग पैरा खिलाड़ी लौटाएंगे पुरस्कार, कैप्टन पर वादाखिलाफी का आरोप

पंजाब में दो विधायकों के बेटों को सरकारी नौकरी देने के मामले पर विवाद छिड़ा हुआ है। इससे जहां सियासत गरमाई हुई है वहीं प्रदेश के बेरोजगार युवाओं में भी रोष है। अब प्रदेश के बेरोजगार दिव्यांग पैरा खिलाड़ियों ने अपने-अपने पुरस्कार मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को लौटाने का फैसला किया है।

खिलाड़ियों का आरोप है कि राज्य के मुख्यमंत्री ने उन्हें नौकरी देने का वादा किया था, लेकिन अभी तक उन्हें रोजगार नहीं मिल पाया है। पुरस्कार लौटाने में महाराजा रणजीत सिंह और राज्य पुरस्कार पाने वाले राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी शामिल होंगे।


पंजाब के दिव्यांग पैरा ओलंपिक खिलाड़ी संजीव ने बताया कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने खिलाड़ियों को नौकरी देने का वादा किया था, लेकिन अभी तक पूरा नहीं किया, जबकि करोड़ों रुपये के वारिस विधायकों के बेटों को रेवड़ी की तरह नौकरियां दी जा रहीं हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री की खिलाड़ियों के प्रति यह अनदेखी अब बर्दाश्त नहीं की जाएगी। 

उन्होंने बताया कि गुरुवार को वे और उनके जैसे अन्य खिलाड़ी चंडीगढ़ में मुख्यमंत्री को राज्य सरकार की ओर से मिले महाराजा रणजीत सिंह पुरस्कार और राज्य पुरस्कारों को वापस देंगे। यदि इसके बाद भी सरकार उनकी नहीं सुनती है तो वे मुख्यमंत्री आवास के बाहर धरना देने को विवश हो जाएंगे।
... और पढ़ें
कैप्टन अमरिंदर सिंह। कैप्टन अमरिंदर सिंह।

दिल्ली से आहत लौटे अमरिंदर सिंह: हाईकमान ने पक्ष तो सुना लेकिन माना नहीं, एक जुलाई पंजाब कांग्रेस के लिए अहम

पार्टी हाईकमान से मिलकर लौटे मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह इस बार काफी आहत दिखाई दे रहे हैं। पिछली बार उन्हें हाईकमान ने जैसे पूरी ताकत सौंप दी थी लेकिन इस बार हाईकमान का रवैया उनके प्रति बदला-बदला नजर आया है। पता चला है कि कैप्टन ने इस बार जो भी मांगें कमेटी के सामने रखीं, उन्हें ध्यानपूर्वक सुना तो गया लेकिन उन्हें स्वीकार नहीं किया गया।

कैप्टन की मुख्य मांग विधायक नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर थी। कैप्टन ने सिद्धू की तीखी बयानबाजी से पार्टी का अनुशासन बिगड़ने का हवाला भी दिया लेकिन हाईकमान फिलहाल सिद्धू के खिलाफ कार्रवाई करने के मूड में नहीं है और न ही कमेटी ने इस संबंध में कोई हामी भरी। उधर, कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने दावा किया है कि एक जुलाई को पार्टी मामले को सुलझा लेगी। 

जानकारी के अनुसार कैप्टन ने कमेटी के समक्ष साफ कर दिया है कि वे सिद्धू को अपने साथ लेकर नहीं चल सकते और अपनी सरकार में उन्हें कोई भी पद नहीं देंगे। इसके अलावा कैप्टन ने सिद्धू को पार्टी से अलग-थलग करने की मांग भी की लेकिन कमेटी ने इससे स्पष्ट इनकार कर दिया, जिससे कैप्टन न सिर्फ आहत हुए हैं बल्कि उन्होंने कमेटी को साफ कह दिया कि विवाद का हल जल्द से जल्द निकाला जाए और वह इस मामले को लेकर बार-बार दिल्ली नहीं आ सकते। 
... और पढ़ें

लुधियाना में हैवानियत: दोस्त संग सैर कर लौट रही युवती को अगवा कर तीन युवकों ने किया सामूहिक दुष्कर्म

फोकल प्वाइंट की राजीव गांधी कालोनी इलाके में दोस्त के साथ सैर कर लौट रही युवती को स्कूटर सवार तीन युवकों ने अगवा कर राम नगर के फ्लैट में सामूहिक दुष्कर्म किया। इतना ही नहीं आरोपियों ने सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद युवती को धमकी दी कि वह इस बारे में किसी को कुछ नहीं बताए। मगर जब युवती घर पहुंची तो परिवार वालों ने उसकी हालत देखकर पूछताछ की तो घटना की जानकारी हुई।

इसके बाद मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। थाना फोकल प्वाइंट की पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर तीन अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस आरोपियों का पता लगाने में जुटी है। एसएचओ इंस्पेक्टर दविंदर शर्मा ने बताया कि युवती की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया। 

पुलिस को पीड़िता ने बताया कि मंगलवार सुबह 5.30 बजे वह अपने दोस्त हनी के साथ सैर कर घर लौट रही थी। जब वह लोग राजीव गांधी कालोनी स्थित काली माता मंदिर के पास पहुंचे तो उसका दोस्त किसी काम से रुक गया और दूसरी तरफ चला गया। पीछे से बाइक सवार तीन युवक आए और उसे अपने साथ जबरदस्ती ले गए। वहां से वह उसे राम नगर के एक फ्लैट में ले गए। 

जहां तीनों ने डरा धमका कर जबरदस्ती उसके साथ दुष्कर्म किया। वारदात के बाद आरोपी उसे उसी जगह पर छोड़ कर फरार हो गए। पीड़िता को एक आरोपी का नाम सन्नी पता चला है। दविंदर शर्मा ने कहा कि सन्नी का घर पता चल गया है। मंगलवार शाम वहां दबिश दी गई थी। मगर वह फरार है। बुधवार युवती का मेडिकल कराने के बाद मजिस्ट्रेट के सामने 164 के बयान दर्ज कराए गए हैं। आरोपियों को जल्दी ही काबू कर लिया जाएगा।
... और पढ़ें

लुधियाना में बेखौफ अपराधी: आंखों में मिर्च डाल स्क्रैप कारोबारी से दो लाख रुपये की लूट, सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही पुलिस

मिल्लरगंज के इंडस्ट्रियल इलाके में बाइक सवार दो युवकों ने दिनदहाड़े स्क्रैप कारोबारी की दुकान में घुसकर आंखों में मिर्ची डाल तेजधार हथियार के दम पर दो लाख रुपये की नकदी लूट ली। कारोबारी जतिंदर नागपाल ने शोर मचाया लेकिन आरोपी मौके से फरार हो गए। सूचना मिलने के बाद पुलिस के आलाधिकारी और थाना डिविजन छह की पुलिस मौके पर पहुंची। 

पुलिस ने इस मामले में बसंत एवेन्यू निवासी जतिंदर नागपाल की शिकायत पर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी कैमरे चेक करने शुरू कर दिए है ताकि कोई सुराग मिल सके। 

पुलिस को दी शिकायत में बसंत एवेन्यू निवासी जतिंदर नागपाल ने बताया कि नीलम साइकिल इंडस्ट्रियल इस्टेट के पास उनकी कंचन मैन्युफैक्चर्स एंड ट्रेडर्स के नाम से दुकान है। हर रोज की तरह बुधवार सुबह करीब 10 बजे दुकान खोलने के बाद जैसे ही वह अंदर जाने लगे। उसी दौरान मोटरसाइकिल पर आए बदमाशों ने उनकी आंख में मिर्ची पाउडर डाल दिया। 

खतरा भांपते ही जतिंदर नागपाल ने नगदी वाला बैग एसी के नीचे छिपा दिया। मगर लुटेरों को शायद उसके बारे में पूरा पता था। दोनों ने उसे जान से मारने की धमकी दी, जिस पर जतिंदर ने बैग निकाल कर उनके हवाले कर दिया। बैग मिलते ही दोनों फरार हो गए। उन्होंने बताया कि दोनों लुटेरे पगड़ीधारी थे और उन्होंने अपने चेहरे कपड़े से छिपा रखे थे।

आरोपियों के फरार होते ही जतिंदर ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। जांच अधिकारी चौकी मिल्लरगंज के इंचार्ज एएसआई बलबीर सिंह ने बताया कि अभी तक की जांच में कुछ पता नहीं चल पाया है। आसपास के सीसीटीवी कैमरे चेक किए गए थे लेकिन कोई सुराग नहीं लगा। पुलिस की टीमें अलग-अलग एंगल पर काम करने में जुटी है। जल्द ही आरोपियों का पता लगा लिया जाएगा। 
... और पढ़ें

रोपड़ में रुकी शूटिंग: पंजाब में भाजपा सांसद रविकिशन का भारी विरोध, ग्रामीणों ने की नारेबाजी तो बैरंग लौटना पड़ा

सांकेतिक तस्वीर
उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से भाजपा सांसद और फिल्मी अदाकार रवि किशन को पंजाब के रूपनगर (रोपड़) जिले के गांव ढंगराली में लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा। वह यहां मोरिंडा के निकटवर्ती गांव खैरपुर और ढंगराली में शूटिंग करने पहुंचे थे। रणदीप सिंह, सपिंदर सिंह व जतिंदर सिंह ने बताया कि जब उन्हें पता चला कि उनके गांव में भाजपा सांसद फिल्म की शूटिंग करने आए तो गांव के नौजवानों ने रवि किशन व उनके अमले का विरोध किया और नारेबाजी की। 

भाजपा नेता को तुरंत ही गांव से वापस जाना पड़ा। गांव खैरपुर में एक मकान को शूटिंग के लिए सजाया गया था और मकान मालिक को 40 हजार रुपये इसके लिए मिलने थे। गांव के युवाओं ने इसलिए शूटिंग करने वालों का विरोध किया, क्योंकि संयुक्त किसान मोर्चे के सदस्य दिल्ली मोर्चे पर बैठे हैं लेकिन भाजपा सरकार उनके हक की कोई बात नहीं कर रह रही। 

जब गांव के नौजवानों ने शूटिंग करने आए व्यक्तियों से शूटिंग की परमिशन के बारे में पूछा और जब उन्हें पता चला कि इसकी आज्ञा ढंगराली के सरपंच गुरप्रीत सिंह बाठ ने दी तो नौजवान सरपंच के घर के आगे पहुंच नारेबाजी की। 

सरपंच गुरप्रीत सिंह बाठ का कहना है कि शूटिंग करने आए भाजपा कार्यकर्ताओं और नेताओं से उसका कोई लेना देना नहीं है। न ही उसे पता था कि शूटिंग करने वाले भाजपा कार्यकर्ता है। उन्होंने शूटिंग करने वालों को कोई इजाजत नहीं दी। शूटिंग सिर्फ खैरपुर में ही चली थी और ढंगराली में शूटिंग नहीं हुई।
... और पढ़ें

कोलकाता मुठभेड़: 15वें दिन हुआ गैंगस्टर जयपाल भुल्लर का अंतिम संस्कार, दूसरी पोस्टमार्टम रिपोर्ट से भी परिजन नाखुश

पीजीआई चंडीगढ़ में दोबारा पोस्टमार्टम के बाद बुधवार को फिरोजपुर शहर के श्मशान घाट में गैंगस्टर जयपाल भुल्लर का अंतिम संस्कार कर दिया है। बठिंडा जेल से हथकड़ी लगाकर पुलिस फिरोजपुर लेकर आई। अमृतपाल ने भाई जयपाल की चिता को मुखाग्नि दी है। श्मशान घाट पुलिस छावनी में तबदील था। 

जयपाल के पिता भूपिंदर सिंह दोबारा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से भी असंतुष्ट नजर आए हैं। उधर, पुलिस हिरासत में अमृतपाल ने पत्रकारों को कहा कि जयपाल का पुलिस ने फर्जी एनकाउंटर किया था और अब उसका भी एनकाउंटर किया जा सकता है। पुलिस ने अमृतपाल को बस में बिठाया और श्मशान घाट से बस लेकर चले गए। उल्लेखनीय है कि नौ जून को कोलकाता में पुलिस मुठभेड़ में गैंगस्टर जयपाल मारा गया था।

उधर, पिता भूपिंदर सिंह ने पीजीआई की पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि डॉक्टरों ने रिपोर्ट में 22 चोट होने की बात कही है। साथ में नीचे दो लाइन लिखी है कि कोई टार्चर नहीं किया गया है। परिवार उक्त रिपोर्ट से भी असंतुष्ट है।

पुलिस श्मशान घाट में जयपाल के भाई अमृतपाल को लेकर पहुंची। अमृतपाल ने अंतिम संस्कार के दौरान होने वाली सभी धार्मिक रीति रिवाज को पूरा किया और पुलिस की सख्त सुरक्षा व्यवस्था के बीच भाई की चिंता को मुखाग्नि दी। मुखाग्नि देते समय ही पुलिस घेरा डालकर अमृतपाल को बस तक ले गई। अमृतपाल ने कहा कि जयपाल के फर्जी एनकाउंटर को दबाने के लिए पुलिस उसका भी एनकाउंटर कर सकती है।
... और पढ़ें

Petrol Diesel Price: पंजाब में फिर बढ़े दाम, 98.85 रुपये प्रति लीटर पहुंचा पेट्रोल का भाव 

कोटकपूरा पुलिस गोलीकांड: एसआईटी ने सुखबीर बादल को भेजा समन, 26 जून को पूछताछ के लिए बुलाया

कोटकपूरा गोलीकांड की जांच कर रही नई एसआईटी ने तत्कालीन मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल से पूछताछ के अगले ही दिन बुधवार को तत्कालीन गृहमंत्री और उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल को समन भेजा है। एसआईटी ने सुखबीर बादल को 26 जून को चंडीगढ़ के सेक्टर-32 स्थित पंजाब पुलिस के मिनी हेडक्वार्टर में पेश होने के कहा है। 

उल्लेखनीय है कि पंजाब -हरियाणा हाईकोर्ट के निर्देश पर राज्य सरकार द्वारा गठित की गई नई एसआईटी यह पता लगाने का प्रयास कर रही है कि 2015 में हुई उक्त वारदात के समय शांतिपूर्ण धरना दे रहे निहत्थे सिखों पर पुलिस फायरिंग के आदेश किसने जारी किए थे? एसआईटी इस मामले में तत्कालीन पुलिस अधिकारियों जो फायरिंग के समय घटनास्थल पर तैनात थे, के अलावा तत्कालीन डीजीपी सुमेध सैनी से भी पूछताछ कर चुकी है।

प्रकाश सिंह बादल से हो चुकी पूछताछ
इसी मामले में मंगलवार को पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री और शिरोमणि अकाली दल के संरक्षक प्रकाश सिंह बादल से एसआईटी ने ढाई घंटे तक पूछताछ की। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री ने एसआईटी के 80 से अधिक सवालों के जवाब दिए। 

एसआईटी ने पूर्व मुख्यमंत्री को 16 जून को तलब किया था लेकिन उन्होंने खराब स्वास्थ्य के कारण एसआईटी के सामने पेश होने में असमर्थता जाहिर की थी। इसके बाद उनसे मुलाकात के लिए 22 जून का दिन तय हुआ था। तय तारीख के दिन एसआईटी के सदस्य प्रकाश सिंह बादल से पूछताछ के लिए उनके सेक्टर चार स्थित आधिकारिक विधायक आवास पर पहुंचे। इससे पहले नई एसआईटी पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी, डीजीपी इकबालप्रीत सहोता और स्पेशल डीजीपी होमगार्ड रोहित चौधरी सिंह से पूछताछ कर चुकी है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन