लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Rajasthan ›   Ajmer News ›   Rajasthan Weather What is the connection between the harsh winter and Pakistani winds in Rajasthan

Weather: राजस्थान में कड़ाके की सर्दी और पाकिस्तानी हवाओं का क्या है कनेक्शन?, गिरने की बजाय बढ़ा तापमान

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जयपुर Published by: अरविंद कुमार Updated Mon, 28 Nov 2022 07:14 PM IST
सार

नवंबर महीना बीतने को है और राजस्थान में अभी कड़ाके की ठंड शुरू नहीं हुई। वजह पाकिस्तान की तरफ से आने वाली हवा थम गई है। इसलिए गिरने की बजाय तापमान बढ़ गया। मौसम एक्सपट्र्स का कहना है, अभी एक हफ्ते तक मौसम यूं ही सामान्य बना रहेगा।

(सांकेतिक तस्वीर)
(सांकेतिक तस्वीर) - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन

विस्तार

राजस्थान में सुबह-शाम सर्दी अपने तेवर दिखा रही है। प्रदेश के कई हिस्सों में सर्द हवाएं भी चल रही हैं, लेकिन दिन में तीखी धूप भी निकल रही है। मौसम में इस उतार-चढ़ाव के पीछे सबसे बड़ा कारण उत्तर भारत में पिछले एक सप्ताह से स्ट्रॉन्ग सिस्टम का एक्टिव नहीं होना है।



मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक, अगले सात दिनों में भी ऐसा कोई सिस्टम बनता नहीं दिख रहा है। इसके बाद ठंड के जोर पकड़ने का अनुमान है। राजस्थान में आज के मौसम की बात करें तो कई शहरों में न्यूनतम तापमान बढ़ा है। सीकर, पिलानी, भीलवाड़ा, अलवर और उदयपुर में रविवार रात न्यूनतम तापमान दो डिग्री सेल्सियस तक बढ़ा है। इससे यहां रात में सर्दी का असर थोड़ा कम हुआ है। सीकर में शनिवार को न्यूनतम तापमान सात डिग्री सेल्सियस था, जो बढ़कर आज आठ पर पहुंच गया।


वहीं, बीकानेर में भी न्यूनतम तापमान दो डिग्री सेल्सियस से बढ़कर 10.2 से 12.1 पर पहुंच गया। राजधानी जयपुर में आज सर्दी में कोई खास असर नहीं रहा, यहां रविवार रात पारा 11.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

पश्चिमी सर्द हवाओं से होती है पहाड़ों पर बर्फबारी-बारिश...
मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक, भूमध्य सागर से आने वाली स्ट्रॉन्ग विंड सिस्टम अभी ज्यादा नहीं आ रहे हैं। ये नमी (मोइश्चर) वाली हवा सीरिया, ईराक, ईरान, अफगानिस्तान और पाकिस्तान होते हुए उत्तर भारत के जम्मू-लद्दाख के एरिया में आती है। चूंकि ये हवा पश्चिम दिशा से आती है, इसलिए इन्हें वेस्टर्न डिस्टर्बेंस कहते हैं। इन्हीं हवाओं से उत्तरी भारत के पहाड़ों पर बर्फबारी और बारिश होती है। फिर इससे मैदानी इलाकों में सर्दी बढ़ती है।

पिछले एक सप्ताह से ज्यादा समय से ये हवा नहीं आ रही। अगले एक सप्ताह तक इन हवाओं से कोई नया सिस्टम बनने की संभावना कम दिख रही है। इस कारण पूरे उत्तर और मध्य भारत में पिछले 10 दिनों से मौसम शुष्क है। दिन में तेज धूप निकल रही है, जबकि रात और अलसुबह हल्की ठंडी हवाएं चल रही हैं।

उत्तरी हवाओं से बढ़ा पारा...
उत्तर और मध्य भारत में मौसम शुष्क रहने के कारण उत्तरी हवाएं लगातार मैदानी इलाकों की तरफ आ रही है, जिसके कारण राजस्थान, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में सुबह-शाम तापमान कम है। इन राज्यों के कई शहरों में न्यूनतम तापमान सिंगल डिजिट यानी 10 डिग्री सेल्सियस से नीचे है। राजस्थान में सीकर, चूरू, झुंझुनूं, अलवर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़ और कोटा समेत 12 से ज्यादा शहरों में तापमान सिंगल डिजिट में है। राजस्थान में अभी सिर्फ हिल स्टेशन माउंट आबू पर कड़ाके की सर्दी का दौर जारी है। हालांकि, यहां भी न्यूनतम तापमान में एक डिग्री का उछाल फिर दो डिग्री पर पहुंच गया।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00