बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
हर संकट होगा समाप्त, सावन प्रदोष पर कराएँ विशेष नवग्रह पूजा - फ्री, अभी रजिस्टर करें
Myjyotish

हर संकट होगा समाप्त, सावन प्रदोष पर कराएँ विशेष नवग्रह पूजा - फ्री, अभी रजिस्टर करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

राजस्थान में 31 दिसंबर को लगेगा नाइट कर्फ्यू, नए साल का जश्न रहेगा फीका, कार्यक्रमों पर भी रोक

कोरोना महामारी के खतरे के मद्देनजर राजस्थान सरकार सतर्क हो गई है। नए साल की पूर्व संध्या पर होने वाले कार्यक्रमों से वायरस के फैलने का खतरा है। ऐसे में राज्य सरकार ने इन कार्यक्रमों पर रोक लगाते हुए, प्रदेश के जिन भी शहरों की आबादी एक लाख से अधिक है, वहां 31 दिसंबर से एक जनवरी तक नाइट कर्फ्यू लागू करने का फैसला किया है।
एक जनवरी की सुबह छह बजे तक रहेगा लागू
राज्य सरकार के आदेश के मुताबिक, नाइट कर्फ्यू 31 दिसंबर रात आठ बजे लेकर एक जनवरी की सुबह के छह बजे तक जारी रहेगा। सरकार के निर्णय के मुताबिक, जिन भी शहरों की आबादी एक लाख से अधिक होगी, वहां नाइट कर्फ्यू लागू होगा। सरकार के इस फैसले से राजधानी जयपुर समेत जोधपुर, कोटा, उदयपुर, अजमेर, बीकानेर, भीलवाड़ा, नागौर, पाली, टोंक आदि शहरों में नाइट कर्फ्यू लागू होगा। 
 

गौरतलब है कि राजस्थान के कई प्रमुख पर्यटक शहरों में बड़ी संख्या में लोग नए साल का जश्न मनाने के लिए आते हैं। ऐसे में कोरोना संक्रमण के फैलने की आशंका अधिक हो गई है। वहीं, कई होटलों में लोगों ने पहले से ही बुकिंग की हुई है, लेकिन सरका के निर्णय के चलते होटलों की बुकिंग रद्द हो सकती है। 




कर्नाटक में भी लागू हुआ नाइट कर्फ्यू
इससे पहले, कर्नाटक सरकार ब्रिटेन में मिले कोरोना के नए रूप (स्ट्रेन) के चलते सतर्क हो गई। इससे बचने के लिए राज्य सरकार ने फैसला किया कि राज्य में नाइट कर्फ्यू लागू किया जाएगा। कर्नाटक सरकार के निर्णय के मुताबिक, नाइट कर्फ्यू 23 दिसंबर से लेकर दो जनवरी तक लागू होगा। नाइट कर्फ्यू की अवधि 10 बजे रात से लेकर सुबह छह बजे तक होगी। 

कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉ के सुधाकर ने कहा, यह (नाइट कर्फ्यू) ब्रिटेन में पाए जाने वाले नए कोरोना वायरस से बचने और रोकने के लिए किया गया है। हम राज्य में पहुंचने वाले अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की निगरानी भी कर रहे हैं। 

स्वास्थ्य मंत्री से पूछा गया कि क्या क्रिसमस का जश्न मनाने की अनुमति दी जाएगी। इस पर उन्होंने कहा कि 23 दिसंबर से दो जनवरी के बीच, रात 10 बजे के बाद कोई भी समारोह या उत्सव मनाने की अनुमति नहीं है। यह हर तरह के कार्यों पर लागू होता है। 

लोगों के लिए चलेंगे ये परिवहन
कर्नाटक के परिवहन मंत्री लक्ष्मण सावदी ने कहा, बंगलूरू मेट्रोपॉलिटन ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन और केरल स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन की बसें, ऑटोरिक्शा और टैक्सी नाइट कर्फ्यू (11 बजे-शाम 5 बजे) के दौरान चलेंगी, जो आज रात से शुरू होगा। 
... और पढ़ें

बेरहम: चाचा के हाथ पर देखा मां के नाम का टैटू, यूट्यूब देख कर दी हत्या, ऐसे ठिकाने लगाई लाश

राजस्थान में रिश्ते को कत्ल करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। एक युवक अपने चाचा की हत्या कर शव को ठिकाने लगाने के लिए रातभर यू-टयूब पर वीडियो देखता रहा, फिर प्लास्टिक के बैग में शव रखकर गांव के बाहर दफनाने ले गया। वहां पर उसने शव को गलाने के लिए नमक का इस्तेमाल किया, लेकिन कुछ लोगों ने उसकी यह करतूत देख ली, जिसके बाद उसका गुनाह सामने आ गया। ग्रामीणों की शिकायत पर पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर लिया है। 

दरअसल, जयपुर के भांकरोटा थाना क्षेत्र का रहने वाला 20 वर्षीय राज अग्रवाल और उसका एक दोस्त प्रकाश  27 जुलाई की रात छत पर बैठकर शराब पी रहे थे, इसी दौरान उसके चाचा शशि अग्रवाल भी वहां आ गए। चल रही शराब पार्टी में वह भी शामिल हो गए। काफी देर तक तीनों ने छककर शराब पी। इसी दौरान राज ने अपने चाचा शशि  के हाथ पर अपनी मां के नाम का टैटू देखा, जिसके बाद दोनों के बीच बहस शुरू हो गई। राज इतना गुस्सा गया कि लोहे की रॉड से हमला कर दिया, जिससे चाचा की मौके पर ही मौत हो गई। 

चार दोस्तों के साथ शव को लगाया ठिकाना
शव को ठिकाने लगाने के लिए वह अपने दोस्त प्रकाश के साथ रातभर यू-टयूब वीडियो देखता रहा। सुबह होने से पहले राज ने दो और दोस्तों को अपने घर बुलाया। शव को ठिकाने लगाने के लिए सभी दोस्त गांव के बाहर जंगल पहुंचे। शव जल्दी गल जाए इसके लिए राज अपने साथ नमक भी लेकर पहुंचा था, लेकिन जैसे ही शव दफनाने शुरू किए कि स्थानीय लोगों ने उन्हें देख लिया। इस दौरान लोगों ने दो युवकों को पकड़ लिया और दो दोस्त वहां से फरार हो गए। 
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

शर्मनाक: अजमेर में चोरी के शक में भीड़ ने नाबालिग को पीटा और गंजा किया, मामला दर्ज

पुलिस ने बताया कि घटना शनिवार को गुर्जरबास इलाके में घटित हुई, जहां भीड़ ने वाहन की बैटरी चोरी करने के शक में एक नाबालिग को पकड़ लिया और उसकी डंडे से पिटाई की। पुलिस ने बताया कि लोगों ने युवक के सिर और आंखों के ऊपर आईब्रो (भौंह) के बाल साफ कर दिए और इसका वीडियो सोशल मीडिया पर साझा कर दिया।

इस घटनाक्रम को लेकर रामगंज थानाधिकारी सतेंद्र सिंह नेगी ने बताया कि इस संबंध में अनुसूचित जाति/जनजाति की धाराओं के तहत नामजद और अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है और मामले की जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि सोशल मीडिया पर इसका वीडियो वायरल होने के बाद यह मामला सामने आया।
... और पढ़ें

खुशखबर: राजस्थान में आज से पाबंदियां खत्म, 75 दिन बाद पुष्कर-अजमेर पहुंचने लगे लोग, देखें तस्वीरें

भारत में कोरोना की दूसरी लहर पूरी तरह कमजोर पड़ गई है। धीरे-धीरे जिंदगी पटरी पर लौट रही है। देश के कुछ राज्यों में कोरोना के नए मरीज सौ से कम  निकल रहे हैं। जिन राज्यों में कोरोना की रफ्तार कम हुई है, वहां पर सार्वजनिक और धार्मिक स्थलों को आज से खोलने की अनुमति दे दी गई है। राजस्थान में अनलॉक के बाद  मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे समेत अन्य सार्वजनिक स्थानों को खोल दिया गया है। करीब ढाई महीनों से बंद पड़े धार्मिक स्थल खुलने के बाद श्रद्धाओं के चेहरों पर खुशी देखी गई। 
 

देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 50,040 नए मामले सामने आए हैं। जबकि इस दौरान 57,944 कोरोना मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं। वहीं, एक दिन में 1,258 कोविड मरीजों की मौत हुई ।
... और पढ़ें

राजस्थान: स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा बोले- शिशु अस्पतालों में चिकित्सा सुविधाएं मजबूत कर रही गहलोत सरकार

राजस्थान के चिकित्सा और स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कहा कि कोविड-19 महामारी की संभावित तीसरी लहर में बच्चों के सर्वाधित प्रभावित होने की आशंका को देखते हुए राज्य में बच्चों के अस्पतालों में चिकित्सकीय सुविधाओं को मजबूत करने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। डॉ शर्मा ने सोमवार को जयपुर के जेकेलोन अस्पताल के निरीक्षण के बाद समीक्षा बैठक में कहा कि जयपुर स्थित सर पदमपत मदर एंड चाइल्ड केयर इंस्ट्टीयूट (जेकेलोन अस्पताल) के साथ शहर के अन्य अस्पतालों में भी बच्चों के इलाज के लिए सभी आवश्यक संसाधन जुटाए जा रहे हैं।

600 बेड कोविड मरीजों के लिए आरक्षित
उन्होंने बताया कि 800 बेड वाले बच्चों के प्रमुख चिकित्सालय जेकेलोन अस्पताल में जल्द ही करीब 200 आईसीयू बेड उपलब्ध होंगे। ‘‘कोविड महामारी की संभावित तीसरी लहर में बच्चों पर अधिक असर होने की आशंका को ध्यान में रखते हुए इस अस्पताल में 600 बेड कोविड मरीजों के लिए आरक्षित रखे जा सकते हैं। इन सभी 600 बेड को जरुरत के समय आईसीयू बैड में बदला जा सकेगा। अस्पताल के सभी बेड केन्द्रीयकृत ऑक्सीजन सिस्टम से जुड़े हुए हैं। अस्पताल में ऑक्सीजन संयंत्र की स्थापना की जा रही है और इसके बाद जल्द ही जेकेलोन में करीब 1500 लीटर ऑक्सीजन की क्षमता उपलब्ध होगी।’’

स्वास्थ्य मंत्री ने अस्पतालों का दौरा किया
चिकित्सा मंत्री डॉ शर्मा ने अस्पताल परिसर का दौरा कर निर्माणाधीन सीटी स्कैन यूनिट स्थापित किए जाने वाले स्थान सहित अन्य निर्माण तथा विकास कार्यों का अवलोकन किया। उन्होंने समस्त कार्य निर्धारित समयावधि में पूर्ण गुणवत्ता के साथ पूरा करने पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। उन्होंने अस्पताल की सफाई व्यवस्था पर संतोष व्यक्त किया एवं इसे बेहतर बनाए रखने की आवश्यकता प्रतिपादित की। निरीक्षण के दौरान एसएमएस मेडिकल कॉलेज प्रिसिपल डॉ सुधीर भंडारी, अस्पताल अधीक्षक डॉ अरविंद शुक्ला, मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी डॉ नरोत्तम शर्मा भी मौजूद थे
... और पढ़ें

समस्या: कोरोना से ठीक होने के बाद ब्लैक और व्हाइट फंगस का शिकार हुआ शिक्षक

रघु शर्मा, स्वास्थ्य मंत्री , राजस्थान सरकार

राजस्थान: अजमेर के गांव में 34 दिनों के अंदर 44 लोगों की मौत, कोरोना की आशंका

राजस्थान के अजमेर जिले का सोमालपुर गांव राज्य के उन ग्रामीण इलाकों में से एक है जहां पिछले 30 दिनों से कोरोना के सामान्य से अधिक मामले सामने आ रहे हैं। 14 अप्रैल से गांव में 44 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें से अधिकांश की मौत कोविड-19 के लक्षणों से मिलती-जुलती इंफ्लुएंजा जैसी बीमारी से हुई है। इनकी मौत का कारण अज्ञात या दिल का दौरा पड़ना बताया गया है। 16 अप्रैल के बाद से गांव में एक भी दिन ऐसा नहीं गया है जब कम से कम एक की मौत न हुई हो।  

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार गांव के पूर्व सरपंच इकराम खान चीता का कहना है कि पिछले 30-40 दिन में 60 से ज्यादा कब्रें खोदी गई हैं। उन्होंने कहा, 'सभी कब्रिस्तानों के हवाई सर्वे से तस्वीर साफ हो जाएगी। समस्या को नरअंदाज करके लोगों की जान खतरे में डाली जा रही है।' उन्होंने दावा किया कि कम से कम 10-15 लोग अस्पताल में हैं, 25-30 स्व क्वारंटीन में हैं और कई में इंफ्लुएंजा जैसी बीमारी के लक्षण दिख रहे हैं, जिसके कोविड होने की आशंका है। 

आंकड़ों में सही स्थिति का पता नहीं चल पा रहा है, जो स्थानीय प्रशासन की लापरवाही की ओर इशारा करता है। आशा कार्यकर्ता गीता कथत के कार्यक्षेत्र में 800 घर आते हैं और वह इंफ्लुएंजा जैसे लक्षणों वाले केवल 19 लोगों की पहचान कर पाई हैं। उनके पास केवल 10 लोगों के होम क्वारंटीन होने का रिकॉर्ड है। इसे लेकर गीता का कहना है कि सर्वे उसी जानकारी के आधार पर किया जाता है जो हमें परिवार देता है। हमारे पास इसकी पड़ताल करने के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। 

सोमालपुर में हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के इंचार्ज डॉ. हुकुम सिंह ने हर मौत की एक रिपोर्ट तैयार की है और स्थानीय प्रशासन के पास जमा की है. उन्होंने 44 मौतें की पुष्टि की है, जिनमें से सात की मौत कोविड संक्रमण के दौरान हुई। उन्होंने कहा, आज एक व्यक्ति की मौत हुई जिसे सोमवार से सीने में तेज दर्ज हो रहा ता। लेकिन कोविड पॉजिटिव निकलने के डर से उसने अपनी हालत और खराब होने दी। ऐसे कई लोग हैं जो इस डर से बीमारी छिपा रहे हैं कि कहीं कोरोना पॉजिटिव न हो जाएं। 
... और पढ़ें

उदयपुर: कांस्टेबल की वर्दी उतारी, पेड़ से बांधा और जमकर पीटा, अवैध संबंधों का लगाया आरोप

राजस्थान के उदयपुर जिले में एक पुलिस कांस्टेबल को गांव के युवकों ने पेड़ से बांधकर बेदम पिटाई की है। आरोप है कि पुलिसकर्मी का गांव की एक विधवा के साथ 2 साल से अवैध संबंध चल रहा था। मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक राजपुरा बानघाटी में पुलिस कांस्टेबल लालू राम खराड़ी को एक महिला के घर में आपत्तिजनक हालत में देखा गया। जिसके बाद ग्रामीणों ने कांस्टेबल को निर्वस्त्र कर पीटा और रस्सी से पेड़ में बांध दिया । सोशल मीडिया पर यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। 

महिला के साथ 2 साल से था अवैध संबंध
मीडिया के मुताबिक सूचना मिलने पर घंटाली पुलिस मौके पर पहुंची और  कांस्टेबल को अपने कब्जे में किया। फिलहाल कांस्टेबल को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ।  ग्रामीणों ने बताया कि कांस्टेबल के महिला से पिछले 2 साल से संबंध थे। महिला के पति की कुछ साल पहले मौत हो गई थी। महिला अवैध शराब का धंधा करती है। वहीं कांस्टेबल का कहना है कि महिला को उसने 15 हजार रुपए दिए थे। वही लेने के लिए महिला के घर गया था। लेकिन लोगों ने पीछे से आकर मेरे साथ मारपीट शुरू कर दी। कई बार मैं अपनी बात लोगों से कहना चाह रहा था, लेकिन लोग मानने को तैयार नहीं थे। ग्रामीणों ने निर्वस्त्र कर मुझे पीटा है। हालांकि मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे बचा लिया। पुलिस ने बताया कि कांस्टेबल लालूराम खराड़ी एक साल से पीपलखूंट थाने में तैनात है।

पुलिस मामले की जांच में जुटी
कांस्टेबल लालूराम खराड़ी एक साल से पीपलखूंट थाने में तैनात है। थाना प्रभारी ने बताया कि लालूराम खराड़ी ने ग्रामीणों के खिलाफ नंगा कर पीटने और पेड़ से बांधने का मामला दर्ज करवाया है। साथ ही महिला को 15 हजार रुपए उधार देने की बात भी रिपोर्ट में लिखवाई है। फिलहाल जांच कर रही है। जल्द ही इस मामले में कार्रवाई की जाएगी। 
... और पढ़ें

राजस्थान में किसानों के ट्रैक्टर मार्च में शामिल हुए राहुल गांधी, बोले: कानून रद्द हुए बगैर नहीं होगी सरकार से बात

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्रीय कृषि कानूनों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर एक बार फिर निशाना साधते हुए शनिवार को आरोप लगाया कि वह देश की चालीस फीसदी जनता के व्यापार (कृषि) को अपने दो मित्रों के हवाले करना चाहते हैं। राहुल गांधी राजस्थान के अपने दौरे के दूसरे दिन अजमेर के पास रूपनगढ़ में किसानों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने तीन केंद्रीय कृषि कानूनों का जिक्र करते हुए कहा कि हिंदुस्तान का सबसे बड़ा व्यापार कृषि का है। उन्होंने कहा कि कानून रद्द किए बगैर अब सरकार से बात नहीं होगी।

राहुल ने कहा कि कृषि 40 लाख करोड़ रुपये का व्यापार है। दुनिया का सबसे बड़ा व्यापार है और यह किसी एक व्यक्ति का व्यापार नहीं है। कृषि का व्यापार हिंदुस्तान के 40 फीसदी लोगों का व्यापार है। इसमें किसान, छोटे व्यापारी, मजदूर सब भागीदार हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि यह पूरा का पूरा व्यापार उनके दो मित्रों के हवाले हो जाए। इन कृषि कानूनों का यही लक्ष्य है। मोदी जी चाहते हैं कि जो आपका है जो 40 फीसदी हिंदुस्तान का है वह सिर्फ दो लोगों के हाथ में चला जाएगा। कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘लेकिन किसान कह रहा है कि हम मर जाएंगे लेकिन हम ये नहीं होने देंगे, कभी नहीं होने देंगे।
... और पढ़ें

अजमेर: पेट्रोल पंप पर धमाके के साथ लगी आग, एक की मौत, नौ लोग झुलसे

राजस्थान के अजमेर शहर के एक पेट्रोल पंप पर शुक्रवार को बड़ा हादसा हो गया। यहां के आदर्श नगर स्थित खालसा पेट्रोल पंप पर धमाके के साथ आग लग गई। घटना में एक की मौत हो गई जबकि नौ लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस और दमकलकर्मी मौके पर पहुंचे। कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। जिलाधिकारी ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं।

मिली जानकारी के अनुसार, यह घटना शुक्रवार शाम को तब घटित हुई जब पेट्रोल पंप परिसर में बने एलपीजी टैंक को सीएनजी में बदलने की प्रक्रिया चल रही थी। बताया जा रहा है कि टैंक में कुछ एलपीजी गैस बकाया थी। टैंक को साफ करने के लिए जनरेटर लगाया गया। इसी बीच अचानक जनरेटर में आग लग गई और धमाका हो गया।
 

आग भड़कने से वहां खड़े ट्रक का ड्राइवर झुलस गया। वहीं पेट्रोल पंप के मालिक, उनके बेटे, भारत पेट्रोलियम के अधिकारियों सहित नौ लोग झुलस गए। घटना के बाद सभी को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। घटना के बाद मौके पर जिला प्रशासन के अधिकारी भी पहुंचे। उन्होंने घटना की जांच के लिए एक टीम का गठन करके उससे रिपोर्ट मांगी है। यदि इसमें लापरवाही बरतने की बात सामने आती है तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

तीन की हालत गंभीर 
घटना के बाद मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने घायलों को तुरंत जेएलएन अस्पताल में भर्ती कराया गया। तीन मरीजों की हालत गंभीर बताई जा रही है। जिला कलेक्टर प्रकाश राजपुरोहित और एसपी जगदीश चंद्र शर्मा ने मौके का मुआयना किया। बता दें कि गैस प्लांट के पास पेट्रोल पंप और उसके टैंक भी मौजूद थे। गनीमत यह रही कि आग वहां तक नहीं पहुंची वरना एक बड़ा हादसा हो सकता था।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us