लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Rajasthan ›   Minister Vishvendra Singh statement on attack on MP Ranjeeta Koli

Rajasthan: भरतपुर सांसद पर हमले पर मंत्री का विवादित बयान, बोले- वो महिला हैं रात में जाने की क्या जरुरत थी

न्यूूज डेस्क, अमर उजाला, भरतपुर Published by: रोमा रागिनी Updated Tue, 09 Aug 2022 01:09 PM IST
सार

भरतपुर सांसद रंजीता कोली पर हमले को लेकर सियासत गरमा गई है। एक और भाजपा गहलोत सरकार को घेरने में लगी है। दूसरी ओर गहलोत के मंत्री ने हमले की सत्यता पर संदेह जताया है। उन्होंने रंजीता कोली पर ही कई सवाल खड़े कर दिए हैं।

विश्वेंद्र सिंह और रंजीता कोली
विश्वेंद्र सिंह और रंजीता कोली - फोटो : Social Media
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

भरतपुर सांसद रंजीता कोली पर माफिया ने हमला कर दिया था। सांसद पर चौथी बार हुए हमले पर अब सवाल खड़े होने लगे हैं। कांग्रेस नेता और गहलोत सरकार में मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने भरतपुर सांसद को लेकर जो सवाल खड़े किए हैं, ऐसे में लगता है सांसद को हमले पर संदेह है। 


मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने कहा कि सांसद को रुट चेंज करने की क्या जरूरत थी। चौथी बार हमला हुआ है। वो महिला हैं, उनको रात को जाने की क्या जरूरत थी। यहां तक की विश्वेंद्र सिंह ने कहा कि जब हमला हुआ, तब उनकी सिक्युरिटी क्या कर रही थी। मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने बातोंबात में ही सांसद रंजीता कोली के आलीशान बंगले का भी जिक्र किया। 


विश्वेंद्र सिंह के सवाल-
  1. जब सांसद की गाड़ी पर पथराव हुआ तो उसमें किसी के चोट क्यों नहीं आई ?
  2. घटना के बाद आपने पुलिस को मेल कर सूचना दी कि मैं इस रास्ते से भरतपुर आ रही हूं ?
  3. ओवरलोड वाहनों के खिलाफ कार्रवाई करने पहुंची तो पुलिस माइनिंग विभाग और ट्रांसपोर्ट विभाग को सूचना क्यों नहीं दी ?
  4. घटना के बाद आपने खुद और अपने लोगों का मेडिकल पुलिस को क्यों नहीं कराने दिया ?
  5. जब आपके पास वाई कैटेगरी की सुरक्षा है तो उन्होंने क्यों कहा कि हमारे सामने घटना घटित नहीं हुई ?
  6. आप कैसे जांच कर सकते हैं कि ट्रकों में जा रहा माल वैध है या अवैध ?
  7. दो तथाकथित पत्रकार घटना के समय आपके साथ क्यों मौजूद थे ?
  8. घटना के समय वाइ प्लस सिक्योरिटी के सुरक्षाकर्मियों ने कोई कार्रवाई क्यों नहीं की ?

खेतों में भागकर सांसद ने बचाई जान
बता दें कि भरतपुर की भाजपा सांसद रंजीता कोली पर खनन माफिया ने जानलेवा हमला कर दिया था। हमलावरों ने उनकी कार को क्षतिग्रस्त कर दिया। सांसद और उनके सुरक्षाकर्मियों ने खेतों में भागकर अपनी जान बचाई। सांसद रंजीता कोली रविवार रात को दिल्ली से लौट रही थी। इसी दौरान उन्होंने कामां इलाके में बॉर्डर पर बड़ी संख्या में अवैध खनन के ओवरलोड ट्रक को निकलते हुए देखा। जिसके बाद सांसद कोली ने उनको रुकवाया। इससे गुस्साए खनन माफिया ने सांसद की गाड़ी पर पथराव कर दिया। रंजीता कोली ने कार से उतरकर सुरक्षाकर्मियों के साथ खेतों में भागकर अपनी जान बचाई। मौके पर ग्रामीण आ गए, ऐसे में माफिया सांसद की गाड़ी को टक्कर मारकर फरार हो गए।

धरने पर बैठ गई थीं सांसद
हमले से आक्रोशित सांसद रंजीता कोली धरने बैठ गई थीं। सांसद ने आरोप लगाया कि उन्होंने अवैध खनन को लेकर पहले भी पुलिस अधीक्षक से शिकायत की थी लेकिन उन्होंने कहा कि यह खनन का मामला है। ये उनकी जिम्मेदारी नहीं है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00