राजस्थान चुनाव: छिट-पुट घटनाओं के बीच प्रदेश में 74 प्रतिशत मतदान

चुनाव डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Fri, 07 Dec 2018 07:53 PM IST
राजस्थान चुनाव- जनता किसे देगी मौका?
राजस्थान चुनाव- जनता किसे देगी मौका?
विज्ञापन
ख़बर सुनें

Rajasthan Assembly Election Voting News Update: उत्साह के साथ हुआ मतदान

विज्ञापन
राजस्थान विधानसभा चुनाव में पूरे जोश के साथ मतदान हुआ। मतदान सुबह 8 बजे से शुरू होकर शाम पांच बजे तक चला। शांतिपूर्ण मतदान के लिए चुनाव आयोग ने पूरी तैयारी की थी और बड़ी संख्या में मतदान केंद्रों पर सुरक्षाबलों को तैनात किया गया।
 


मतदान के लिए कुल 51687 पोलिंग स्टेशन बनाए गए। राजस्थान में कुल 4,7554217 मतदाता हैं। इनमें पुरुष मतदाता 2,4836699 और महिला मतदाता 2,2717518 हैं। पहली बार राज्य में करीब 20 लाख मतदाता पहली बार वोट डालेंगे। शाम पांच बजे तक मतदाता अपना फैसला ईवीएम में दर्ज कर देंगे। 11 दिसंबर को पता चलेगा कि जनता ने किसके पक्ष में फैसला दिया है। मुकाबला कांग्रेस और भाजपा के बीच है।    

7,791 मतदान केंद्र संवेदनशील 

विधानसभा चुनाव के लिए 7,791 मतदान केंद्रों को संवेदनशील चिन्हित किया गया है। इन केंद्रों पर केंद्रीय पुलिस बलों को तैनात किया गया है ताकि शांतिपूर्ण और निष्पक्ष ढंग से मतदान सुनिश्चित किया जा सके। पुलिस महानिदेशक ओ.पी. गल्होत्रा ने बताया कि इसके साथ ही पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश मध्य प्रदेश और गुजरात से लगती अंतरराज्यीय सीमाओं पर नाकेबंदी कर दी गई है।

राजस्थान पुलिस ने निष्पक्ष और शान्तिपूर्ण ढंग से मतदान संपन्न कराने के लिए व्यापक सुरक्षा व्यवस्था की है। सभी मतदान केन्द्रों पर चाक चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही 7,791 संवेदनशील बूथों पर केन्द्रीय पुलिस बलों का जाप्ता तैनात किया गया है।


उन्होंने बताया कि चुनाव बंदोबस्त में कुल लगभग 1.44 लाख से अधिक सिपाही, हेडकांस्टेबल और एएसआई और लगभग 1500 पुलिस अधिकारी तैनात किए गए हैं। इसके अलावा पैरामिलिट्री की 640 कंपनियां और पड़ोसी राज्यों से 13,000 होमगार्ड वॉलंटियर को लगाया गया है।


2274 प्रत्याशी मैदान में

राजस्थान विधानसभा में कुल 200 सीटें हैं। मतदान 199 सीटों पर होगा। अलवर की रामगढ़ सीट से बसपा प्रत्याशी लक्ष्मण चौधरी के निधन के बाद चुनाव स्थगित कर दिया गया है।  कुल 2274 प्रत्याशी मैदान में हैं जिनमें 182 महिला प्रत्याशी और 2092 पुरुष प्रत्याशी हैं। 

कांग्रेस ने 195 उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं। लोकसभा में गठबंधन को ध्यान में रखते हुए दो-दो सीटें लोजद और रालोद के लिए और एक सीट एनसीपी के लिए छोड़ी है। भाजपा ने 199 उम्मीदवार, बसपा ने 190 उम्मीदवार, आप ने 141 उम्मीदवार, भारत वाहिनी पार्टी ने 63 उम्मीदवार, रालोप ने 57 उम्मीदवार उतारे हैं। मैदान में 839 निर्दलीय भी खड़े हैं।  

 

 

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने प्रदेशवासियों से मतदान करने की अपील की। 
 

 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने प्रदेश की जनता से बढ़चढ़ कर मतदान की अपील की है। 
 

 

राजस्थान के गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया ने वोट डालने से पहले उदयपुर के शिव मंदिर में प्रार्थना की। 
 

 

पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी मतदाताओं से वोट करने की अपील की। 
 


 

 

खबरों के मुताबिक बूंदी के नमाना क्षेत्र के चार बूथों पर ईवीएम में खराबी आई। वहीं करौली के कई बूथों पर देर से शुरू हुआ मतदान। 

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने झालावाड़ के झालरापाटन निर्वाचन क्षेत्र में मतदान केंद्र संख्या 31 ए में अपना वोट दिया। 

जोधपुर जिले के सरदारपुरा निर्वाचन क्षेत्र में बूथ नंबर 103 पर एक 80 वर्षीय महिला ने अपना वोट डाला। 
 

 

केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने जयपुर के वैशाली नगर में मतदान केंद्र 252 में अपना वोट डाला। 
 

 

सचिन पायलट ने जालूपुरा जयपुर स्थित गौर विप्र सेकंडरी स्कूल में अपना वोट डाला। सचिन पायलट ने कांग्रेस के मुख्यमंत्री पद के चेहरे के सवाल पर कहा कि चुनाव में बहुमत हासिल होने के बाद हम बैठेंगे और चर्चा करेंगे। 
 

 

राजस्थान के गृह मंत्री गुलाबचंद कटारिया ने उदयपुर के एक मतदान केंद्र में अपना वोट डाला। 
 

 

जालौरे के अहोर में ईवीएम खराबी की वजह से मतदान बूथ संख्या 253 और 254 में अभी तक मतदान शुरू नहीं हो सका है। 
 

 

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने जोधपुर में मतदान केंद्र 128 में अपना वोट डाला। 
 

 

राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 में सुबह 9 बजे तक 6.11 फीसदी मतदान हुआ। 
 

 

जोधपुर के सरदारपुरा निर्वाचन क्षेत्र में 90 वर्षीय व्यक्ति मतदान केंद्र संख्या 104 में अपना वोट डालने के लिए जाते हुए। 
 

 

पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने जोधपुर में बूथ संख्या 106 में वोट डाला। 
 

 

पूरे प्रदेश में मतदान शुरू होने के ढाई घंटे बाद भी जैसलमेर में तीन बूथ में मतदान नहीं शुरू हुआ है। वीवीपैट मशीन खराब होने की वजह से वोटिंग रूकी हुई है। चुनाव अधिकारी खराब मशीन बदलने की बात कर रहे हैं। 

कई जगह से ईवीएम खराब होने की खबरें मिल रही हैं। बीकानेर के बूथ नंबर 172 पर तकनीकी दिक्कत के बाद ईवीएम बदली गई।

 

 

जालौरे के अहोर में मतदान बूथ संख्या 253 और 254 पर मतदाताओं ने हंगामा किया। इन केंद्रों में ईवीएम में खराबी की वजह से वोटिंग रूकी हुई है। 
 

 

केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल बीकानेर में मतदान केंद्र संख्या 172 में अपना वोट डालने के लिए कतार में खड़े हैं। यहां ईवीएम में गड़बड़ी की वजह से मतदान की प्रक्रिया प्रभावित हुई है। 
 

 

जयपुर की किशनपुरा में एक मतदान केंद्र में 105 वर्षीय महिला शाहा ने मतदान किया। उनके परिजनों ने बताया, "इस मतदान केंद्र में व्हील चेयर की कोई सुविधा नहीं है। हमें उन्हें मतदान केंद्र के अंदर उठा कर ले जाना पड़ा ताकि वह वोट दे पाएं।" 
 

 

मोदी सरकार में मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता अर्जुन राम मेघवाल ने आखिरकार अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर पाए। मेघवाल सुबह 8 बजे से मतदान करने पहुंच गए थे लेकिन ईवीएम में गड़बड़ी के कारण साढ़े तीन घंटे 11:30 बजे अपना वोट डाल पाए। 

जोधपुर के पूर्व राजपरिवार के सदस्य गज सिंह और उनकी पत्नी ने सरदारपुरा निर्वाचन क्षेत्र में मतदान बूथ संख्या 194 में अपना वोट डाला। 
 

 

97 वर्षीय नागेंद्र सिंह चौहान और उनकी 85 वर्षीय पत्नी युवराज कुंवर ने झालावाड़ के एक मतदान केंद्र में अपना वोट डाला। 
 

 

राजस्थान में दोपहर एक बजे तक 41.53 फीसदी मतदान हुआ। 
 

 

सीकर के फतेहपुर के सुभाष स्कूल में मतदान केंद्र में दो गुटों के बीच हुए टकराव के दौरान गाड़ियों में आग लगा  दी गई और उपद्रवियों ने जमकर उत्पात मचाया। इस दौरान  आधे घंटे तक मतदान प्रभावित रहा। बाद में पुलिसकर्मियों ने उपद्रवियों को वहां से खदेड़ा और मतदान दोबारा शुरू कराया गया। 
 

 

राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए दोपहर तीन बजे तक 59.43 फीसदी मतदान। 
 

 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से मतदान खत्म होने के बाद सतर्क रहने के लिए कहा है। राहुल गांधी ने ट्वीट किया है, "मध्यप्रदेश में ईवीएम के साथ विचित्र घटनाएं हुई हैं। कुछ लोग बस को लेकर दो दिनों के लिए गायब हो गए। तो अन्य लोग होटल में शराब पीते पाए गए। मोदी के भारत में ईवीएम के पास रहस्यमयी शक्तियां हैं। 
 

 

5 बजे तक 74.38 फीसदी वोटिंग

राजस्थान में 2013 में 74.38 फीसदी मतदान हुआ था। यानी अब तक के आंकड़े साफ कह रहे हैं कि पिछला रिकॉर्ड टूट जाएगा। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00