लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Rajasthan ›   Serial killer kanpatimar shankaria Series 1 Jaipur Rajasthan

Serial killer: कनपटीमार शंकरिया की खौफनाक कहानी, जिसने हथौड़े से किए 70 कत्ल, बोला- मारने में मजा आता है

Udit Dixit उदित दीक्षित
Updated Sat, 24 Sep 2022 08:16 PM IST
सार

Serial killer: सप्ताह के हर शनिवार को हम राजस्थान के एक सीरियल किलर की खौफनाक कहानी आपके के लिए लेकर आएंगे। पहली सीरिज में बात करेंगे कुख्यात सीरियल किलर कनपटीमार शंकरिया की जिसने एक हथौड़े से 70 लोगों की हत्या कर दी थी। जानें कौन था यह खतरनाक सीरियल किलर...।

जानिए कनपटीमार शंकरिया के बारे।
जानिए कनपटीमार शंकरिया के बारे। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

Serial killer: सीरियल किलर यानी वह व्यक्ति जो अपनी खुशी के लिए दूसरों को कष्ट देता है। उनकी बेरहमी से हत्या कर देता। इससे मिलने वाली खुशी को पाने के लिए वह लगातार हत्याएं करता है। इसके लिए वह एक खास तरीका भी अपनाता है। जैसे, मुंबई का रमन राघव एक मुगदर नुमा हथियार से सो रहे लोगों पर लगातार वार कर मार देता था। राजस्थान का शंकरिया हथौड़े से वार कर हत्याएं कर देता था, इसलिए उसका नाम पड़ा कनपटीमार शंकरिया। ऐसी ही कहानी देश की पहली महिला सीरियल किलर केडी केमपम्मा की है। वह महिलाओं को सायनाइड देकर मारती थी। इसलिए उसका नाम पड़ा सायनाइड मल्लिका...। 



देश के राज्यों की बात करें तो 21 साल यानी 2000 से 2021 के बीच सीरियल किलर्स ने सबसे ज्यादा हत्याएं छत्तीसगढ़ में की हैं। इसके बाद गुजरात और मध्य प्रदेश का नंबर आता है। सीरिलय किलर्स ने छत्तीसगढ़ में 175, गुजरात में 165 और मध्यप्रदेश में 132 हत्याओं की वारदात को अंजाम दिया। इस मामले में महाराष्ट्र चौथे नंबर पर है, लेकिन इस तरह की वारदात को लेकर देशभर में सबसे ज्यादा चर्चा इसी राज्य की होती है। बतादें कि यह आंकड़े एनसीआरबी की रिपोर्ट के अनुसार हैं। 

कनपटीमार शंकरिया।
कनपटीमार शंकरिया। - फोटो : सोशल मीडिया
अब चलते हैं सीरियल किलिंग्स की घटनाओं में दूसरे और तीसरे नंबर पर रहे गुजरात और मप्र की सीमा से सटे राजस्थान में। यहां सीरियल किलर्स ने इन 21 सालों में 19 लोगों के मौत के घाट उतारा। यह आंकड़ा जरूर कम है, लेकिन यहां इससे पहले भी कई सीरियल किलर हुए जिनकी कहानी रुह कंपाने वाली है। आज शनिवार से हम प्रदेश के सीरियल किलर्स को लेकर एक सीरीज शुरू कर रहे हैं। सप्ताह के हर शनिवार को हम राजस्थान के एक सीरियल किलर की खौफनाक कहानी आपके के लिए लेकर आएंगे। पहली सीरिज में बात करेंगे कुख्यात सीरियल किलर कनपटीमार शंकरिया की जिसने अपने मजे के लिए एक हथौड़े से 70 लोगों की बेहरमी से हत्या कर दी थी। इसलिए उसका नाम पड़ा कनपटीमार शंकरिया। जानें कौन था यह खतरनाक सीरियल किलर...।

साल 1952, राजस्थान की राजधानी जयुपर में शंकरिया का जन्म हुआ। जैसे हर माता-पिता की ख्वाहिश होती है कि उनका बेटा अपने जीवन में कुछ अच्छा करें, लेकिन 25 साल की उम्र में शंकरिया ने जो किया उससे लोगों को रुह कांप गई। 1977 से 1978 यानी सिर्फ एक साल में शंकरिया ने करीब 70 लोगों की हत्या कर दी। अपने शिकार को मारने के लिए भी शंकरिया का एक अनोखा अंदाज था। वह लोगों पर हथौड़े से हमला करता था। पुलिस के गिरफ्तार करने के बाद उससे पूछताछ की गई तो उसने कहा, लोगों को हथौड़े से मारने में उसे मजा आता है। 

कनपटीमार शंकरिया
कनपटीमार शंकरिया - फोटो : सोशल मीडिया
जानें हत्या करने का तरीका?
सीरियल किलर शंकरिया एक ही तरह से लोगों की जान लेता था। उसके शिकार भी रात में घूमने वाले लोग ही होते थे। शंकरिया रास्ते में कंबल ओढ़कर बैठ जाता था। इस दौरान आने वाले व्यक्ति पर वह हथौड़े से हमला कर देता था। वह अपने शिकार के कान के पास हथौड़े से वार करता था, लगातार हमला करने से व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो जाती थी। इस तरह हमला करने के कारण उसका नाम कनपटीमार शंकरिया पड़ गया।

'किसी को भी मेरी तरह नहीं बनना चाहिए'
25 साल की उम्र में सीरियल किलर बने शंकरिया को 16 मई 1979 में फांसी दे दी गई। उस वक्त उसकी उम्र महज 27 साल की। शंकरिया को देखकर कोई भी यह नहीं कह सकता था कि वह इतना खतरनाक भी हो सकता है। जेल में रहने के दौरान उसे अपनी गलती का अहसास हो गया था। फांसी लगाए जाने से पहले शंकरिया ने कहा, 'मैंने बिना कारण लोगों की जान ली, किसी को भी मेरी तरह नहीं बनना चाहिए। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00