कड़ी मेहनत और जज्बे से सुमित बने आईईएस अधिकारी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नूरपुर (कांगड़ा) Updated Fri, 23 Nov 2018 12:49 PM IST
Sumit passed indian engineering services exam
विज्ञापन
ख़बर सुनें
कड़ी मेहनत तथा जज्बा हो तो सपने जरूर साकार होते हैं। ऐसा ही कारनामा नूरपुर विकास खंड की पंचायत सुलियाली के भराड़ी गांव के सुमित कटोच ने कर दिखाया है। कटोच ने अपने सपने को पूरा करने के लिए नौकरी तक छोड़ दी और बिना कोचिंग लिए हुए आईईएस परीक्षा पास की।
विज्ञापन


सुमित कटोच का बचपन से ही आईईएस (इंडियन इंजीनियरिंग सर्विसेज) अधिकारी बनने का सपना था। सुमित पुत्र यशपाल ने 2015 में इलाहाबाद से एनआईटी मेकेनिकल में बीटेक की थी। उसी दौरान गेट उत्तीर्ण कर उनका चयन भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड में हुआ। कॉरपोरेशन में 2 साल काम करने के बाद सुमित ने नौकरी छोड़ने के बाद आईईएस की परीक्षा के लिए तैयारी शुरू की तथा 2018 में आईईएस परीक्षा को सुमित ने उत्तीर्ण किया।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00