बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

Raksha Bandhan 2021: जानिए रक्षा बंधन का सही अर्थ, बहन क्यों बांधती है भाई को राखी

आनंद पाराशर, नई दिल्ली Published by: रुस्तम राणा Updated Mon, 02 Aug 2021 10:20 AM IST

सार

कृष्ण-द्रोपदी, हुमायुं-कर्णावती ऐसी ना जाने कितनी कथाएं इतिहास में दर्ज है जो इस रक्षा सूत्र और इस दिन के महत्व को दर्शाती है। रक्षाबंधन के त्यौहार को मनाने के पीछे इस देश के मनीषियों की गहरी सोच को समझकर उसे आत्मसात करना ही सही मायनों में रक्षाबंधन को समझना है।
विज्ञापन
रक्षाबंधन 2021
रक्षाबंधन 2021 - फोटो : Pixabay
ख़बर सुनें

विस्तार

हमारी भारतीय संस्कृति इतनी महान और विशाल है कि लगभग सभी समुदाय के लोग इसमें समाहित हो सकते है। अक्सर यह देखा जाता है की सम्पूर्ण विश्व से लोग ना सिर्फ इस देश में भ्रमण करने आते हैं बल्कि हमारी जीवन शैली और सांस्कृतिक विरासत पर शोध भी करते है। ऐसा कोई महीना नहीं होगा जब इस देश में कोई उत्सव या त्यौहार नहीं हो और यही बात भारत को दूसरे देशों से अलग बनाती है। कश्मीर से कन्याकुमारी तक और सौराष्ट्र से असम तक ये देश सांस्कृतिक विविधता से भरा हुआ देश है। 
विज्ञापन


अगर आप गौर से देखे तो इस देश के उत्सव और त्यौहार के पीछे आपसी रिश्ते के बीच मधुरता और सरसता लाने का प्रयोजन होता है। महीने की 15 तिथि किसी का किसी देवता को समर्पित होती है और अमावस पितरों को एवं पूर्णिमा विष्णु को समर्पित होती है। हर तिथि पर किसी ना किसी तरीके से देव स्थान पर लोग ना सिर्फ मिलते हैं बल्कि उस देव की पूजा के माध्यम से मानसिक और आध्यात्मिक शांति भी प्राप्त होती है। एक ऐसा ही पर्व रक्षा बंधन के नाम से जाना जाता है। 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें आस्था समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। आस्था जगत की अन्य खबरें जैसे पॉज़िटिव लाइफ़ फैक्ट्स,स्वास्थ्य संबंधी सभी धर्म और त्योहार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us