बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
जानें वह कौन सी उंगली है,जो बताती है कि आप बड़े भाग्यशाली और धनवान हैं
Myjyotish

जानें वह कौन सी उंगली है,जो बताती है कि आप बड़े भाग्यशाली और धनवान हैं

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

यूपी: प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या में बड़ी गिरावट, 24 घंटे में 12547 नए मरीज मिले

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

यूपी सरकार का दावा: प्रदेश में कोरोना की रिकवरी दर 88 प्रतिशत पहुंची, कम हुआ संक्रमण

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड-19 की रोकथाम के लिए ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट की नीति के साथ प्रदेशवासियों के जीवन और जीविका की सुरक्षा हेतु किये जा रहे प्रयासों के संतोषप्रद परिणाम मिल रहे हैं। एग्रेसिव टेस्टिंग की नीति के बाद भी नए केस लगातार कम हो रहे हैं, जबकि स्वस्थ होने वालों की संख्या हर दिन बढ़ती जा रही है।

बीते माह 17 अप्रैल को प्रदेश में लगभग 1.70 लाख एक्टिव केस थे, जो 13 दिनों के भीतर बढ़कर 30 अप्रैल को सर्वाधिक 03 लाख 10 हजार तक पहुंच गए थे। सतत प्रयासों का परिणाम है कि आज 15 दिनों के बाद एक बार फिर एक्टिव केस की संख्या घटकर 1.77 लाख रह गई है। अब तक 14,14,259 प्रदेशवासी कोविड की लड़ाई जीत कर आरोग्यता प्राप्त कर चुके हैं। प्रदेश की रिकवरी दर अब 88% तक हो गई है।

उन्होंने कहा कि एग्रेसिव टेस्टिंग की नीति के अनुरूप विगत 24 घंटों में प्रदेश में 02 लाख 56 हजार 755 टेस्ट किए गए, जिसमें 1,12,000 टेस्ट आरटीपीसीआर के माध्यम से हुए। इसी अवधि में 12,547 नए कोविड केस की पुष्टि हुई , जबकि इसी अवधि में 28,404 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए। 4 करोड़ 44 लाख 27 हजार 447 टेस्ट के साथ देश में सर्वाधिक टेस्ट करने वाला राज्य उत्तर प्रदेश ही है। प्रयोगशालाओं की टेस्टिंग क्षमता को बढ़ाये जाने की कार्रवाई तेज की जाए। मुख्यमंत्री योगी शनिवार को टीम-9 के साथ प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति पर चर्चा कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने अफसरों को निर्देश भी दिए।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में 1.48 लाख लोग होम आइसोलेशन में उपचाराधीन हैं। इनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए टेलीकन्सल्टेशन के माध्यम से चिकित्सकीय परामर्श की व्यवस्था को और बेहतर किया जाए। चिकित्सकों की संख्या, फोन लाइन की संख्या में बढ़ोतरी की जरूरत है। निगरानी समितियों के माध्यम से होम आइसोलेशन के मरीजों और जरूरत के अनुसार उनके परिजनों को मेडिकल किट उपलब्ध कराई जाए। मेडिकल किट वितरण व्यवस्था की सतत मॉनीटरिंग की जाए। जनपदीय आइसीसीसी और सीएम हेल्पलाइन के माध्यम से मरीजों से संवाद कर उन्हें मिल रही सुविधाओं की जांच कराई जाए।

उन्होंने कहा कि कोविड टीकाकरण की प्रक्रिया प्रदेश में सुचारु रूप से चल रही है। 45 वर्ष से अधिक और 18-44 आयु वर्ग के लोगों को कोविड सुरक्षा कवर प्रदान करने में उत्तर प्रदेश प्रथम स्थान पर है। अब तक 1,16,12,525 लोगों ने  पहली डोज और 31,82,072 लोगों ने वैक्सीन की दोनों डोज प्राप्त कर ली है। इस तरह 01 करोड़ 47 लाख 94 हजार 597 कोविड वैक्सीन एडमिनिस्टर हुए हैं। प्रदेश के 18 जनपदों में 18-44 आयु वर्ग के 49,854 लोगों के कल हुए टीकाकरण के साथ अब तक इस आयु वर्ग के 3,65,835 लोगों ने टीका-कवर प्राप्त कर लिया है।
... और पढ़ें

बरातियों से भरी ट्रैक्टर ट्रॉली पलटी: दो महिलाओं की मौत, 13 गंभीर घायल, ग्रामीणों ने बचाई कई जान

बरखेड़ा-गजरौला लिंक मार्ग पर बरातियों से भरी ट्रैक्टर ट्रॉली अनियंत्रित होकर पलट गई। तेज रफ्तार की वजह से हुए हादसे में ट्रॉली सवार दो महिलाओं की मौत हो गई, जबकि 13 लोग घायल हो गए। 10 अन्य को मामूली चोटें आईं। 

ग्रामीणों की मदद से ट्रॉली के नीचे दबे घायलों को निकालकर पुलिस ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया। बंडा (शाहजहांपुर) के गांव दियोकली निवासी रतंनपाल ने बताया कि उनके रिश्तेदार गजरौला के गांव पिपरियाभजा निवासी श्रीकृष्ण की बेटी की शुक्रवार को शादी थी। इसमें शामिल होने के लिए करीब 25 लोग ट्रैक्टर ट्रॉली से आए थे। वैवाहिक कार्यक्रम संपन्न होने पर शनिवार सुबह नौ बजे सभी वापस जा रहे थे। ट्रैक्टर गांव का ही राममूर्ति चला रहा था। 

पिपरियाभजा गांव के बाहर निकलते ही बरखेड़ा-गजरौला लिंक मार्ग पर पुलिया के पास पहुंचते ही ट्रैक्टर ट्राली अनियंत्रित होकर पलट गई। चालक मौके से भाग गया। गांव के लोग जमा हुए। पुलिस भी पहुंच गई। फिर ट्रॉली के नीचे फंसे लोगों को बाहर निकालकर निजी वाहन से जिला अस्पताल भिजवाया। वहां नेमवती (37) पत्नी ओमकार, सुखदेई (42) पत्नी रामप्रताप को मृत घोषित कर दिया। ध्रुव कुमार (10), ज्ञानदेवी (34), प्रेमवती देवी (42), लीलामती (30), प्रीति (25), प्रेमवती (38), प्रियांशु (10), श्रीदेवी (22), रामबेटी (50), सत्यवीर (12), रूपांशी (8), अनन्या (10), विद्यादेवी (55) का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

ग्रामीणों की सूझबूझ ने बचाई कई जान
हादसे के बाद ट्रॉली के नीचे बच्चे-महिलाएं बुरी तरह से दब गए थे। चीखपुकार मची हुई थी। सुबह का समय होने की वजह से कुछ दूरी पर तमाम ग्रामीण जमा थे। उन्होंने हादसा देख मदद को आगे आने में देर नहीं लगाई। पुलिस को भी सूचना दे दी गयी थी। ग्रामीणों ने मदद के लिए पुलिस के मौके पर आने का इंतज़ार नहीं किया। एकजुट होकर पलटी ट्रॉली को सीधा किया और उसमें दबे लोगों को बाहर निकालने में जुट गए। 
... और पढ़ें

चित्रकूट जेल गैंगवार: मुकीम के आतंक से थर्राया था कैराना, हिंदू कर गए थे पलायन, ये रही तीनों दुर्दांत की आपराधिक कुंडली

गैंगस्टर मुकीम काला पश्चिमी उत्तर प्रदेश का खूंखार अपराधी था। आम जनता से लेकर कारोबारियों यहां तक कि पुलिस में भी उसका भय था। उसके आतंक की वजह से ही कैराना में हिंदुओं का पलायन हुआ था। जो यूपी विधानसभा 2017 के चुनाव में बड़ा मुद्दा बना था। सरकार बदलने के बाद काला का गैंग के खात्मे की शुरुआत हुई। अब उसका गैंग लीडर मारा गया। हत्या, लूट, रंगदारी, हत्या के प्रयास, फिरौती समेत काला पर 60 से अधिक आपराधिक केस दर्ज थे।

घर-घर लगवाए थे पोस्टर, रंगदारी दे जिंदगी बख्शता था
मुकीम काला शामली के कैराना का रहने वाला था। वह मुख्य रूप से लूट, डकैती और रंगदारी की वारदातों को अंजाम देता था। उसी दौरान वो हत्याएं करता था। उसने शामली व आसपास के जिलों में गांव गांव और शहरों में पोस्टर लगवाए थे। जिसमें उसने सीधे धमकी दी थी कि व्यापारियों को अगर जिंदा रहना है तो उसको रंगदारी देनी होगी। इससे लोग बेहद परेशान थे। एक विशेष धर्म के लोगों को अधिक प्रताड़ित करता था। इसी वजह से 2015-16 में कैराना से हिंदू पलायन करने लगे थे। यूपी विधानसभा चुनाव में ये बड़ा मुद्दा भाजपा ने बनाया था। जिसका लाभ भी मिला। कुल मिलाकर मुकीम कैराना से हिंदुओं के पलायन के पीछे का मुख्य खलनायक था।

तीन पुलिसकर्मियों की कर दी थी हत्या
मुकीम खाकी पर वार करता था। 5 जुलाई 2011 को शामली में सिपाही सचिन की हत्या की। 14 अक्तूबर 2011 सहारनपुर में सिपाही बलबीर को मौत के घाट उतारा था। पांच जून 2013 को सिपाही राहुल ढाका की कारबाइन लूटकर उसी को मार दिया था। कई बार लूट के बाद पुलिसकर्मियों पर गोलियां दाग चुका था। वो एके-47 भी रखता था। कई वारदातों को उसने इससे अंजाम दिया था।

ट्रैक्टर लूट से जरायम की दुनिया में रखा कदम
मुकीम का पिता मुस्तफा असलहा सप्लायर था। उसका भाई गैंगस्टर वसीम काला को एसटीएफ ने 28 सितंबर 2018 को एनकाउंटर में मार गिराया था। मुकीम राजमिस्त्री का काम करता था। 2010 में मुकीम ने हरियाणा में एक ट्रैक्टर लूटा था। इसके बाद से वो एक के बाद एक आपराधिक वारदातों को अंजाम देना शुरू किया जो सिलसिला लगातार जारी रहा। 2015 में सहारनपुर में तनिष्क के शोरूम में दस करोड़ की डकैती डाली थी। सबसे पहले मुकीम कग्गा के गैंग में शामिल हुआ था। 2011 में जब कग्गा का एनकाउंटर हुआ तब वो गैंग का सरगना बन गया।
... और पढ़ें

गोंडा: हलधरमऊ गांव में कोरोना ने मचाई तबाही, पूर्व सांसद की पत्नी सहित 12 लोगों की मौत

मुकीम, अंशू और मेराज की फाइल फोटो
गोंडा जिले के ब्लॉक बालपुर के हलधरमऊ गांव में कोरोना ने तबाही मचा रखी है। गांव के दो दर्जन से ज्यादा लोग सर्दी व जुखाम से पीड़ित हैं। यहां पिछले दस दिन से मौतों का सिलसिला लगातार जारी है। गांव में अब तक पूर्व सांसद की पत्नी सहित एक दर्जन लोगों की मौत हो चुकी है।

स्वास्थ विभाग की टीम गांव में सर्वे कर रही है साथ ही खण्ड विकास अधिकारी राम आज्ञा मौर्य के निर्देश पर गांव में सैनिटाइजेशन किया जा रहा है। लाइफ लाइन अस्पताल के संचालक डॉ मोहम्मद सादिर की अगुवाई में एक निजी स्कूल को अस्थायी अस्पताल बनाया गया है। जहां पर लोगों का इलाज किया जा रहा है।

ग्राम प्रधान मसूद खां ने बताया कि हलधरमऊ गांव में 10 दिन के अंदर करीब एक दर्जन लोगों की मौत हो चुकी है लेकिन सरकार की तरफ से कोई व्यवस्था नहीं की गई है। काफी लोग सर्दी जुखाम से पीड़ित हैं।

कोरोना महामारी से पूर्व सांसद मुन्नन खां की पत्नी जुबैदा बेगम सहित मंसूर आलम, मद्दन खान, नुरुल खान, अच्छे मियां, मैमुना, अबु बकर खान की मौत हो चुकी है। अभी तक स्वास्थ विभाग इससे अनजान था। मामला संज्ञान में आने के बाद से गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम सर्वे कर रही है।
... और पढ़ें

योग गुरु आनंद गिरी का अपने गुरु नरेंद्र गिरी पर पलटवार : बोले- अखाड़ा परिषद अध्यक्ष का पतन नजदीक

अखाड़ा पऱिषद और निरंजनी अखाड़े से निष्कासित किए जाने के बाद योग गुरु आनंद गिरी का गुस्सा फूट पड़ा है। उन्होंने अपने गुरु और अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

योग गुरु आनंद गिरी ने कहा कि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद अध्यक्ष के पतन का समय नजदीक आ गया है। इसीलिए वह अनर्गल कार्य कर रहे हैं। नरेंद्र गिरी पर उन्होंने मठ की संपत्ति बेचने का भी आरोप लगाया। कहा कि महंत बनने के बाद से नरेंद्र गिरी ने बाघमबारी गद्दी मठ की जमीनों को बेचकर मठ को खोखला कर दिया है।

ज्ञात है कि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि के करीबी शिष्य संगम स्थित बड़े हनुमान मंदिर के व्यवस्थापक स्वामी आनंद गिरि को पंचायती अखाड़ा निरंजनी से निष्कासित कर दिया गया है। संन्यास धारण करने के बाद आनंद गिरि की पारिवारिक मायामोह में फंसने की शिकायतें मिली थीं। इसके बाद अखाड़े की पंच परमेश्वर कमेटी ने इसकी जांच की। जांच में आरोप सही पाए जाने के बाद अखाड़े की कार्यकारिणी ने हरिद्वार में बैठक कर निष्कासन का निर्णय लिया गया। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष ने शुक्रवार को निष्कासन की कार्रवाई की पुष्टि की।

निरंजनी अखाड़े की ओर से उनके निष्कासन संबंधी पत्र जारी कर दिया गया है। इसमें कहा गया है कि संन्यास धारण करने के बावजूद अपने परिवार से संबंध रखने के कारण उन्हें निष्कासित किया गया है। अखाड़े की इस कार्रवाई के बाद अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने आनंद गिरि को बाघंबरी गद्दी मठ और संगम स्थित बड़े हनुमान मंदिर की व्यवस्थाओं से भी उनको अलग कर दिया है।
 

पढ़ें क्या है पूरा मामला

... और पढ़ें

आजमगढ़: जहरीली शराब से मौत के बाद पुलिस भी सतर्क, गांव में बरामद किया अवैध शराब का जखीरा

यूपी: सिपाही ने धारदार हथियार से की पत्नी की हत्या, सात बच्चों को किया घायल, फिर कर ली आत्महत्या

गाजीपुर के दिलदारनगर नगर थाना क्षेत्र के उसिया गांव में शनिवार(15 मई) तड़के पारिवारिक कलह से ऊबकर सिपाही ने पत्नी और सात बच्चों पर धारदार हथियार से वारकर दिया। वारदात को अंजाम देकर उसने खुद भी ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी।

इधर उपचार के दौरान जिला अस्पताल में पत्नी की मौत हो गई। वहीं तीन मासूमों की हालत नाजुक बनी हुई है। परिजनों के बिलखने से गांव में मातम पसरा हुआ है। वहीं पुलिस टीम छानबीन में जुटी हुई है।
 
उसिया गांव निवासी मुंशी यादव (42) प्रयागराज में तैनात था। उसका स्थानांतरण बीते जनवरी माह में फतेहपुर हुआ था। वह वहां पुलिस लाइन में आमद कराकर बीमारी दिखाकर बीते 5 जनवरी से ही मेडिकल लीव पर छुट्टी लेकर घर आ गया था। वह अपने परिवार के साथ रात में छत पर सोया था।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन