बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
जीवन में मिलेगी सफलता, यश और तरक्की, दूर करें ग्रहों के दोष,  करवाएं विशेष नवग्रह पूजन, फ़्री, अभी बुक करें
Myjyotish

जीवन में मिलेगी सफलता, यश और तरक्की, दूर करें ग्रहों के दोष, करवाएं विशेष नवग्रह पूजन, फ़्री, अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

आगरा में किसने की मां-बच्चों की हत्या: रोज नई कहानी में उलझ रही पुलिस, पांच दिन बाद भी खाली हाथ

आगरा के कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला कूंचा साधूराम में रेखा और उसके तीन बच्चों की हत्या के खुलासे में लगी पुलिस रोज नई कहानी में उलझती जा रही है। जिन लोगों को पुलिस ने उठाया था, उनसे पूछताछ के बाद जो सामने आता है, उससे कोई नतीजा नहीं निकलता है। पुलिस की विवेचना तंत्रमंत्र, लूट और करीबी पर शक के आधार आगे बढ़ाई जा रही है।

संबंधित खबर- 
आगरा में मां-बच्चों की हत्या का मामला: रेखा ने सना खान नाम से बनाई थी फेसबुक आईडी, जैनुद से थी दोस्ती

21 जुलाई को रेखा, उसके बेटों वंश, पारस और बेटी माही की घर में गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। 22 जुलाई की सुबह घर का गेट खुला देखकर पड़ोसियों ने अनहोनी की आशंका जाहिर करते हुए पुलिस को सूचना दी थी। हत्याकांड के खुलासे के लिए कोतवाली पुलिस को विशेष रूप से लगाया गया। सर्विलांस टीम की भी मदद ली जा रही है।
... और पढ़ें

मथुरा: अमर उजाला की खबर पर उपमुख्यमंत्री ने लिया संज्ञान, जल्द बनेगा बांकेबिहारी मंदिर मार्ग

सोमवार को मथुरा आए उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने जनपद की विभिन्न सड़कों के निर्माण के लिए लोक निर्माण विभाग के प्रांतीय खंड से प्रस्ताव बनाकर देने के आदेश दिए हैं। वृंदावन में अटल्ला चुंगी से बांकेबिहारी मंदिर की ओर जाने वाले मार्ग को भी शीघ्र बनाए जाने के आदेश दिए गए हैं। अब जल्द ही बांकेबिहारी के भक्तों को गड्ढों से मुक्ति मिलने की उम्मीद है। 

अटल्ला चुंगी से बांके बिहारी मंदिर के लिए जाने वाले रोड का पहले विभाग डामर की बना रहा था, लेकिन कार्ष्णि संत नागेंद्रदत्त ने उपमुख्यमंत्री को अमर उजाला में प्रकाशित 'डिप्टी सीएम साहब: जरा मथुरा की सड़कों पर नजर तो डालिए' समाचार का हवाला देते हुए बताया कि यह मार्ग हर साल बरसात में जलभारव के कारण जर्जर हो जाता है। इसलिए इस रोड का निर्माण सीसी का किया जाए। 

विभाग को प्रस्ताव भेजने के आदेश दिए
संत नागेंद्रदत्त की मांग पर डिप्टी सीएम ने सीसी रोड बनाए जाने का प्रस्ताव भेजने के आदेश दिए हैं। अटल्ला चुंगी से बांकेबिहारी कांप्लेक्स तक लगभग 800 मीटर रोड के निर्माण में 138 लाख का खर्च आना है, जबकि विभाग ने पहले 37 लाख का प्रस्ताव डामर रोड का बनाया था। इस प्रस्ताव को डिप्टी सीएम ने ठुकरा दिया है। अब यह मार्ग सीसी बनने के आसार हैं। 
... और पढ़ें

श्री पारस अस्पताल प्रकरण: अब डीजीपी से मिलेंगे अधिवक्ता, मुकदमा दर्ज करने की करेंगे मांग

आगरा के श्री पारस अस्पताल में ऑक्सीजन की मॉकड्रिल के मामले में अब तक पीड़ितों की शिकायत पर मुकदमे दर्ज नहीं किए गए हैं। पुलिस को तहरीर देने के बाद पीड़ित भटकने को मजबूर हैं। उधर, पुलिस ने कोर्ट में भी आख्या नहीं भेजी थी, जिस वजह से प्रार्थनापत्र पर कोर्ट में सुनवाई नहीं हो सकी। ऐसे में अधिवक्ताओं के पैनल ने डीजीपी से मुलाकात करने का फैसला लिया है। 

युवा अधिवक्ता संघ के मंडल अध्यक्ष नितिन वर्मा ने बताया कि अधिवक्ताओं के पैनल के पास पीड़ित अशोक चावला, राजू यादव, गीतिमा ग्रोवर, क्षितिज शर्मा, दूरबीन सिंह, पीयूष तिवारी, मनोज यादव, अमित चावला आदि के प्रार्थनापत्र आ चुके हैं। इन प्रार्थनापत्र को एसएसपी के यहां 20 दिन पहले दिया जा चुका है। मगर, अब तक कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई जा रही है। 

इस कारण ही कोर्ट में प्रार्थनापत्र दिया है। इस पर थाना न्यू आगरा से रिपोर्ट मांगी गई थी। मगर, थाने ने रिपोर्ट नहीं भेजी। इस कारण कोर्ट में सुनवाई नहीं हो सकी। पुलिस के रवैये से लगता है कि जान बूझकर आरोपियों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। अगर, अब मुकदमे दर्ज नहीं किए जाते हैं तो डीजीपी से अधिवक्ताओं का पैनल मिलने जाएगा।
... और पढ़ें

ताजमहल: 77 साल बाद सहेजा गया गुंबद, 230 फीट ऊंचाई पर हवा में लटक कर किया संरक्षण कार्य

आगरा में 77 साल बाद ताजमहल के मुख्य मकबरे के गुंबद को सहेजा गया है। कोरोना काल के दौरान मकबरे पर गुंबद के टूटे पत्थरों को लगाया गया और प्वाइंटिंग कराई गई। जमीन से करीब 239 फीट ऊंचाई पर ताज के गुंबद पर झूला लटका कर एएसआई कर्मचारियों ने गुंबद का संरक्षण कार्य किया। 1944 के बाद पहली बार ताज के गुंबद पर इनले पीस लगाने और चारों बुर्जियों का संरक्षण किया गया है।

लॉकडाउन में जब ताजमहल पर्यटकों के लिए बंद रहा, तब भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने मकबरे के मुख्य गुंबद और इसकी चारों बुर्जियों का संरक्षण किया। मकबरे के संगमरमरी गुंबद पर पच्चीकारी के पत्थर निकल गए थे। सफेद संगमरमर के गुंबद पर नीचे काले रंग का बार्डर बना हुआ है, जिसके इनले पीस संरक्षण केदौरान लगाए गए। 
... और पढ़ें
ताज के गुंबद पर संरक्षण कार्य करते कर्मचारी ताज के गुंबद पर संरक्षण कार्य करते कर्मचारी

आगरा चौहरा हत्याकांड: कातिल अब भी पकड़ से दूर, परिचितों से पूछताछ के बाद उलझी आगरा पुलिस

कोतवाली के मोहल्ला कूंचा साधूराम में रेखा और उनके तीन बच्चों की हत्या के खुलासे में लगी पुलिस रोज नई कहानी में उलझती जा रही है। जिन लोगों को पुलिस ने उठाया था, उनसे पूछताछ के बाद जो सामने आता है, उससे कोई नतीजा नहीं निकलता है। पुलिस की विवेचना तंत्रमंत्र, लूट और करीबी पर शक के आधार आगे बढ़ाई जा रही है। 21 जुलाई को रेखा, उसके बेटों वंश, पारस और बेटी माही की घर में गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। 22 जुलाई की सुबह घर का गेट खुला देखकर पड़ोसियों ने अनहोनी की आशंका जाहिर करते हुए पुलिस को सूचना दी थी। हत्याकांड के खुलासे के लिए कोतवाली पुलिस को विशेष रूप से लगाया गया। सर्विलांस टीम की भी मदद ली जा रही है। पुलिस ने परिजनों से पूछताछ करके रेखा की जिंदगी में झांकने की कोशिश की। इसमें कई नाम सामने आए। ... और पढ़ें

आगरा: सेवानिवृत्त कर्मचारी ने सीने में गोली मारकर की आत्महत्या, बीमारी से थे परेशान, पुलिस जांच में जुटी

आगरा में थाना शाहगंज के केदार नगर में डाकघर के सेवानिवृत्त कर्मचारी ने सीने में गोली मारकर आत्महत्या कर ली। पुलिस को घटना की सूचना मिली जिसके बाद मौके पर पहुंची और घटनास्थल से बंदूक को कब्जे में लिया। 

केदार नगर में डाकघर से सेवानिवृत्त 72 वर्षीय सुनहरी लाल शर्मा ने मंगलवार सुबह 9:30 बजे सीने में गोली मारकर आत्महत्या कर ली। जिस समय घटना हुई, उस समय घर में उनकी पत्नी, बेटा और पुत्र वधू मौजूद थीं। सभी घरों में अपने कमरों में थे। गोली की आवाज सुनकर कमरे में पहुंचे तो सुनहरी लाल लहूलुहान पड़े हुए थे। उनकी मौत हो चुकी थी। सूचना पर पुलिस पहुंच गई।

थाना शाहगंज के प्रभारी निरीक्षक सत्येंद्र सिंह का कहना है कि सुनहरी लाल बीमार रहते थे। एक साल से चल फिर भी नहीं पा रहे थे। चारपाई पर ही पड़े रहते थे। खाने की नली भी लगी हुई थी। परिजन उन की देखभाल में लगे हुए थे। आशंका है कि बीमारी से ही परेशान होकर उन्होंने आत्महत्या की है। कमरे की तलाशी ली जा रही है। कोई सुसाइड नोट मिलेगा तो उसकी जांच की जाएगी। उन्होंने अपनी लाइसेंसी बंदूक से गोली मारी है। बंदूक को कब्जे में ले लिया गया है।
केंद्रीय मंत्री पर टिप्पणी: फिरोजाबाद के प्रोफेसर शहरयार अली को मिली जमानत, जेल से आएंगे बाहर
... और पढ़ें

महंगाई: गैस के दामों ने निकाला उज्जवला योजना का दम, चूल्हा फूंकने को मजबूर महिलाएं

हर रसोई तक गैस पहुंचाने के लिए शुरू की गई केंद्र सरकार की मुहिम महंगाई की भेंट चढ़ गई। गैस के बढ़ते दामों ने प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का दम निकाल कर रख दिया। एलपीजी की कीमतें लगभग दोगुनी हो जाने से उज्ज्वला कनेक्शन धारक सिलिंडर रिफिल नहीं करवा पा रहे हैं। ऐसे में महिलाओं को बेहतर ईंधन उपलब्ध कराने का सपना अधूरा है। ग्रामीण क्षेत्र में गरीब परिवार चूल्हे पर उपले और लकड़ी के सहारे ही भोजन बनाने को मजबूर हैं। इससे उठने वाला धुआं उनकी सेहत और आंखों को प्रभावित करता है। इसी के चलते वर्ष 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना शुरू की थी। इसके तहत जिले के एक लाख 29 हजार 59 परिवारों को नि:शुल्क गैस कनेक्शन दिए गए। इससे गरीब परिवारों की रसोई तक बेहतर ईंधन पहुंच गया। लेकिन लगातार गैस की बढ़ती कीमतों के चलते एक बार फिर ये परिवार चूल्हे पर धुएं के बीच खाना बनाने के लिए मजबूर हैं।
... और पढ़ें

यमुना एक्सप्रेसवे पर हादसा: ट्रक में टकराई अर्टिका कार, एक युवक की मौत, एक घायल

मैनपुरी में चूल्हे पर खाना बनातीं उज्जवला योजना की लाभार्थी
मथुरा के नौहझील-यमुना एक्सप्रेसवे पर मंगलवार तड़के नोएडा से आगरा की ओर जा रही अर्टिका कार आगे चल रहे ट्रक में घुस गई। हादसे में कार के परखच्चे उड़ गए। कार सवार एक व्यक्ति की मौत हो गई वहीं एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर परिजनों को सूचित किया है। वहीं घायल को इलाज के लिए भेजा है।

यमुना एक्सप्रेसवे पर अर्टिका टैक्सी कार मंगलवार तड़के नोएडा से आगरा की ओर जा रही थी। नौहझील क्षेत्र में माइल स्टोन 60 के समीप कार अचानक अनियंत्रित हो गई और आगे चल रहे ट्रक से टकरा गई। इस हादसे में कार के परखच्चे उड़ गए। कार सवार पंकज शर्मा (30) पुत्र सुशील कुमार निवासी बहरामपुर खास, जनपद मेरठ की मौके पर मौत हो गई। वहीं कार चालक कालू पुत्र लक्ष्मीप्रसाद निवासी बलेनी, जनपद बागपत घायल हो गए। हादसे की सूचना पर पुलिस और एक्सप्रेसवे कर्मी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने परिजनों को सूचना देने के बाद मृतक के शव को पोस्टमार्टम गृह भेजा और घायल को इलाज के लिए अस्पताल भेजा। पुलिस ने ट्रक चालक को वाहन सहित हिरासत में लिया है।
... और पढ़ें

कैसे लड़ेंगे तीसरी लहर में: आगरा में 1485 लोगों की आबादी पर एक ऑक्सीजन सिलिंडर

आगरा जिले में 1485 लोगों के हिस्से में एक ऑक्सीजन सिलिंडर है। जिला प्रशासन ने तीसरी लहर के लिए ऑक्सीजन सिलिंडर की उपलब्धता का ऑडिट कराया है। जिसमें 52 लाख की आबादी पर जिले में 3,500 सिलिंडर का इंतजाम है। जिनमें 500 सिलिंडर वेंडर्स के पास, 900 सिलिंडर सिकंदरा प्लांट और 1,200 सिलिंडर टेढ़ी बगिया प्लांट से मिल सकेंगे। बाकी 900 सिलिंडर का इंतजाम अन्य स्रोतों से होगा।
जिले में 14 अस्पताल ऐसे हैं जिनके लिए दूसरे जिलों से लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (एलएमओ) मंगानी पड़ेगी। जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह का कहना है कि दूसरी लहर जैसी समस्या तीसरी लहर में नहीं आएगी। उन्होंने कहा कि ट्रांसपोर्टेशन की सुविधा है। बाहर से एलएमओ आने में अब दिक्कत नहीं होगी। जिले में 3,500 सिलिंडर उपलब्ध हैं। 
क्या नए सिलिंडर और खरीदे जाएंगे, इस सवाल के जवाब में डीएम ने कहा कि सिलिंडर खरीदने की कोई योजना नहीं है। दूसरी लहर में 2,200 मरीजों के लिए बेड की व्यवस्था प्रशासन ने जिले में की थी। जब दूसरी लहर चरम पर थी तब जिले में 4,400 से अधिक सक्रिय मरीज थे। तीसरी लहर में भी प्रशासन 2,200 से 2,500 बेड का इंतजाम कर सकता है।  
अगस्त में बढ़ सकता है संक्रमण
ताजनगरी में पिछले 20 दिनों से संक्रमण स्थिर है। नए मरीज नहीं मिल रहे। परंतु जिला प्रशासन का मानना है कि अगस्त में फिर संक्रमण बढ़ सकता है। वायरस का ट्रेंड बदल रहा है। सितंबर के पहले सप्ताह में तीसरी लहर आने की आशंका है। पिछले तीन महीने से जिले में ऑक्सीजन संयंत्रों की स्थापना का कार्य चल रहा है परंतु नौ अस्पताल व स्वास्थ्य कें द्रों में चार जगह संयंत्र शुरू हो सके हैं। प्रशासन का दावा है कि अगस्त तक सभी संयंत्र शुरू हो जाएंगे।  

24 घंटे में कोई नया मरीज नहीं
सोमवार को पिछले 24 घंटे में 5,081 लोगों की कोरोना जांच की गई है। कोई नया मरीज नहीं मिला है। एक संक्रमित ठीक भी हुआ है। जिले में अब 22 सक्रिय मरीज हैं। 456 मरीजों की मौत हो चुकी है। सोमवार तक 13.53 लाख लोगों की कोरोना जांच हो चुकी हैं। जिनमें 25,722 मरीज मिल चुके हैं। 25,244 संक्रमित ठीक हो चुके हैं। मरीजों के स्वस्थ होने की दर 98.14फीसदी है। 

यमुना एक्सप्रेसवे पर हादसा: ट्रक में टकराई अर्टिका कार, एक युवक की मौत, एक घायल ... और पढ़ें

आगरा में बॉल्टी में गिरकर बच्चे की मौत: ...तो साबुन निकालने की कोशिश में मासूम हुआ हादसे का शिकार

आगरा में एत्माद्दौला के नगला किशन लाल में डेढ़ साल का शिवम जिस बाल्टी में गिरा था, उसमें साबुन मिला है। इससे आशंका है कि वह बिस्किट खाते समय साबुन से खेलने लगा होगा। साबुन बाल्टी के पानी में गिर गया। साबुन को निकालने के चक्कर में शिवम ने हाथ डाला होगा और सिर के बल पानी में गिर गया। उसको बाहर निकलने का मौका नहीं मिला। पानी में मुंह होने की वजह से उसकी मौत हो गई। पुलिस हादसे की यही वजह मान रही है।
नगला किशनलाल निवासी सनी उर्फ सुनील ने बताया कि बहन मोनिका छत पर पानी रख रही थी। भांजा शिवम भी खेल रहा था। उन्हें नहीं पता था कि शिवम साबुन से खेलने लगेगा। मोनिका पानी नीचे से दूसरी बाल्टी में पानी लेकर  पहुंची तो हादसा हो चुका था।
थाना एत्माद्दौला की फाउंड्री नगर चौकी के प्रभारी वीरेंद्र कुमार ने बताया कि शिवम पानी में सिर के बल गिर गया था। इससे मौत हो गई। पानी में साबुन गिरने की आशंका है। परिजनों ने भी यही बताया कि बच्चा साबुन से खेल रहा था। उसे निकालने के चक्कर में बाल्टी में सिर चला गया।

मां बोली, काश छत पर ही रहती
घटना के बाद मां मोनिका का बुरा हाल था। वह एक ही बात कह रही थी कि काश वह छत पर ही बैठी रहती। उसे नहीं पता था कि बेटा इस तरह से मौत के आगोश में चला जाएगा। मां को परिवार के लोग किसी तरह संभाल रहे थे।

पोस्टमार्टम कराने से किया इंकार
शिवम की मौत की जानकारी पर पिता प्रहलाद आ गया। उन्होंने ससुरालियों पर हत्या का आरोप लगाया। कहा कि बेटे की मौत की सूचना पड़ोसी से मिली। बेटे की हत्या की गई है। उसने पुलिस को सूचना दे दी। काफी हंगामा भी कर दिया लेकिन पुलिस से शव का पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया। 

आगरा में हादसे ने छीनी परिवार की मुस्कान: पानी से भरी बाल्टी में गिरने से डेढ़ साल के मासूम की मौत
 
... और पढ़ें

श्री पारस अस्पताल प्रकरण: मरीजों के परिजनों ने बताई खौफनाक दिन की दास्तां, 'देर रात तक निकलते रहे शव'

आईएमए जांच समिति को बयान दर्ज कराने वाले मरीजों के परिजनों ने अमर उजाला को भी अपना दर्द बताया। मालवीय कुंज रहने वाली गीता ग्रोवर ने बताया कि 26 अप्रैल की सुबह 11 बजे से अफरातफरी शुरू हो गई थी। सीसीटीवी कैमरे बंद कर दिए थे। शाम चार बजे से देर रात तक एक-एक करके शव लेकर परिजन जा रहे थे। सीसीटीवी कैमरे भी बंद कर दिए थे। कुछ तो गड़बड़ जरूर रही, मॉकड्रिल भी हो सकती है। उन्होंने बताया कि मेरी ननद मीरा ग्रोवर को सांस लेने में परेशानी पर 21 अप्रैल को सुबह 11 बजे श्री पारस अस्पताल में भर्ती कराया। 22 की सुबह सात बजे फोन आया सिर में दर्द है, इलाज ठीक नहीं मिल रहा, मुझे घर ले जाओ। रात को ही आरटीपीसीआर की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया। 23 की सुबह सीसीटीवी कैमरे से मरीज को दिखाया। फोन पर पूछने पर उन्होंने बताया कि पूरे दिन दवाएं नहीं दी, इससे उनका पेट फूल गया। 
... और पढ़ें

आगरा में कब खत्म होगा जल संकट: चौथे दिन भी चार लाख लोगों को नहीं मिला पानी

आगरा के जीवनीमंडी, रतनपुरा, नया घेर, कोतवाली, मंटोला, कलक्ट्रेट, काजीपाड़ा, छीपीटोला, बिजलीघर, बालूगंज, काला महल, बेलनगंज, पथवारी, कचहरी घाट, पीपलमंडी, गुदड़ी मंसूर खां, घटिया आजम खां, फुलट्टी, हींग की मंडी, विजय नगर कॉलोनी, पीर कल्याणी समेत 40 इलाकों के चार लाख से ज्यादा लोग चौथे दिन भी पानी के लिए परेशान रहे। इन सभी इलाकों में पानी के लिए हाहाकार मचा रहा। 

टैंकर न पहुंचने के लिए लोगों को पानी के लिए उन पड़ोसियों से मिन्नतें करनी पड़ीं, जिनके घर सबमर्सिबल पंप लगे हैं। पुराने शहर की तंग गलियों, कॉलोनी, बस्तियों में लगी टीटीएसपी की टंकियों से पानी भरने के लिए लोगों को  500 से 700 मीटर तक जाना पड़ा। जलकल विभाग के अधिकारियों ने टूटी लाइन की जगह नई लाइन बिछाकर बुधवार को पानी की आपूर्ति का दावा किया है। 
 
बच्चे भी पहुंचे पानी भरने
जलकल विभाग की पाइपलाइन फटने के बाद चार दिन से संकट झेल रहे लोगों ने पानी की तलाश की तो कोई बस्ती के कोने पर लगे सबमर्सिबल पंप तो कोई एक किमी दूर अपने परिचित के घर पर पानी भरने के लिए पहुंचा। किसी ने रिक्शे पर बाल्टियों को रखकर पानी भरने में ढोया तो कोई ठेल पर ही पानी लेने पहुंचा। 
... और पढ़ें

मथुरा: पानी की समस्या को लेकर सड़कों पर उतरीं महिलाएं, जाम लगाकर किया प्रदर्शन

Election
  • Downloads

Follow Us