बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
अपार धन की प्राप्ति हेतु कामिका एकादशी को कराएँ श्री लक्ष्मी-विष्णु जी का विष्णुसहस्त्रनाम-फ्री, रजिस्टर करें
Myjyotish

अपार धन की प्राप्ति हेतु कामिका एकादशी को कराएँ श्री लक्ष्मी-विष्णु जी का विष्णुसहस्त्रनाम-फ्री, रजिस्टर करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

अलीगढ़ः विजन सिंड्रोम का शिकार हो रहे मासूम

इकराम वारिस
कोरोना काल में स्कूल-कॉलेज बंद हैं। बच्चों की पढ़ाई ऑनलाइन माध्यम से हो रही है। लेकिन ज्यादा देर तक मोबाइल, लैपटॉप, कंप्यूटर, टैबलेट की स्क्रीन देखने से उनकी आंखों पर बुरा असर पड़ रहा है। बच्चे विजन सिंड्रोम के शिकार हो रहे हैं। इसके चलते उनको धुंधला व दोहरा दिखना, आंखों में सूखापन, थकान, खुजली, लालीपन, गर्दन, सिर व कंधे में दर्द जैसी समस्याएं हो रही हैं।
शहर के गांधी आई हॉस्पिटल व अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के जेएन मेडिकल कॉलेज के नेत्र विभाग में बच्चों की आंखों में समस्या संबंधी शिकायतें डेढ़ गुना बढ़ गई हैं। इसके अलावा, निजी चिकित्सकों के यहां भी विजन सिंड्रोम के मामले भी लगातार पहुंच रहे हैं। चिकित्सकों के मुताबिक, इस विजन सिंड्रोम को 20-20-20 के फार्मूले से हराया जा सकता है। एएमयू के जेएन मेडिकल कॉलेज में मानसिक रोग विशेषज्ञ प्रो. एसए आजमी मानते हैं कि ऑनलाइन शिक्षा के दौरान मोबाइल नेटवर्क समस्या व बैटरी डिस्चार्ज के चलते बच्चों में चिड़चिड़ापन जैसी समस्याएं शुरू हो जाती हैं।
केस-1
12 वर्षीय सुनील की ऑनलाइन कक्षाएं चल रही हैं। लगातार मोबाइल पर पढ़ाई के कारण उसकी आंखों में कई दिनों से समस्या थी। धुंधला सा दिखाई देने लगा था। परिजनों ने नेत्र विशेषज्ञ डॉ. नाहीद अख्तर से संपर्क किया। आंखों की जांच की गई तो पता चला कि उसके चश्मे का नंबर बढ़ गया है।
केस-2
आठ वर्षीय अभिषेक सिंह की आंखों में मोबाइल देखने से दिक्कत आ गई थी। उसका पढ़ाई के अलावा गेम खेलने में ज्यादा वक्त मोबाइल पर ही बीतता था। परिजनों ने नेत्र विशेषज्ञ डॉ. पारस सैनी से संपर्क किया। जांच करने के बाद डॉक्टर ने दवाएं दीं और एहतियात के साथ मोबाइल पर पढ़ने की सलाह दी।
ये हैं सुझाव
- कंप्यूटर, मोबाइल, टैबलेट पर काम या देखने के दौरान पलक झपकाएं।
- कंप्यूटर, मोबाइल, टैबलेट के स्क्त्रस्ीन पर लेटर साइज बड़ा रखें।
- कंप्यूटर, मोबाइल, टैबलेट पर काम या देखने के दौरान बैठने का एंगल सही रखें।
इस वजह से हो रहा विजन सिंड्रोम
- कंप्यूटर, मोबाइल, टैबलेट की स्क्रीन को लगातार पलक झपकाए बिना देखना या काम करना।
- कंप्यूटर, मोबाइल, टैबलेट को काफी करीब से देखना।
- कंप्यूटर, मोबाइल, टैबलेट को गलत एंगल से बैठकर देखना या काम करना।
- कंप्यूटर, मोबाइल, टैबलेट को लेटकर देखना और विराम न लेना।
20-20-20 फार्मूला कारगर
वर्चुअल स्क्रीन देखने से विजन सिंड्रोम की दिक्कतें कोरोना काल में डेढ़ गुना से अधिक बढ़ गई हैं। बच्चों के चश्मे के नंबर में भी फर्क आया है। विजन सिंड्रोम से बचने के लिए 20-20-20 फार्मूला कारगर है। 20 मिनट लगातार स्क्रीन देखने के बाद 20 सेकंड का विराम लें। फिर, 20 फीट की दूरी पर रखी चीजें देखें।
- डॉ. नाहीद अख्तर, असिस्टेंट प्रोफेसर, इंस्टीट्यूट ऑफ ऑप्थल्मोलॉजी, एएमयू
... और पढ़ें

अलीगढ़ः जल संकट से जूझ रही 15 हजार की आबादी

दुबे का पड़ाव के समीप कोयले वाली गली, अंबेडकर मूर्ति वाली गली सहित आसपास के गली-मोहल्लों के करीब 15 हजार से अधिक लोग पानी की भीषण समस्या से जूझ रहे हैं। यहां पांच में से चार सरकारी हैंडपंप खराब हैं। पूरे दिन में मुश्किल से आधे घंटे ही पानी की आपूर्ति होती है। लोगों का कहना है कि प्रेशर इतना कम होता है कि बमुश्किल एक-दो बाल्टी ही पानी भर पाता है। कभी कभी पानी गंदा और बदबूदार आता है। इस गंदे पानी को पीकर लोग बीमार पड़ रहे हैं।
मलिन बस्ती के रूप में चिन्हित इन मोहल्लों में भीषण गर्मी में पानी की समस्या से लोग नाराजगी है। यह क्षेत्र वार्ड 10 में आता है। वार्ड में करीब साढ़े आठ हजार मतदाता है। अनुमानित तौर पर यहां की आबादी 15 हजार से अधिक है। यहां के लोगों का कहना है कि पाइप लाइन का प्रेशर इतना कम होता है कि कई घरों तक पानी नहीं पहुंचता है। ऐसे में दूसरे मोहल्लों व घरों में जाकर पानी भरकर लाना पड़ता है। स्थानीय पार्षद व लोगों का कहना है कि कई बार नगर निगम के अधिकारियों से शिकायत की जा चुकी है, लेकिन समस्या का समाधान अभी तक नहीं हुआ है।
क्षेत्र में पानी की बड़ी समस्या है। सरकारी नलों से पर्याप्त पानी नहीं आता है। कई बार तो बदबूदार पानी आता है। पानी के लिए हमलोगों को भटकना पड़ता है।
- रूप कुमारी, कोयले वाली गली
गंदा पानी पीने से लोग अक्सर बीमार हो जाते हैं। दो साल से ये समस्या है। कोई सुनवाई नहीं हो रही है। समझ में नहीं आता कि क्या करें।
- पिंकी देवी, कोयले वाली गली
नगर निगम के नलों से कई बार कीचड़ युक्त गंदा पानी आता है। पार्षद एवं नगर निगम में कई बार शिकायत कर चुके हैं, कोई सुनवाई नहीं होती।
- ओम प्रकाश, पीर मिट्ठा, अंबेडकर प्रतिमा वाली गली
कहने को सुबह और शाम एक-एक घंटे की आपूर्ति है। लेकिन मुश्किल से आधे घंटे भी पानी नहीं आता है। प्रेशर कम होता है। एक- दो बाल्टी भी नहीं भर पाती हैं।
- केला देवी, अंबेडकर प्रतिमा वाली गली
गली में 10-15 घर ऐसे हैं, जहां पानी पहुंचता ही नहीं। पहले ट्यूबवेल मंजूर हुआ था। सर्वे हुआ था। उसके बाद कुछ नहीं हुआ। लोग बूंद-बूंद पानी के लिए मोहताज हैं।
- सोनू कुमार, अंबेडकर प्रतिमा वाली गली
कई महीनों से लोग पानी की समस्या से जूझ रहे हैं। नगर निगम के कई अधिकारी समस्या से अवगत हैं। पर्याप्त मात्रा में पानी की आपूर्ति नहीं होती। कई बार गंदा एवं बदबूदार पानी आता है। लोग दुबे का पड़ाव एवं अन्य स्थानों से जाकर पानी लाते है। पांच में से चार हैंडपंप खराब हैं। जनता को पानी के लिए दूसरों के सामने गिड़गिड़ाना पड़ता है। भीषण समस्या है। नगर निगम से सिर्फ आश्वासन मिलता है।
- राजू पासवान, स्थानीय पार्षद
गांधी पार्क में दो ट्यूबवेल हैं। दुबे का पड़ाव क्षेत्र में जलापूर्ति होती है। कोई बड़ी समस्या सामने नहीं आई है। जेई को भेजकर स्थिति का पता लगाता हूं। अगर समस्या है तो दूर कराएंगे।
- अनवर ख्वाजा, महाप्रबंधक, जल, नगर निगम
... और पढ़ें

तकनीक से दिलाई जाएगी जलभराव से मुक्ति : राठी

नवागत विकास प्राधिकरण उपाध्यक्ष एवं नगर आयुक्त गौरांग राठी ने शनिवार को पदभार संभाल लिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि शहर में जलभराव की समस्या का समाधान तकनीक का प्रयोग करके कराया जाएगा। इसके लिये लांग टर्म वर्क प्लान बनाकर ड्रेनेज व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने पर उनका जोर रहेगा।
2014 बैच के आईएएस अधिकारी गौरांग राठी इससे पहले वाराणसी में नगर आयुक्त व काशी विश्वनाथ मंदिर के सीईओ के पद पर तैनात थे। नगर निगम में प्रेसवार्ता में उन्होंने कहा कि समस्याओं को दूर करने के लिये वह नगर निगम वार रूम बनाएंगे। जन प्रतिनिधियों एवं आमजन से संवाद बढ़ाकर हर समस्या का निदान कराया जाएगा। अंतर विभागीय समन्वय बनाकर ट्रैफिक लाइट, खाली जमीनों के बेहतर इस्तेमाल का प्रयास किया जाएगा। गरीबों के लिए अफोर्डेबल हाउसों का निर्माण कराया जाएगा। हर सोमवार एवं मंगलवार को समस्याओं और उनके निदान पर चर्चा करेंगे। नगर आयुक्त ने सभी उपकरणों की फिटनेस की जांच कराने एवं नये उपकरणों को गोदामों में बेवजह खड़े रखने के जिम्मेदार अफसर व कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की बात कही।
इस अवसर पर अपर नगर आयुक्त अरुण कुमार गुप्त, कर्मचारी कल्याण संघ के अध्यक्ष रॉबिन केला, महामंत्री विजय गुप्ता सहित नगर निगम के अधिकारी कर्मचारियों ने बुके देकर उनका स्वागत किया। नगर आयुक्त ने अपने कक्ष में अपर नगर आयुक्त, स्वास्थ्य विभाग, टैक्स, लाइट, लाइसेंस, जलकल, विज्ञापन सहित विभागों के अधिकारियों का परिचय लिया।
प्राधिकरण कार्यालय में गुटखा खाने पर लगाया प्रतिबंध
अलीगढ़। नवागत विकास प्राधिकरण उपाध्यक्ष एवं नगर आयुक्त गौरांग राठी ने शनिवार को प्राधिकरण उपाध्यक्ष पद का भार संभाल लिया। उन्हें प्राधिकरण सचिव अर्जुन सिंह तोमर ने चार्ज सौंपा।
निरीक्षण के दौरान जगह जगह रखे अनुपयोगी एवं कंडम सामान को देखकर नाराजगी जताई। जगह जगह गुटखा थूका हुआ देखकर उन्होंने कार्यालय में गुटखा खाने पर प्रतिबंध लगा दिया। पकड़े जाने पर जुर्माना लगाने के आदेश किए। महायोजना 2031 के मामले में उन्होंने कहा कि जन प्रतिनिधियों व शहरवासियों के सहयोग से महायोजना 2031 का प्रारूप तैयार किया जाएगा।
... और पढ़ें

विवि : 14 साल का किशोर दिला रहा था गणित की परीक्षा

गभाना तहसील के पिसाबा कस्बे के पास सबलपुर गांव स्थित डीआर ग्रुप ऑफ एजूकेशन संस्थान में चल रही आगरा विवि की बीए-बीएससी की गणित की परीक्षा में जब उड़नदस्ता पहुंचा तो वह हैरान हो गया, क्योंकि यहां एक कमरे में तकरीबन 14-15 साल का किशोर छात्र-छात्राओं को गणित की परीक्षा दिला रहा था। सीसीटीवी कैमरे बंद थे। मॉनीटर को निकालकर अलग रख दिया गया था। उड़नदस्ते का नेतृत्व कर रहे डॉ. मोहम्मद हुसैन आईएसएस ने विधि अनुसार कार्रवाई कर विश्वविद्यालय को रिपोर्ट प्रेषित कर दी है।
डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा की सुबह साढ़े 11 बजे से बीए-बीएससी द्वितीय वर्ष की गणित, एमकॉम अंतिम वर्ष की जीआर एबीसी पेपर द्वितीय, एमए-एमएसी अंतिम वर्ष की गणित-प्रथम, एमएससी अंतिम वर्ष की भौतिक विज्ञान के प्रथम प्रश्नपत्र की परीक्षा शुरू हुई। डॉ. मोहम्मद हुसैन के नेतृत्व में उड़नदस्ता डीआर ग्रुप ऑफ एजूकेशन परीक्षा केंद्र पर पहुंचा। निरीक्षण के दौरान एक कमरे में 14-15 वर्ष का किशोर कक्ष निरीक्षक के रूप में मिला। वह संतोषजनक जवाब नहीं दे सका। उड़न दस्ते के सदस्य सीसीटीवी कंट्रोल रूम पहुंचे। लेकिन यहां मॉनीटर अलग रखा था, कनेक्शन भी नहीं था। सीसीटीवी कैमरे बंद थे। मो. हुसैन ने तत्काल विवि के अधिकारियों को इसकी जानकारी दी और विधि अनुसार कार्रवाई की। रिपोर्ट आगरा विवि को प्रेषित कर दी गई है। विश्वविद्यालय की अलीगढ़ में जनसंपर्क अधिकारी डॉ. सुनीता गुप्ता ने बताया कि सीसीटीवी कैमरे संचालित न होने और कक्ष निरीक्षक के रूप में एक किशोर के मिलने की जानकारी मिली है। उड़नदस्ते ने कुलपति के नकल विहीन परीक्षा संपादित करने वाले निर्देशों के क्रम में कार्रवाई की है। उड़न दस्ते में डॉ. प्रबोध श्रीवास्तव, डॉ. वीके सिंह, डॉ. आशुतोष यादव आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें
कक्ष निरीक्षक की ड्यूटी देते पकड़ा गया किशोर। कक्ष निरीक्षक की ड्यूटी देते पकड़ा गया किशोर।

अलीगढ़ः झाड़ियों में फेंका नवजात, जंगली जानवरों ने नोंचा

मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना थाना पालीमुकीमपुर के गांव रायपुर खास में हुई है। यहां पत्थर दिल मां अपने नवजात बच्चे को झाड़ियों में फेंक गई। उसके रोने की आवाज सुनकर ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। जंगली जानवर उसे नोंच रहे थे। ग्रामीण नन्हे यादव उसको लेकर बिजौली के सरकारी अस्पताल पहुंचे। इसके बाद पुलिस को सूचना दी। चाइल्ड लाइन टीम ने बच्चे को जेएन मेडिकल कालेज में भर्ती कराया है, वहां बच्चे का उपचार जारी है। पुलिस बच्चे को फेंकने वालों की तलाश कर रही है।
जिला प्रोबेशन अधिकारी स्मिता सिंह ने बताया कि रायपुर खास के रहने वाले नन्हे यादव पुत्र सोनप्र साद एवं अन्य ग्रामीणों को झाड़ियों में एक नवजात रोता हुआ मिला था। बालक को जंगली जानवर नोंच रहे थे। किसी तरह बालक को जानवरों से बचाकर उसकी नाल कटवाकर साफ करवाई। नन्हे यादव उसे अपने घर लेकर गए और दूध पिलाया। बालक को रोता देख एवं ग्रामीणों की सलाह पर वह बालक को बिजौली स्थित सरकारी अस्पताल में लेकर गए। वहां उसे टिटनेस का इंजेक्शन लगवाया। फिर उन्होंने थाना पाली मुकीमपुर पुलिस को को सूचना दी। पुलिस की सूचना पर चाइल्ड लाइन के निदेशक ज्ञानेंद्र मिश्रा व उनकी टीम को मौके पर भेजा गया। इसके बाद बच्चे को जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया है। बालक अभी भी मेडिकल कॉलेज में एसएनसीयू में भर्ती है।
... और पढ़ें

मां तुझे प्रणामः देशभक्ति संग दिखाएं हुनर, जीतें इनाम

सावन की फुहारों के बीच धीरे-धीरे स्वतंत्रता दिवस नजदीक आ रहा है। हर वर्ष की तरह इस बार भी अमर उजाला के अभियान मां तुझे प्रणाम का आगाज हो चुका है। इस आयोजन के जरिये अलीगढ़वासी भी आजादी के जश्न में शामिल हो सकते हैं और देश प्रेम के साथ-साथ अपना हुनर दिखा सकते हैं। विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कृत भी किया जाएगा। आजादी के रंग में रंगा एक कवि सम्मेलन और ऑनलाइन सामूहिक राष्ट्रगान का भी आयोजन होगा। इसका आप भी हिस्सा बन सकते हैं। विभिन्न प्रतियोगिताओं के लिए अलग-अलग विषय रखे गए हैं।
प्रविष्टियां भेजने की अंतिम तिथि 14 अगस्त
परिणाम 20 अगस्त को होंगे घोषित। अधिक जानकारी के लिए मोबाइल नंबर 7617566167 पर संपर्क कर प्रतियोगिता का हिस्सा बनें।
फैंसी ड्रेस : वीरों को नन्हों का सलाम
यदि आपका बच्चा 5 साल तक की आयु का है, तो उसे अपने पसंदीदा नेशनल हीरो की तरह तैयार करें। उसकी तस्वीर नीचे दी गई वेबसाइट पर अपलोड करें। शीर्ष 10 बेहतरीन फोटोग्राफ पुरस्कृत भी किए जाएंगे।
ड्राइंग कंपटीशन : मेरा सैनिक मेरा अभिमान
यह प्रतियोगिता कक्षा 3 से कक्षा 6 तक के बच्चों के लिए होगी। थीम के अनुसार ड्राइंग बनाकर अपलोड कर सकते हैं। चित्र पर नाम, नंबर, क्लास और शहर स्पष्ट लिखा होना चाहिए। शीर्ष 10 विजेता घोषित किए जाएंगे।
लेखन प्रतियोगिता : मेरा सैनिक मेरा अभिमान
अगर आपके बच्चे को कविता और निबंध लिखने का शौक है तो उसे कहिये कि वो कलम उठाए और लिख भेजे अपनी रचना देश के वीरों के नाम। लेखन प्रतियोगिता के तहत निबंध व कविताएं मंगाई जा रही हैं। मां तुझे प्रणाम निबंध, कविता लेखन प्रतियोगिता में कक्षा 7 से कक्षा 10 तक के बच्चे हिस्सा ले सकते हैं। विषय मेरा सैनिक मेरा अभिमान पर अपनी रचना अपलोड कर सकते हैं। निबंध 500 शब्द और कविता 100 शब्दों से अधिक नहीं होनी चाहिए। शीर्ष 10 विजेता घोषित किए जाएंगे।
परिवार संग गाएं जन गण मन
15 अगस्त की सुबह ठीक 10 बजे अपने परिवार के साथ राष्ट्रगान गाएं। राष्ट्रगान के बाद अपनी फोटो 9760039725/9643104238 नंबर पर व्हाट्सएप कर सकते हैं। चुनिंदा फोटोग्राफ का प्रकाशन किया जाएगा। ध्यान रहे राष्ट्रगान के दौरान सावधान की मुद्रा में ही खड़े हों। उसके बाद ही फोटो क्लिक करें। केवल व्हाट्सएप पर भेजी हुई फोटोग्राफ स्वीकार की जाएंगी।
जानिए कहां और कब भेज सकते हैं प्रविष्टियां
प्रतिभागियों को रजिस्ट्रेशन तथा अपनी प्रविष्टि auevents.in/mtp-ci वेबसाइट पर अपलोड करनी होगी। विजेताओं के नाम 20 अगस्त को समाचार पत्र में घोषित किए जाएंगे। पुरस्कार वितरण की तारीख और स्थान बाद में घोषित किए जाएगा।
काव्य कैफे में गूंजेंगी देश प्रेम से भरीं कविताएं
जरा याद करो कुर्बानी नाम से आयोजित कवि सम्मेलन का आयोजन 14 अगस्त की शाम 7 बजे होगा। इसमें देश के जाने-माने कवियों के साथ चुनिंदा नए कवियों को भी मौका दिया जाएगा। कार्यक्त्रस्म का लाइव प्रसारण अमर उजाला के फेसबुक पेज और यूट्यूब चैनल पर किया जाएगा।
... और पढ़ें

यूपी बोर्ड : रिजल्ट देख चहके विद्यार्थी...मगर मेधावी मायूस

यूपी बोर्ड के हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के नतीजे शनिवार को घोषित कर दिए गए। रिजल्ट जारी होते छात्र-छात्राएं खुशी से झूम उठे। लेकिन जनपदवार सूची जारी न होने पर मेधावियों को मायूसी हुई है, क्योंकि उनका जिला टॉपर बनने का सपना अधूरा रह गया। जिले का उत्तीर्ण प्रतिशत भी जारी नहीं हो सका है।
यूपी बोर्ड के इतिहास में कोरोना संक्रमण की वजह से पहली बार हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा नहीं हुई है। बाबूलाल जैन इंटर कॉलेज में तकनीकी कारणों से कई छात्रों का परीक्षा परिणाम जारी नहीं हो पाया। इस मामले में डीआईओएस डॉ. धर्मेंद्र शर्मा ने बताया कि जिन कॉलेजों में ऐसी समस्याएं आई हैं, वह लिखित में अवगत करा सकते हैं, ताकि बोर्ड के क्षेत्रीय कार्यालय मेरठ को अवगत कराया जा सके। परीक्षा परिणाम देखने के बाद विद्यार्थी खुशी से उछल पड़े। नौरंगीलाल राजकीय इंटर कॉलेज के प्राचार्य शीलेंद्र यादव के बुलावे पर पहुंचे सफल विद्यार्थियों ने शिक्षकों से आशीर्वाद लिया। विद्यार्थियों ने बताया कि परीक्षा न देने पाने का मलाल है। अगर परीक्षा देने का मौका मिला होता तो अंक प्रतिशत में बढ़ोत्तरी जरूरत होती है, लेकिन कोरोना संक्रमण ने उनके सपने को तोड़ दिया।
एनआईसी में करते सूची का इंतजार
जनपदवार सूची का इंतजार शनिवार देर शाम तक एनआईसी में डीआईओएस डॉ. धर्मेंद्र शर्मा करते रहे। पहले जनपद वार सूची के अपलोड करने इंतजार वेबसाइट पर डीआईओएस ने अपने कार्यालय में किया, लेकिन स्पीड धीमी होने के चलते वह एनआईसी पहुंचे, जहां भी सफलता नहीं मिली।
जनपद वार सूची नहीं जारी हो सकी : डीआईओएस
डीआईओएस डॉ. धर्मेंद्र शर्मा ने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते यूपी बोर्ड के इतिहास में पहली बार न तो परीक्षा हुई और न ही जनपद वार सूची बनी है। बोर्ड ने मेरिट सूची जारी नहीं की है। उन्होंने कहा कि यूपी बोर्ड के हाईस्कूल व इंटर का परीक्षाफल काफी अच्छा रहा है, जो विद्यार्थी परीक्षा में सफल रहे हैं, वह अपनी सफलता को निरंतर बनाए रखें, उन्हें उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं हैं, जबकि जो परीक्षा में फेल हो गए हैं, उन्हें निराश होने की जरूरत नहीं है। वह परिश्रम करें और अपनी सफलता की गाथा लिखें। डीआईओएस ने कहा कि रही बात जिले में उत्तीर्ण प्रतिशत का है, यह भी बोर्ड से नहीं मिल पाया है। डीआईओएस ने कहा कि बोर्ड ने बोर्ड परीक्षा-2021 के परीक्षार्थियों को बोर्ड परीक्षा में अंक सुधार का अवसर दिया जाएगा। परीक्षार्थी बिना परीक्षा शुल्क के एक या एक से अधिक कितने भी विषयों की पुनर्परीक्षा देकर अंक सुधार कर सकते है। अंक सुधार के बाद मिले अंकों को बोर्ड परीक्षा-2021 का परिणाम ही माना जाएगा।
परीक्षा परिणाम में अनियमितताएं
वित्त विहीन शिक्षक महासभा के अध्यक्ष पवन शर्मा ने यूपी बोर्ड के हाईस्कूल व इंटर के परीक्षा परिणाम में तमाम अनियमितताएं होने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि परीक्षा परिणाम को बड़े ही अनियमित तरीके से बनाया गया है। बहुत से कॉलेजों ने नियम के विपरीत बहुत कम अंक प्रदान किए हैं। कई कॉलेज के छात्रों को बिना नंबर दिए प्रमोट लिख दिया है। इस मामले में वह पदाधिकारियों के साथ सोमवार को डीआईओएस से मिलेंगे।
छात्रों ने जताई नाराजगी
परीक्षा परिणाम आने के बाद जब विद्यार्थियों ने अपने वर्चुअल अंक पत्र पर प्रमोट लिखा देखकर विद्यार्थियों ने नाराजगी दिखाई। वित्त विहीन शिक्षक महासभा के अध्यक्ष पवन शर्मा ने बताया कि विद्यार्थियों ने कॉलेज पहुंचकर अपने गुस्से का इजहार किया।
... और पढ़ें

कोरोना काल में उल्लेखनीय कार्य करने वाले होंगे सम्मानित

महेश्वर गर्ल्स इंटर कॉलेज में परीक्षा परिणाम के बाद खुशी मनाती छात्राएं।
जन परिषद के तत्वावधान में आर्य समाज मंदिर अचल मार्ग पर पूर्व विधायक स्व.केके नवमान की जयंती पर 15 अगस्त पर स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। मुख्य संयोजक मानव महाजन ने बताया कि लोकप्रिय विधायक रहे के.के. नवमान की 85वीं जयंती एवं देश की आजादी के 75वीं वर्षगांठ पर 15 अगस्त, 2021 को ‘कोरोना योद्धाओं’ का भव्य सम्मान समारोह आयोजित होगा। डॉ. बालकिशन ने बताया कि कोरोना काल में उल्लेखनीय सेवा करने वाले चिकित्सा क्षेत्र, पुलिस, प्रशासन, नगरनिगम एवं आपातकालीन सेवा से जुड़े विभिन्न संगठनों व समाजसेवियों को सम्मानित किया जाएगा।
इस मौके पर सेवानिवृत्त फ्लाइट इंजीनियर वी. के. गुप्ता, विजय गुप्ता, विजय नवमान, डॉ. ललित उपाध्याय, मास्टर ओमप्रकाश, सरदार भूपेन्द्र सिंह, राजेन्द्र पथिक, नंदप्रकाश नवमान, उदयवीर लोधी, डॉ. नजमुद्दीन अंसारी, डॉ ज्ञानेंद्र मिश्रा, विनोद गुप्ता, हाजी शफीक, नूतन गुप्ता, चंद्रपाल सिंह, पल्लवी गुप्ता, यतीश चन्द्र गुप्ता, आलोक याज्ञनिक, रोहन बालजीवन, रुचि गोटेवाल, विकास वार्ष्णेय ‘विक्की’, प्रवीन टप्पल, गौरव अग्रवाल (राधेराधे), रोहित नवमान, सुमित गोटेवाल आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

अलीगढ़ः हर ग्राम पंचायत तैयार होगा सिटीजन चार्टर

आशीष श्रीवास्तव
शहर में जिस तरह विभिन्न विभाग अपनी सेवाओं एवं शिकायतों के निस्तारण के लिए सिटीजन चार्टर लागू करते हैं, अब ग्राम पंचायतें भी सिटीजन चार्टर लागू करेंगी। मेरी पंचायत, मेरा अधिकार, जन सेवाएं हमारे द्वार स्कीम में शासन ने सभी ग्राम पंचायतों में सिटीजन चार्टर लागू करने के आदेश दिए हैं।
चार्टर के मामले में आदेश जारी करते हुए मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने बताया कि योजना में प्रत्येक पंचायत द्वारा अलग अलग नागरिक चार्टर तैयार किया जाएगा। यह चार्टर ग्राम सभा की बैठक में अनुमोदित कराना होगा। चार्टर में केवल उन्हीं सेवाओं को शामिल किया जाएगा, जो पंचायत द्वारा नियमित आधार पर जनसामान्य को प्रदान की जा रही हैं।
ग्राम पंचायतों के सिटीजन चार्टर के मुख्य बिंदु
1. पंचायत का संकल्प और मिशन
2. सेवा का नाम, विवरण, समयावधि, कार्मिक का नाम एवं संपर्क विवरण
3. सेवा मानक एवं सेवाएं प्राप्त करने की प्रक्रिया
4. शिकायत निवारण प्रणाली एवं उच्चाधिकारी का विवरण
ये रहेगा चार्टर का एजेंडा
- जुलाई माह के अंत में ग्राम सभा की बैठक बुलाई जाएंगी
- माह के अंत में ग्राम सभा की बैठकों की समय सारिणी अपलोड होगी
- एक अगस्त को सभी ग्राम पंचायतों में फैसिलिटेटर की नियुक्ति
- दो अगस्त को फैसिलिटेटर को प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा
- इसी दिन ग्राम सभा की बैठक के लिये लाइन विभागों के फ्रंटलाइन वर्करों की नियुक्ति होगी
- 12 अगस्त को ग्राम सभा की बैठक में चार्टर कोफाइनल किया जाएगा
- 15 अगस्त को ग्राम सभा द्वारा अनुमोदित सिटीजन चार्टर का प्रकाशन
शहरों की तर्ज पर ग्राम सभाओं में भी सिटीजन चार्टर लागू किया जाएगा। इसके क्रियान्वयन के लिए जिला पंचायत राज विभाग समेत 18 विभागों को जिम्मेदारी दी गई है। 15 अगस्त को ग्राम सभा द्वारा अनुमोदित सिटीजन चार्टर का प्रकाशन होगा। इसके बाद इसे लागू कर दिया जाएगा।
- धनंजय जायसवाल, जिला पंचायत राज अधिकारी
... और पढ़ें

अलीगढ़ः अभिवादन न करने पर अनुसूचित जाति के युवक के साथ मारपीट

थाना क्षेत्र के गांव अहरौला में अभिवादन न करने पर दबंगों ने अनुसूचित जाति के व्यक्ति के साथ मारपीट कर दी। बीच-बचाव करने में पीड़ित के माता-पिता को भी पीट दिया। मामले की शिकायत एसएसपी से की गई है।गांव के श्रीनिवास पुत्र पूरन सिंह ने एसएसपी को दिए गए प्रार्थना पत्र में कहा कि गांव के कुछ लोगों ने उस पर आरोप लगाया है कि रास्ते से गुजरते वक्त उसने हमलावरों से अभिवादन नहीं किया।
हमलावरों का कहना था कि रास्ते से गुजरते समय उसे राम-राम करके अभिवादन करना था। इसी बात को लेकर हमलावरों ने उसके साथ मारपीट कर दी। जातिसूचक शब्दों का प्रयोग किया।बचाने आए उसके माता-पिता के साथ भी मारपीट की। इस घटना की शिकायत जब स्थानीय पुलिस से की गई तो उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की। इसके बाद पीड़ित ने एसएसपी को पत्र लिखकर पूरे मामले की शिकायत की है। एसएसपी ने इस मामले में जांच कर कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया है।
... और पढ़ें

छात्र नेता संजीव चौधरी हत्याकांड में फैसले की तारीख तय

19 साल पहले थाना गांधी पार्क क्षेत्र में धर्म समाज कॉलेज के बाहर हुए बहुचर्चित छात्र नेता संजीव चौधरी हत्याकांड में अब मामला फैसले की कगार पर आ गया है। डीजीसी धीरेंद्र सिंह तोमर के मुताबिक जिला जज की अदालत में विचाराधीन इस मुकदमे मैं दोनों पक्षों की बहस पूरी हो गई है। अदालत ने इस मामले में अब फैसले के लिए 2 अगस्त की तारीख तय की है। अप्रैल 2002 में टप्पल के छात्र नेता संजीव चौधरी की धर्म समाज कॉलेज के बाहर हत्या कर दी गई थी। यह घटना बेहद चर्चा में रही थी।
घटना के पीछे छात्र राजनीति में हो रही गुटबाजी की बात निकल कर आई। इस हत्याकांड में हरदुआगंज के ग्वालरा के रहने वाले योगेश चौधरी, कलाई के संजीव उर्फ रॉबी, राघवेंद्र सिंह कालू को नामजद किया गया था। 19 साल तक मामला अदालत में विचाराधीन रहा। इस दौरान समय-समय पर आरोपी पक्ष की ओर से भी अपने पक्ष में हाईकोर्ट से आदेश लाए गए। अब इस मामले में सभी पक्षों की गवाही और दोनों पक्षों की बहस पूरी हो गई है। इस मामले में संजीव के पिता अधिवक्ता बलवीर सिंह एडवोकेट खुद पैरवी कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि अदालत ने मुकदमे में फैसले की तारीख तय कर दी है और 2 अगस्त को इसमें फैसला आने की उम्मीद है।
... और पढ़ें

अलीगढ़ः नवागत डीएम के रडार पर जिले के भू माफिया, रिपोर्ट तलब

शराब माफिया घोषित किए जाने के बाद प्रशासन ने अब पूर्व में घोषित किए राशन व भू माफिया के खिलाफ भी कार्रवाई का मूड बना लिया है। नवागत डीएम सेल्वा कुमारी जे. ने अधीनस्थों से भू माफिया के संबंध में रिपोर्ट तलब की है। इसको लेकर एडीएम प्रशासन देवी प्रसाद पाल ने कर्मचारियों के साथ बैठक की। बैठक में तय हुआ कि पुलिस स्तर से भी रिपोर्ट तलब की जाए। माफिया घोषित किए जाने के बाद से पुलिस ने इनके खिलाफ क्या कार्रवाई की।
जिले में अब कुल घोषित माफिया की संख्या 34 हो है। इनमें 13 भू माफिया, 10 राशन व 11 शराब माफिया हैं। पुलिस को राशन व भू माफिया की सूची पहले ही प्रशासन की ओर से कार्रवाई के लिए दी जा चुकी है। अब माफिया पर कार्रवाई का सिलसिला चल रहा है। एडीएम प्रशासन देवी प्रसाद पाल ने बताया कि भू माफिया के खिलाफ पूर्व में दर्ज मामलों की क्या प्रगति है। इनके खिलाफ दर्ज मामलों में चार्जशीट दाखिल हुई या नहीं। अगर, चार्जशीट दाखिल हो चुकी है तो किन-किन धाराओं में की गई है। इन सभी की विस्तृत रिपोर्ट तलब की है। रिपोर्ट के आधार पर ही प्रशासन माफिया के खिलाफ अग्रिम कार्रवाई करेगा।
... और पढ़ें

अलीगढ़ः लगातार चौथी बार सर्किल रेटों में नहीं हुई बढ़ोतरी

जिले में आज यानी एक अगस्त से 2021-22 के नए सर्किल रेट लागू हो जाएंगे। राहत की बात यह है कि प्रशासन ने लगातार चौथे साल सर्किल रेटों में कोई इजाफा नहीं किया है। साल 2017 में आखिरी बार सर्किल रेटों को बढ़ाया गया था। डीएम सेल्वा कुमारी जे. ने निबंधन कार्यालय की ओर से तैयार की गई सूची को मान्य करते हुए एक अगस्त से लागू करने के आदेश जारी कर दिए हैं।
स्टांप एवं पंजीयन विभाग की ओर से शहर और देहात में आवासीय, व्यवसायिक जमीनों के दाम अलग-अलग तय किए जाते हैं। इस रेट को सर्किल रेट कहा जाता है। जमीन खरीद के समय इसी सर्किल रेट के आधार पर रसीद शुल्क और स्टांप शुल्क तय होता है। जमीन की कीमत उसके आकार के हिसाब से इसी सर्किल रेट के आधार पर तय होती है। एक अगस्त को नया डीएम सर्किल रेट लागू हो गया है। कोरोना काल में आई मंदी को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन की ओर से यह फैसला लिया गया है कि इस बार भी सर्किल रेट में इजाफा नहीं होगा। इससे रियल एस्टेट सेक्टर को बूम मिलेगा। साथ ही गरीब अपने सिर पर सस्ती जमीनों पर छत का सपना पूरा कर सकेंगे। वर्ष 2017 में सर्किल रेटों में करीब 10 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी की गई थी। अभी तक अगस्त-2017 से लागू हुए नए सर्किल रेट में अलीगढ़ का सबसे महंगा क्षेत्र रामघाट रोड और मैरिस रोड है। इन दोनों इलाकों में 80 हजार रुपये प्रति वर्ग मीटर सर्किल रेट हैं।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us