लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Prayagraj News ›   Ropeway will be ready from Mahakumbh-2025 to woo tourists

Prayagraj : पर्यटकों को लुभाने के लिए महाकुंभ-2025 से तैयार होगा रोपवे, बनेंगे तीन स्टेशन

अमर उजाला नेटवर्क, प्रयागराज Published by: विनोद सिंह Updated Sun, 27 Nov 2022 01:28 AM IST
सार

प्रयागराज आने वाले श्रद्धालु अब केबल कार से संगम, अक्षयवट, सरस्वती कूप के अलावा माघ मेला और कुंभ मेला का नजारा देख सकेंगे। पहली बार संतों-भक्तों और सैलानियों के लिए केबल कार की सेवा यहां मिलेगी।

रोप-वे, सांकेतिक
रोप-वे, सांकेतिक - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

विस्तार

महाकुंभ-2025 में संगम दर्शन अलग हटकर हो सकेगा। इसके लिए केबल कार चलाई जाएगी। संगम पर रोपवे की महात्वाकांक्षी परियोजना को महाकुंभ से पहले पूरा किया जाना है। इसे पीपीपी मॉडल पर चलाने की योजना बनाई गई है। महाकुंभ की परियोजनाओं में संगम पर रोपवे को सीएम योगी आदित्यनाथ के ड्रीम प्रोजेक्ट के रूप में देखा जा रहा है। 




प्रयागराज आने वाले श्रद्धालु अब केबल कार से संगम, अक्षयवट, सरस्वती कूप के अलावा माघ मेला और कुंभ मेला का नजारा देख सकेंगे। पहली बार संतों-भक्तों और सैलानियों के लिए केबल कार की सेवा यहां मिलेगी। महाकुंभ से पहले देश-दुनिया के पर्यटकों रोपवे का तोहफा दिलाने की योजना पर काम शुरू हो गया है। इसके लिए झूंसी से अरैल के बीच तीन रोपवे स्टेशन बनाए जाएंगे। इस योजना पर 60 करोड़ रुपये से अधिक खर्च आने का अनुमान है।

पर्यटन विभाग की ओर से इसका खाका प्रस्तुत किया गया है। हाल में ही प्रयागराज मेला प्राधिकरण के आई ट्रिपलसी सभागार में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने भी कुंभ मेलाधिकारी विजय किरन आनंद ने संगम पर रोपवे योजना का प्रस्ताव प्रस्तुत किया था। फिलहाल केबल कार पीपीपी मॉडल पर श्रद्धालुओं-पर्यटकों के लिए चलाई जाएगी। इसके लिए झूंसी में उल्टा किला के के अलावा अरैल में त्रिवेणी पुष्प परिसर के अलावा सोमेश्वर महादेव के पास रोपवे स्टेशन बनाए जाएंगे।

सोमेश्वर महादेव के पास स्टेशन बनाने के लिए सर्वे कर लिया गया है। योजना के अनुसार सरकार इसके लिए भूमि उपलब्ध कराएगी। बाकी काम ठेका लेने वाली कंपनी को करना होगा। किराया निर्धारण और केबल कार के संचालन की भी व्यवस्था कंपनी के जिम्मे ही होगी।


पर्यटन विभाग की इस योजना के तहत केबल कार से एक बार में 20-25 सैलानी संगम दर्शन कर सकेंगे। इन स्टेशनों से महज 10 से 15 मिनट के भीतर पर्यटक संगम दर्शन कर सकेंगे। पीपीपी मॉडल पर तैयार होने वाली इस योजना के संचालन के लिए चुनिंदा और अनुभवी रोपवे संचालक कंपनियों से संपर्क किया गया है।


महाकुंभ -2025 के प्रस्तावों में संगम पर रोपवे की योजना को प्रमुखता से शामिल किया गया है। इस पर जल्द ही काम शुरू होगा। - विजय विश्वास पंत, मंडलायुक्त।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00