बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
अपार धन की प्राप्ति हेतु कामिका एकादशी को कराएँ श्री लक्ष्मी-विष्णु जी का विष्णुसहस्त्रनाम-फ्री, रजिस्टर करें
Myjyotish

अपार धन की प्राप्ति हेतु कामिका एकादशी को कराएँ श्री लक्ष्मी-विष्णु जी का विष्णुसहस्त्रनाम-फ्री, रजिस्टर करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

यूपी : किशोरी को धर्म परिवर्तन व गर्भपात के लिए धमकाया, पिता-पुत्र के खिलाफ केस दर्ज

जामो (अमेठी) क्षेत्र में अनुसूचित जाति की एक किशोरी का जबरन धर्म परिवर्तन व गर्भपात कराने के लिए दबाव बनाने का मामला सामने आया है। पुलिस ने किशोरी के पिता की तहरीर पर एक युवक व उसके पिता के खिलाफ केस दर्ज कर पीड़िता को चिकित्सीय परीक्षण के लिए अस्पताल भेजा है।

यह घटना जामो क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली किशोरी के साथ हुई। उसके पिता ने रविवार को पुलिस को दी गई तहरीर में गांव के एक समुदाय विशेष के युवक व उसके पिता पर गंभीर आरोप लगाया है। तहरीर में किशोरी के पिता ने कहा कि वह अहमदाबाद में नौकरी करता है।

शुक्रवार को जब वह घर आया तो पता चला कि उसकी नाबालिग पुत्री के साथ गांव का एक युवक सात माह से जबरन यौन संबंध बना रहा था। इस बीच उसकी पुत्री गर्भवती हो गई। आरोप है कि गर्भवती होने की जानकारी पर शनिवार रात आरोपी युवक नौशाद व उसका पिता इस्लाम घर आए और जबरन गर्भपात कराने तथा धर्म परिवर्तन का दबाव बनाने लगे।

इससे इन्कार करने पर जान से मारने की धमकी दी। किशोरी के पिता ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। पुलिस गांव पहुंची तो पिता-पुत्र मौके से फरार हो गए। जामो पुलिस ने तहरीर पर दोनों के खिलाफ दुष्कर्म, जान से मारने की धमकी, उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म परिवर्तन अधिनियम, पाक्सो व एससीएसटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। उप निरीक्षक वीपी पाठक ने बताया कि पीड़ित किशोरी को महिला आरक्षी के साथ चिकित्सीय परीक्षण के लिए अस्पताल भेज दिया गया है। आरोपियों की तलाश की जा रही है।
... और पढ़ें
धर्म परिवर्तन धर्म परिवर्तन

अमेठी में जिला पंचायत चुनाव :  स्मृति के गढ़ में निर्दलीयों के भरोसे अध्यक्ष की कुर्सी

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव परिणाम आने के बाद जिला पंचायत अध्यक्ष पद की कुर्सी के लिए महासंग्राम छिड़ गया है। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के गढ़ में जिला पंचायत अध्यक्ष के किंग मेकर 12 निर्दल प्रत्याशी होंगे। अनारक्षित जिला पंचायत अध्यक्ष कुर्सी के लिए चुनाव के बाद सर्वाधिक सपा के दस समर्थित प्रत्याशी तो भाजपा के आठ प्रत्याशी ही विजय हासिल कर सके। फिलहाल अभी तक अधिकृत रूप से किसी ने अध्यक्ष पद के लिए किसी का भी नाम सार्वजनिक नहीं किया है। बावजूद इसके अध्यक्ष पद की कुर्सी पाने के लिए 12 निर्दल प्रत्याशियों का समर्थन हासिल करने की कवायद शुुरू हो गई है।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के संसदीय क्षेत्र में जिला पंचायत सदस्य चुनाव में भाजपा अपना परचम नहीं लहरा सकी। पंचायत चुनाव के परिणाम ने सभी पार्टियों के अरमान को चकनाचूर कर दिया। आलम यह है कि दो मई को मतगणना के बाद पहले गांधी परिवार का तो अब केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के गढ़ में कांग्रेस के जहां मात्र दो समर्थित प्रत्याशी ही विजय हासिल कर सके वहीं भाजपा भी पूर्ण बहुमत से काफी पीछे रह गई। डीडीसी में भाजपा समर्थित आठ प्रत्याशी ही अपना परचम लहरा सके। वहीं सपा समर्थित दस प्रत्याशियों ने चुनाव जीतकर सबको चौंका दिया। बसपा के तीन तथा जनसत्ता दल लोकत्रंतिक पार्टी के एक तथा 12 निर्दल प्रत्याशी जीत हासिल करने में कामयाब रहे हैं।

36 सीट वाली जिला पंचायत में अध्यक्ष पद की कुर्सी पाने के लिए 19 डीडीसी का समर्थन जरूरी है। अधिकृत रूप से शुक्रवार तक किसी भी दल से अध्यक्ष के लिए अपने समर्थित उम्मीदवार का नाम सार्वजनिक नहीं किया गया है। बावजूद इसके अध्यक्ष पद की कुर्सी पाने के लिए संभावित दावेदार 12 निर्दल प्रत्याशियों की प्रक्रिमा शुरू कर दिए हैं। सूत्रों की मानें तो गौरीगंज विधायक राकेश प्रताप सिंह अपनी पत्नी शीलम सिंह को सपा से तो भाजपा से स्मृति के करीबी मानें जाने वाले राजेश अग्रहरि अध्यक्ष पद के लिए दावेदार होंगे। परिणाम आने के बाद से दोनों लोग पार्टी समर्थित जीते डीडीसी के साथ निर्दल विजेता जिला पंचायत सदस्यों को अपने-अपने पाले में करने की हरसंभव कोशिश करने में जुटे है। यह हर रोज निर्वाचित सदस्यों तथा उनके संबंधियों से संपर्क कर रहे हैं। फिलहाल यह तो समय ही बताएगा कि अध्यक्ष पद की कुर्सी पर कब्जा किसका होगा। लेकिन यह बात तो तय है कि निर्दल की भूमिका केंद्रीय मंत्री के संसदीय क्षेत्र में किंग मेकर के रुप में रहेगी।
... और पढ़ें

अमेठी : प्रधान के 107 नजीते घोषित, शेष आज आएंगे नजीते

गौरीगंज (अमेठी)। जिले में मतों की गिनती का कार्य धीमी होने के चलते परिणाम आने में विलंब हुआ। कई ब्लॉकों में मतों की गिनती 10 बजे के बाद शुरू हो सकी।
आलम यह रहा कि शाहगढ़ जैसे छोटे से ब्लॉक में दोपहर बाद ढाई बजे तक एक भी परिणाम घोषित नहीं हो सका था। सबसे तेज नतीजे गौरीगंज में सामने आए। देर शाम तक 107 ग्राम प्रधान निर्वाचित घोषित किए गए थे। अन्य पंचायतों के मतों की गिनती जारी थी।
देर शाम तक घोषित 107 नतीजों में गौरीगंज ब्लॉक के अन्नी बैजल में संतोष सिंह, अत्तानगर में सुनीता, आनापुर में प्रेमा देवी, ऐठा में बद्री प्रसाद, बेहटा में पूनम सिंह, छिटेपुर में बाबूलाल कोरी, धारूपुर में संजय, बस्तीदेई में आस कुमारी, दरपीपुर में गायत्री, गूजर टोला में कुलसुम निशा, बेनीपुर बल्देव में शमा परवीन, बाहापुर में अनुपमा सिंह, इंटौजा पश्चिम में रामेश्वर, गढ़ामाफी में निशा, पैंगा में वेद प्रकाश, पहाडग़ंज में यदुनाथ मौर्य, जेठू मवई में आराधना सिंह, लुगरी में शिवकुमार मौर्य, जगदिशवापुर में शिखा सिंह, अरगवां में दिनेश मिश्र व चंदईपुर मेें दिनेश धइकार विजेता घोषित किए गए हैं।
जामो ब्लॉक की ग्राम पंचायत टिकरा में कुलदीप सिंह, अंगरावा में कांति सिंह, बीरीपुर में भुलना, नीमी में राजपति, भीखीपुर में रागिनी सिंह, अजबगढ़ में श्रीमती, राजामऊ में सियाराम, मयास से उर्मिला सिंह, हरकनपुर से इबरार अहमद, अदिलपुर से अमरेंद्र सिंह, उमराडीह में रामखेलावन, नदियावां में छोटेलाल, डीघा गोपालपुर में कुसुम ग्राम प्रधान निर्वाचित हुए हैं।
शाहगढ़ ब्लॉक की ग्राम पंचायत चंदौकी में प्रतीक्षा सिंह, बहोरखा में छोटेलाल अफोइया में वर्षा, एकसारा में कृष्णा, भनियापुर से धर्मा देवी, दक्खिनगांव से अजय प्रताप सिंह, शाहगढ़ से शिवकुमार, नेवादा से राजेंद्र यादव, उलरा से विमला चुनाव जीत गई हैं।
अमेठी ब्लॉक की ताला ग्राम पंचायत में मनोज शुक्ल, बाहापुर से सुनीता पाठक, अगहर से संगीता, चर्तुभुजपुर से सुनीता यादव, दादूपुर में इंद्रजीत यादव, बेनीपुर से उर्मिला, पूरब गांव से रामराज यादव, गंगौली से अर्चना यादव, कुशीताली से श्यामा देवी चुनाव जीत गई हैं।
भेटुआ ब्लॉक के अरसहनी ग्राम पंचायत में कुसुम लता, उसका में अमित सिंह, पूरब दुआरा में जसमती, नरसिंह भानपुर से गीता देवी, कुड़वा से रमेश सिंह, कोरारी हीरशाह में शोभा कुमारी, घाटमपुर में रामनाथ, हारीपुर में श्यामकली तो भादर ब्लॉक की ग्राम पंचायत कुरंग में हरिश्चंद्र, खाझा में संगीता, बहादुरपुर में रामबरन, छीड़ा में पवन कनौजिया, गाजीपुर में कमलेश कुमारी, कल्याणपुर से सुमन चुनाव जीत गई हैं।
संग्रामपुर ब्लॉक के ग्राम पंचायत शुकुलपुर में हेमवती तिवारी, बदलापुर में राधिका देवी, मधुपुर खदरी में अंशु माला, कंसापुर में पुष्पा सिंह, मड़ौली से राधिका देवी, अम्मरपुर से शैलेंद्र वर्मा व भैरोपुर से राकेश वर्मा चुनाव जीत गए हैं।
मुसाफिरखाना ब्लॉक की ग्राम पंचायत मानशाहपुर में श्यामलाल मौर्य, बरना मुबारकपुर में विमला देवी, भीखीपुर में किरन सिंह, औरंगाबाद में नाहिद, रंजीतपुर में त्रिभुवन, करपिया में पूनम सिंह, पूरे प्रेमशाह में आशीष कुमार, पिंडारा महराज में कुशल पाल, माना मदनपुर में मनोज, कनकूपुर में शिवकुमारी, सरैया सबलशाह में संगीता विजेता हुई हैं।
जगदीशपुर ब्लॉक की ग्राम पंचायत मटियारी कला से अभय प्रताप सिंह, उरुवा से माया देवी, हसवा सुरवन से राजकुमारी, अंकरा से अप्सरा बानो, मंगरौली संजू, दुलारीनगर से मुस्तकीम, कपूरीपुर से उमापति, मोहब्बतपुर से श्रीप्रकाश तिवारी चुनाव जीते हैं।
बाजार शुकुल ब्लॉक के ग्राम पंचायत दारानगर में इंद्रराज यादव, गयासपुर से दीपक यादव, बलापुर से रामकुमार, जौदिलमऊ से दिनेश त्रिवेदी, टेवसी से कंचन श्रीवास्तव, खालिस बाहरपुर से रामराज, सरैया पीरजादा से अनिल कुमार, नीमपुर से हरिराम यादव, विशंभर पटी से वकील अहमद, संसारपुर से राजेंद्र यादव, धनेशा राजपूत से राम बहादुर यादव, बख्तावर नगर से एखलाक अहमद, भटमऊ से रमन तिवारी को विजेता घोषित किया गया।
गणना परिसर में खोला रोजा
जगदीशपुर। मतगणना स्थल पर मतों की गिनती में हुई देरी को लेकर देर शाम बड़ी संख्या में रोजेदारों ने परिसर में रोजा खोला। इस दौरान रोजेदारों के फल व पानी आदि की व्यवस्था निजी लोगों द्वारा की गई।
डीडीसी के एक भी नतीजे घोषित नहीं
गौरीगंज। देर शाम तक चली मतगणना में डीडीसी के कई वार्डों में दलीय व निर्दलीय प्रत्याशियों के आगे पीछे चलने की बातें सुनाई पड़ती रहीं। हालांकि देर शाम तक डीडीसी के एक भी नतीजे घोषित नहीं हो सके थे।
... और पढ़ें

गतगणना कराते मिले 16 कोरोना पॉजिटिव

गौरीगंज (अमेठी)। मतगणना के दौरान रविवार को भादर मतगणना स्थल पर पहले से कोरोना पॉजिटिव 16 लोग वोटों की गिनती कराते मिले। इस खुलासे के बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया। आनन-फानन परिसर में मौजूद 150 लोगों की एंटीजन जांच हुई तो सात और लोग पॉजिटिव पाए मिले।
राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से प्रशासन को निर्देश दिए गए थे कि मतगणना एजेंट बने ऐसे ही लोगों को ही गणना कक्ष में प्रवेश दिया जाए जो 48 घंटे पहले की एंटीजन या आरटीपीसीआर रिपोर्ट लेकर आएं या फिर मौके पर उनकी जांच की जाए।
रविवार को भादर ब्लॉक के मतगणना हॉल में 16 ऐसे लोग घुस गए जो पूर्व में आरटीपीसीआर जांच का नमूना दे चुके थे। ऐसे लोगों के काउंटिंग स्थल पर मौजूद होने की भनक लगी।
सूचना मिलते ही सीएचसी अधीक्षक डॉ. अजय कुमार मिश्र ने तत्काल दो दिनों की आरटीपीसीआर लिस्ट मंगवाई और मौके पर पहुंचकर पहचान शुरू कराई तो 16 ऐसे लोग अंदर मौजूद मिले जो पॉजिटिव थे। प्रशासन की सख्ती के बाद उन्हें बाहर निकाला जा सका। इसके बाद स्वस्थ्य टीम ने 150 लोगों की मौके पर एंटीजन जांच की तो सात और लोग पॉजिटिव मिले।
सामुदायिक संक्रमण का अंदेशा
मतगणना स्थल पर रविवार को वोटों की गिनती कराते मिले 23 लोगों में तीन-चार लोग ग्राम प्रधान या बीडीसी के प्रत्याशी हैं। इन लोगों ने पिछले दिनों से घूम-घूम कर प्रचार व जनसंपर्क किया। रविवार को भी वे भीड़ के बीच अपने वोटों की गिनती करा रहे थे। ऐसी लापरवाही से क्षेत्र में सामुदायिक संक्रमण का भय बन गया है।
... और पढ़ें

मतगणना स्थलों का भ्रमण करते रहे अफसर

गौरीगंज (अमेठी)। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतगणना निष्पक्ष एवं समय से संपन्न कराने के लिए प्रशासनिक अमला सुबह से ही सक्रिय रहा। डीएम, एसपी समेत अन्य अफसर मतगणना स्थलों का भ्रमण करते रहे। केंद्र के 100 मीटर दायरे के भीतर कड़ी चौकसी रही।
मतगणना कार्य निष्पक्ष एवं समय पर पूरा कराने के लिए डीएम अरुण कुमार ने सभी केंद्रों पर आरओ के साथ मजिस्ट्रेटों की तैनाती की है। रविवार सुबह से शुरू हुई मतगणना के साथ ही प्रशासनिक अमला भी लगातार सक्रिय रहा। अफसर सुबह से ही एक के बाद दूसरे केंद्र का दौरा करते रहे।
डीएम अरुण कुमार व एसपी दिनेश सिंह, एडीएम एसपी सिंह व एएसपी विनोद कुमार पांडेय तथा सीडीओ डॉ. अंकुर लाठर के अलावा सभी संबंधित तहसीलों के एसडीएम व सीओ अपने क्षेत्र के मतदान केंद्रों का दौरा करते रहे।
अफसर केंद्रों पर पहुंचकर न सिर्फ गणना कार्य की प्रगति बल्कि मतगणना कक्षों में जाकर कार्मिकों व प्रत्याशियों से भी गणना कार्य के हकीकत की जानकारी लेते रहे। अफसर केंद्र पर नामित आरओ व मजिस्ट्रेट को नियमानुसार समय से मतगणना कार्य पूरा कराने का निर्देश दे रहे थे।
इन्हें कहा जा रहा था कि आप एक स्थान पर बैठने के बजाए बीच-बीच में मतगणना कक्षों में जाकर मतगणना कार्य का निरीक्षण करते रहें। इस दौरान गणना कर रहे कार्मिकों को बिना समय गंवाए कार्य पूर्ण कराने की व्यवस्था सुनिश्चित कराने को कहा गया।
सभी केंद्रों के बाहर 100 मीटर की परिधि में पुलिस फोर्स की कड़ी चौकसी रही। पुलिस कर्मियों की मुस्तैदी से उस परिधि में वही जा रहे थे जिनके पास वैध पास था। बिना पास वालों को पुलिस उस दायरे के आसपास फटकने नहीं दे रही थी।
... और पढ़ें

मतगणना के दौरान उड़ी सोशल डिस्टेंस की धज्जी

गौरीगंज (अमेठी)। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतगणना के दौरान रविवार को सोशल डिस्टेंस की खुलेआम धज्जियां उड़ीं। मतगणना कक्ष में मतपेटी खुलते ही गिनती कराने के लिए मौजूद एजेंट व प्रत्याशी उमड़े पड़े।
यह स्थिति शाम तक बनी थी। उधर मतगणना स्थलों के बाहर बड़ी संख्या में समर्थकों की भीड़ देर शाम तक जमा थी। भीड़ में 50 प्रतिशत लोग मास्क तक नहीं लगाए थे।
मतगणना के दौरान कोरोना से बचाव के इंतजाम करने के सारे दावे रविवार को गलत साबित हुए। मतगणना स्थल में प्रवेश के दौरान तो बाकायदा एक-एक लोगों की सघन तलाशी के साथ थर्मल स्कैनिंग करने के बाद ही प्रवेश दिया गया। उस दौरान सभी के चेहरे पर मास्क भी लगा रहा।
मतगणना कक्ष में पहुंचने के बाद प्रत्याशी व एजेंटों ने नियमों को दरकिनार कर दिया। मतपत्र टेबल पर निकाले जाते ही प्रत्याशी व एजेंट सामने बंधी बल्ली के पास पहुंचने की होड़ में लग गए। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग तार-तार हो गई। मतगणना कक्षों में मेले जैसी भीड़ थी। पहली पॉली में सुबह आठ बजे से कहीं भी मतगणना नहीं शुरू हो सकी। कई ब्लॉकों पर नौ बजे गणना का काम शुरू हो सका।
... और पढ़ें

अमेठी में घोषित हुए डीडीसी के छह परिणाम

गौरीगंज (अमेठी)। जिले के 36 डीडीसी वार्ड में से सोमवार रात तक छह का ही परिणाम घोषित हो सका। ब्लॉक मुख्यालयों से आरओ की ओर से मतगणना चार्ट की हार्ड कापी नहीं उपलब्ध कराने के चलते सबके परिणाम घोषित नहीं किए जा सके। विजई उम्मीदवार प्रमाण पत्र के लिए कलेक्ट्रेट में जमे रहे।
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतगणना का कार्य रविवार सुबह से 13 ब्लॉक मुख्यालयों में शुरू किया गया था। जिले में सोमवार सुबह नौ बजे तक सभी ब्लॉकों पर मतगणना का कार्य समाप्त हो गया था।
ब्लॉक स्तर पर ग्राम प्रधान, बीडीसी व ग्राम पंचायत सदस्यों का परिणाम भी घोषित कर दिया गया। डीडीसी के विजयी उम्मीदवारों को जीत का प्रमाण पत्र कलेक्ट्रेट से मिलना था। देर शाम तक जिले के 36 डीडीसी वार्ड में से महज छह का ही परिणाम घोषित कर उन्हें जीत का प्रमाण पत्र आरओ सुधीर रूंगटा ने दिया।
आरओ ने बताया कि अभी ब्लॉक मुख्यालयों से आरओ की ओर से मतगणना चार्ट की फाइनल हार्ड कॉपी उपलब्ध नहीं कराई गई है। बताया कि वार्ड नंबर 19 से उर्मिला देवी, वार्ड नंबर 20 से निर्मला देवी, वार्ड नंबर 30 से राजेश कुमार अग्रहरि, वार्ड संख्या 31 से मुकेश यादव, वार्ड संख्या 32 से जय श्याम तथा वार्ड नंबर 33 से जगन्नाथ पांडेय को विजई घोषित करते हुए उन्हें प्रमाण पत्र दे दिया गया है। अब तक घोषित परिणाम में से कोई भी बड़ा चेहरा चुनाव में सिकस्त नहीं खाया है। वार्ड नंबर 30 से भाजपा नेता तथा केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के करीबी राजेश अग्रहरि करीब साढ़े छह हजार मतों के अंतर से चुनाव जीते हैं।
... और पढ़ें

पूर्व मंत्री के भाई और बहू विजयी

पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति के भाई और बहू विजयी
अमेठी। जेल में निरुद्ध पूर्व कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति के परिवारीजनों पर क्षेत्र की जनता ने भरोसा जताया है। मंत्री के भाई रामशंकर प्रजापति ग्राम पंचायत परसावां से ग्राम प्रधान का चुनाव लड़े और 240 मतों से विजय हासिल की। वहीं पूर्व मंत्री के भतीजे अरुण प्रजापति की पत्नी रेनू प्रजापति वार्ड नंबर 27 से जिला पंचायत सदस्य के लिए निर्दलीय चुनाव लड़ीं और सात हजार से अधिक मतों से जीत दर्ज हासिल करने में कामयाब रहीं।
एक ग्राम पंचायत में लाटरी से परिणाम
बाजार शुकुल (अमेठी)। पंचायत चुनाव की मतगणना के दौरान ग्राम पंचायत छज्जू मोहिद्दीनपुर में प्रधान पद पर दो प्रत्याशियों का मत बराबर निकले। प्रधान पद के लिए जगदंबा प्रसाद व पारसनाथ को 369-369 वोट मिले। आरओ हरिओम मिश्र व मजिस्ट्रेट के रूप में उपस्थित बलवीर सिंह ने लॉटरी के माध्यम से परिणाम घोषित करने का निर्णय लिया। दोनों के नाम की पर्ची डाली गई जिसमें पारसनाथ विजयी हुए। इसके बाद छज्जू मोहिद्दीनपुर ग्राम पंचायत के प्रधान पद का प्रमाण पत्र पारसनाथ को सौंपा गया।
मौत के बाद मिली जीत
जगदीशपुर (अमेठी)। स्थानीय विकास खंड के सिधियावां गांव में अन्य प्रत्याशियों के साथ अहमदुल निशा ने भी प्रधान पद का चुनाव लड़ा था। मतदान के बाद अहमदुल निशा की मौत हो गई। अहमदुल निशा की मौत के बाद रविवार को हुई मतगणना में उन्हें विजयी घोषित किया गया। अहमदुल को 495 व उनकी निकटतम प्रतिद्वंदी उजमा को मात्र 350 मत ही मिले। इस गांव में चुनाव लड़ने वाले तीन प्रत्याशियों को शून्य, तीन प्रत्याशियों को दो-दो व एक प्रत्याशी को मात्र तीन वोट मिले। एक प्रत्याशी को 18 व एक को 71 वोट मिले।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us