बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

102 सेवा का संचालन ठप, कंपनी के कर्मी चला रहे एंबुलेंस

Gorakhpur Bureau गोरखपुर ब्यूरो
Updated Sun, 01 Aug 2021 12:00 AM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
102 सेवा का संचालन ठप, कंपनी के कर्मी चला रहे एंबुलेंस
विज्ञापन

बस्ती। जीवनदायिनी एंबुलेंस संगठन के बैनर तले व एंबुलेंस संघ के पदाधिकारियों की अगुवाई में पिछले कई दिनों से धरना जारी है। हालांकि 108 सेवा के एंबुलेंस चलने लगे हैं, लेकिन 102 सेवा अब भी ठप है। वहीं, प्रशासन ने सख्त रुख अख्तियार कर लिया है। इसके बाद एंबुलेंस कंपनी के संचालक भानु प्रताप की तहरीर पर आंदोलन के अगुवा जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर पांडेय सहित आठ लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। आंदोलित कर्मियों का कहना है कि उनके साथी ही 108 में सेवा दे रहे हैं।
प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर एंबुलेंस संघ ने 23 जुलाई से धरना-प्रदर्शन शुरू किया। 26 जुलाई से संगठन ने चक्का जाम कर दिया। इन स्थितियों के चलते जिले में मरीजों को लाने और ले जाने में लोगों के पसीने छूट गए। स्थितियों का आंकलन करते हुए प्रशासन ने पहल की और एंबुलेंस संघ से वार्ता के बाद 108 सेवा के 15 एंबुलेंस संचालित किए जाने लगे। प्रशासन ने दूसरे ही दिन दबाव बनाते हुए संगठन से गाड़ियों को वापस करने के लिए पुलिस की मदद ली और 108 के सभी वाहन संचालित होने लगे, मगर 102 सेवा ठप है। अब मामले में संगठन आरपार की लड़ाई लड़ने का मन बना रहा है। संगठन के जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर पांडेय, महामंत्री आरबी साहू, जिला प्रवक्ता महेंद्र वर्मा, जिला सचिव वीरेंद्र यादव, जिला उप कोषाध्यक्ष रमेश यादव आदि ने कहा कि संगठन का आंदोलन दबाने के लिए प्रशासन पूरी ताकत लगाए हुए है। कर्मी अपना अधिकार मांग रहे हैं तो उनके उत्पीड़न की कार्रवाई की जा रही है। यह अन्याय है। इसके खिलाफ संगठन एकजुट होकर लड़ रहा है। संगठन की मांग एडवांस लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस कर्मियों को समायोजित किया जाए, कंपनी बदलने के बाद कर्मियों को न बदला जाए, अनुभवी कर्मियों को ही रखा जाए। कोरोना योद्धा कर्मियों को ठेका प्रथा से मुक्त किया जाए, शहीद एंबुलेंस कर्मियों के आश्रितों को 50 लाख का बीमा सरकार जारी करे।

कोतवाली में दर्ज हुआ मुकदमा
कोतवाली पुलिस ने एंबुलेंस सेवा बाधित कर धरना दे रहे लोगों के खिलाफ 108, 102 व एएलएस के संचालक आंबेडकर नगर जिला के ग्राम अरियौना थाना अकबरपुर निवासी भानू प्रताप पांडेय की तहरीर पर जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर पांडेय के अलावा अनूप पांडेय, अनुराग पांडेय, राममणि ओझा, वीरेंद्र यादव, अंकित पांडेय, शंभूनाथ, पवन सिंह के खिलाफ 6 आवश्यक सेवा अनुरक्षण अधिनियम 1981 के अलावा एंबुलेंस व्यवस्था के संचालन में व्यवधान पैदा करने, हड़ताल करने सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us