लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Firozabad News ›   Asha will recognize the signs of danger in the newborn, will motivate the treatment

Firozabad News: आशाएं पहचानेंगी नवजात में खतरे के लक्षण, इलाज को करेंगी प्रेरित

Agra Bureau आगरा ब्यूरो
Updated Mon, 05 Dec 2022 11:28 PM IST
Asha will recognize the signs of danger in the newborn, will motivate the treatment
विज्ञापन
फिरोजाबाद। स्वास्थ्य इकाइयों पर तैनात आशाएं अब नवजात में खतरे के लक्षण को पहचानकर उनका इलाज कराने के लिए प्रेरित करेंगी। इसके लिए आशाओं को प्रशिक्षण देकर नवजात में होने वाली बीमारी और पहचान व बचाव के बारे बताया जा रहा है। ग्रामीण इलाकों का भ्रमण कर आशाएं नवजात के खानपान, स्वास्थ्य, उनके वजन, साफ-सफाई व स्तनपान के लिए महिलाओं को प्रेरित करेंगी। इतना ही नहीं वह नवजात को इलाज के लिए स्वास्थ्य केंद्रों ले जाने के लिए भी जागरूक करेंगी।

एसीएमओ डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि जब शिशु स्तनपान करने में असमर्थ हो, खानपान पर उल्टी कर दें, शरीर में ऐंठन हो, सुस्त या बेहोश हो तो यह स्थितियां खतरे का संकेत करती है। ऐसी स्थिति स्थिति में उसे तुरंत सीएचसी रेफर कर देना चाहिए। नवजात के घर पहुंचने पर आशा कार्यकर्ता की सबसे पहली जिम्मेदारी साबुन व पानी से अपना हाथ धुलने की है। बच्चों के स्वास्थ्य की जानकारी लेकर उम्र के हिसाब उनके शरीर का वजन आदि कराकर उचित सलाह देंगी।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00