लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Hapur ›   Two accused arrested for plotting to attack Sujit Bhati in Garhmukteshwar

रंजिशन हुआ था सुजीत भाटी पर हमला: पुलिस ने महिला समेत दो आरोपी किए गिरफ्तार, फायरिंग करने वालों की तलाश जारी

अमर उजाला नेटवर्क, हापुड़ Published by: विजय पुंडीर Updated Wed, 05 Oct 2022 08:48 PM IST
सार

सिंभावली थाना प्रभारी योगेंद्र कुमार ने बताया कि गांव देवली में रविवार की सुबह मॉर्निंग वॉक से लौटने के दौरान बाइक सवार दो बदमाशों ने देवली निवासी सुजीत भाटी, वीरेंद्र भाटी और सरफुद्दीन पर पिस्टलों से कई राउंड फायरिंग की थी।

arrest symbol
arrest symbol - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

सिंभावली क्षेत्र के गांव देवली में रविवार की सुबह तीन लोगों पर नकाबपोश हमलावरों द्वारा ताबड़तोड़ फायरिंग की घटना का खुलासा करते हुए पुलिस ने साजिश रचने वाली एक महिला समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं, दोनों हमलावर अभी भी पुलिस गिरफ्त से दूर हैं, जिनकी तलाश की जा रही है। सुजीत भाटी पर रंजिशन हमला किया गया था।



सिंभावली थाना प्रभारी योगेंद्र कुमार ने बताया कि गांव देवली में रविवार की सुबह मॉर्निंग वॉक से लौटने के दौरान बाइक सवार दो बदमाशों ने देवली निवासी सुजीत भाटी, वीरेंद्र भाटी और सरफुद्दीन पर पिस्टलों से कई राउंड फायरिंग की थी। घायलों को मेरठ के अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से सुजीत भाटी को दिल्ली रेफर कर दिया गया था। वहीं, उपचार के दौरान सरफुद्दीन की सोमवार को मौत हो गई थी।


इस मामले में एसपी के निर्देश पर सिंभावली पुलिस, स्वाट समेत तीन टीमें बदमाशों की तलाश में जुटी हुई थीं। पुलिस टीम ने सूचना के आधार पर बुधवार की सुबह दो आरोपियों अंकित निवासी गांव डेरियो रछोती, जो गांव अट्टा में शराब की दुकान पर सेल्समैन है और पूनम उर्फ बिट्टू निवासी गोविंदपुरी जनपद मेरठ को गांव अट्टा के शराब ठेके से गिरफ्तार कर लिया है। जिन्होंने फायरिंग करने वालों के नाम शाका उर्फ हिमांशु निवासी गांव मीवा और मिथुन निवासी गांव अटोरा थाना मवाना जिला मेरठ बताए हैं।

जान से मारने को किया था हमला, एक साल पहले हुआ था विवाद
इंस्पेक्टर ने बताया कि पूछताछ के दौरान पूनम ने बताया कि गांव देवली में उसका मायका है। करीब ढाई साल पहले उसके भाई आदेश का सुजीत से विवाद हो गया था। विवाद के एक माह बाद आदेश की मौत हो गई। वह भाई की मौत का जिम्मेदार सुजीत को मानती थी, जिसके चलते उसने सुजीत की हत्या का षड्यंत्र रचा।

अंकित के पास रुके थे हमलावर
इंस्पेक्टर ने बताया कि शनिवार की रात हमलावर हिमांशु और मिथुन गांव अट्टा पहुंच गए थे। जो अंकित के पास शराब की दुकान पर रूके। दोनों रात को शराब की दुकान के पास बने कमरे में रूके थे।

सर्विलांस की मदद से खुला मामला
पुलिस ने बताया कि बदमाशों की तलाश में क्षेत्र समेत जनपद मेरठ के कई स्थानों पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली गई। वहीं घटना स्थल पर मौजूद मोबाइल फोनों को भी सर्विलांस पर लगाया गया। इस दौरान पूनम और हमलावरों के मोबाइलों पर बातचीत होना सामने आया। जिसके आधार पर पूनम को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई, जिसने पहले तो घटना में शामिल होने से इंकार किया, लेकिन सख्ती से की गई पूछताछ में साजिश रचना कबूल कर लिया। जिसने बताया कि सुजीत की हत्या के लिए उस पर हमला कराया गया था।

हमलावरों की तलाश हुई तेज
इंस्पेक्टर ने बताया कि फायरिंग करने वाले मिथुन और हिमांशु की तलाश के लिए लगातार दबिश दी जा रही हैं। जिन्हें बहुत जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00