बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
जानें वह कौन सी उंगली है,जो बताती है कि आप बड़े भाग्यशाली और धनवान हैं
Myjyotish

जानें वह कौन सी उंगली है,जो बताती है कि आप बड़े भाग्यशाली और धनवान हैं

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

सबसे बड़ा सवाल: चित्रकूट जेल में अंशुल के पास कैसे पहुंची पिस्टल और गोलियां, अब सामने आया मुख्तार कनेक्शन

शर्मनाक: कन्नौज में वृद्धा से दरिंदगी, हैवानों ने जबड़ा तोड़ा, नाजुक अंगों पर किया डंडाें से प्रहार

कन्नौज सदर कोतवाली के नेरा गांव में गुरुवार देर रात 70 साल की वृद्धा के साथ दिल दहला देने वाली घटना हुई। दरिंदे ने सोते समय वृद्धा के चेहरे पर ईंट, वजनी चीज और धारदार हथियार से कई वार किए। हमले में गाल कट गए। दोनों आंखें सूज गईं। नाजुक अंग में डंडा का प्रयोग हुआ। खून का रिसाव बंद न होने से वृद्धा को कानपुर (हैलट) रेफर कर दिया गया। यहां वह आईसीयू में है।

दरिंदे वारदात के बाद सोने का बाला व चांदी की तोड़ियां ले गए। परिवार लूट के चक्कर में वारदात होना बता रहा है। वहीं पुलिस इसे पारिवारिक या गांव की किसी रंजिश के नजरिये से भी देख रही है। घटनास्थल पर पहुंचकर एसपी प्रशांत वर्मा, सीओ शिव प्रताप सिंह व फोरेंसिक टीम ने छानबीन की है। मानीमऊ चौकी इलाके का नेरा गांव मुख्यालय से करीब दस किमी दूर है।
 

... और पढ़ें

यूपी : इटावा में भीषण सड़क हादसा, बरातियों से भरी स्कॉर्पियो पलटी, तीन की मौत, कई घायल

इटावा के जसवंतनगर में भगवानपुरा से बरातियों को लेकर जा रही स्कॉर्पियो हाईवे पर सिरसागंज के कठफोरी चौकी क्षेत्र स्थित पेट्रोल पंप के पास अचानक सामने एक वाहन आने से अनियंत्रित होकर पलट गई। इस हादसे में स्कार्पियो सवार तीन युवकों की मौत हो गई। दूल्हा समेत कई लोग घायल हो गए।

हादसे की सूचना मिलते ही दूल्हे और दुल्हन के परिवार में कोहराम मच गया। जसवंतनगर के भगवानपुरा निवासी ब्रजराज सिंह के पुत्र सौरभ की बरात गुरुवार को एटा के अवागढ़ के गांव बलू का नगला जा रही थी। ज्यादातर बराती निजी वाहनों से रवाना हुए। स्कार्पियो में दूल्हा व रिश्तेदार सवार थे।

सिरसागंज के कठफोरी चौकी क्षेत्र स्थित पेट्रोल पंप के पास पहुंचते ही अचानक किसी वाहन के सामने आने से स्कॉर्पियो अनियंत्रित होकर पलट कर पेड़ से टकरा गई। इसमें सवार दूल्हा सौरभ और रिश्तेदार गंभीर रूप से घायल हो गए। पीछे दूसरे वाहनों से आ रहे रिश्तेदारों ने आसपास के लोगों की मदद से घायलों को बाहर निकाला।

खेमपाल निवासी जसराना जसवंतनगर की मौके पर मौत हो गई। दूल्हा सौरभ के अलावा योगेंद्र (26) पुत्र जगदीश निवासी डिटौली थाना हसायन जिला एटा और योगेश (22) पुत्र रामप्रसाद निवासी घनश्यामपुर निधौलीकला एटा को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। वहां से इटावा जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। जिला अस्पताल में योगेंद्र और योगेश को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। वहीं, कुछ घायल इलाज कराने आगरा चले गए।
... और पढ़ें

कन्नौज: युवक ने खुद पर डाला पेट्रोल, चौकी इंचार्ज पर भी फेंका, अब तक सामने आई ये बात

कन्नौज जिले में तिर्वा कोतवाली क्षेत्र के पचोर चौकी में शनिवार सुबह उस समय हड़कंप मच गया जब एक युवक ने खुद पर पेट्रोल डाला और चौकी इंचार्ज पर भी पेट्रोल फेंक दिया। गनीमत रही कि वह माचिस नहीं जला पाया तब तक पुलिसकर्मियों ने उसे धर दबोचा।

मामला जमीन विवाद से जुड़ा हुआ है। सतौरा गांव के रामजी गुप्ता और ब्राह्मण पुरवा के ब्रह्मानंद तिवारी के बीच जमीन का विवाद चल रहा है। दोनों पक्ष एक दूसरे के खिलाफ कई बार शिकायत कर चुके हैं। मामले की जांच पचोर पुलिस चौकी से हो रही है। शनिवार सुबह सतौरा गांव के रामजी गुप्ता पिपिया में पेट्रोल लेकर पुलिस चौकी में दाखिल हुआ।

वहां अचानक अपने ऊपर पेट्रोल डाला और चौकी इंचार्ज पंकज कुमार मिश्रा पर भी पेट्रोल फेंक दिया। रामजी गुप्ता की इस हरकत से पुलिसकर्मियों में हड़कंप मच गया। जब तक माचिस का प्रयोग होता पुलिसवालों ने उसे दबोच लिया। सूचना पर तिर्वा कोतवाली पुलिस पहुंची और रामजी गुप्ता को कोतवाली उठा लाई, वहां उनसे पूछताछ की जा रही है।
... और पढ़ें
पुलिस गिरफ्त में युवक पुलिस गिरफ्त में युवक

चित्रकूट जेल गैंगवार: मुकीम के आतंक से थर्राया था कैराना, हिंदू कर गए थे पलायन, ये रही तीनों दुर्दांत की आपराधिक कुंडली

गैंगस्टर मुकीम काला पश्चिमी उत्तर प्रदेश का खूंखार अपराधी था। आम जनता से लेकर कारोबारियों यहां तक कि पुलिस में भी उसका भय था। उसके आतंक की वजह से ही कैराना में हिंदुओं का पलायन हुआ था। जो यूपी विधानसभा 2017 के चुनाव में बड़ा मुद्दा बना था। सरकार बदलने के बाद काला का गैंग के खात्मे की शुरुआत हुई। अब उसका गैंग लीडर मारा गया। हत्या, लूट, रंगदारी, हत्या के प्रयास, फिरौती समेत काला पर 60 से अधिक आपराधिक केस दर्ज थे।

घर-घर लगवाए थे पोस्टर, रंगदारी दे जिंदगी बख्शता था
मुकीम काला शामली के कैराना का रहने वाला था। वह मुख्य रूप से लूट, डकैती और रंगदारी की वारदातों को अंजाम देता था। उसी दौरान वो हत्याएं करता था। उसने शामली व आसपास के जिलों में गांव गांव और शहरों में पोस्टर लगवाए थे। जिसमें उसने सीधे धमकी दी थी कि व्यापारियों को अगर जिंदा रहना है तो उसको रंगदारी देनी होगी। इससे लोग बेहद परेशान थे। एक विशेष धर्म के लोगों को अधिक प्रताड़ित करता था। इसी वजह से 2015-16 में कैराना से हिंदू पलायन करने लगे थे। यूपी विधानसभा चुनाव में ये बड़ा मुद्दा भाजपा ने बनाया था। जिसका लाभ भी मिला। कुल मिलाकर मुकीम कैराना से हिंदुओं के पलायन के पीछे का मुख्य खलनायक था।

तीन पुलिसकर्मियों की कर दी थी हत्या
मुकीम खाकी पर वार करता था। 5 जुलाई 2011 को शामली में सिपाही सचिन की हत्या की। 14 अक्तूबर 2011 सहारनपुर में सिपाही बलबीर को मौत के घाट उतारा था। पांच जून 2013 को सिपाही राहुल ढाका की कारबाइन लूटकर उसी को मार दिया था। कई बार लूट के बाद पुलिसकर्मियों पर गोलियां दाग चुका था। वो एके-47 भी रखता था। कई वारदातों को उसने इससे अंजाम दिया था।

ट्रैक्टर लूट से जरायम की दुनिया में रखा कदम
मुकीम का पिता मुस्तफा असलहा सप्लायर था। उसका भाई गैंगस्टर वसीम काला को एसटीएफ ने 28 सितंबर 2018 को एनकाउंटर में मार गिराया था। मुकीम राजमिस्त्री का काम करता था। 2010 में मुकीम ने हरियाणा में एक ट्रैक्टर लूटा था। इसके बाद से वो एक के बाद एक आपराधिक वारदातों को अंजाम देना शुरू किया जो सिलसिला लगातार जारी रहा। 2015 में सहारनपुर में तनिष्क के शोरूम में दस करोड़ की डकैती डाली थी। सबसे पहले मुकीम कग्गा के गैंग में शामिल हुआ था। 2011 में जब कग्गा का एनकाउंटर हुआ तब वो गैंग का सरगना बन गया।
... और पढ़ें

चित्रकूट जेल गैंगवार का मामला:  अंशू ने दो वीडियो किए थे वायरल, एक में हत्या की जताई थी आशंका

अंशू दीक्षित ने रायबरेली जेल में रहते हुए बड़ा कांड किया था। एक के बाद एक दो वीडियो जेल से उसने वायरल किए थे। इसके बाद जेल के अफसरों पर कार्रवाई हुई थी। एक वीडियो में उसने अपनी हत्या की आशंका जताई थी। उसका कहना था कि जेल प्रशासन और एसटीएफ उसकी हत्या की साजिश रच रही है। जेल में पीट-पीटकर या पेशी के दौरान एनकाउंटर करने की साजिश रची जा रही है। हालांकि अब वह कथित गैंगवार में मारा गया। रायबरेली जेल में रहते हुए पहले वायरल वीडियो में अंशू शराब पीते दिख रहा था। उसमें उसके गुर्गे भी शामिल थे। बेड पर शराब के साथ असलहों और कारतूस का जखीरा था। वीडियो में दिख रहे अपराधी किसी को फोन पर धमकी देते सुनाई दे रहे थे। ... और पढ़ें

चित्रकूट जेल गैंगवार की पूरी कहानी:  गैंगस्टर अंशू बोला- मुख्तार का खास कोई बदमाश जिंदा नहीं रहेगा..फिर दाग दीं गोलियां

चित्रकूट जेल में हुआ गैंगवार किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है। अंशू दीक्षित उर्फ सुमित दीक्षित ने मुकीम काला की बैरक में घुसते ही समुदाय विशेष के बदमाश के जिंदा न रहने की बात कहते हुए उसे गोलियों से भून दिया। इससे पहले अंशू ने परेड के दौरान मेराज को यह कहते हुए गोलियों से भून डाला कि मुख्तार का खास कोई भी जिंदा नहीं रहेगा। कुछ देर बाद अंशू एनकाउंटर में पुलिस की गोली से मारा जाता है। अपने मंसूबों को अंजाम देने के लिए अंशू ने ईद का ही दिन चुना। दरअसल सुबह करीब दस बजे अंशू बैरक से निकला। वहां तैनात सुरक्षाकर्मियों से उसने कहा कि वह पीसीओ जा रहा है, किसी को फोन करना है। तब किसी को अंदाजा नहीं था कि वह क्या करने वाला था। इस वक्त उसके पास पिस्टल थी। एक बड़े पुलिस अफसर ने बताया कि मेराज को देखते ही अंशू ने उस पर पिस्टल तान दी।  ... और पढ़ें

कानपुर: अपार्टमेंट की आठवीं मंजिल से गिरकर डॉक्टर की पत्नी की मौत, पति पर हत्या का आरोप

अंशू दीक्षित की फाइल फोटो व मुख्तार अंसारी
कानपुर में बिठूर थाना क्षेत्र के सिंहपुर स्थित रुद्रा ग्रीन्स अपार्टमेंट में एक डॉक्टर की डॉक्टर पत्नी ने आठवीं मंजिल से कूदकर शुक्रवार देर रात जान दे दी। जानकारी मिलते ही शनिवार सुबह प्रयागराज से कानपुर पहुंचे मायके पक्ष के लोगों ने घटना को संदिग्ध बताया और पति पर हत्या का आरोप लगाया।

बिठूर थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जबकि डॉक्टर पति को थाने में पूछताछ के लिए ले गई। मूल रूप से रायबरेली के रहने वाले डॉक्टर सुशील वर्मा बिठूर सिंहपुर स्थित रुद्रा ग्रीन्स अपार्टमेंट में टावर नंबर 5 की आठवीं मंजिल के फ्लैट नंबर आठ-ए में अपनी पत्नी डॉ. मंजू वर्मा (30) और डेढ़ साल के बेटे रुद्रांश के साथ रहते हैं।

डॉक्टर सुशील वर्मा वर्तमान में जालौन मैं तैनात हैं। मृतका मंजू वर्मा के पिता अर्जुन प्रसाद इलाहाबाद हाईकोर्ट न्यायाधीश के यहां पीआरओ हैं। अर्जुन प्रसाद ने बताया कि जनवरी 2019 को शादी सुशील के साथ की थी। शुक्रवार देर रात करीब 1:30 बजे सुशील के छोटे भाई सुधीर ने फोन करके बताया कि भाभी छत से नीचे गिर गई हैं।

सुबह जब वह अपने परिवार के साथ कानपुर पहुंचे तो पता चला कि मंजू की मौत हो चुकी है। मृतका के पिता का आरोप है कि दामाद सुशील ने फ्लैट लेने के लिए 40 लाख रुपए का लोन लिया था और वह लोन की किस्तें भरने के लिए मंजू से कहता था कि मायके वालों से पैसे लाओ और लोन की किस्तें भरो।

मृतका की मां रीना खुटार, भाई विष्णुकांत और दो बहने सरिता व गरिमा को जब हादसे की खबर लगी तो सभी बदहवास हो गए। मृतक डॉ. मन्जू वर्मा ने इलाहाबाद मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस किया था।
... और पढ़ें

एक दुल्हन और दो दूल्हे: घर ही नहीं पूरा गांव सन्न रह गया, फिर एक तरकीब से दोनों को मिल गईं जीवन संगिनी, जानिए कैसे

कन्नौज जिले में तिर्वा कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में अजीबोगरीब मामला सामने आया है। दुल्हन एक थी और उससे ब्याह रचाने के लिए दो दूल्हे पहुंच गए। एक तय बरात के साथ आया था तो दूसरा प्रेमी खुद बरात लेकर पहुंच गया। दो-दो बरात देख लोग अचंभित रह गए। मामला पुलिस तक पहुंचा।

घंटों चली पंचायत के बाद दुल्हन ने प्रेमी का चयन किया। इधर, तय बरात के साथ पहुंचे दूल्हे को मायूस देख गांव के ही एक परिवार ने अपनी बेटी से शादी कराई। कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में गुरुवार रात सौरिख थाना क्षेत्र से दूल्हा बरात लेकर पहुंचा।

दरवाजे पर बरात पहुंचते ही जनातियों ने उनकी खातिरदारी की। सभी कार्यक्रम हो जाने के बाद जब द्वार चार कार्यक्रम होने लगा उसी दौरान दुल्हन का प्रेमी छिबरामऊ थाना क्षेत्र से बरात लेकर आ पहुंचा। प्रेमी को देख दुल्हन खुशी से झूम गई।

उसने आए दूल्हे से शादी से इंकार कर दिया। सभी कार्यक्रम होने के बाद शादी से इनकार की जानकारी लगते ही बरातियों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने प्रेमी व दुल्हन को हिरासत में ले लिया। दोनों पक्षों के बीच बातचीत होने लगी।
... और पढ़ें

उन्नाव: घर से लापता बच्चे की ईंट से कुचलकर हत्या, इस हालत में शव देख कांप उठे परिजन

उन्नाव जिले के पुरवा कोतवाली क्षेत्र में शुक्रवार शाम चार बजे रहस्यमय ढंग में लापता हुए बच्चे की ईंट से कुचलकर हत्या कर दी गई। उसका शव शनिवार सुबह घर से 200 मीटर दूर निर्माणाधीन मकान में पड़ा मिला। एसपी को घटनास्थल पर बुलाने की मांग कर ग्रामीणों ने सड़क जाम कर दी। पुलिस समझाने का प्रयास कर रही है।

कोतवाली क्षेत्र के सलेथू गांव निवासी सतीश का 7 वर्षीय बेटा शिवा शुक्रवार शाम घर के बाहर खेलते समय लापता हो गया था। पहले परिजनों ने खोजबीन की, कोई सुराग न लगने पर रात लगभग 9 बजे पुलिस को सूचना दी। रात में ही पुलिस घर पहुंची और परिवार से जानकारी लेकर लौट आई।

सुबह बच्चे का शव घर से 200 मीटर दूर प्राइमरी स्कूल के बगल में निर्माणाधीन मकान में मिला। ईंट से चेहरा कुचलकर उसकी हत्या की गई थी। खून से लथपथ शव देख परिजन कांप गए। सीओ रघुवीर सिंह व कोतवाल अजय कुमार त्रिपाठी मौके पर पहुंचे और जांच कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने का प्रयास किया। ग्रामीणों ने एसपी और डॉग स्क्वायड टीम को बुलाने की मांग कर हंगामा शुरू कर दिया। पुलिस विरोधी नारेबाजी कर सड़क जाम कर दी। पुलिस परिजनों को शांत कराने में जुटी है।
... और पढ़ें

घाटमपुर में दोहरा हत्याकांड: प्रेमी युगल को लड़की के पिता ने कुल्हाड़ी से काटा, आरोपी गिरफ्तार

यूपी के घाटमपुर में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। घाटमपुर थाना अंतर्गत पतारा चौकी क्षेत्र के एक गांव में शनिवार सुबह प्रेमी युगल को लड़की के पिता ने कुल्हाड़ी से काटकर मौत के घाट उतार दिया।  इस घटना से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। जानकारी मिलते ही संबंधित थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। 

पुलिस ने लड़की के पिता को गिरफ्तार कर लिया है। लड़की की उम्र 16 लड़के की 15 वर्ष बताई जा रही है। क्षेत्रियों की मानें तो दोनों के बीच  प्रेम प्रसंग चल रहा था। शुक्रवार रात को लड़की के पिता अपनी पत्नी के साथ अपने ससुराल बांदा के बरुवा गांव में एक शादी समारोह में शामिल होने गए थे, इसी दौरान रात को ही लड़का अपनी प्रेमिका से मिलने पहुंच गया। 

इस दौरान पड़ोस में मौजूद लड़की के चाचा ने दोनों को पकड़ लिया और एक कमरे में बंद कर पिता को फोन कर सूचना दी। शनिवार सुबह शादी समारोह से वापस घर पहुंचकर पिता ने करीब साढ़े सात बजे दोनों की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी। भारी पुलिस बल मौके पर तैनात है। आरोप है कि आरोपियों ने प्रेमी को उसके माता-पिता की आंखों के सामने मारा। वे रहम की गुहार लगाते रहे, लेकिन किसी ने नहीं सुनी। पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर कुल्हाड़ी बरामद की है।
... और पढ़ें

चित्रकूट : गोलीकांड में हुईं दो एफआईआर, गैंगवार के दौरान सीसीटीवी कैमरे नहीं कर रहे थे कार्य

चित्रकूट जेल गैंगवार मामले में दो एफआईआर दर्ज की गईं। पहली एफआईआर जेल अधीक्षक ने गैंगवार आरोपियों के खिलाफ कराई, वहीं दूसरी एफआईआर सदर कोतवाल ने मुठभेड़ की दर्ज कराई है। एसपी अंकित मित्तल ने बताया कि शुक्रवार रात मेराज अली का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को शव सौंप दिया गया है। इसके अलावा अपराधी मुकीम काला और अंशु दीक्षित के शव का अभी पोस्टमार्टम नहीं हो पाया है।

जांच दल ने पाया कि चित्रकूट जेल के अंदर सीसीटीवी कैमरे गैंगवार के दौरान काम नहीं कर रहे थे। इसके अलावा तीन वॉर्डन ड्यूटी में ढिलाई के लिए निलंबित किए गए हैं। चित्रकूट जेल के अंदर हुई सनसनीखेज वारदात की प्रारंभिक रिपोर्ट मिलते ही शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ी कार्रवाई की। मामले में जेलर और जेल अधीक्षक को सस्पेंड कर दिया है। कई अन्य पर तलवार लटक रही है। वारदात के तत्काल बाद सीएम योगी ने घटना का संज्ञान लेते हुए महानिदेशक कारागार आनंद कुमार से इस मामले में रिपोर्ट तलब की थी।

निर्देशित किया था कि आयुक्त चित्रकूट डीके सिंह, पुलिस महानिरीक्षक चित्रकूट के. सत्यनारायण और उप महानिरीक्षक कारागार मुख्यालय संजीव त्रिपाठी की संयुक्त टीम से इस घटना की जांच कराकर रिपोर्ट छह घंटे के अंदर दी जाए। इस बारे में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने आदेश जारी किए। विस्तृत रिपोर्ट आने के बाद कई और लोगों पर गाज गिरने की संभावना जताई जा रही है। 

परिजनों ने लगाया बड़ा आरोप
मारे गए अपराधी मुकीम काला की मां मीना और मामा सुक्का चित्रकूट पहुंचे। उन्होंने कहा कि पुलिस और जेल वालों ने साजिश कर मुकीम को मरवा दिया। बोले कि जिस जेल में एक चम्मच तक ले जाने के लिए कई जगह जांच होती है वहां कारतूस-बंदूक कैसे पहुंचीं, यह बिना पुलिस और जेल कर्मचारियों की मदद के संभव नहीं है। कहा कि 6 साल से बेटा जेल में बंद है और बार-बार जेल बदल कर उसे प्रताड़ित किया गया। परिजनों ने आरोप लगाया कि बेटे को ईद की नमाज पढ़ने के दौरान गोली मारी गई।

ये था मामला
चित्रकूट की हाई सिक्योरिटी सुरक्षा से लैस रगौली जेल शुक्रवार को गोलियों की तड़तड़ाहट से थर्रा उठी थी। सीतापुर के शार्प शूटर अंशुल दीक्षित उर्फ अंशू ने दो कुख्यात अपराधियों मुकीम काला और मेराजुद्दीन को गोलियों से भून डाला था। बाद में पुलिस ने अंशुल को भी मार गिराया। अंशुल और पुलिस के बीच जेल के अंदर करीब आधे घंटे मुठभेड़ चली। मारा गया अपराधी मेराजुद्दीन मुख्तार गैंग का शातिर गुर्गा था। शातिर अपराधी अंशुल दीक्षित करीब डेढ़ वर्ष से चित्रकूट जेल में बंद है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us