Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Kanpur ›   Kanpur: Threatened to liberate India by sending message from Pakistan, 10 recordings sent on Facebook

कानपुर: पाकिस्तान से मैसेज भेजकर दी इंडिया को आजाद कराने की धमकी, फेसबुक पर भेजी गईं 10 रिकार्डिंग

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कानपुर Published by: प्रभापुंज मिश्रा Updated Mon, 05 Jul 2021 05:03 PM IST

सार

राष्ट्रीय प्रवक्ता कौसर हसन मजीदी ने राष्ट्रविरोधी ताकतों के विरोध में अभियान छेड़ा हुआ है। उन्होंने धर्मांतरण में पाकिस्तानी संस्था दावते इस्लामी और उसके समर्थकों पर आरोप लगाया था।
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

अगर तूने मां का दूध पिया है तो हमें अपने मुल्क से निकालकर दिखा...तेरी आने वाली सात पुश्तें भी हमें नहीं निकाल सकतीं...। जब तक तेरी तीसरी पुश्त आएगी, तब तक हम इंडिया को आजाद करवा लेंगे....। कुछ इसी तरह की धमकियों से भरी रिकार्डिंग पाकिस्तान से सूफी इस्लामिक बोर्ड के राष्ट्रीय प्रवक्ता कौसर हसन मजीदी के फेसबुक मैसेंजर पर रविवार को पाकिस्तानी संस्था दावते इस्लामी के समर्थक की ओर से भेजी गई हैं।
विज्ञापन


उन्होंने इस संबंध में अधिकारियों को अवगत कराया है। राष्ट्रीय प्रवक्ता कौसर हसन मजीदी ने राष्ट्रविरोधी ताकतों के विरोध में अभियान छेड़ा हुआ है। उन्होंने धर्मांतरण में पाकिस्तानी संस्था दावते इस्लामी और उसके समर्थकों पर आरोप लगाया था। मजीदी के अनुसार दावते इस्लामी ने शहर के साथ ही पूरे देश में डोनेशन बॉक्स लगा रखे हैं। इससे धर्मांतरण में जुटे लोगों को फंडिंग की जा रही है।


इस बात पर पाकिस्तान और बिहार से धमकी के बाद रविवार को उनके मैसेंजर पर खुद को पाकिस्तान गुजरावाला शहर से दावते इस्लामी का अनुयायी बताने वाले शहीर मलिक ने रिकॉर्डिंग भेजी है। इसमें गालियां बकने के साथ ही इंडिया में कुछ खास लोगों को छोड़कर सभी का कत्लेआम करने की भी धमकी दी। उन्होंने सभी रिकार्डिंग सोमवार को पुलिस अधिकारियों को सौंपने की बात कही है।

युद्धस्तर पर छेड़ा धर्मांतरण का अभियान
राष्ट्रीय प्रवक्ता ने जूही परमपुरवा स्थित आवास पर पत्रकार वार्ता कर बताया कि दावते इस्लामी के पाकिस्तानी यू-ट्यूब चैनल मदनी से उन्होंने साक्ष्य के रूप में कई ऐसे वीडियो एकत्रित किए हैं, जिनमें धर्मांतरण कराने के लिए युद्ध स्तर पर अभियान छेड़े जाने की बात कही गई है। इन वीडियो में कुछ कानपुर के धर्म स्थलों के बने हैं। कौसर हसन मजीदी के अनुसार दावते इस्लामी भी पीएफआई विचारधारा वाली संस्था है और दोनों का उद्देश्य एक ही है। उनके साथ राष्ट्रीय कार्य समिति के सदस्य सैय्यद जियारत अली शाह हक्कानी मलंग व आईटी सेल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष गौरव कुमार त्रिपाठी मौजूद रहे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00