Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Kanpur ›   Negligence in security of President Ram Nath Kovind Suraksha plan viral a day ago

बड़ी लापरवाही: राष्ट्रपति की सुरक्षा से खिलवाड़, सुरक्षा प्लान एक दिन पहले वायरल, पुलिस कमिश्नर ने जांच बैठाई

अमर उजाला नेटवर्क, कानपुर Published by: शाहरुख खान Updated Wed, 24 Nov 2021 11:25 PM IST

सार

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद दो दिवसीय प्रवास में बुधवार से शहर में हैं। दौरे से ठीक एक दिन पहले मंगलवार देर शाम पुलिस की लापरवाही से राष्ट्रपति का मिनट टू मिनट कार्यक्रम व सुरक्षा का ब्योरा लीक हो गया। सुरक्षा से संबंधित गोपनीय दस्तावेज व्हाट्सएप पर इधर उधर घूमते रहे। 
राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद
राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद - फोटो : ANI
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

राष्ट्रपति की सुरक्षा को लेकर पुलिस की बड़ी लापरवाही सामने आई है। राष्ट्रपति के सुरक्षा प्लान समेत एक-एक पहलू की जानकारी से संबंधित पेजों की पीडीएफ फाइल एक दिन पहले ही व्हाट्सएप पर वायरल हो गई। पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने मामले का संज्ञान लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं। एडीसीपी ट्रैफिक राहुल मिठास ने जांच शुरू कर दी है। एक विभागीय कर्मचारी शक के दायरे में है।
विज्ञापन


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद दो दिवसीय प्रवास में बुधवार से शहर में हैं। दौरे से ठीक एक दिन पहले मंगलवार देर शाम पुलिस की लापरवाही से राष्ट्रपति का मिनट टू मिनट कार्यक्रम व सुरक्षा का ब्योरा लीक हो गया। सुरक्षा से संबंधित गोपनीय दस्तावेज व्हाट्सएप पर इधर उधर घूमते रहे। 


इसमें यह भी जानकारी है कि हेलीपैड पर सुरक्षा व्यवस्था की किस अफसर की जिम्मेदारी है। हेलीपैड से लेकर कार्यक्रम स्थल के डी-सर्किल व एंट्री गेट से लेकर मंच और फ्लीट के साथ ही सर्किट हाउस की इनर और आउटर कार्डन की सुरक्षा की पूरी जानकारी इसमें लिखी है। एक-एक सीसीटीवी कैमरे का भी ब्योरा है।

आतंकी घटनाओं का जिक्र, अलर्ट, सब सार्वजनिक वायरल दस्तावेज में कानपुर में पहले हुई आतंकी घटनाओं का ब्योरा है। लिखा है कि पिछले तीन दशक में कानपुर में चार बड़ी आतंकी घटनाएं हुईं। अब तक दस आईएसआईएस एजेंट गिरफ्तार किए जा चुके हैं। 

आतंकियों को शरण देने में पांच आरोपी पकड़े जा चुके हैं। सिमी की गतिविधि का भी जिक्र है। यहां से इंडियन मुजाहिद्दीन का आतंकी शहजाद उर्फ पप्पू के अलावा माओवादी के आठ सक्रिय सदस्य गिफ्तार हो चुके हैं। इसलिए अलर्ट जारी किया गया है। यहां तक कि खुफिया के कौन अफसर कहां तैनात हैं, यह भी दस्तावेज में लिखा है।

राष्ट्रपति के कार्यक्रम से जुड़ा एक दस्तावेज सोशल मीडिया पर वायरल होने की जानकारी मिली है। इसकी सत्यता पता करने व कैसे सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, इसकी जांच एडीसीपी ट्रैफिक को सौंपी गई है। जांच रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
- असीम अरुण, पुलिस कमिश्नर
 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00