Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Kanpur ›   Senior IIT Scientist Prof. Manindra Agarwal claims less than ten thousand infected will be left in the country After February 25

राहत: आईआईटी वैज्ञानिक का दावा, 25 फरवरी के बाद देश में संक्रमित दस हजार से कम बचेंगे

अमर उजाला नेटवर्क, कानपुर Published by: शाहरुख खान Updated Sat, 29 Jan 2022 10:37 AM IST

सार

आईआईटी के वरिष्ठ वैज्ञानिक प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने अपने गणितीय मॉडल सूत्र के विश्लेषण के आधार पर दावा किया है कि 23 जनवरी को पीक आना था लेकिन दो दिन बाद 25 जनवरी को आया। अब 25 फरवरी के बाद देश में संक्रमितों की संख्या 10 हजार से भी कम रह जाएगी।
प्रोफेसर मणींद्र अग्रवाल
प्रोफेसर मणींद्र अग्रवाल - फोटो : amar ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

कोरोना संक्रमण को लेकर राहत भरी खबर है। देश में कोरोना का पीक 25 जनवरी को आ चुका है। अब संक्रमण की रफ्तार तेजी से नीचे गिरेगी और 25 फरवरी के बाद देश में संक्रमितों की संख्या 10 हजार से भी कम रह जाएगी। आईआईटी के वरिष्ठ वैज्ञानिक प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने अपने गणितीय मॉडल सूत्र के विश्लेषण के आधार पर यह दावा किया है। 
विज्ञापन


प्रो. अग्रवाल ने कहा कि मॉडल के अनुसार, 23 जनवरी को पीक आना था लेकिन दो दिन बाद 25 जनवरी को आया। उन्होंने बताया कि नई रिपोर्ट के अनुसार पीक में देश में रोज करीब तीन लाख केस आए हैं। 


अब केसों की संख्या में कमी आ रही है। प्रो. अग्रवाल यूपी समेत सभी प्रदेशों का मॉडल बनाकर स्टडी कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि यूपी में 19 जनवरी को पीक आ चुका है और केसों की संख्या कम हो रही है। 

कोरोना से दो की मौत, 234 संक्रमित
कानपुर में कोरोना संक्रमितों की संख्या घट रही है लेकिन संक्रमित मरीजों में वायरल लोड बढ़ रहा है। इसके चलते शुक्रवार को दो और मरीज़ों मरीज की मौत हो गई। कोरोना से अबतक 1915 मरीजों की मौत हो चुकी है। आईआईटी, मेडिकल कॉलेज, रेलवे कॉलोनी सहित विभिन्न मोहल्लों में जांच के दौरान शुक्रवार को 234 नए संक्रमित मिले।

घाटमपुर निवासी कोरोना संक्रमित 57 वर्षीय महिला हैलट में भर्ती थी। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। यहीं पर कोरोना संक्रमित 60 वर्षीय वृद्ध की भी मौत हो गई है। हालांकि कोरोना पोर्टल पर रात तक मौत का आंकड़ा नोटिफाइड नहीं हुआ। 

हैलट की मेटरनिटी विंग में बने कोविड अस्पताल में भर्ती एक अन्य मरीज की हालत गंभीर बताई जा रही है। हैलट में 32 संक्रमित भर्ती हैं। उधर, स्वास्थ्य विभाग की तरफ से की जा रही जांच में आईआईटी में संक्रमितों के मलने का सिलसिला जारी रहा। 

हालांकि शहर में ओमिक्रॉन का कोई नया मामला नहीं मिला। सीएमओ डॉ. नैपाल सिंह बताया कि बीते 24 घंटे में 674 मरीजों ने होम आइसोलेशन पूरा किया। सक्रिय मरीज अब 2832 रह गए हैं। 

कोरोना जैसे लक्षणों वाले मरीज चिह्नित किए पर सैंपल नहीं लिए
सीएमओ के दावे के अनुसार विशेष सर्विलांस अभियान के तहत शहरी क्षेत्र में 887 टीमों ने 108711 घरों का सर्वे किया। कोरोना जैसे लक्षणों वाले दो व्यक्ति चिह्नित किए गए पर किसी की भी जांच के सैंपल नहीं लिया गया। ग्रामीण क्षेत्रों में 573 टीमों ने 49103 घरों का सर्वे किया गया, जिनमें कोरोना जैसे लक्षणों वाले 263 व्यक्तियों को चिन्हित किया गया पर किसी का सैंपल नहीं लिया गया। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00