बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर बप्पा के घर में आगमन से होंगी ये राशियां धनवान
Myjyotish

इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर बप्पा के घर में आगमन से होंगी ये राशियां धनवान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

34 लोगों से कर चुका था दो करोड़ तक की ठगी: सरकारी नौकरी लगवाने के नाम पर बनाता था शिकार, हुआ गिरफ्तार

कानपुर क्राइम ब्रांच ने गुरुवार को सरकारी नौकरी लगवाने के नाम पर ठगी करने वाले सुलतानपुर निवासी शिवपूजन को गिरफ्तार किया। आरोपी खुद को सचिवालय का अधिकारी बताता था। आरोपी 34 लोगों से 2 करोड़ तक की ठगी कर चुका है।

पुलिस ने उसे जेल भेज दिया। गिरोह में एक महिला भी शामिल है, जिसकी तलाश की जा रही है। नवाबगंज थाने में जून 2019 वरुण नाम के शख्स ने नौकरी के नाम पर हुई पांच लाख की ठगी का मामला दर्ज कराया था। डीसीपी क्राइम सलमान ताज पाटिल ने बताया कि आरोपी ने बैंक खातों में रकम जमा कराई थी।

खातों और मोबाइल नंबरों को जब ट्रेस किया गया तो सुलतानपुर निवासी शिवपूजन को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी के खाते खंगाले गए तो पता चला कि वह 34 लोगों को ठग चुका है। दो करोड़ रुपये के ट्रांजेक्शन उसके खातों में हो चुके हैं। 

फेसबुक पर दोस्ती फिर ठगी
आरोपी शिवपूजन फेसबुक के जरिए शिकार तलाशता था, पहले दोस्ती करता था फिर खुद को सचिवालय का अधिकारी बताकर नौकरी का लालच देता था। उसने शिवाजी राव और अनुराग ठाकुर के नाम से भी फर्जी आईडी बना रखी थी।

सुलतानपुर के ही 17 लोग बने शिकार
जांच में पता चला कि शिकार बनाए गए 34 में से 17 लोग सुलतानपुर के ही हैं। गोंडा, प्रयागराज, जौनपुर के दो-दो, इटावा व कानपुर के एक के अलावा अन्य मध्य प्रदेश व दिल्ली के पीड़ित हैं। आरोपी कई सालों से ठगी कर रहा है।
... और पढ़ें

कानपुर: पांच घंटे हाथ में टांगे रहे ग्लूकोज बोतल, फिर रोगी लेकर भागे, बोले सरकारी अस्पताल जाने में लगता है डर

कानपुर के कुरसौली वालों ने अधिकारियों को सरकारी चिकित्सीय व्यवस्था का आइना दिखा दिया। गुरुवार को सीडीओ के साथ कुरसौली पहुंचे सीएमओ ने जब मिलन प्रजापति से पूछा कि उसने अपनी पत्नी कीर्ति को हैलट या उर्सला में भर्ती क्यों नहीं कराया? इस पर बताया कि 31 अगस्त को मामी लक्ष्मी प्रजापति को वे शाम छह बजे हैलट लेकर गए।

रोगी को इमरजेंसी बेड पर लिटा दिया गया। ग्लूकोज की बोतल लगी लेकिन रात 11 बजे तक बेड नहीं मिला। हालत बिगड़ी तो कुलवंती लेकर भागे लेकिन पहुंचने के पहले ही मौत हो गई। मिलन ने यह भी बताया कि हैलट इमरजेंसी में वीगो लगाने के बाद बोतल उनके हाथ में पकड़ा दी गई। वे और रिश्तेदार पांच घंटे तक हाथ में ही बोतल पकड़े रहे।

मिलन ने कहा कि इसी वजह से साहब पत्नी को किसी सरकारी अस्पताल लेकर नहीं गया। सीएमओ डॉ. नैपाल सिंह यह सुनकर चुुप हो गए। गांव की तन्नू (14) के साथ भी यही हुआ था। चार घंटे बाद भी बेड नहीं मिला तो परिजन निजी अस्पताल भागे। उसकी भी अस्पताल पहुंचने के पहले मौत हो गई थी।

कुरसौली में मच्छर भगाने के लिए कॉइल बांटी
सीडीओ और सीएमओ के निरीक्षण के बाद स्वास्थ्य विभाग के अफसरों का ध्यान कुरसौली की तरफ गया है। ग्रामीणों की शिकायतों के बाद गुरुवार शाम को स्वास्थ्यकर्मियों ने कुरसौली गांव में मच्छर भगाने के लिए कॉइल बांटी। कॉइल के डिब्बे उन्हीं घरों में दिए गए हैं, जहां लोग बीमार हैं। हालांकि लोगों ने फॉगिंग कराने की मांग की। 

आशा नियुक्त करने के आदेश, अस्पताल भी पहुंचे सीएमओ
कुरसौली गांव पहुंचे सीडीओ को जब पता चला कि इस वक्त गांव में कोई आशा कार्यकर्ता नहीं तो तुरंत नियुक्ति के निर्देश दिए। कुरसौली गांव की आशा कार्यकर्ता लक्ष्मी गौतम की बुखार से मौत हो चुकी है। वहीं सीएमओ ने गांव के लोगों की खैरखबर लेने के बाद दो अस्पतालों में जाकर मरीजों के संबंध में जानकारी ली। 

ग्राम प्रधान का भर आया गला
कुरसौली के ग्राम प्रधान अमित सिंह का अधिकारियों के सामने गला भर आया। बोले कि गांव की हालत देखकर रोना आता है। उनकी चाची, भाई, बहन सब अस्पताल में भर्ती हैं। घरों में ताले पड़े हैं। रातभर गांव के लड़कों की टोली के साथ आवाज लगाता हूं, जिससे लोगों को ढाढ़स बंधी रहे और चोरी आदि न हों। 
... और पढ़ें

यूपी: गिट्टी कारोबारी की हत्या, एसओ लाइन हाजिर, दरोगा निलंबित

कानपुर देहात के गहोलिया गांव में गुरुवार सुबह गिट्टी मौरंग कारोबारी की दुकान के अंदर हत्या कर दी गई। उसके सिर में घाव व पीठ में चोट के निशान मिले हैं। हत्या के पीछे जमीनी विवाद बताया जा रहा। पूर्व प्रधान समेत छह के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज की गई।

वहीं एसओ को लाइन हाजिर और हल्का इंचार्ज को निलंबित कर दिया गया है। अधिकारियों ने परिजनों को समझाबुझा कर आठ घंटे बाद शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा। गहोलिया गांव के आशू तिवारी (23) की गांव से एक किमी दूर सड़क किनारे गिट्टी, मौरंग व सीमेंट की दुकान है।

वह रात में दुकान में ही रुकता था। गुरुवार सुबह करीब दस बजे भाई दीपक तिवारी खाना लेकर पहुंचा तो उसका शव दुकान के अंदर पड़ा मिला। परिजनों ने पूर्व प्रधान विजय सिंह पर हत्या का आरोप लगा हंगामा किया। परिजनों के अनुसार पूर्व प्रधान विजय ने आशू की दुकान के बगल में खाली पड़ी ग्राम समाज की जमीन में कब्जा किया है।

इसकी उसने शिकायत की थी। हत्या व हंगामे की जानकारी पर एडीएम प्रशासन पंकज वर्मा व एएसपी घनश्याम चौरसिया भी मौके पर पहुंचे। कई थानों के फोर्स को एहतियातन बुला लिया। देर शाम  एसओ धर्मेंद्र मलिक व हल्का इंचार्ज राजीव कुमार को निलंबित कर दिया गया।

दीपक की तहरीर पर पूर्व प्रधान विजय सिंह, उसके परिवार के अंकित सिंह, अजय सिंह उर्फ पिंटू, श्याम सिंह उर्फ बबलू व दो अज्ञात पर हत्या की रिपोर्ट दर्ज की गई। अधिकारियों के समझाने के बाद परिजनों ने आठ घंटे बाद युवक का शव पोस्टमार्टम के लिए भेजने दिया। एसपी केशव चौधरी ने बताया कि कब्जे में जिसकी भी संलिप्ता पाई जाती है उस पर कठोर कार्रवाई होगी।
... और पढ़ें

कुरसौली में गंदगी फैलाने वाले 34 लोगों पर होगी रिपोर्ट, डीएम के निर्देश पर डीपीआरओ ने थाने भिजवाई तहरीर

कानपुर में कुरसौली में नालियों में गंदगी बहाने वाले 34 ग्रामीणों पर रिपोर्ट दर्ज होगी। डीएम के निर्देश पर जिला पंचायती राज अधिकारी (डीपीआरओ) ने ग्राम पंचायत सचिव शालिनी मिश्रा के जरिये बिठूर थाने में तहरीर भिजवाई है। डीपीआरओ का कहना है कि कुरसौली के कुछ ग्रामीणों ने निरीक्षण के समय डीएम से शिकायत की थी कि गांव के कई लोग सीवर का पानी नालियों में बहाते हैं।

यह पानी तालाब में भी जाता है। इससे संक्रमण जनित बीमारियां फैलती हैं। इस पर डीएम ने गंदगी बहाने वाले ग्रामीणों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के निर्देश दिए थे। 34 लोगों के नाम बिठूर थाने भेजे गए हैं। इनमें अविनाश, अरुण कुमार, कैलाश, सोनू, उमादत्त, रामदत्त, लाली, रामचंदर, रज्जाक, ईशाक, अब्दुल, रामशंकर, अर्जुन, बब्बन, बद्री, कालीशंकर, हरिशंकर, श्रवण, सुरेश, रामनाथ, साहदीन, संजय, दीनबंधु, मंगली प्रसाद, मनोज कुमार, सुनील कुमार, मूलचंद्र, छोटे, ज्वाला प्रसाद, छेदीलाल, राजू, भोला,  संतोष अवस्थी, रामचंद्र शामिल हैं। इनमें से हरिशंकर की बेटी जूली गौतम और लाली की नातिन वैष्णवी की बीमारी से मृत्यु हो चुकी है। 

डीएम के दो आदेश, एक में तत्परता, दूसरे में सन्नाटा 
कुरसौली में निरीक्षण के दौरान डीएम आलोक तिवारी ने गंदगी बहाने वाले ग्रामीणों पर रिपोर्ट के साथ ही गांव में फॉगिंग, सफाई और कीटनाशकों का छिड़काव न करने पर एडीओ पंचायत सुरेश निगम, बीडीओ अनिरुद्ध सिंह चौहान को प्रतिकूल प्रविष्टि देने और ग्राम सचिव शालिनी मिश्रा के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए थे।

इसमें से ग्रामीणों पर एफआईआर दर्ज कराने के मामले में तो तत्परता दिखाई गई, लेकिन झूठ बोल रहे एडीओ, बीडीओ और सचिव के खिलाफ समाचार लिखे जाने तक कोई कार्रवाई नहीं हुई थी। 
... और पढ़ें
खामोश हो गया कुरसौली खामोश हो गया कुरसौली

कानपुर: थानेदार ने डकैती को चोरी में दर्ज किया, अफसरों को करते रहे गुमराह, स्पष्टीकरण तलब

डकैती जैसा संगीन मामला होने के बाद भी गोविंदनगर पुलिस वारदात पर पर्दा डालती नजर आई। थाना प्रभारी अनूप सिंह अफसरों को मामूली चोरी बताकर गुमराह करते रहे। दोपहर में जब अफसरों को सोशल मीडिया से घटना की सही जानकारी मिली तब छानबीन में तेजी लाई गई।

शुक्रवार दोपहर को एडीसीपी डॉ. अनिल कुमार वारदात स्थल पर पहुंचे। उन्होंने भी पीड़िता आशा गुप्ता से पूछताछ की। एसीपी गोविंदनगर विकास पांडेय को जब पता चला कि थाना प्रभारी ने एफआईआर डकैती के बजाय चोरी में दर्ज की है। तो उन्होंने थाना प्रभारी को फटकार लगाई और स्पष्टीकरण तलब किया। एसीपी ने बताया कि पीड़िता के बयानों के आधार पर डकैती की धारा बढ़ाई जाएगी। 

पांच माह पहले ही आईं थीं आशा
आशा की बेटी रानी ने बताया कि मार्च में ही मां अपार्टमेंट में रहने आईं थीं। इससे पहले मां पिता के पैतृक निवासी गोविंद नगर भदौरिया पार्क के पास स्थित मकान में ही रहतीं थीं। पिता के सेवानिवृत्त होने के बाद यह फ्लैट खरीदा गया था। यहां आने के कुछ ही दिन बाद पिता का देहांत हो गया था।

डेढ़ घंटे तक की लूटपाट
अपार्टमेंट के प्रथम तल पर जी- टू में आशा गुप्ता और जी-वन में दीपक राठी का परिवार रहता है। बदमाश डेढ़ घंटे तक लूटपाट करते रहे, लेकिन पड़ोसियों को भनक तक नहीं लगी। करीब सवा तीन बजे आशा बंधन मुक्त हुईं थीं। सुबह करीब चार बजे कई थानों का फोर्स पहुंचा था। 

30 से 35 उम्र के बीच के थे डकैत
आशा गुप्ता ने बताया कि घर में दाखिल हुए डकैत 30 से 35 साल के बीच के थे। जिसमें एक बदमाश काफी मोटा था। आपस में काफी बदतमीजी और तू तड़ाक से बात कर रहे थे। कुछ बदमाशों ने नकाब पहना था कुछ के चेहरे खुले हुए थे। स्केच एक्सपर्ट की मदद से बदमाशों का स्केच बनवाया जा रहा है।
... और पढ़ें

रिकॉर्ड 22वीं बार लिखा खून से खत: पीएम मोदी को दी जन्मदिन की बधाई, ये बुंदेलों का लहू है, इसे स्याही न समझना

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन पर बुंदेलों ने खून से खत लिखा। कहा मोदी जी ये बुंदेलों का लहू है, इसे स्याही न समझना। हम आपके अपने हैं पराया न समझना। आपको जन्मदिन की असीम बधाइयां।

शुक्रवार को आल्हा चौक के अंबेडकर पार्क में बुंदेली समाज के संयोजक तारा पाटकर ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अपने खून से खत लिखकर जन्मदिन की बधाई दी। बारिश की फुहार के बीच उनके एक दर्जन सहयोगियों ने भी पीएम मोदी को जन्मदिन की बधाई देने के लिए अपना खून दिया और खत लिखे।

पृथक बुंदेलखंड राज्य की मांग को लेकर आल्हा चौक में लगातार 635 दिन अनशन कर चुके बुंदेली समाज के संयोजक तारा पाटकर ने अपने सहयोगियों के साथ आज 22वीं बार प्रधानमंत्री को अपने खून से खत लिखा। संगठन के महामंत्री डॉ. अजय बरसैया ने लिखा, मोदी सर, विश्वकर्मा जयंती पर आपको जन्मदिन की असीम बधाइयां। आप पर गोरखेश्वर महादेव की कृपा हरदम बरसे। आप हमेशा स्वस्थ रहें। बुंदेलखंड की जनता आपसे बहुत प्यार करती है, इसीलिए उसने लोकसभा, विधानसभा चुनावों में सारी सीटें आपकी झोली में डाल दी। 

सिजहरी गांव के हरिओम निषाद ने लिखा कि अब आप भी हम बुंदेलों की भावनाओं का सम्मान कीजिए एवं जल्दी से जल्दी बुंदेलखंड राज्य बना दीजिए। रमाकांत नगायच ने अपने खून से लिखे खत में कहा कि मोदीजी बुंदेलखंड को खनन हब बनने से बचाइए। हमारी नदियों, पहाड़ों व जंगलों का विनाश रुकवाइए वरना हम बुंदेले तबाह हो जाएंगे। देश का सबसे अच्छा पर्यटन तीर्थ बुंदेलखंड बर्बाद हो जाएगा। 

प्रहलाद पुरवार ने मोदी जी से बकस्वाहा जंगल बचाने की गुहार लगाई तो खुर्शीद आलम ने 23 लाख पेड़ों की बलि देने वाली केन बेतवा नदी परियोजना के शिलान्यास को रोकने की अपील की। इसी प्रकार पूर्व सभासद प्रेम साहू, ग्यासी लाल कोस्टा, सुरेश बुंदेलखंडी, वीरेन्द्र अवस्थी, अमरचंद विश्वकर्मा, जसवंत सिंह सेंगर, सुरेन्द्र शुक्ला, प्रेम चौरसिया, डॉ. जीतेंद्र शुक्ला, पंकज चौरसिया व हरगोविंद ने भी प्रधानमंत्री को जन्मदिन की बधाई देने के लिए अपने खून से खत लिखा।
... और पढ़ें

इटावा: खून की तस्करी में फंसे प्रोफेसर डॉ. अभय सिंह निलंबित, सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी प्रशासन ने की कार्रवाई

उत्तर प्रदेश के इटावा में खून की तस्करी करने के मामले में फंसे सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर व ब्लड बैंक प्रभारी डॉ. अभय सिंह को शुक्रवार को निलंबित कर दिया गया। साथ ही यूनिवर्सिटी ने ब्लड बैंक के ऑडिट और डॉ. अभय की व्यक्तिगत गतिविधियों की जांच के लिए उच्चस्तरीय कमेटी का गठन भी कर दिया गया है।

यह जानकारी यूनिवर्सिटी के कुलसचिव सुरेश चंद्र शर्मा ने दी। उन्होंने बताया कि एसटीएफ टीम ने डॉ. अभय और अभिषेक पाठक को खून की तस्करी के मामले में लखनऊ में गिरफ्तार किया था। इस संबंध में समाचार पत्रों में प्रकाशित खबरों को संज्ञान लेते हुए आरोपी असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. अभय को तत्काल प्रभाव से अग्रिम आदेशों तक निलंबित कर दिया गया है।

कुलसचिव के मुताबिक डॉ. अभय 18 अगस्त 2016 से यूनिवर्सिटी में कार्यरत हैं। उच्चस्तरीय कमेटी की जांच रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा ब्लड बैंक के सभी अभिलेखों को उच्चस्तरीय कमेटी बनाकर सील कराया गया है। डॉ. अभय के निलंबन के बाद पैथोलॉजी विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. रूपक अग्रवाल को ब्लड बैंक का प्रभारी नियुक्त किया गया है।
... और पढ़ें

यूपी में बारिश का कहर: 72 घंटे लगातार हुई बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त, जर्जर मकान ढहे, फसलें बर्बाद

सैफई मेडिकल कॉलेज
चक्रवाती हवाओं की चाल ने कानपुर परिक्षेत्र समेत पूरे प्रदेश को बारिश से सराबोर कर दिया। बुधवार दोपहर से लेकर शुक्रवार दोपहर तक कभी रिमझिम तो कभी मूसलाधार बारिश होती रही। आसपास के 13 जिलों में बारिश ने फसलों और कच्चे घरों को काफी नुकसान पहुंचाया। बंगाल की खाड़ी में एक और निम्न दबाव के संकेत मिल रहे हैं। यह बारिश रुकने के कुछ दिनों बाद फिर इसी तरह झोंका आ सकता है। सीएसए के मौसम विभाग के प्रभारी डॉ. एसएन सुनील पांडेय ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में जो निम्न दबाव का क्षेत्र बना हुआ था, वह अब खिसक कर मध्य यूपी पर आ गया है। इसके साथ ही बादलों की शृंखला राजस्थान से लेकर यूपी के ऊपर होते हुए बंगाल की खाड़ी तक बनी हुई है। इससे चक्रवात का क्षेत्र बन गया और दक्षिणी-पश्चिमी हवाओं ने गति पकड़ ली। बादल बरसते हुए क्षेत्र में आकर ठहर गए।

 
... और पढ़ें

यूपी: कानपुर में भीषण सड़क हादसा, डंपर की टक्कर से वैन सवार महिला की मौत, सात घायल

कानपुर के बिधनू में गुरुवार देररात तेजीपुरवा रमईपुर के पास प्रसूता को अस्पताल ले जा रही वैन तेज रफ्तार डंपर की टक्कर से पलट गई। जिसमे प्रसूता समेत 7 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। सभी को घायलों को हैलट अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां में इलाज के दौरान एक महिला की मौत हो गई।

खाड़ेपुर नौबस्ता निवासी मिथुन प्रसव पीड़ा होने पर 24 वर्षीय पत्नी मंजू को परिजनों समेत वैन से बिधनू सीएचसी जा रहे थे। तेजीपुरवा गांव के पास पीछे से आ रहे तेज रफ्तार डंपर ने वैन में टक्कर मार दी। बारिश के चलते वैन अनियंत्रित होकर पलट गई।

जिसमें दबकर प्रसूता मंजू पति मिथुन, सास विमल, ससुर बाबूराम और परिजन सुनील,  प्रमोद, शिवम और लक्ष्मी गंभीर रूप से घायल हो गई। घटना के बाद चालक डंपर लेकर मौके से भाग निकला। पुलिस ने घायलों को बिधनू सीएचसी में भर्ती कराया। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद प्रसूता मंजू समेत सभी घायलों को हैलट रेफर कर दिया गया।

हैलट में इलाज के दौरान 58 वर्षीय  लक्ष्मी की मौत हो गयी। बिधनू थाना प्रभारी अतुल कुमार सिंह ने बताया कि घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर कार्यवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

चूड़ी खरीदने के लिए आई थी महिला से दुष्कर्म: आरोपी दुकानदार व कर्मचारी को पुलिस ने भेजा जेल, मेडिकल में हुई रेप की पुष्टि

महिला से गोदाम में सामूहिक दुष्कर्म के आरोपी दुकानदार व कर्मचारी को पुलिस ने जेल भेज दिया है। दो दिन पहले महिला चूड़ी खरीदने के लिए दुकान पर गई थी। मेडिकल में महिला के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हुई है।

राजेपुर थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी महिला 15 सितंबर को मोहल्ला तलैया फजल इमाम निवासी मोहम्मद अरसलान उर्फ सोनू की लालगेट स्थित दुकान पर चूड़ी खरीदने के लिए गई थी। चूड़ी की दुकान पर मोहल्ला बजरिया निवासी कर्मचारी सारिक भी मौजूद था। सारिक चूड़िया पंसद आने पर ऊपर बने गोदाम में लेकर गया। जहां सारिक ने महिला को धमकाया और उसके साथ दुष्कर्म किया। कुछ देर बाद मोहम्मद अरसलान गोदाम में पहुंचा और उसने भी महिला के साथ दुष्कर्म किया। 

महिला ने घर जाकर पति को घटना की जानकारी दी। पुलिस ने महिला की तहरीर पर दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर महिला का मेडिकल कराया। मेडिकल में दुष्कर्म की पुष्टि हुई। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर शुक्रवार को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया। कोतवाल वेद प्रकाश पांडेय ने बताया कि महिला से दुष्कर्म की पुष्टि होने के बाद दोनों आरोपियों को जेल भेजा गया है।

किराएदार की पत्नी ने लगाया दुष्कर्म का आरोप
फतेहगढ़ कोतवाली क्षेत्र के एक मोहल्ला निवासी महिला ने दुकान मालिक पर दुष्कर्म का आरोप लगाया। इसमें बताया कि दुकान पति ने किराए पर ले रखी है। दुकान मालिक किराया लेने के लिए आया और उसने दुष्कर्म कर गाली गलौज किया। पुलिस ने दुष्कर्म के आरोप में दुकानदार को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। दुकान मालिका का कहना है कि वह कई माह से किराए की मांग कर रहा था। इसके चलते ही उस पर आरोप लगाया गया है।
... और पढ़ें

इटावा में बिजली आपूर्ति ठप: टॉर्च की रोशनी में हुआ मरीजों का इलाज, बिजली विभाग के अधिकारियों के फोन बंद

एक्सक्लूसिव: मेट्रो रेल के कोच तैयार, अगले सप्ताह गुजरात से आएंगे, नवंबर में होगा ट्रायल

कानपुर मेट्रो ट्रेन अगले हफ्ते सांवली गुजरात से यहां आ जाएगी। ट्रेन के तीन कोचों को अलग-अलग ट्रेलरों से सड़क मार्ग द्वारा लाया जाएगा। पॉलिटेक्निक में बने डिपो में इनको सुसज्जित कर नवंबर की शुरुआत में मेट्रो का ट्रायल किया जाएगा।

इसके बाद जनवरी से आईआईटी से मोतीझील के बीच मेट्रो दौड़ने लगेगी। उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कारपोरेशन (यूपीएमआरसी) सांवली के कारखाने में मेट्रो ट्रेन के कोच तैयार करा रहा है। एक कोच 23 मीटर लंबा है। इस प्रकार पहली ट्रेन 69 मीटर लंबी होगी। अधिकारियों के अनुसार मेट्रो रेल के तीन अत्याधुनिक कोच तैयार हो गए हैं।

आगे और पीछे वाले कोच में इंजन भी होगा। तीनों कोच अंदर से एक-दूसरे से जुड़े होंगे। कोच में एनाउंसेंट की साथ ही इमरजेंसी बटन भी होगा। आपात काल में इस बटन को दबाकर ट्रेन चालक को समस्या बता सकते हैं। चालक कंट्रोल रूम को सूचना देगा, ताकि अगले स्टेशन पर उचित व्यवस्था की जा सके। 

दिल्ली, लखनऊ से ज्यादा आधुनिक है कानपुर मेट्रो रेल
यूपीएमआरसी के प्रबंध निदेशक कुमार केशव के अनुसार कानपुर मेट्रो रेल दिल्ली और लखनऊ मेट्रो से ज्यादा आधुनिक होगी। यहां की मेट्रो ट्रेन में सुविधाएं ज्यादा होंगी।
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us