बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
साप्ताहिक राशिफल 16 से 22 मई : धनु राशि समेत इन तीन राशियों के लिए बहुत ख़ास होगा ये सप्ताह, जानें भाग्यफल
Myjyotish

साप्ताहिक राशिफल 16 से 22 मई : धनु राशि समेत इन तीन राशियों के लिए बहुत ख़ास होगा ये सप्ताह, जानें भाग्यफल

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

अमेरिकी विशेषज्ञ डॉ. प्रकाश शर्मा, डॉ. अमनदीप एस डोल्ला से पूछें सवाल, जानें कोरोना से कैसे करें बचाव

कानपुर अमर उजाला फाउंडेशन और बीएनआई (बिजेनस नेटवर्क इंटरनेशनल) की ओर से 16 मई को वेबिनार का आयोजन किया जा रहा है। रविवार सुबह 9:30 बजे से 11 बजे तक इस वेबिनार में अमेरिका के डॉ. प्रकाश शर्मा और डॉ. अमनदीप एस डोल्ला कोरोना के खतरों से बचाव के संबंध में जानकारी देेंगे।

अगर कोई शख्स रोग को लेकर किसी मामले में भ्रमित है, तो विशेषज्ञों से भ्रम दूर कर सकता है। इसके अलावा वे कोरोना के शुरुआती इलाज के संबंध में जानकारी देंगे। साथ ही यह भी बताएंगे कि पोस्ट कोविड स्थिति में क्या एहतियात बरतें। जूम लिंक https://bnionline.zoom.us/j/98598473184 के जरिये कोई भी वेबिनार से जुड़कर सवाल पूछ सकता है।

डॉ. प्रकाश शर्मा अमेरिका में कोरोना समेत अन्य बीमारियों के मरीजों का प्रबंधन देखते हैं। डॉ. अमन दीप फिलेडेल्फिया में न्यूरो क्रिटिकल केयर डिवीजन में क्लीनिकल असिस्टेंट प्रोफेसर हैं। वह कोविड और पोस्ट कोविड स्थिति में न्यूरो से जुड़ी दिक्कतों का हल बताएंगे।

इस तरह के पूछें सवाल 
- कोविड संक्रमित डायबिटीज के रोगियों को ब्लैक फंगस का खतरा पैदा हो गया है। इससे बचाव के लिए क्या किया जा सकता है?
- कोरोना से ठीक होने के बाद कमजोरी और न्यूरो की दिक्कतें पैदा हो रही हैं, उसके लिए क्या करें।
- कोविड काल में दी गईं दवाओं के साइड इफेक्ट्स पोस्ट में कोविड में दिखने लगते हैं, उसके लिए क्या करें।
- कोरोना के इलाज के दौरान स्टेराइड के सेवन से दीर्घ काल में कोमॉर्बिड रोगियों को और क्या दिक्कतें पैदा हो सकती हैं।
... और पढ़ें

कन्नौज: युवक ने खुद पर डाला पेट्रोल, चौकी इंचार्ज पर भी फेंका फिर बोला...अब न तुम रहियो न हम

कन्नौज के तिर्वा कोतवाली इलाके की पचोर चौकी में शनिवार सुबह युवक ने खुद पर पेट्रोल डाल लिया। बचा हुआ चौकी इंचार्ज पर फेंक दिया। माचिस जलाने से पहले पुलिसकर्मियों ने उसे दबोच लिया। चौकी इंचार्ज की तहरीर पर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। मामला जमीन के विवाद से जुड़ा हुआ है।

सतौरा गांव के रामजी गुप्ता और ब्राह्मणपुरवा के ब्रह्मानंद तिवारी के बीच जमीन का विवाद चल रहा है। यह मामला न्यायालय में विचाराधीन है। न्यायालय ने दोनों पक्षों को विवादित भूमि पर निर्माण न करने के निर्देश दिए हैं। पुलिस ने बताया कि रामजी विवादित भूमि पर दीवार बना रहे थे।

विपक्षी ब्रह्मानंद ने न्यायालय के रोक के आदेश को दिखाकर पुलिस से शिकायत की। शुक्रवार को शिकायत की जांच करने पहुंची पुलिस ने शनिवार सुबह दोनों पक्षों को बातचीत के लिए बुलाया था। शनिवार सुबह सतौरा गांव के रामजी गुप्ता पिपिया में पेट्रोल लेकर पुलिस चौकी में दाखिल हुए।
 
... और पढ़ें

चित्रकूट जेल गैंगवार: मुकीम के आतंक से थर्राया था कैराना, हिंदू कर गए थे पलायन, ये रही तीनों दुर्दांत की आपराधिक कुंडली

गैंगस्टर मुकीम काला पश्चिमी उत्तर प्रदेश का खूंखार अपराधी था। आम जनता से लेकर कारोबारियों यहां तक कि पुलिस में भी उसका भय था। उसके आतंक की वजह से ही कैराना में हिंदुओं का पलायन हुआ था। जो यूपी विधानसभा 2017 के चुनाव में बड़ा मुद्दा बना था। सरकार बदलने के बाद काला का गैंग के खात्मे की शुरुआत हुई। अब उसका गैंग लीडर मारा गया। हत्या, लूट, रंगदारी, हत्या के प्रयास, फिरौती समेत काला पर 60 से अधिक आपराधिक केस दर्ज थे।

घर-घर लगवाए थे पोस्टर, रंगदारी दे जिंदगी बख्शता था
मुकीम काला शामली के कैराना का रहने वाला था। वह मुख्य रूप से लूट, डकैती और रंगदारी की वारदातों को अंजाम देता था। उसी दौरान वो हत्याएं करता था। उसने शामली व आसपास के जिलों में गांव गांव और शहरों में पोस्टर लगवाए थे। जिसमें उसने सीधे धमकी दी थी कि व्यापारियों को अगर जिंदा रहना है तो उसको रंगदारी देनी होगी। इससे लोग बेहद परेशान थे। एक विशेष धर्म के लोगों को अधिक प्रताड़ित करता था। इसी वजह से 2015-16 में कैराना से हिंदू पलायन करने लगे थे। यूपी विधानसभा चुनाव में ये बड़ा मुद्दा भाजपा ने बनाया था। जिसका लाभ भी मिला। कुल मिलाकर मुकीम कैराना से हिंदुओं के पलायन के पीछे का मुख्य खलनायक था।

तीन पुलिसकर्मियों की कर दी थी हत्या
मुकीम खाकी पर वार करता था। 5 जुलाई 2011 को शामली में सिपाही सचिन की हत्या की। 14 अक्तूबर 2011 सहारनपुर में सिपाही बलबीर को मौत के घाट उतारा था। पांच जून 2013 को सिपाही राहुल ढाका की कारबाइन लूटकर उसी को मार दिया था। कई बार लूट के बाद पुलिसकर्मियों पर गोलियां दाग चुका था। वो एके-47 भी रखता था। कई वारदातों को उसने इससे अंजाम दिया था।

ट्रैक्टर लूट से जरायम की दुनिया में रखा कदम
मुकीम का पिता मुस्तफा असलहा सप्लायर था। उसका भाई गैंगस्टर वसीम काला को एसटीएफ ने 28 सितंबर 2018 को एनकाउंटर में मार गिराया था। मुकीम राजमिस्त्री का काम करता था। 2010 में मुकीम ने हरियाणा में एक ट्रैक्टर लूटा था। इसके बाद से वो एक के बाद एक आपराधिक वारदातों को अंजाम देना शुरू किया जो सिलसिला लगातार जारी रहा। 2015 में सहारनपुर में तनिष्क के शोरूम में दस करोड़ की डकैती डाली थी। सबसे पहले मुकीम कग्गा के गैंग में शामिल हुआ था। 2011 में जब कग्गा का एनकाउंटर हुआ तब वो गैंग का सरगना बन गया।
... और पढ़ें

कानपुर: रिश्वत लेने के आरोप में टीएसआई और सिपाही लाइन हाजिर, वीडियो हुआ था वायरल

कानपुर में ट्रैफिक पुलिसकर्मी भी आपदा में अवसर तलाशने से नहीं चूक रहे हैं। रविवार को पनकी के भौंती बाईपास पर चेकिंग के दौरान ट्रैफिक सिपाही का रिश्वत लेते वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। एडीसीपी ट्रैफिक निखिल पाठक ने वीडियो का संज्ञान लेते हुए चेकिंग प्वाइंट पर तैनात टीएसआई व सिपाही को लाइन हाजिर कर दिया।

इनके खिलाफ विभागीय जांच भी शुरू की है। वीडियो में सिपाही चेकिंग प्वाइंट पर युवक से रिश्वत लेते दिख रहा है। मामले का संज्ञान लेते हुए एडीसीपी ट्रैफिक निखिल पाठक ने चेकिंग प्वाइंट पर तैनात टीएसआई चंद्रपाल व आरोपी सिपाही सुधीर कुमार को लाइन हाजिर कर दिया। दोनों के खिलाफ विभागीय जांच शुरू की गई है।
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

नुकसान: कोरोना ने कानपुर के कारोबार को दिया 10 हजार करोड़ का झटका, कैट ने जारी की रिपोर्ट

कोरोना ने कानपुर की अर्थव्यवस्था को तगड़ा झटका दिया है। पहले व्यापारियों के सेल्फ लॉकडाउन और फिर सरकार के कोरोना कर्फ्यू के चलते आर्थिक गतिविधियां मंद पड़ गई हैं। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) की ओर से जारी रिपोर्ट के मुताबिक अब तक शहर को 10 हजार करोड़ का नुकसान हो चुका है।

केंद्रीय वित्तमंत्री और राज्य सरकार से वित्तीय पैकेज देने की मांग की गई है। कैट के राष्ट्रीय सचिव पंकज अरोड़ा ने बताया कि देश व्यापी रिपोर्ट तैयार की गई है। इसमें पिछले 45 दिनों की अवधि में सभी कारणों को ध्यान में रखते हुए आंतरिक व्यापार के राज्यवार नुकसान का अनुमान लगाया।

जो लगभग 12 लाख करोड़ रुपये का है। उनका कहना है कि देश के अलग-अलग राज्यों में लंबे समय से लॉकडाउन चल रहा है। एक अनुमान के अनुसार उत्तर प्रदेश को करीब 65 हजार करोड़, महाराष्ट्र को करीब 1.10 लाख करोड़, दिल्ली को करीब 30 हजार करोड़, गुजरात को 60 हजार करोड़, मध्यप्रदेश को 30 हजार करोड़, राजस्थान को 25 हजार करोड़, छत्तीसगढ़ को 23 हजार करोड़, कर्नाटक को  50 हजार करोड़ का नुकसान हुआ है। उन्होंने बताया कि शहर में लाटूश रोड बाजार में 19 अप्रैल से सेल्फ लॉकडाउन हुआ था। इसके बाद किराना समेत अन्य बाजार बंद हो गए थे। शहर में कोरोना कर्फ्यू लगे सोमवार को 17 दिन हो जाएंगे।
... और पढ़ें

भाभी की मौत के बाद हैवान बनी ननद: दो मासूमों को मारने के लिए तालाब में फेंका, दिल दहला देगी ये कहानी

फतेहपुर में चौडगरा के बड़ौरी गांव में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक महिला की मौत के बाद उसकी ननद ने हैवानियत की सारी हदें पार कर दी। भाभी की मौत के बाद ननद ने उसके दो मासूम बच्चों को तालाब में फेंक दिया। इसकी जानकारी गांव के एक व्यक्ति ने पुलिस को दी तो तुरंत मौके पर पहुंची पीआरवी टीम ने तालाब से बच्चों को किसी तरह सुरक्षित बाहर निकाला और थाने ले गई। मृतका के पिता की तहरीर पर पांच के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। पति और सास को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। कल्यानपुर थानाक्षेत्र के बड़ौरी गांव निवासी अवधेश तिवारी की शादी बिंदकी के पैगंबरपुर गांव निवासी लाले मिश्रा की बेटी सोमिल (32) के साथ 2015 में हुई थी। शुक्रवार दोपहर सोमिल की घर में तबियत बिगड़ गई। परिजन उसे कानपुर ले गए।

 
... और पढ़ें

शर्मनाक: बांदा में चार साल की मासूम से रिश्ते के चाचा ने किया दुष्कर्म, नाजुक हालत में अस्पताल में भर्ती

बांदा के खप्टिहा कलां में क 25 साल के युवक ने 4 वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म किया। दरिंदा नाजुक हालत में बालिका को खेत में ही छोड़कर भाग गया। गंभीर हालत में वो रातभर खेत में ही तड़पती रही। सुबह जब परिजनों ने उसे ढूंढा तो वह लहूलुहान हालत में खेत में मिली।

आनन-फानन में उसे नजदीकी ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया। परिजनों ने बताया की गांव में एक शादी का कार्यक्रम था। जिसमे पूरा परिवार गया था। हमारी बच्ची भी हमारे साथ में थी। देर रात बच्ची को सुला कर हम शादी के कार्यक्रमों में व्यस्त हो गए। जब सुबह बच्ची के कमरे में गए तो बच्ची गायब थी। उसे ढूंढा गया तो वह घर के पीछे खेत में लहूलुहान हालत में मिली। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले की छानबीन की।

बांदा के अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र प्रताप सिंह चौहान ने रविवार को बताया कि जसपुरा थाना के एक गांव में चार साल की बच्ची शनिवार की रात घर के बाहर सो रही थी। तभी पड़ोसी युवक उमेश उसे उठाकर घर के पीछे खेत पर ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया।

... और पढ़ें

किसान में ब्लैक फंगस जैसे लक्षण, तेज सिर दर्द, आंखों में दिक्कत, डॉक्टर बोले जांचों के बाद ही होगी पुष्टि

सांकेतिक तस्वीर
उन्नाव के बीघापुर के एक किसान में ब्लैक फंगस जैसे लक्षण पाए गए हैं। शहर के एक नर्सिंगहोम में उसका चल रहा है। डॉक्टर के मुताबिक कुछ जांचे होनी हैं। रिपोर्ट आने के बाद ही इसकी पूरी तरह पुष्टि हो पाएगी। बीघापुर तहसील के गांव रुझिहई निवासी पप्पू (55) को करीब पचीस दिन पहले बुखार आया था।

जांच में मलेरिया की पुष्टि हुई थी। उसका इलाज सिकंदरपुर कर्ण ब्लॉक के गांव भैंसई के एक डॉक्टर से कराया गया था। पीड़ित के छोटे भाई अनीस के मुताबिक इलाज से वह ठीक भी हो गया और खेती का काम भी देखने लगा था। दो दिन पहले वह बजार में तरबूज बेच रहा था।

अचानक सिर में तेज दर्द हुआ और आंखों में सूजन आ गई। वह आवास विकास कालोनी स्थिति एक नर्सिंगहोम में दिखाया। डॉक्टरों ने शुरआती जांच में ब्लैक फंगस बीमारी के लक्षण बताए। हालांकि पूरी तरह पुष्टि के लिए कुछ और जांचें कराने के लिए कहा है। इसके बाद ही सही पुष्टि हो पाएगी। 

नर्सिंगहोम संचालक डॉ. एसके वर्मा ने बताया कि ब्लैक फंगस है इसकी अभी पूरी तरह पुष्टि नहीं की जा सकती। तीमारदारों से मरीज को मेडिकल कॉलेज लखनऊ ले जाने के लिए कहा जा रहा है। ताकि उसका सीटी टीएनएस, एमआरआई, ब्रेन की जांच सहित दो तीन और जांचों की आवश्यकता है। जांचों की रिपोर्ट आने के बाद ही पुष्टि की जा सकेगी।
... और पढ़ें

शार्प शूटर मोनू पहाड़ी हत्याकांड में आरोप पत्र दाखिल, इटावा जेल में हुई गैंगवार में डिप्टी जेलर भी हुए थे घायल

इटावा जिला जेल में कानपुर के शार्प शूटर और डी-टू गैंग के सदस्य राशिद उर्फ मोनू पहाड़ी की हत्या के मामले में पुलिस ने आठ आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में आरोपपत्र दाखिल कर दिया है। एफआईआर से मोनू का नाम हटा दिया गया है। आरोपियों में तीन इटावा और एक औरैया का रहने वाला है। कानपुर नगर जिले के अनवरगंज थाना क्षेत्र के दलेलपुरवा निवासी मोनू पहाड़ी कुख्यात रईस बनारसी का साथी था।

रईस पर कानपुर और वाराणसी पुलिस ने 50-50 हजार का इनाम घोषित कर रखा था। वाराणसी में हुए गैंगवार में रईस की मौत के बाद गैंग की कमान मोनू ने संभाल ली। हत्या के एक मामले में कानपुर पुलिस ने मोनू पर 50 हजार का इनाम घोषित कर रखा था। 20 अगस्त 2014 को एसटीएफ ने कानपुर में .32 बोर की पिस्टल के साथ मोनू पहाड़ी को गिरफ्तार किया था।

 
... और पढ़ें

लालची दूल्हा: दहेज की मांग पूरी नहीं लाया बरात तो युवती के परिजनों ने युवक को रोडवेज बस स्टैंड पर धुना

चित्रकूट गोलीकांड: जेल में जहां हुआ खूनी खेल, वहां सभी कैमरे खराब, जांच टीम की रिपोर्ट में हुआ खुलासा

चित्रकूट जिला जेल रगौली में शुक्रवार को खूनी खेल के बाद हुई जांच में सामने आए तथ्य लापरवाही के साथ साजिश की ओर भी इशारा कर रहे हैं। शासन प्रशासन जिस जेल को हाई सिक्योरिटी जेल बताता है, वहां दो माह से लगभग सभी सीसीटीवी कैमरे काम नहीं कर रहे थे। जहां पर खूनी खेल हुआ वहां के कैमरे नहीं चल रहे थे। हाई सिक्योरिटी बैरक से अफसर और सुरक्षाकर्मी नदारद थे। घटना की जांच के लिए सीएम द्वारा गठित तीन सदस्यीय जांच टीम की रिपोर्ट में इन तथ्यों का जिक्र है।जांच टीम में मंडल के कमिश्नर दिनेश कुमार सिंह, आईजी के. सत्यनारायण और डीआईजी जेल संजीव त्रिपाठी शामिल हैं। टीम ने दो बार जेल का दौरा कर 25 लोगों से पूछताछ के बाद शुक्रवार की देर रात रिपोर्ट शासन को भेज दी है। जेल में कुल 30 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। इनमें केवल 8 कैमरे ही चल रहे थे, बाकी के 22 खराब पड़े हैं। ... और पढ़ें

वरमाला से पहले स्टेज पर दूल्हे को पड़े दौरे तो दुल्हन ने शादी से किया इनकार, आनन-फानन में दूसरी जगह तय हुई शादी

जालौन के आटा में शादी के वक्त स्टेज पर मौजूद दूल्हा अचानक बेहोश हो गया। काफी देर तक होश न आने पर जब उसके दौरे पड़ने की बीमारी का खुलासा हुआ तो जनातियों में हड़कंप मच गया। दूल्हे को बेहोश देखकर दुल्हन का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया।

दूल्हा कुछ देर बाद जब होश में आया तो दुल्हन ने जयमाला डालने से भी इनकार कर दिया। ऐसे में बरात बिना दुल्हन के लौट गई। बाद में आनन-फानन दूसरे लड़के से दुल्हन की शादी तय कर दी गई। बता दें शुक्रवार को कालपी के महेवा ब्लाक के एक गांव में झांसी के मोठ से बरात आई थी।

अगवानी के बाद दूल्हे को स्टेज पर बैठा दिया गया। अभी जयमाला की तैयारी चल ही रही थी कि अचानक दूल्हा वहीं पर बेहोश हो गया। यह देख दुल्हन पक्ष के लोग सकते में आ गए। तीन घंटे बाद जब दूल्हे को होश आया, तब तक उसकी बीमारी सभी को पता चल चुकी थी। इस पर दुल्हन ने भी शादी से इनकार कर दिया।

परेशान लड़की के पिता की मदद को कुछ लोग आगे आए और पड़ोस के गांव के लड़के से दुल्हन का रिश्ता पक्का कर दिया। जिसकी बरात शानिवार को जानी थी। दूसरे दूल्हे के घर वाले शनिवार की सुबह से ही कोरोना कर्फ्यू के बीच जैसे-तैसे खरीदारी कर बरात ले जाने की तैयारी में जुटे थे।
... और पढ़ें

स्वास्थ्य मंत्री के वादे के बाद भी उर्सला को नहीं मिली सीटी स्कैन मशीन, कोविड रोगियों के लिए सबसे जरूरी है जांच

ऐसे वक्त में जब कोरोना रोगियों की जान बचाने के लिए फेफड़ों का सीटी स्कैन बहुत जरूरी है और कोविड की तीसरी लहर का खतरा मंडरा रहा है, कानपुर के मंडलीय चिकित्सालय उर्सला में सीटी स्कैन मशीन नहीं है। पुरानी मशीन कंडम हो गई है। स्वास्थ्य मंत्री के वादे के बाद भी नई मशीन का प्रस्ताव फाइलों में धूल खा रहा है।

सीटी जांच की सुविधा न होने से रोगी निजी डायग्नोस्टिक्स सेंटरों में लुट रहे हैं। कोरोना की पहली लहर में सूबे के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह करीब सवा साल पहले यहां आए थे। उर्सला के प्रशासनिक भवन के सामने उनसे बताया गया था कि अस्पताल की पुरानी मशीन कंडम हो गई है।

इस पर उन्होंने नई सीटी स्कैन मशीन के लिए अस्पताल प्रबंधन से प्रस्ताव भेजने को कहा था। किस योजना के तहत मशीन लेनी है, यह भी लखनऊ से साथ आए अफसरों को बता दिया। उसके बाद उर्सला प्रबंधन ने प्रस्ताव भेज दिया। प्रस्ताव के बाद सवा साल में तीन रिमाइंडर भी भेजे जा चुके हैं, लेकिन कुछ नहीं हुआ।

प्रबंधन ने मंडलायुक्त और डीएम को भी अवगत कराया। अधिकारियों ने कोशिश की लेकिन फाइल में दबा सीटी स्कैन का प्रस्ताव बाहर नहीं निकल पाया। कांशीराम अस्पताल में सीटी स्कैन की व्यवस्था तो है लेकिन कोरोना पॉजिटिव होने पर ही जांच होती है। इस वक्त सबसे ज्यादा जरूरत उन लोगों को है जो निगेटिव होने के बाद गंभीर हो रहे हैं। 

नॉन कोविड को भी होती सीटी जांच की जरूरत
उर्सला नॉनकोविड अस्पताल है। इसके अलावा पोस्ट कोविड रोगियों का भी इलाज चल रहा है। ज्यादातर रोगियों को सांस की दिक्कत होती है। सीटी स्कैन की जरूरत पड़ती है। इसके अलावा लिवर, न्यूरो और दूसरे मर्ज के रोगियों को सीटी इसकी जरूरत होती है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us