बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
22 जून को शुक्र का कर्क राशि में परिवर्तन, जानें सभी राशियों पर प्रभाव
Myjyotish

22 जून को शुक्र का कर्क राशि में परिवर्तन, जानें सभी राशियों पर प्रभाव

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

अजब प्रेम की गजब कहानी: लड़की को लड़की से हुआ प्यार, घर छोड़कर भाग गईं युवतियां, अब इस जिद पर अड़ीं

यूपी में औरैया जिले के सहायल थाना क्षेत्र के एक गांव में दो युवतियों की गहरी दोस्ती प्यार में बदल गयी। 14 जून की रात दोनों युवतियां साथ जीने मरने की कसम खाते हुए घर से निकलकर दिल्ली जा पहुंची। परिजनों ने युवतियों की गुमशुदगी दर्ज कराई थी।

पुलिस ने दोनों को दिल्ली से बरामद कर घर से भागने का कारण पूछा तो उनका जवाब सुनकर सभी सन्न रह गए। दोनों शादी करने की जिद पर अड़ी हैं। बताते चलें कि 14 जून की रात 12 बजे के करीब दोनों युवतियां घर से चली गईं थीं। दोनों के परिजनों ने सहायल थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

इस पर पुलिस ने खोजते हुए दिल्ली के ओखला बिहार इलाके से दोनों को पकड़ लिया और थाने ले आई। जिसके बाद पुलिस ने दोनों के परिजनों को थाने बुलाया लेकिन दोनों युवतियां एक दूसरे के साथ शादी कर एक साथ रहने की जिद पर अड़ी हुई हैं। युवतियों को परिजनों ने काफी समझाया लेकिन दोनों राजी नहीं हुईं। 

... और पढ़ें

झूठ बोलकर करा दी किन्नर से शादी : पहली रात खुली पोल, पति बोला- मेरे साथ हुआ धोखा

यूपी कानपुर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां पनकी के रहने वाले दंपती ने झूठ बोलकर अपनी किन्नर संतान की शास्त्री नगर निवासी एक युवक से शादी करा दी। शादी की पहली रात में इस झूठ की पोल खुल गई।

आखिरकार बहू अपने मायके चली गई। वहीं धोखाधड़ी के शिकार युवक ने काकादेव थाने में अपनी किन्नर पत्नी, सास-ससुर और बिचौलिए समेत 8 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। शास्त्री नगर निवासी पीयूष ने बताया कि उसकी शादी 28 अप्रैल 2021 को पनकी में एक युवती से हुई थी।

युवती जन्म से किन्नर थी और यह बात युवती के परिजनों को पता थी। इसके बाद भी विजय नगर निवासी सत्यदेव चौधरी ने शादी के लिए मध्यस्थता की और दोनों की शादी करा दी। शादी के बाद सच्चाई सामने आई तो पूरा परिवार दंग रह गया।

युवती ने खुद बताया कि वह शादी नहीं करना चाहती थी, लेकिन परिजनों ने जबरन उसकी शादी यह बात छिपाकर करवा दी। मामला खुलने पर युवती अपने घर चली गई। ठगी का शिकार हुए युवक ने आठ लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी समेत अन्य गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज कराई है।
... और पढ़ें

कानपुर: क्रांतिकारियों की नगरी बनी तांत्रिकों का गढ़, गंगा दशहरा पर बिठूर में दिखे ये अजब नजारे

क्रांतिकारियों की धरती कही जाने वाली बिठूर में गंगा दशहरा के दिन का नजारा कुछ अलग ही दिखा। लोग गंगा दशहरा को स्नान कर मां गंगा से परिवार की सुख शांति मांगते हैं। वहीं कानपुर में गंगा दशहरा के अवसर पर बिठूर के अलावा ब्रह्मावर्त घाट, पत्थर घाट, सीता घाट पर तांत्रिकों का जमावड़ा लगता है। 

चारों तरफ लोग तांत्रिकों से पूजा-पाठ करवा कर अपने परिवार पर भूत-प्रेत और मुसीबतों से छुटकारा पाने के लिए आते हैं। गंगा दशहरा के अवसर पर बिठूर का हर घाट इन तांत्रिकों से भरा पड़ा था। कोई अपने बेटे के ऊपर से झाड़-फूंक करवा रहा था तो कोई अपनी मां के ऊपर से भूत उतरवाने के लिए झाड़-फूंक करवा रहा था।

गंगा दशहरा के अवसर पर सबसे बड़ा अंधविश्वास का मेला बिठूर में ही देखने को मिलता है। इस दिन कानपुर शहर के लोग बिठूर में गंगा स्नान और पूजा-पाठ करने कम ही आते हैं लेकिन आसपास के जिलों उन्नाव, जालौन, उरई, बांदा, फतेहपुर, कानपुर देहात, हमीरपुर आदि के हजारों लोग यहां आते हैं। 

गंगा स्नान के साथ ही लोग अपने परिवार की बाधा-बला दूर कराने के लिए यहां तांत्रिकों से पूजा पाठ करवाते हैं। तांत्रिकों की पूजा-पाठ में क्रूरता की सारी हदें पार कर दी जाती हैं। कोई तांत्रिक किसी को डंडे से पीटता है तो कोई महिलाओं के बालों को नोचता है। सुबह से लेकर शाम तक गंगा के घाटों पर यह सब कुछ प्रशासन और पुलिस की मौजूदगी में चलता रहता है, लेकिन मामला आस्था से जुड़ा होने के कारण कोई हस्तक्षेप नहीं करता।
... और पढ़ें

धर्म परिवर्तन का मामला: पुलिस को था आदित्य के धर्मांतरण का पता, परिजनों ने बताई चौंकाने वाली बात

कानपुर में काकादेव निवासी मूक-बधिर छात्र आदित्य गुप्ता के धर्म परिवर्तन करने की एक-एक बात परिजनों ने कल्याणपुर पुलिस को बताई थी। कार्रवाई के बजाय पुलिस अपहरण का केस दर्ज कर हाथ पर हाथ धरकर बैठ गई। आदित्य की मां लक्ष्मी के मुताबिक उनका बेटा 10 मार्च को घर से लापता हुआ था।

तब उन्हें बेटे के धर्मांतरण की जानकारी थी। 12 अप्रैल को उन्होंने कल्याणपुर थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई। परिजनों ने बताया कि उन्होंने पुलिस को आदित्य के धर्म परिवर्तन के बारे में जानकारी दी थी। यह भी बताया कि वह केरल निवासी साबिर और शाहद के संपर्क में हैं। उनका मोबाइल नंबर भी दिया।

पुलिस ने सीडीआर तो निकलवाई पर कार्रवाई नहीं की। तब कल्याणपुर में इंस्पेक्टर जनार्दन प्रताप सिंह थे। उनके निलंबन के बाद आए वीर सिंह ने भी कोई कार्रवाई नहीं की। पुलिस उसी समय सक्रिय हो जाती तो धर्मांतरण के खेल का खुलासा पहले ही हो जाता। 

पुलिस से शिकायत पर जताई नाराजगी
घर लौटने पर आदित्य को पता चला कि परिजनों ने पुलिस को जानकारी देकर रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसे लेकर उसने घरवालों पर नाराजगी जताई। पूछा कि ऐसा क्यों किया, शिकायत वापस ले लो। यह भी कहा कि अब पुलिस से कोई बात नहीं की जाएगी। 
... और पढ़ें
आदित्य गुप्ता आदित्य गुप्ता

यूपी: प्रतिबंधित व नकली दवाओं की सप्लाई करने वाले गैंग का पर्दाफाश, दो गिरफ्तार, भारी मात्रा में ये दवाइयां बरामद

क्राइम ब्रांच व गोविंदनगर पुलिस ने कानपुर में प्रतिबंधित नशीली व नकली दवाओं को सप्लाई करने वाले दो शातिरों को दबोचकर गैंग का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने उनके पास से भारी मात्रा में नाइट्रावेट-10 व जिफी-200 टैबलेट बरामद की हैं।

आरोपियों की पहचान चकेरी के जगईपुरवा निवासी पिंटू गुप्ता उर्फ गुड्डू व बेकनगंज निवासी मो. आसिफ खां उर्फ मुन्ना के रूप में हुई है। कानपुर पुलिस की सूचना पर लखनऊ पुलिस ने अमीनाबाद के कसाईबाड़ा में छापेमारी कर वहां से भी नकली दवाएं और इंजेक्शन बरामद किए हैं।

एडीसीपी क्राइम दीपक भूकर ने बताया कि क्राइम ब्रांच को नशीली दवाओं के खेप आने की सूचना मिली थी। टीम ने गोविंदनगर पुलिस के साथ दबौली टेंपो स्टैंड के पास से दो आरोपियों को दबोच लिया। उनके पास से शेड्यूल-एच के अंतर्गत आने वाली नाइट्रावेट-10 के पांच गत्ते (17770 टैबलेट) व जिफी 200 के 320 डिब्बे (48000 टैबलेट) बरामद किए। पूछताछ में आरोपियों ने लखनऊ के कसाईबाड़ा स्थित गोदाम से दवा लाने की बात कबूली। हालांकि यहां पुलिस के पहुंचने से पहले सरगना फरार हो गया था।
... और पढ़ें

धर्म बदलने का मामला: यू-ट्यूब पर वीडियो अपलोड कर गिरोह के निशाने पर आया आदित्य, बड़ा खुलासा

कानपुर में काकादेव निवासी मूक-बधिर छात्र आदित्य अपने सांकेतिक भाषा के वीडियो यू-ट्यूब पर अपलोड कर धर्मांतरण गिरोह के निशाने पर आ गया। गिरोह ने कमेंट में उसकी खूब तारीफ की और मोबाइल नंबर ले लिया। इसके बाद उसे सांकेतिक भाषा वाले वीडियो और भड़काऊ साहित्य उपलब्ध कराने लगे।

मतलब मूक-बधिर जो सांकेतिक भाषा समझते हैं, उसका एक्सपर्ट भी गिरोह में है। इन्हीं लोगों ने उसका माइंड वॉश किया। पैसे, शादी और नौकरी का लालच देकर उसे आदित्य से अब्दुल कादिर बना दिया। तकरीबन एक साल पहले आदित्य ने सांकेतिक भाषा में बनाए गए कुछ वीडियो यू-ट्यूब पर अपलोड किए थे।

आदित्य की मां लक्ष्मी ने बताया कि वीडियो पर कुछ लोगों ने कमेंट कर उसकी तारीफ की। इसमें वे लोग भी शामिल थे, जिन्होंने आदित्य का धर्म परिवर्तन कराया। कमेंट के जरिये इन लोगों ने आदित्य का नंबर लिया और वीडियो कॉल पर बातचीत करने लगे। यहीं से आदित्य के माइंड वॉश करने का खेल शुरू हुआ।

रात-रात भर करता था वीडियो कॉल पर बात
परिजनों ने बताया कि आदित्य रात-रात भर चोरी-छिपे फोन पर बात करता था। जब कुछ पूछा जाता था तो नजरअंदाज कर देता था। इसके बाद वह मोबाइल को अपने तकिये के नीचे रखकर सोने लगा। कभी रात के दो बजे तो कभी चार बजे उसको फोन आता था। परिजनों के मुताबिक कॉल आने पर वो एकांत जगह चला जाता था। 
... और पढ़ें

धर्म परिवर्तन: गिरोह ने मूक बधिर को बनाया शिकार, आदित्य से बना अब्दुल, चौंका देगा ये खुलासा

नोएडा से एटीएस (एंटी टेरेरिस्ट स्क्वॉयड) के हत्थे चढे़ धर्म परिवर्तन कराने वाले गिरोह ने काकादेव निवासी मूक बधिर छात्र आदित्य गुप्ता को भी अपना शिकार बनाया। ब्रेन वॉश कर और पैसों का लालच देकर धर्म परिवर्तन कराया और उसका नाम बदलकर अब्दुल रखवा दिया। आदित्य उनकी बातों में आकर इस कदर प्रभावित हुआ कि वह चोरी छिपे घर में नमाज पढ़ने लगा और मस्जिद जाने लगा।

उसके बैंक खाते में विदेश से हर महीने सात हजार रुपये आते थे। घर में मिले धर्म परिवर्तन संबंधी कागजात देखकर परिजनों को इसकी जानकारी हुई तो इसके कुछ दिन बाद ही वह लापता हो गया। सोमवार को एटीएस के खुलासे से पहले रविवार को वह अचानक रहस्यमयी तरीके से घर लौट आया। कल्याणपुर थाना क्षेत्र के काकादेव पी ब्लॉक निवासी राकेश कुमार गुप्ता पेशे से वकील हैं।

राकेश के मुताबिक उनका लड़का आदित्य मूक बधिर है। वह स्नातक की पढ़ाई कर रहा है। पढ़ाई के संबंध में दिल्ली व नोएडा जाया करता था। परिजनों के मुताबिक करीब एक साल से आदित्य के हावभाव, व्यवहार के साथ खानपान और रहनसहन के तरीकों में बदलाव आया। पहले नजरअंदाज किया लेकिन बाद में ये व्यवहार खटकने लगा।

उससे पूछने का प्रयास किया लेकिन कुछ नहीं बताया। इस बीच कई बार उसको नमाज पढ़ते देखा। मस्जिद में भी जाने लगा। तब यकीन हो गया कि कुछ न कुछ गड़बड़ है। जब उसके कागजात आदि खंगाले तो धर्मांतरण संबंधी दस्तावेज मिले। इसके कुछ ही दिन बाद 10 मार्च को वह लापता हो गया। इसकी एफआईआर कल्याणपुर थाने में दर्ज कराई गई। 

 
... और पढ़ें

फर्रूखाबाद: जयमाला की तैयारियों के बीच दूल्हे के बहनोई को पड़ा थप्पड़, रात को लौटी बरात, सुबह हुए फेरे

आदित्य से बना अब्दुल
फर्रुखाबाद के नवाबगंज में बरातियों के स्वागत सत्कार के दौरान मझिया ने दूल्हे के बहनोई को थप्पड़ जड़ दिया। इस पर वर व वधू पक्ष के लोगों में विवाद हो गया। बरात रात में ही वापस चली गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने तीन बरातियों को पकड़ लिया।

पुलिस के बुलाने पर दूल्हा भी पहुंच गया। पुलिस ने दोनों पक्षों में समझौता कराया। सोमवार सुबह फेरे हुए और दुल्हन विदा हो गई। गांव सलेमपुर निवासी त्योरी निवासी ग्रामीण की पुत्री का विवाह जनपद मैनपुरी थाना बिछवां के गांव भनौऊघाट के युवक से तय हुआ था।

रविवार रात बरात आई। वधू पक्ष के लोग बरातियों के सत्कार में लगे थे। इसी दौरान दूल्हे के बहनोई किसी बात पर नाराज हो गए। मझिया ने उनको समझाने का प्रयास किया। जब बात नहीं बनी तो मझिया ने थप्पड़ जड़ दिया। इस पर वर पक्ष के लोग उग्र हो गए। 

विवाद के बाद वर पक्ष के लोगों ने शादी से इनकार कर दिया। बराती वापस चले गए। वधू पक्ष के लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने गांव के बाहर से तीन बरातियों को पकड़ लिया। फोन करके दूल्हे को थाने बुलाया गया। सोमवार सुबह पुलिस ने दोनों पक्षों में समझौता करा दिया। इसके बाद दूल्हा मंडप में पहुंचा और फेरे हुए। इसके बाद दूल्हा दुल्हन को लेकर विदा हो गया।
... और पढ़ें

मानव तस्करी का मामला: अमीन को लेकर कानपुर पहुंची क्राइम ब्रांच, घंटों चली पूछताछ महिलाओं को फंसाकर भेजता था विदेश

महिलाओं को खाड़ी देश भेजने वाले मोहमद अमीन को क्राइम ब्रांच रविवार को अपने साथ बंगलूरू से कानपुर ले आई। अधिकारियों ने अमीन से करीब पांच घंटे तक पूछताछ की। इस दौरान अमीन ने सभी घटनाओं के अलावा पूर्व में जेल भेजे गए दोनों आरोपियों से भी उसके संबंध होने की बात कबूली है।

पुलिस ने उसे दो दिन पूर्व गिरफ्तार किया था। क्राइम ब्रांच के अनुसार अमीन का नाम पूर्व में जेल गए मुज्जम्मिल और अतिकुर्ररहमान से पूछताछ में सामने आया था। मुज्जम्मिल पहले महिलाओं को मुंबई की एक टूर ट्रैवल्स एजेंसी के जरिए खाड़ी देशों में भिजवाता था।

वहीं से वह बंगलूरू निवासी अमीन के संपर्क में आया था। मानव तस्करी करने वाली एजेंसियों की डिमांड के अनुसार दोनों अमीन के पास महिलाओं को भेजते थे। एक महिला पर अमीन को 80 से 90 हजार और पुरुषों में 70 से 80 हजार रुपये कमीशन मिलता था, जिसमें से कुछ रुपये एजेंटों को भी दिया जाता था। उसने कानपुर उन्नाव की चार-पांच महिलाओं को खाड़ी देशों में भेजा है।
... और पढ़ें

बांदा में भीषण सड़क हादसा: बेकाबू स्कॉर्पियो पेड़ से टकराई, युवक की मौत, 9 लोग घायल

यूपी के बांदा जिले में सोमवार को सड़क हादसा हुआ। नरैनी कोतवाली क्षेत्र में करतल मार्ग पर बरात से घर लौटते समय तेज रफ्तार स्कॉर्पियो पेड़ से टकरा गई। हादसे में एक युवक की मौत हो गई जबकि 9 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना के बाद मौके पर चीख-पुकार मच गई।

घटना की जानकारी मिलते ही संबंधित थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने एम्बुलेंस से घायलों को अस्पताल पहुंचाया। छह घायलों की हालत नाजुक बताई जा रही है। सीमावर्ती छतरपुर मध्यप्रदेश के टेढ़ी पुरवा थाना सरबई से बांदा जिले में मोहनपुर (खलारी) गांव रविवार को बरात आई थी।

लड़की की विदाई के बाद बराती वापस घर जा रहे थे। करतल मार्ग पर मुकेरा गांव के निकट तेज रफ्तार स्कॉर्पियो अनियंत्रित होकर बिजली का खम्भा तोड़ते हुए एक पेड़ से टकरा गई। आसपास मौजूद लोग तेज धमाके की आवाज सुन मौके पर पहुंचे और गाड़ी के अंदर फंसे घायलों को बाहर निकाला। संबंधित थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और सभी घायलों को एम्बुलेंस व अपनी जीप में सीएचसी पहुंचाया।

हादसे में पप्पू (42) पुत्र मिथुन की अस्पताल में मौत हो गई। घायलों में अर्जुन (20), अरविंद (20), नीरज (23), कुलदीप (21), कुबेर (9), लवकुश (28), नीरज (18) तथा चालक जयहिंद (35) शामिल हैं।
... और पढ़ें

आस: एक मकान के लिए पिता जैसी अनमोल संपत्ति को ठुकराया, पुलिस ने बुजुर्ग को दिया दिल खुश करने वाला तोहफा

जिस बेटे को जरा सी छींक आने पर पिता छटपटा उठता था, जिस पिता की उंगली पकड़कर बेटे ने चलना सीखा, अब उसी बेटे ने बुजुर्ग पिता से अपना हाथ छुड़ा लिया। पूरे जीवन की कमाई हंसते-हंसते न्योछावर करने वाले बुजुर्ग के साथ बेटे ने कुछ प्रापर्टी की खातिर अमानवीय व्यवहार किया।

प्रताड़ित किया, मारपीट की। तीन साल से न्याय के लिए भटक रहे पिता को फादर्स-डे पर न्याय की उम्मीद जगी है। कमिश्नर असीम अरुण के दखल के बाद पुलिस ने बेटे और बहू को तीन दिन में मकान खाली करने का अल्टीमेटम दिया है। 

परदेवनपुर लालबंगला निवासी 81 साल के रामबाबू का आरोप है कि उनके छोटे बेटे अजय गुप्ता ने सफीपुर सेकेंड की प्रापर्टी को कब्जाने के इरादे से उन्हें प्रताड़ित किया। इसके चलते वे परदेवनपुर में आकर अपने दूसरे घर में रहने लगे लेकिन बेटे की प्रताड़ना कम नहीं हुई। वह मंझले बेटे का भी हिस्सा कब्जाना चाहता है।

इस पर 2018 में वे एसडीएम की कोर्ट से बेटे को प्रापर्टी से बेदखल करने का आदेश ले आए लेकिन इसके बाद भी पुलिस ने उन्हें कब्जा नहीं दिलाया। तीन साल से वे भटक रहे। इधर, जब पुलिस कमिश्नर असीम अरुण रविवार को लालबंगला चौकी में पौधरोपण कार्यक्रम में पहुंचे तो वे भी अपनी फरियाद लेकर उनके पास पहुंचे।

कमिश्नर ने कार से उतरकर उनकी फरियाद सुनी और एसीपी अकमल खान व चकेरी इंस्पेक्टर अमित तोमर को उनके बेटे के घर जाने को कहा। घर पहुंचे पुलिस अधिकारियों को छोटा बेटा बेदखली के खिलाफ कोई कागजात नहीं दिखा सका।

बुजुर्ग के आरोप सही पाए जाने पर छोटे बेटे और बहू को तीन दिन में मकान का कब्जा छोड़ने का अल्टीमेटम दिया है। ऐसा न करने पर कार्रवाई की चेतावनी दी। रामबाबू ने अपने बड़े बेटे पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं। वह व्यापार मंडल का पदाधिकारी है। पुलिस ने बुजुर्ग को दिल खुश करने वाला तोहफा दिया। पुलिस ने बुजुर्ग से कहा कि आपके बेटे ने आपका साथ छोड़ दिया लेकिन पुलिस बेटा बनकर आपका साथ देगी।

सबसे दुलारा रहा छोटा बेटा, शादी के बाद बदल गए हालात
बुजुर्ग रामबाबू ने बताया कि छोटा बेटा अजय सबसे दुलारा रहा। उसकी हर इच्छा को तवज्जो दिया। जनवरी 2017 में अजय की शादी के बाद हालात बदल गए। वह प्रापर्टी को अपने नाम करने का दबाव बनाने लगा। उसे खुश रखने के लिए लाखों रुपये भी दिए। फिर भी उसने और बहू ने उसके साथ अच्छा नहीं किया। बुजुर्ग ने बताया इसी बीच उनकी पत्नी की भी गिरकर मौत हो गई।
... और पढ़ें

देशभर में ऑप्टिक न्यूराइटिस का पहला रोगी कानपुर के हैलट अस्पताल में मिला, ये हैं लक्षण

कानपुर के हैलट अस्पताल में ब्लैक फंगस से ऑप्टिक न्यूराइटिस का पहला मरीज मिला है। अस्पताल के चिकित्सकों का दावा है कि यह देशभर में पहला केस है। इसमें मरीज की आंखों की नसों में सूजन आ जाती है। नसों में खराबी आने से मरीज की आंखों की रोशनी चली जाती है।

हैलट में भर्ती मरीज के इलाज के साथ डॉक्टरों ने उस पर शोध भी शुरू कर दिया है। आप्टिक न्यूराइटिस मरीज आशीष (30) को 15 दिन पहले हैलट में भर्ती किया गया था। नेत्र रोग विभागाध्यक्ष डॉ. परवेज खान ने बताया कि आर्टरी ब्लॉकेज के तो कई मरीज आए हैं।

लेकिन, ऑप्टिक न्यूराइटिस का यह पहला मरीज है। फिलहाल, उसकी आंखों की रोशनी प्रभावित है। इस मरीज ने ब्लैक फंगस के एक नए प्रभाव को उजागर किया है कि फंगल संक्रमण से नसों में सूजन आ जाती है। इस पर विभाग के डॉक्टरों की टीम ने शोध शुरू कर दिया है।

उन्होंने दावा किया कि अभी तक देशभर में ऑप्टिक न्यूराइटिस का कोई भी मरीज नहीं मिला है। शोध पूरा होने के बाद इसे अंतरराष्ट्रीय जर्नल में भेजा जाएगा। बताया कि ब्लैक फंगस के जितने मामले आ रहे हैं, उन पर भी अध्ययन किया जा रहा है।
 
... और पढ़ें

यूपी में भीषण सड़क हादसा: ट्रक की टक्कर से बाइक सवार दो युवकों की मौत, एक गंभीर

Election
  • Downloads

Follow Us