362 स्वास्थ्यकर्मियों को लगा कोविड-19 का पहला टीका

Allahabad Bureau इलाहाबाद ब्यूरो
Updated Sun, 17 Jan 2021 12:12 AM IST
362 health workers receive first vaccine of Kovid-19
362 health workers receive first vaccine of Kovid-19 - फोटो : KAUSHAMBI
विज्ञापन
ख़बर सुनें
देश के साथ ही दोआबा में कोविड-19 के टीकाकरण की शुरुआत हो गई। सख्त निगरानी के बीच जिले के चार केंद्रों पर पहले से निर्धारित 362 स्वास्थ्यकर्मियों (फ्रंट लाइन वर्करों) को वैक्सीन की पहली डोज दी गई। चारों केंद्रों पर अस्पताल के प्रभारियों को पहली डोज देकर टीकाकरण के महाभियान का शुभारंभ किया गया। हालांकि पहले से पंजीकृत 38 स्वास्थ्यकर्मी टीकाकरण के लिए नहीं पहुंचे।
विज्ञापन

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीन का सभी को सिद्दत से इंतजार था। लंबे इंतजार के बाद शनिवार को जिले के सरसवां, कनैली, नेवादा और मूरतगंज समेत चार स्वास्थ्य केंद्रों पर टीकाकरण अभियान का शुभारंभ किया गया। खराब मौसम के कारण सभी केंद्रों पर तकरीबन घंटे भर विलंब से वैक्सीनेशन प्रारंभ किया गया।

कड़ी सुरक्षा के बीच प्रभारी चिकित्साधिकारी मूरतगंज डॉ. सुनील कुमार, एमओआईसी नेवादा डॉ. ललित कुमार सिंह, सीएचसी प्रभारी कनैली डॉ. अरुण आर्या तथा एमओआईसी सरसवां डॉ. अजय कुमार गुप्ता ने अपने-अपने केंद्रों पर कोरोना का पहला टीका लगवाया। सीएमओ डॉ. पीएन चतुर्वेदी ने बताया कि शाम पांच बजे तक जिले के 362 स्वास्थ्यकर्मियों को कोविड-19 का टीका लगाया गया। टीकाकरण कराने वालों को अगली डोज के लिए 15 फरवरी की तारीख दी गई है। इसके लिए उनके मोबाइल पर मैसेज भी भेजा जाएंगे।
डीएम ने सरसवां में चल रहे वैक्सीनेसन का लिया जायजा
डीएम अमित कुमार सिंह ने शनिवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सरसवां में चल रहे कोविड-19 वैक्सीनेशन का जायजा लिया। वैक्सीन टीकाकरण स्थल, निगरानी कक्ष व प्रसव कक्ष सहित अन्य कक्षों का निरीक्षण किया। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों और कर्मचारियों से कहर कि टीकाकरण के बारे में लोगों को जागरूक करें। इससे कोई भी साइड इफेक्ट नहीं होगा। उन्होंने पीएचसी में आने वाले मरीजों, तीमारदारों को ठहरने के लिए रैन बसेरा बनवाने, शौचालय, पानी एवं साफ.-सफाई व्यवस्था दुरुस्त रखने के निर्देश दिए। इस दौरान डीएम ने केंद्र पर प्रधानमंत्री के कोविड-19 वैक्सीन के लांचिंग कार्यक्रम का सजीव प्रसारण भी देखा। इस मौके पर एसडीएम सदर राजेश चंद्रा, प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. संजय गुप्ता, डॉ. अनिल यादव, डॉ. हिमांशु, डॉ. हरिनाथ, डॉ. आदिल समेत अन्य संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।
बगैर पंजीकरण के नहीं लगेगी वैक्सीन
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी हिंद प्रकाश मणि ने बताया कि बिना पंजीकरण कराए किसी भी व्यक्ति को कोरोना वैक्सीन नहीं लगाई जाएगी। वैक्सीनेशन के लिए पंजीकरण के बाद ही सत्र स्थल और समय की जानकारी दी जाएगी। फोटो, आईडी पंजीकरण और सत्यापन दोनों के लिए जरूरी है। ऑनलाइन पंजीकरण के बाद लाभार्थी को वैक्सीनेशन की नियत तिथि, स्थान और समय के बारे में मोबाइल पर एसएमएस भेजा जाएगा। कोरोना वैक्सीन की उचित खुराक मिलने पर लाभार्थी को उनके मोबाइल नंबर पर एक क्यूआर कोड आधारित प्रमाण पत्र भी भेजा जाएगा।
वैक्सीन लगवाने नहीं पहुंचे 38 स्वास्थ्यकर्मी, बनेगी सूची
शनिवार को शुरू हुए कोविड-19 टीकाकरण अभियान के दिन कई ऐसे लोग भी रहे जिनका नाम कोविन पोर्टल पर पंजीकृत था लेकिन वह टीकाकरण के समय नहीं आए। अनुपस्थित 38 स्वास्थ्यकर्मियों की अब एक अलग सूची तैयार की जाएगी। इन लोगों को टीकाकरण के लिए अलग से समय दिया जाएगा।
सत्यापन के लिए आवश्यक
अगर आप कोविड-19 टीकाकरण के लिए जा रहे हैं तो अपना एक पहचान पत्र साथ ले जाना न भूलें। इसमें आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आइडी एवं पैन कार्ड, पासपोर्ट, जॉब कार्ड, पेंशन दस्तावेज, मनरेगा कार्ड, स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, सांसदों, विधायकों, एमएलसी को जारी आधिकारिक प्रमाण पत्र, बैंक, पोस्ट ऑफिस की पासबुक, केंद्र, राज्य सरकार या पब्लिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा जारी सेवा आईडी कार्ड आदि में कोई एक हो सकता है।
-----------
फ्रंटल वर्करों ने महामारी भगाने के लिए अभियान में दिया योगदान
मैंने टीकाकरण कराया है। मुझे किसी तरह की कोई परेशानी नहीं हुई। अपने गांव जाकर सभी को प्रेरित करूंगी। ताकि, वह भी टीकाकरण कराकर कोरोना महामारी से निजात पा सकें।
शकुंतला देवी-महिला स्वास्थ्यकर्मी, पीएचसी सरसवां
मैंने खुद वैक्सीनेशन कराया है। टीका लगने से मुझे कोई परेशानी नहीं हुई। कोरोना महामारी को देश से बाहर निकालने के लिए सभी को बढ़-चढ़कर वैक्सीनेशन कार्यक्रम में हिस्सा लेना चाहिए। इससे कोई परेशानी नहीं होती।
डॉ. ज्ञान सिंह-पीएचसी सरसवां
मैंने टीकाकरण कराकर कोरोना महामारी को भगाने के अभियान में योगदान दिया। अब मैं गांव में जाकर लोगों को टीकाकरण करने के लिए प्रेरित करूंगी। वैक्सीन लगवाने में कोई समस्या नहीं होती है।
ललिता देवी-आशा कार्यकर्ता, सरसवां
टीकाकरण के बाद में कोई परेशानी नहीं हुई। यह एक पुनीत कार्य है। सभी को इसमें सहयोग करना चाहिए। वह खुद लोगों को टीकाकरण के लिए जागरूक करेंगे।
डॉ. राजेश सिंह-पीएचसी सरसवां
केंद्र पर सबसे पहले मैंने टीका लगवाया। टीका लगवाने के बाद बिल्कुल सामान्य स्थिति रही। कहीं कोई दिक्कत नहीं हुई। वैक्सीनेशन के बाद और बेहतर महसूस कर रहा हूं।
डॉ. अरुण आर्या, सीएचसी प्रभारी, कनैली
--------
वैक्सीन लगने के बाद कोई दिक्कत नहीं हुई। आधे घंटे तक रेस्ट करने के बाद एकदम सामान्य स्थिति महसूस हो रही है। टीका लगने से कोरोना की लड़ाई को लेकर आत्मविश्वास बढ़ा है।
डॉ. ललित कुमार सिंह-नेवादा
अपने केंद्र पर कोराना का टीका लगवाने वाला मैं पहला व्यक्ति हूं। वैक्सीन लगने के बाद सामान्य सी स्थिति है। कोई दिक्कत नहीं है।
डॉ. सुनील कुमार सिंह-पीएचसी,मूरतगंज
टीका लगने के बाद भी पहले जैसी सामान्य स्थिति है। पता ही नहीं चला कि वैक्सीन लगी है। इससे मेरा आत्मविश्वास बढ़ा है और में काफी बेहतर महसूस कर रहा हूं।
डॉ.संजय गुप्ता-पीएचसी सरसवां
362 health workers receive first vaccine of Kovid-19
362 health workers receive first vaccine of Kovid-19- फोटो : KAUSHAMBI
362 health workers receive first vaccine of Kovid-19
362 health workers receive first vaccine of Kovid-19- फोटो : KAUSHAMBI

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00