लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Lakhimpur Kheri ›   crime

जन्मतिथि में झोल... सफाईकर्मी बेटे से महज आठ साल बड़ा

Bareily Bureau बरेली ब्यूरो
Updated Sat, 24 Sep 2022 12:45 AM IST
सार

ईसानगर ब्लॉक की ग्राम पंचायत नंदूरा निवासी अशोक कुमार ने शिकायत की थी कि सफाईकर्मी द्वारा नौकरी के लिए लगाए हाईस्कूल अंकपत्र (2008) में जन्मतिथि 10 मई 1987 है, जबकि इनके आधार कार्ड में एक जनवरी 1975 जन्मतिथि दर्ज है। डीपीआरओ सौम्य शील सिंह ने एडीओ पंचायत मितौली और ईसानगर को इस प्रकरण की विस्तृत जांच करने के निर्देश दिए हैं और पूर्व में हुई जांच की आख्या तलब की है। गैर आबाद गांवों में तैनाती कराकर मौजमस्ती करने वाले सफाई कर्मियों के लिए बुरी खबर है।

crime
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

लखीमपुर खीरी। पंचायतीराज ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ के जिला मंत्री सोमेंद्र कुमार मौर्य की जन्मतिथि में भारी अंतर पाया गया है। अंकपत्र और आधार में जन्मतिथि अलग-अलग अंकित पाई गई है। सफाईकर्मी की जन्मतिथि के आठ साल बाद ही उसके बड़े पुत्र का जन्म हो गया, जो अधिकारियों के गले नहीं उतर रहा है। शिकायत के बाद डीपीआरओ सौम्य शील सिंह ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

ईसानगर ब्लॉक की ग्राम पंचायत नंदूरा निवासी अशोक कुमार ने शिकायत की थी कि सफाईकर्मी द्वारा नौकरी के लिए लगाए हाईस्कूल अंकपत्र (2008) में जन्मतिथि 10 मई 1987 है, जबकि इनके आधार कार्ड में एक जनवरी 1975 जन्मतिथि दर्ज है। सोमेंद्र ने दूसरा आधार कार्ड भी बनवा रखा है, जिसमें जन्मतिथि 10 मई 1987 है। शिकायतकर्ता ने साक्ष्य समेत यह भी बताया है कि सफाई कर्मी के बड़े पुत्र की जन्मतिथि 24 अप्रैल 1995 है। सफाई कर्मी की हाईस्कूल अंकपत्र वाली जन्मतिथि 10 मई 1987 की तुलना करें तो पिता-पुत्र की जन्मतिथि में करीब आठ साल का अंतर है। यानी सफाईकर्मी के जन्म के आठ साल बाद ही उसके बड़े पुत्र का जन्म हो गया। उसके के दूसरे पुत्र की जन्मतिथि 19 मई 2000 है। यानी दूसरा पुत्र भी मह 13 साल की उम्र में हो गया। डीपीआरओ सौम्य शील सिंह ने एडीओ पंचायत मितौली और ईसानगर को इस प्रकरण की विस्तृत जांच करने के निर्देश दिए हैं और पूर्व में हुई जांच की आख्या तलब की है। संवाद

डीपीआरओ ने सफाई कर्मचारी संघ के अध्यक्ष और मंत्री को हटाया
लखीमपुर खीरी। गैर आबाद गांवों में तैनाती कराकर मौजमस्ती करने वाले सफाई कर्मियों के लिए बुरी खबर है। अब वह ज्यादा दिनों तक गैर आबाद गांवों में तैनात नहीं रह सकेंगे। डीपीआरओ सौम्य शील सिंह ने सबसे पहले पंचायतीराज ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सतीश कुमार वर्मा और मंत्री सोमेंद्र कुमार मौर्य को गैर आबाद गांवों से हटाया है।
सफाई कर्मियों की तैनाती राजस्व गांवों में किए जाने का प्रावधान है। इसके अनुसार जिले के 1758 राजस्व गांवों के इनकी तैनाती की गई है। कई सफाई कर्मियों ने साठगांठ के जरिए गैर आबाद गांवों में तैनाती करा ली है। उन्हें सफाई कार्य करने के लिए गांवों में जाने की जरूरत ही नहीं पड़ती। डीपीआरओ सौम्य शील सिंह ने सबसे पहले संघ के अध्यक्ष और मंत्री को हटाया। इसके अलावा संघ के कार्यवाहक जिलाध्यक्ष/प्रदेश उपाध्यक्ष विजय कुमार सोनी का तबादला बिजुआ ब्लॉक से बांकेगंज ब्लॉक कर दिया है। क्योंकि पति-पत्नी दोनों की एक ही जगह तैनाती थी। डीपीआरओ ने इस कार्रवाई को प्रारंभ करने के साथ ही सभी सफाईकर्मी/पदाधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि बैठक के अलावा अन्य दिनों में तैनाती स्थलों पर नियमित रूप से सफाई कार्य करेंगे। संवाद

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00