बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर बप्पा के घर में आगमन से होंगी ये राशियां धनवान
Myjyotish

इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर बप्पा के घर में आगमन से होंगी ये राशियां धनवान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Digital Edition

मथुरा: ऊर्जा मंत्री ने गिनाए विकाय कार्य, कहा- अयोध्या की तर्ज पर सज-संवर रही कान्हा की नगरी

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि भाजपा सरकार ने मथुरा-वृंदावन के पुराने गौरव को लौटाने के लिए सभी प्रमुख योजनाओं में ब्रज क्षेत्र को रखा है। कृष्ण जन्मोत्सव शुरू कर इसकी वैश्विक पहचान को बढ़ाने के साथ ही श्रीकृष्ण जन्मभूमि क्षेत्र के 10 किमी की परिधि के दायरे को तीर्थस्थल घोषित कर अपने संकल्प को पूरा करने का काम किया है। अयोध्या की ही तर्ज पर आज कान्हा की नगरी भी सज और संवर रही है। 

श्रीकांत शर्मा ने कहा कि कुंभ क्षेत्र के 190 एकड़ स्थान को अतिक्रमण मुक्त कर भविष्य के लिए संरक्षित किया जा रहा है। पिछले चार वर्षों से लगातार मथुरा में दिव्य और भव्य कृष्ण जन्मोत्सव और होली के भव्य आयोजन से वैश्विक और धार्मिक पहचान और मजबूत हुई है। 84 कोस परिक्रमा मार्ग के बीच पड़ने वाली सांस्कृतिक और धार्मिक महत्व की धरोहरों का सौदर्यीकरण किया गया। 

'कुंज गलियों का हुआ विकास'
उन्होंने कहा कि बांकेबिहारी मंदिर की 22 कुंज गलियों व श्रीकृष्ण जन्मस्थान के मार्गों का विकास हुआ है। अब 23  कुंज गलियां भी शामिल की गई हैं। खारे पानी से निजात दिलाने के लिए पहली बार शहरवासियों को पीने के लिए गंगाजल उपलब्ध कराया गया है। मथुरा-वृंदावन निगम क्षेत्र में लगभग 1.25 लाख परिवार हैं। करीब 70 हजार परिवारों को गंगाजल मिल रहा है। शेष को ट्यूबवेल व हैंडपंप के जरिए जलापूर्ति हो रही है। 

गाजीपुर में सीएम योगी: प्रदेश में माफियाओं और गुंडाराज का हुआ खात्मा, साढ़े चार साल में तकदीर और तस्वीर बदलने का किया काम
... और पढ़ें
उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा

पितृ पक्ष 2021: वृंदावन में यमुना के केसी घाट पर ब्राह्मणों ने किया तर्पण, बताया श्राद्ध का महत्व

मथुरा के वृंदावन में ब्राह्मण महासभा की ओर से सोमवार को पितृ पक्ष शुरू होने पर यमुना किनारे केसी घाट पर तर्पण का कार्यक्रम किया गया। कार्यक्रम में विप्रों ने अपने पितरों को जल अर्पण किया। महासभा के संस्थापक सुरेश चंद्र शर्मा ने कहा कि अश्विन मास में कृष्ण पक्ष के 15 दिन पितृपक्ष पक्ष के नाम से विख्यात है। इन 15 दिनों में लोग अपने पितरों को जल देते हैं तथा उनकी मृत्यु तिथि पर श्राद्ध करते हैं। 

महासभआ के अध्यक्ष महेश भारद्वाज एवं गोपाल शरण शर्मा ने कहा कि श्राद्ध के लिए सबसे पवित्र स्थान गया तीर्थ माना गया है, लेकिन श्री धाम वृंदावन में केसीघाट पर पितरों को जल तर्पण करने का महत्व अपना अलग स्थान रखता है। इससे पूर्व पं. दाऊदयाल शर्मा ने वैदिक विधि-विधान से विप्रों द्वारा पितृ जल तर्पण का कार्य सम्पन्न कराया। कार्यक्रम में आचार्य नरेश नारायण शर्मा, सिद्धार्थ शुक्ला, लल्ला पाठक, दम्पति किशोर दीक्षित, बाबूलाल शर्मा, राजेशकृष्ण शर्मा, गोविंद बौहरे थे। 
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X