बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

यूपी की आज की सियासी हलचल: मायावती का प्लान, अखिलेश की अपील, ओवैसी की हुंकार, पढ़ें राजनीति से जुड़ी 5 बड़ी खबरें

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: हिमांशु मिश्रा Updated Tue, 30 Nov 2021 07:37 PM IST

सार

उत्तर प्रदेश की राजनीतिक हलचलें बढ़ती जा रही हैं। मंगलवार को मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कई मुद्दों पर अपनी बात कही। अखिलेश ने भी सोशल मीडिया के जरिए सरकार पर निशाना साधा। 
मायावती, ओवैसी, स्वतंत्रदेव सिंह और अखिलेश यादव।
मायावती, ओवैसी, स्वतंत्रदेव सिंह और अखिलेश यादव। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

समाजवादी  पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने एक बार फिर से हाथरस गैंगरेप कांड का मुद्दा उठा दिया। उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए अपने सहयोगी दलों के कार्यकर्ताओं से भी इस मुद्दे पर साथ आने की अपील की। वहीं, दूसरी ओर बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके भाजपा सरकार पर निशाना साधा। उधर, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कानून व्यवस्था और आतंकवाद को लेकर विपक्ष को आड़े हाथों लिया। पढ़िए उत्तर प्रदेश की राजनीति से जुड़ी 5 बड़ी खबरें...
विज्ञापन

1. मायावती ने जाट और मुसलमानों के लिए बड़ी बात कही

मायावती
मायावती - फोटो : अमर उजाला
बसपा सुप्रीमो मायावती ने प्रदेश की 86 सुरक्षित सीटों पर दलितों ब्राह्मणों के साथ-साथ अब जाट और मुस्लिमों को जोड़ने की तैयारी भी शुरू कर दी है। सोमवार को उन्होंने कहा कि बसपा हमेशा जाटों-मुस्लिमों के सम्मान और तरक्की के लिए काम करती रही है।

मायावती ने कहा कि डॉक्टर भीमराव अंबेडकर ने ओबीसी, दलित वर्ग के लोगों के लिए सरकारी नौकरी में सुविधाएं व शिक्षा की व्यवस्था की, लेकिन अब केंद्र व राज्यों की जातिवादी सरकारें नए नियम कानून बनाकर इन्हें प्रभावहीन करने का प्रयास कर रही हैं। दलितों व आदिवासियों पर जुल्म हो रहा है।

उन्होंने ओबीसी की भी जातिगत गणना कराने की मांग की। कहा कि यूपी में भाजपा सरकार में खासतौर से धार्मिक अल्पसंख्यकों यानी मुस्लिम दुखी नजर आते हैं। उनकी तरक्की रोकी जा रही है फर्जी मुकदमे लगाकर उत्पीड़न किया जा रहा है । नए कानूनों से दहशत फैलाई जा रही है । इसमें बीजेपी का सौतेलापन साफ झलकता है। पढ़ें पूरी खबर...

2. अखिलेश ने हाथरस का मुद्दा फिर उठाया

अखिलेश यादव
अखिलेश यादव - फोटो : अमर उजाला
समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक बार फिर से हाथरस गैंगरेप का मुद्दा उठाया। यहां ट्विटर पर एक के बाद एक दो पोस्ट शेयर की। लिखा, 'उप्रवासियों, सपा व सहयोगी दलों से अपील है कि आज 'हाथरस की बेटी स्मृति दिवस' मनाएं और स्मृति का कोई प्रतीक-दीप जलाएं।'
एक अन्य ट्वीट में अखिलेश ने दो मोमबत्ती जलते हुए तस्वीरें शेयर की और लिखा, 'हाथरस की बेटी' की स्मृति में…। ये दोनों पोस्ट शेयर करके अखिलेश भाजपा सरकार में कानून व्यवस्था को लेकर सवाल खड़े कर रहे हैं। 

3. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने सपा-बसपा और कांग्रेस को आड़े हाथों लिया

स्वतंत्र देव सिंह
स्वतंत्र देव सिंह - फोटो : अमर उजाला
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने भी मंगलवार को विपक्षी दलों के नेताओं को आड़े हाथों लिया। आजमगढ़ में एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि एक वक्त था जब देश में बम फटते थे लेकिन आज आतंकी पाकिस्तान से बाहर निकलने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे है। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे और राज्य विश्वविद्यालय जिले को आजमगढ़ से आर्यमगढ़ बनाएगा। राज्य विश्वविद्यालय विश्व के सबसे शक्तिशाली योद्धा महराजा सुहेल देव को समर्पित है और एक्सप्रेस-वे का लोकार्पण हो चुका है।

4. प्रियंका ने कानून व्यवस्था पर उठाए सवाल

प्रियंका गांधी
प्रियंका गांधी - फोटो : अमर उजाला
कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने कानून व्यवस्था को लेकर योगी सरकार पर निशाना साधा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद गोरखपुर में पिछले सात दिनों में हुए आपराधिक गतिविधियों का जिक्र करते हुए प्रियंका ने लिखा, 'भाजपा की दूरबीन के ढोल सुहावने हैं। लेकिन असलियत में यूपी में अपराध के आंकड़े डरावने हैं। मुख्यमंत्री के क्षेत्र में कानून व्यवस्था अपराधियों के सामने सरेंडर है, बाकी प्रदेश का हाल आप समझ सकते हैं।' 

 

5. ओवैसी ने मुसलमानों से पूछा- आपका नेता कौन?

एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी
एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी - फोटो : अमर उजाला
एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने दो दिन पहले बलरामपुर में हुई रैली का वीडियो ट्विटर पर शेयर करते हुए सपा, बसपा और भाजपा पर निशाना साधा। इस वीडियो में ओवैसी जनता को संबोधित करते हुए दिखाई दे रहे हैं। बड़ी संख्या में जुटी भीड़ से ओवैसी ने संवाद किया। 

कहा, 'उत्तर प्रदेश में 9% यादवों ने मुलायम सिंह और उनके बेटे को अपना नेता बना लिया। दलितों ने बहन मायावती को अपना लीडर चुन लिया। कुर्मियों ने अनुप्रिया पटेल और आगरा के बाघेलों ने बाघेल साहब को अपना नेता बना लिया। ठाकुरों ने बाबा को अपना लिया और ब्राह्मणों अपनी एक अलग पॉलिसी है। अब बताइए कि अब यहां कोई नजर नहीं आता है तो वो मुसलमान है।' ओवैसी ने भीड़ से पूछा कि अब आप बताओ की उत्तर प्रदेश में आपका नेता कौन है? क्या यहां कोई मुसलमान नेता है? लोगों ने ओवैसी का नाम लिया तो बोले कि केवल उतरौला में नेता बनाओगे या पूरे उत्तर प्रदेश में? इसपर भीड़ ने कहा कि पूरे यूपी में ओवैसी को अपना नेता बनाएंगे। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00