विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Digital Edition

खौफनाक वारदात: मेरठ के परतापुर में ट्यूशन के लिए निकले छात्र की अपहरण के बाद हत्या 

मेरठ के परतापुर थाना क्षेत्र के रिठानी में ट्यूशन के लिए निकले छात्र की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई। छात्र का शव शताब्दी नगर के एक प्लॉट में झाड़ियों के बीच से बरामद किया गया है। शरीर पर कई जगह चोट के निशान भी दिखाई दे रहे हैं। पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर मोर्चरी भिजवा दिया है। छात्र के एक दोस्त को हिरासत में लिया गया है। बताया जाता है कि इसी की निशानदेही पर यह शव बरामद किया गया है।

 घोपला मोड़ निवासी आदित्य शर्मा (14 वर्ष) कक्षा 9 का छात्र है। सोमवार की शाम हर रोज की तरह वह घर से ट्यूशन के लिए निकला था लेकिन वापस नहीं आया। देर रात परिजनों ने उसकी तलाश शुरू कर दी। 
यह भी पढ़ें: 
सपा-रालोद गठबंधन की पहली रैली: आज मेरठ में गरजेंगे अखिलेश-जयंत, रैली स्थल पर बनाए गए दो मंच

रात में ही परिजनों ने पुलिस से भी संपर्क कर लिया। इसके बाद छात्र की तलाश तेज कर दी गई। उसके ट्यूशन के अलावा साथ पढ़ने वाले छात्रों से भी पुलिस ने पूछताछ की। इसी दौरान एक छात्र ने आदित्य का शव शताब्दी नगर के एक खाली प्लॉट से बरामद करा दिया। 

पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लिया हुआ है और पूछताछ की जा रही है। हत्या क्यों की गई फिलहाल इसका खुलासा नहीं हो पाया है। पुलिस ने पास के एक घर में लगे सीसीटीवी कैमरे में कुछ संदिग्धों को भी चिन्हित किया है, जिनके बारे में पता लगाया जा रहा है। 

सूचना पाकर एएसपी ब्रह्मपुरी विवेक यादव मौके पर आ गए और पूरी घटना की जानकारी ली। छात्र की मौत के बाद घर में कोहराम मचा है। पिता सुशील शर्मा, मां और छोटे भाई का रो-रो कर बुरा हाल है।
... और पढ़ें

दुस्साहस: मेरठ में एसपी सिटी दफ्तर के सामने कपड़ा व्यापारी के अपहरण का प्रयास, घायल

मेरठ में अपराध रुकने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार को शहर के लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र में एक व्यापारी का दिनदहाड़े अपहरण की कोशिश की गई। जानकारी के अनुसार क्षेत्र में कांच का पुल निवासी नवाब मलिक 50 पुत्र मकसूद मंगलवार सुबह करीब 9 बजे घंटाघर घर के पास जराह की दुकान पर दवा लेने आए थे । 

बताया गया कि वह दवा लेकर वापस लौट रहे थे। इसी दौरान एसपी सिटी दफ्तर के सामने पहुंचे वैगन आर कार सवार दो बदमाशों कार में खींचने की कोशिश करने लगे। इस दौरान व्यापारी  खुद को छुड़ाने के प्रयास में घायल हो गए। 

यह भी पढ़ें : 
LIVE परिवर्तन संदेश रैली: सपा-रालोद की रैली के लिए जुटी भीड़, 36 गांवों के लोग अखिलेश और जयंत को बांधेंगे पगड़ी

वहीं व्यापारी के शोर मचाने पर बदमाश कार लेकर फरार हो गया। मौके पर पहुंची देहली गेट पुलिस व्यापारी से पूछताछ कर रही है । पूरी वारदात सीसीटीवी कैमरा में कैद हो गई है। उधर, कोतवाली अरविंद कुमार चौरसिया का कहना है कि सीसीटीवी कैमरे चेक किया जा रहा है। व्यापारी से भी पूछताछ की जा रही है ... और पढ़ें

मेरठ : होटल के कमरे में ठहरे युवक ने जहरीला पदार्थ खाकर दी जान, गेट तोड़कर निकाला शव

मेरठ में मंगलवार को एक नौचंदी थानाक्षेत्र के होटल डायमंड में ठहरे युवक ने जहरीला पदार्थ खाकर जान दे दी। युवक होटल के कमरे में मृत मिला। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और घटना की जानकारी ली। पुलिस ने कमरे का गेट तोड़कर मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। मृतक कंकरखेड़ा क्षेत्र निवासी बताया गया है। 

जानकारी के अनुसार नौचंदी थाना क्षेत्र के होटल डायमंड में ठहरे युवक ने जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया, जिससे उसकी मौत हो गई। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और परिजनों से संपर्क साधा। 

युवक की पहचान कंकरखेड़ा तुलसी कॉलोनी निवासी विनय कुमार यादव के रूप में हुई है जो एक निजी बैंक में काम करता था। पुलिस ने शव मोर्चरी भिजवा दिया है। 

यह भी पढ़ें:
 मेरठ रैली: अखिलेश जयंत की रैली में बेकाबू हुई भीड़, खूब धक्का मुक्की, पुलिस को करना पड़ा लाठीचार्ज
 
शुरुआती छानबीन में सामने आया है कि विनय यादव देर रात 11:30 बजे तीन लोगों के साथ ही यहां आया था। कुछ देर ठहरने के बाद वह सभी खाना खाने चले गए। 

पुलिस पूछताछ में होटल स्टाफ ने बताया कि रात में विनय अकेला ही रूम पर लौटा था। सुबह जब देर तक दरवाजा नहीं खुला तो स्टाफ ने जानकारी करने की कोशिश की, लेकिन कोई उत्तर नहीं मिला। होटल स्टाफ ने अनहोनी की आशंका जताते हुए पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने दरवाजा तोड़कर देखा तो युवक का शव बेड पर पड़ा हुआ था। पुलिस के अनुसार जहरीले पदार्थ के सेवन के कारण युवक की मौत हुई है। हालांकि वजह अभी स्पष्ट नहीं हुई है।
... और पढ़ें

अखिलेश बोले: भाजपा के लिए रेड अलर्ट है...महंगाई का, किसानों की बदहाली और 'लाल टोपी' का, सपा ही करेगी सत्ता से बाहर

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी जयंत सिंह की मंगलवार को मेरठ के दबथुवा में ऐतिहासिक रैली हुई। वहीं रैली में भीड़ को देख सपा और रालोद के कार्यकर्ता गदगद दिखे। बताया गया कि जयंत चौधरी और अखिलेश यादव का हेलीकॉप्टर 1 बजकर 19 मिनट पर दबथुवा पहुंचा। यहां से पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा स्वागत किए जाने के बाद दोनों नेता रैली स्थल के लिए रवाना हो गए। ऐसा पहली बार है, जब दोनों नेताओं ने एक साथ किसी रैली को संबोधित किया।

अखिलेश यादव ने पत्रकारों का आभार व्यक्त किया
अखिलेश यादव ने मंच से किसानों, नौजवानों, माताओं-बहनों और पत्रकारों का आभार व्यक्त किया। उन्होंने चौधरी चरण सिंह को याद करते हुए अपनी बात शुरू की, कहा कि मेरठ की क्रांतिकारी धरती ने चौधरी चरण सिंह जैसे लोगों को जन्म दिया, जिन्होंने किसानों और जनता के हित में काम किया। बाबा टिकैत को याद करते हुए कहा कि बाबा टिकैत ने इस क्रांतिकारी धरती के किसानों को जगाया।

अखिलेश यादव ने कहा कि ऐसा पहली बार है, जब मैं इतना बड़ा जनसैलाब देख रहा हूं। यह जनसैलाब बता रहा है कि इस बार भाजपा का सूरज डूबेगा, यह जनसैलाब बता रहा है कि ये जनता भाजपा को हमेशा के लिए पश्चिम से खदेड़ देगी। 



अखिलेश यादव ने ट्वीट कर लिखी ये बड़ी बात 
अखिलेश यादव ने अपने ट्विटर पेज पर लिखा, भाजपा के लिए ‘रेड एलर्ट’ है महंगाई का, बेरोजगारी-बेकारी का, किसान-मजदूर की बदहाली का, हाथरस, लखीमपुर, महिला व युवा उत्पीड़न का, बर्बाद शिक्षा, व्यापार व स्वास्थ्य का और ‘लाल टोपी’ का क्योंकि वो ही इस बार भाजपा को सत्ता से बाहर करेगी। अखिलेश यादव ने कहा कि जो पैदा करे खाई, वही भाजपाई।
... और पढ़ें
मंच पर अखिलेश यादव और जयंत चौधरी। मंच पर अखिलेश यादव और जयंत चौधरी।

अखिलेश-जयंत की रैली: बेकाबू हुई भीड़, डी तोड़कर मंच तक पहुंची भीड़, मीडिया का स्टेज भी टूटा, देखिए तस्वीरें

अखिलेश और जयंत हेलीकॉप्टर से एक-साथ आए तो पहले रैली स्थल का राउंड लिया। हेलीकॉप्टर उतरने के बाद दोनों मंच पर पहुंचे तो बेकाबू भीड़ डी तोड़ते हुए मंच तक पहुंच गई। मीडिया के लिए बना स्टेज भी टूट गया। मंच पर चढ़ने वालों को अखिलेश के सुरक्षाकर्मियों ने मंच से धक्का देकर नीचे फेंक दिया। इसमें कई पत्रकार व कैमरामैन भी गिरकर चोटिल हो गए। पास ही बैठी तीन महिलाओं को भी चोट लगी। पुलिस भी भीड़ को नहीं रोक पाई। मीडिया स्टेज के पास बैठी तीन महिलाएं भी उसकी चपेट में आ गई, लेकिन वहां पर मौजूद कार्यकर्ताओं और मीडिया कर्मियों ने महिलाओं को बचा लिया। 

हेलीकॉप्टर तक पहुंचे लोग, उड़ने में हुई देरी   
जयंत और अखिलेश का काफिला जब हेलीपैड पर पहुंचा तो कार्यकर्ताओं की भीड़ लग गई। बड़ी मशक्कत के उन्हें हेलीकॉप्टर में बैठाया गया। हेलीकॉप्टर उड़ने के लिए तैयार था, तो एक कार्यकर्ता दौड़कर पानी देने पहुंच गया। वह हेलीकॉप्टर की पंखे से कटने से बाल-बाल बचा। एक दरोगा ने भागकर उसे दबोचा। 
... और पढ़ें

ऐतिहासिक रैली में खूब हुई नारेबाजी: सत्ता की चाह... किसानों-नौजवानों पर अखिलेश-जयंत की निगाह, भाषण में बयां किया दर्द

विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। दबथुवा में हुई रालोद-सपा की पहली साझा रैली के जरिए अखिलेश-जयंत की निगाह खासकर किसानों और नौजवानों पर रही। उनका दर्द दोनों नेताओं ने बार-बार अपने शब्दों में बयां किया। अपनी सरकार आने पर बदलाव और बेहतरी की उम्मीद भी जगाई। भाजपा पर जमकर तंज कसे। दावा किया कि उनकी सरकार बनने वाली है और लोगों की समस्याओं को वे दूर करेंगे। भाजपा का सूपड़ा साफ हो जाएगा। 

अखिलेश ने दिया जवाब... सीटों पर सहमति 
रैली के बाद अखिलेश यादव और चौधरी जयंत ने एक टीवी इंटरव्यू में कहा कि सीटों के बंटवारे पर उनके बीच फॉर्मूला तय है। अखिलेश ने कहा सीटों के बंटवारे में कोई दिक्कत नहीं है। 
... और पढ़ें

मेरठ रैली: अखिलेश जयंत की रैली में बेकाबू हुई भीड़, खूब धक्का-मुक्की, पुलिस को करना पड़ा लाठीचार्ज

मेरठ में सरधना के दबथुआ क्षेत्र में आयाजित सपा और रालोद की संयुक्त रैली में बेतहाशा भीड़ उमड़ी। इनमें बच्चे, जवान, बूढ़े और महिलाएं सभी शामिल थे। ऐसा पहली बार था कि जब अखिलेश और जयंत दोनों ही दिग्गज नेता एक मंच से दहाड़े। उन्होंने मंच से गठबंधन को 2022 का चुनाव जिताने का आह्वान किया और मौजूदा सरकार पर जमकर निशाना साधा। गठबंधन की इस रैली पर जहां राजनीतिक जानकारों की नजरें टिकी रहीं, वहीं इस रैली में उमड़ी भीड़ ने भाजपा नेताओं की चिंता बढ़ा दी हैं। दोनों नेताओं के सधे हुए भाषण और रैली में उमड़े जनसैलाब के बाद सियासी हलचल तेज हो गई है। तकरीबन एक घंटे के भाषण के बाद जब दोनों नेता वापस जाने के लिए हेलीकॉप्टर तक पहुंचे तो भीड़ बेकाबू हो गई। एक समर्थक जयंत चौधरी को पानी की बोतल देने के लिए हेलीकॉप्टर तक दौड़ पड़ा, तो पुलिस ने उसे दबोच लिया और उस पर ताबड़तोड़ लाठियां बरसा दीं। समर्थक ने भीड़ में घुसकर अपनी जान बचाई। आगे पढ़ें आखिर कैसे रैली का समापन होते ही अखिलेश और जयंत से मिलने के लिए उनके हेलीकॉप्टर तक दौड़ पड़े।
... और पढ़ें

मेरठ में खौफनाक वारदात: प्रॉपर्टी डीलर के बेटे का अपहरण कर हत्या, घर से 300 मीटर दूर मिली लाश, जांच में जुटे अफसर

सपा रालोद की रैली में उमड़ी भीड़
मेरठ में परतापुर के रिठानी में प्रॉपर्टी डीलर सुशील शर्मा के पुत्र नौवीं कक्षा के छात्र आदित्य शर्मा की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई। उसका शव घर से करीब 300 मीटर दूर शताब्दीनगर स्थित ग्रीन पार्क के पीछे झाड़ियों में मिला। पीड़ित परिवार ने छात्र के सहपाठी छात्रों पर हत्या करने का अंदेशा जताया है। पुलिस इस वारदात को दस महीने पहले आकाश पाल की हत्या से भी जोड़कर जांच कर रही है। 

रिठानी निवासी आदित्य शर्मा (15) सोमवार शाम पांच बजे ट्यूशन जाने के लिये घर से निकला था। देर रात तक छात्र नहीं लौटा तो परिजनों ने तलाश की। छात्र नहीं मिला तो रात में ही अपहरण की रिपोर्ट परतापुर थाने में दर्ज करा दी। मंगलवार सुबह परिजनों ने आदित्य के साथ ट्यूशन पढ़ने वाले छात्रों से जानकारी ली। ट्यूशन टीचर गौरव ने बताया कि आदित्य अपने सहपाठी चित्रांश के साथ गया था। परिजनों ने चित्रांश से पूछताछ की और उसे व पुलिस को साथ लेकर आदित्य को ढूंढने लगे।

यह भी पढ़ें: 
अखिलेश-जयंत की रैली: बेकाबू हुई भीड़, डी तोड़कर मंच तक पहुंची भीड़, मीडिया का स्टेज भी टूटा, देखिए तस्वीरें

चित्रांश की निशानदेही पर आदित्य का शव झाड़ियों में मिल गया। शव देखते ही परिजन फूट-फूटकर रोने लगे। पुलिस चित्रांश को थाने ले गई और गहनता से जानकारी लेनी शुरू कर दी। दस महीने पहले रिठानी में आकाश पाल की हत्या हुई थी। चर्चा है कि आकाश की हत्या का बदला लेने के लिए आदित्य को मारा गया है। पोस्टमार्टम के बाद परतापुर थाना पुलिस की मौजूदगी में शाम को अंतिम संस्कार कर दिया गया।

यह भी पढ़ें: ऐतिहासिक रैली में खूब हुई नारेबाजी: सत्ता की चाह... किसानों-नौजवानों पर अखिलेश-जयंत की निगाह, भाषण में बयां किया दर्द

सहपाठी छात्र चित्रांश की निशानदेही पर आदित्य का शव बरामद हुआ है। एक सीसीटीवी कैमरे की फुटेज भी मिली है, जिसमें दो छात्र दिखाई दिए हैं। हत्या का खुलासा पुलिस जल्द करेगी। - प्रभाकर चौधरी, एसएसपी
... और पढ़ें

गठबंधन की रैली: अखिलेश बोले- किसानों ने भाजपा के लिए बंद किए अपने दरवाजे, पढ़िए भाषण की ये बड़ी बातें

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भाजपा पर शब्दों के बाण चलाए। कहा कि भाजपा ने लोगों को लाइन में लगाया है। खाद के लिए, बीमारी आई तो ऑक्सीजन और दवाई के लिए, नोटबंदी में पैसों के लिए लाइन लगाई। इस बार लोगों ने तय किया है कि लाइन में लगकर भाजपा को हटाने का काम करेंगे। 

उन्होंने कहा कि अब पश्चिम में किसानों ने अपना दरवाजा भाजपा के लिए बंद कर लिया है। सिटकनी भी लगा दी है। किसानों को उनका हक मिले, एमएसपी पर घोषणा हो। यह सरकार किसानों का हक नहीं देना चाहती। सपा-रालोद की सरकार किसानों को हक दिलाने का काम करेगी। किसानों को जीप से कुचल दिया गया, कहीं ऐसा उदाहरण देखने को नहीं मिलेगा। उनका मान छीना है। महंगाई बढ़ गई है, आमदनी नहीं है। दवाई नहीं है। कमाई आधी हो गई है। डीजल महंगा, खाद महंगी, दवाई महंगी और कमाई आधी है। ऐसे में किसान और उत्तर प्रदेश के लोग कैसे खुशहाल होंगे। नौजवानों के लिए नौकरी नहीं, उन्हें लाठी मिलती है। नौकरी की कोई उम्मीद नहीं बची है। जहां नौकरी मिलनी थी, वो सरकारी संस्थाएं बेची जा रही हैं। जब सब बिक जाएगा तो रोजगार और नौकरी कहां मिलेगी। इस ठोकी राज में लोगों को अपनानित किया जा रहा है। बुलडोजर वाले अपने बुल को नहीं संभाल पा रहे हैं। खेत बर्बाद हो रहे हैं। 

‘चिलमजीवी लोग यूपी का विकास नहीं कर सकते’
अखिलेश यादव ने बिना नाम लिए तंज कसा कि चिलमजीवी लोग यूपी का विकास नहीं कर सकते हैं। रैली में लाल, हरा, सफेद और पीला रंग दिख रहा है। हम रंगों का गुलदस्ता बनाते हैं और एकरंगी सरकार कभी किसी के जीवन मे खुशहाली नहीं ला सकती। ये सरकार जाने वाली है और परिवर्तन होकर रहेगा। भाजपा की ऐतिहासिक हार होगी। डबल इंजन की सरकार ने उत्तर प्रदेश जनता को धोखा दिया है। सरकार फेल है। कभी-कभी तो इंजन दोनों से टकरा रहे हैं। 

कितने हवाई चप्पल वाले हवाई जहाज में बैठे 
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा ने हवाई जहाज बेच दिए, एयरपोर्ट बेच दिए, रेलवे स्टेशन बेच दिया। पानी का जहाज बेचा, बंदरगाह भी बेच दिया। ट्रेन बेची और रेलवे स्टेशन भी बेच दिए। हवाई चप्पल वाले को हवाई जहाज पर बैठाने की बात करने वाले बताएं, हवाई चप्पल वाले कितनों ने हवाई सफर किया। पेट्रोल-डीजल इतने महंगे हैं कि अब मोटरसाइकिल चलना भारी हो गया है। 

यह भी पढ़ें: 
ऐतिहासिक रैली में खूब हुई नारेबाजी: सत्ता की चाह... किसानों-नौजवानों पर अखिलेश-जयंत की निगाह, भाषण में बयां किया दर्द
 
... और पढ़ें

भाजपा विधायक के गनर ने महिला को जड़े थप्पड़: वीडियो हुआ वायरल, संगीत सोम की सुरक्षा में तैनात है सिपाही, जानें पूरा मामला

मेरठ में कंकरखेड़ा क्षेत्र की राजनगर कॉलोनी निवासी एक महिला ने भाजपा विधायक के गनर पर मारपीट का आरोप लगाया है। मारपीट का वीडियो भी वायरल हो गया है। पीड़िता ने कार्रवाई नहीं होने पर मंगलवार को एसएसपी से मामले की शिकायत की है।

राजनगर कॉलोनी में नागेंद्र कुमार अपनी पत्नी सविता और दो बेटे अक्षत और कार्तिक के साथ रहते हैं। नागेंद्र आर्मी में डीएससी के पद पर आगरा में तैनात हैं। सविता ने बताया कि उन्होंने छह वर्ष पूर्व कॉलोनी में मकान बनाया था। उनके सामने का प्लॉट खाली पड़ा है। 

आरोप है कि सहारनपुर निवासी एक सिपाही जो भाजपा विधायक संगीत सोम का गनर है। उन्हें आए दिन वर्दी का रौब दिखाता है। आरोप है कि तीन दिन पहले सिपाही ने महिला के साथ गाली-गलौज की। विरोध करने पर सिपाही ने उनके साथ मारपीट भी की। 

यह भी पढ़ें: 
खौफनाक मंजर: भरभराकर गिरा दो मंजिला मकान, इलाके में मची चीख-पुकार, देखिए हादसे की तस्वीरें

वहीं पीड़िता ने कार्रवाई की मांग को थाने में तहरीर दी। तीन दिन बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। मंगलवार को पीड़िता ने एसएसपी से मामले की शिकायत करते हुए न्याय की गुहार लगाई है। मामले में एसएसपी ने सिपाही पर जांच बैठा दी है।

यह भी पढ़ें: भीषण आग से मचा हाहाकार : दुकान के भीतर जलती रहीं तीन जिंदगी, गूंजती रही बेबस परिजनों की चीत्कार
... और पढ़ें

मेरठ में रैली: चौधरी जयंत बोले- सत्ता के नशे में चूर भाजपा सरकार को उखाड़ फेकेंगे पश्चिम के लोग

रालोद अध्यक्ष चौधरी जयंत सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला बोलते हुए कहा कि पश्चिम के लोग सत्ता के नशे में चूर बीजेपी सरकार को उखाड़ फेकेंगे। उन्होंने कहा कि बाबा की गाड़ी औरंगजेब से शुरू होकर कैराना पलायन पर आकर रुक जाती हैं। युवा परीक्षा देने जाते हैं, लेकिन पेपर लीक हो जाता है। भर्ती के लिए बुलाया जाता है लेकिन नौकरी नहीं लाठियां मिलती हैं।

चौधरी जयंत सिंह ने कहा कि यहां से पलायन करके उत्तर प्रदेश का नौजवान मजबूर होकर देश के बड़े शहरों में काम कर रहा है लेकिन, बाबाजी को यह पलायन नहीं दिख रहा। जयंत ने 23 दिसंबर को किसान दिवस के मौके पर अलीगढ़ के इगलास में आयोजित सभा में सभी से पहुंचने की अपील भी की।

जयंत सिंह ने कहा कि अब इनकी नफरत की बातें चलने वाली नहीं हैं। डबल इंजन की सरकार का आपने हाल देखा है कि बिजनौर में विधायक नई सड़क का उद्घाटन करने के लिए नारियल फोड़ते हैं, लेकिन नारियल की जगह सड़क टूट जाती है। अखिलेश जी ने एक्सप्रेस-वे बनवाए, ये इंजीनियर की भाषा समझते हैं, विज्ञान समझते हैं। ये ऑर्टिफिशियल इटेंलीजेंस की बात करते हैं, लेकिन बाबाजी को ये सारी बात समझ में नहीं आती। जयंत ने तंज कसते हुए कहा कि बाबा जी को गुस्सा भी बहुत आता है। मैंने उन्हें कभी हंसते हुए नहीं देखा। 

यह भी पढ़ें: 
अखिलेश-जयंत की रैली: बेकाबू हुई भीड़, डी तोड़कर मंच तक पहुंची भीड़, मीडिया का स्टेज भी टूटा, देखिए तस्वीरें
... और पढ़ें

छात्राओं से छेड़छाड़ का मामला: कोर्ट ने एक आरोपी को भेजा जेल, दूसरे ने थाने पहुंचकर किया सरेंडर

मुजफ्फरनगर में प्रयोगात्मक परीक्षा के बहाने दसवीं की 17 छात्राओं को रात के समय स्कूल में रोककर छेड़खानी के मामले में अब दोनों आरोपी पुलिस गिरफ्त में है। इस प्रकरण में गिरफ्तार स्कूल संचालक योगेश चौहान को अदालत ने मंगलवार को जेल भेज दिया। 

वहीं दूसरे स्कूल संचालक ने पुरकाजी थाने पहुंचकर सरेंडर कर दिया। पुलिस ने दो छात्राओं का मेडिकल कराया है। एक छात्रा के बयान दर्ज हो गए हैं। सीओ भोपा ने भी प्रकरण की जांच शुरू कर दी है। राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग अध्यक्ष जसवंत सैनी ने गांव पहुंचकर जानकारी ली।

एसपी सिटी अर्पित विजयवर्गीय ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी योगेश चौहान को पुलिस ने अदालत में पेश किया। अदालत ने आरोपी को 21 दिसंबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। पुलिस ने दो छात्राओं का मेडिकल कराया है। एक छात्रा ने अपने बयान भी दर्ज कराए हैं। 

प्रकरण को लेकर दिनभर भोपा क्षेत्र के गांव में तनाव का माहौल बना रहा। प्रकरण के दूसरे आरोपी अर्जुन ने मंगलवार को पुरकाजी थाने पहुंचकर सरेंडर कर दिया। परिवार और परिचित उसके साथ नजर आए। देर रात तक पुरकाजी पुलिस आरोपी से जानकारी ले रही थी।

यह भी पढ़ें: 
LIVE परिवर्तन संदेश रैली: सपा-रालोद की रैली के लिए जुटी भीड़, 36 गांवों के लोग अखिलेश और जयंत को बांधेंगे पगड़ी
... और पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00