लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

मेरठ: MJMC टॉपर वंशिका को अतुल माहेश्वरी स्वर्ण पदक और मुस्कान को मिलेगा मुरारी लाल माहेश्वरी स्वर्ण पदक

अमर उजाला ब्यूरो, मेरठ Published by: कपिल kapil Updated Tue, 06 Dec 2022 08:01 PM IST
मुस्कान सिंघल और वंशिका सैनी
1 of 5
विज्ञापन
चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय में वर्ष 2022 के लिए अतुल माहेश्वरी स्वर्ण पदक एमजेएमसी की टॉपर रुद्रा इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मवाना की छात्रा वंशिका सैनी को मिलेगा। 15 दिसंबर को होने वाले दीक्षांत समारोह में राज्यपाल-कुलाधिपति आनंदीबेन पटेल उन्हें मेडल देंगीं। अतुल माहेश्वरी अमर उजाला के नवोन्मेषक रहे हैं। प्रतिवर्ष इनके नाम पर टॉपर्स को ये स्वर्ण पदक दिया जाता है।

इसके साथ चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय में एमकॉम की टॉपर मुस्कान सिंघल को वर्ष 2022 के लिए मुरारी लाल माहेश्वरी स्वर्ण पदक दिया जाएगा। दीक्षांत समारोह में कुलाधिपति उन्हें मेडल देंगीं। मुरारी लाल माहेश्वरी अमर उजाला के संस्थापक रहे हैं। प्रतिवर्ष इनके नाम पर एमकॉम टॉपर्स को ये स्वर्ण पदक दिया जाता है।

बुलंद इरादों ने दिलाई कामयाबी - वंशिका

अपने माता-पिता के साथ वंशिका।
2 of 5
श्री अतुल माहेश्वरी स्वर्ण पदक के लिए नामित वंशिका सैनी मूल रूप से रोहटा रोड के खड़ौली गांव की रहने वाली हैं। उनकी स्कूलिंग कृष्णा पब्लिक स्कूल से हुई। बीजेएमसी उन्होंने सुभारती विश्वविद्यालय से 81 फीसदी अंकों के साथ किया। वंशिका रेडियो जॉकी हैं। वंशिका भविष्य में इनफार्मेशन मिनिस्ट्री के सामुदायिक रेडियो को नेतृत्व देने वाले विभाग में जाना चाहती हैं। वंशिका ने रेडियो जॉकी रहने के साथ सेल्फ स्ट्डी करते हुए ये सफलता प्राप्त की।
विज्ञापन
वंशिका सैनी।
3 of 5
वंशिका ने एमजेएमसी रुद्रा इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मवाना से 86.50 फीसदी अंकों के साथ उत्तीर्ण की। है। वंशिका को एंकरिंग, इवेंट मैनेजमेंट और पब्लिक रिलेशन के साथ शॉर्ट मूवी बनाने के लिए कई अवार्ड मिल चुके हैं। उनके पिता सुरेंद्र सिंह सैनी कृषक हैं और माता पुष्पा सैनी गृहिणी हैं। वंशिका के दो बड़े भाई मनीष सैनी और धीरज सैनी हैं। वंशिका अपनी सफलता का श्रेय परिवार और शिक्षकों को देती हैं। वे बताती हैं कि उनकी माता ने हर समय पर उनका साथ दिया। वंशिका कहती हैं कि मुझे अभी भी विश्वास नहीं हो रहा है कि उनको यह मेडल मिल रहा है। मेरे लिए इससे बढ़कर अच्छा पल नहीं हो सकता है, जब कुलाधिपति मेडल पहनाएंगी।
मुस्कान सिंघल।
4 of 5
मेहनत रंग लाई, मेडल मिलने की बहुत खुशी - मुस्कान
श्री मुरारी लाल माहेश्वरी स्वर्ण पदक के लिए नामित छात्रा मुस्कान सिंघल नेहरू नगर की रहने वाली हैं। मुस्कान ने शास्त्रीनगर स्थित मेरठ पब्लिक स्कूल फॉर गर्ल्स से 12वीं 91.83 फीसदी अंकों के साथ उत्तीर्ण की। दिल्ली विश्वविद्यालय से बीकॉम ऑनर्स 80.61 फीसदी अंकों से किया। इसके बाद उन्होंने सीसीएसयू कैंपस से एमकॉम 88.07 फीसदी अकों के साथ उत्तीर्ण किया। मुस्कान अब आईआईएम रांची से एमबीए कर रही हैं। मुस्कान भविष्य में फाइनेंस के क्षेत्र में जाना चाहती हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
माता पिता के साथ मुस्कान
5 of 5
मुस्कान के पिता विपिन कुमार सिंघल का सूर्य प्रकाशन नाम से पब्लिकेशन है, माता सुनीता सिंघल गृहिणी हैं। मुस्कान नेट क्वालीफाई भी कर चुकी हैं। मुस्कान को डांसिंग, कुकिंग, आउट डोर गेम खेलना पसंद है। 

मुस्कान बताती हैं कि मेडल मिलने की बहुत खुशी है, आज लग रहा है कि मेहनत रंग लाई। मुस्कान बताती हैं कि सामान्य तौर पर तीन से चार घंटे पढ़ाई की। मुस्कान अपनी सफलता का श्रेय परिवार और सीसीएसयू के एमकॉम विभाग के शिक्षक-शिक्षिकाएं को देती हैं। वे बताती हैं कि वहां पर बहुत अच्छे से पढ़ाई कराई गई। मुस्कान का कहना है कि मुरारी लाल स्वर्ण पदक पाना उनके लिए बहुत खास है।
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00