बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

एक दिन में रिकार्ड 14 हजार 728 को लगे कोविड के टीके

Varanasi Bureau वाराणसी ब्यूरो
Updated Mon, 21 Jun 2021 10:57 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
मिर्जापुर। जिले में सोमवार को एक दिन में रिकार्ड 14 हजार 728 लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया। इसमं 18 प्लस के 10 हजार 183 युवाओं ने टीका लगवाया। सोमवार को एक जुलाई से गांव-गांव लगने वाले टीकाकरण अभियान के तहत चार ब्लाकों में पायलट प्रोजेक्ट के तहत कैंप लगाया गया। कैंप में काफी संख्या में ग्रामीणों का टीकाकरण किया गया। इससे पहले ग्रामीणों को टीकाकरण के लिए जागरुक किया गया था। पायलट प्रोजेक्ट चील्ह, पड़री, सीखड़ और जमालपुर में 40 टीमों ने टीका लगाया गया।
विज्ञापन

जिले में सोमवार को जिला महिला अस्पताल में महिलाओं के लिए बने बूथ पर 31 महिलाओं को टीका लगाया गया। इसके अलावा अभिभावकों के लिए बने चुनार पीएचसी में 30 और लायंस स्कूल में 31 लोगों को टीका लगाया गया। इसके अलावा वर्क प्लेस चुनार में 275 लोगों टीका लगाया गया।

सोमवार को 10 हजार 183 युवाओं ने टीका लगवाया। इसके अलावा 45 प्लस में 3669 कोविशील्ड का प्रथम डोज, 472 द्वितीय डोज लगा। 18 वर्ष से अधिक उम्र वालों में चील्ह पीएचसी में 230, गुरुसंडी पीएचसी में 876, विजयपुर में 1254, पड़री पीएचसी में 936, कछवां पीएचसी में 969, सीखड़ पीएचसी में 955, जमालपुर पीएचसी में 1411, चुनार में 911, लालगंज में 546, हलिया में 715, पटेहरा में 418, राजगढ़ में 388, तरकापुर अर्बन पीएचसी व मंडलीय अस्पताल में 574 को कोरोना का टीका लगाया गया। इसके अलावा इन स्थानों पर 45 प्लस वालों को भी टीका लगा।
टीकारण करने गई टीम को ग्रामीणों ने भगाया
चील्ह। थाना क्षेत्र के दो गांव से सोमवार को कोरोना टीकाकरण के लिए गई टीम को ग्रामीणों ने भगा दिया। क विकास खंड कोन के अनुरुद्धपुर पश्चिम पट्टी व भोगाव गांव में सोमवार की सुबह ग्रामीणों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीन लगाने के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की टीम जिसमें एनम, आशा, आंगनवाडी, डॉक्टर व ऑनलाइन सत्यापित कर्मचारी मौके पर पहुंचे। गांव वालों से कोविड-19 से बचाव के लिए वैक्सीन लगवाने का अनुरोध किया। लेकिन गांव का एक भी व्यक्ति वैक्सीन लगवाने को तैयार नहीं हुआ। ग्रामीण स्वास्थ्य कर्मियों से उलझ गए और हाथापाई पर उतर आये। गाली-गलौज करने लगे। टीम के कर्मियों ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चील्ह के प्रभारी डा. धीरज जायसवाल को वस्तुस्थिति से अवगत कराया। घटना की सूचना चील्ह पुलिस को फोन पर करने का प्रयास किया गया। पुलिस मौके पर नहीं पहुंच पाई तो हताश होकर टीम को दोपहर दो बजे तिलठी गांव में वैक्सीनेशन के लिए भेज दिया गया। जहां पर कुछ लोगों को टीका लग पाया। भोगाव गांव में राशन कार्ड की दुकान पर कार्यक्रम रखा गया था लेकिन ग्रामीणों के विरोध के चलते गांव से टीम बिना किसी को वैक्सीन लगाए ही वापस आ गई। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डा. धीरज जायसवाल ने बताया कि कोन ब्लाक में 32 प्रतिशत वैक्सीनेशन हो गया है। कुछ बड़े गांव लखनपुर, दलापट्टी ,भोगांव, अनुरुद्ध पूर पश्चिम पट्टी, जगदीशपुर में वैक्सीनेशन हो गया होता तो ब्लाक में 60 प्रतिशत के ऊपर लक्ष्य प्राप्त हो गया होता। असहयोग से वैक्सीनेशन पिछड़ रहा है। लोगों का स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ बना हुआ है। ग्रामीणों के दुर्व्यवहार के कारण वैक्सीनेशन टीम में भय व्याप्त है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us