लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Rampur News ›   Rampur Bypoll Azam Khan alleges police threatens my wife tazeen fatma

Rampur Bypoll: आजम खां बोले- मेरी पत्नी को पुलिस ने दी है धमकी, ऐसे तो भाजपा प्रत्याशी को घोषित कर दें विजेता

अमर उजाला ब्यूरो, रामपुर Published by: अनुराग सक्सेना Updated Sun, 27 Nov 2022 12:52 PM IST
सार

सपा नेता ने कहा कि महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार किसी भी व्यवस्था को शोभा नहीं देता है। उन्होंने रामपुर के लोगों से अपील करते हुए कहा कि मुझे मत बचाइए। मैं तो सजायाफ्ता हूं, चुनाव तो लड़ नहीं सकता हूं। मुझे तो वोट डालने का भी अधिकार नहीं है।

सपा नेता आजम खां
सपा नेता आजम खां - फोटो : amar ujala
विज्ञापन

विस्तार

रामपुर विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव को लेकर सपा नेता आजम खां ने पुलिस पर बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने कहा पुलिस लोगों को घरों में घुसकर धमकी दे रही है। पुलिस लोगों से कह रही है कि अगर सपा को वोट दिया तो उनके घर खाली करा लिए जाएंगे। आजम खां ने कहा कि पुलिस ने उनकी पत्नी को नहीं बख्शा है, जो पूर्व सांसद और पूर्व विधायक हैं। पुलिस ने उनसे कहा है कि घर से बाहर मत निकलना। सपा नेता ने कहा है कि अगर ऐसा ही चुनाव कराना है तो चुनाव आयोग भाजपा प्रत्याशी को जीता हुआ घोषित कर दे।



शनिवार की देर रात लगभग 12 बजे सपा कार्यालय पर आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में आजम खां ने कहा कि हम जो आरोप लगा रहे हैं उसके प्रमाण हमारे पास हैं। वीडियो फुटेज भी हैं और रिकॉर्डिंग भी, लेकिन कुछ खास वजह से हम इसे मीडिया को उपलब्ध नहीं करा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कुछ माह पहले संपन्न हुए लोकसभा के उपचुनाव में क्या हुआ था, किसी से छुपा नहीं है। अब विधानसभा के उपचुनाव को लेकर भी वैसा ही माहौल बनाया जा रहा है।

पुलिस ने 50 घरों के दरवाजे तोड़े- आजम
आजम खां ने आरोप लगाया कि शनिवार की रात पुलिस ने 50 घरों के दरवाजे तोड़े हैं और महिलाओं के साथ अभद्रता की है। उन्होंने कहा कि रामपुर विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव के लिए सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, रालोद के अध्यक्ष जयंत चौधरी और भीम आमी के चंद्रशेखर भी आने वाले हैं। आजम ने सवाल उठाया कि आखिर ये किस बात के लिए रामपुर आ रहे हैं जब यहां चुनाव ही नहीं हो रहा है। यहां तो पुलिस ने दहशत का माहौल बना रखा है।

उन्होंने कहा कि महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार किसी भी व्यवस्था को शोभा नहीं देता है। उन्होंने रामपुर के लोगों से अपील करते हुए कहा कि मुझे मत बचाइए। मैं तो सजायाफ्ता हूं, चुनाव तो लड़ नहीं सकता हूं। मुझे तो वोट डालने का भी अधिकार नहीं है। लेकिन अपने नामों को जिनकी वजह से आपकी पहचान है, उनको बचा लीजिए। आजम ने कहा कि यह न तो कटाक्ष है और न ही नसीहत। यह दर्दमंदाना अपील है क्योंकि वो बहन-बेटियां, वो मांएं आप ही की हैं जिनके साथ अपमानजनक व्यवहार हो रहा है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00