बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

जिले को 68 स्वास्थ्य उपकेंद्रों की मिली सौगात

Gorakhpur Bureau गोरखपुर ब्यूरो
Updated Sat, 31 Jul 2021 11:21 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
जिले को 68 स्वास्थ्य उपकेंद्रों की मिली सौगात
विज्ञापन

सरकारी भवनों के निर्माण होने तक किराए के मकान में संचालित होंगे
ग्रामीण क्षेत्र को नजदीक ही मिलेगी स्वास्थ्य सुविधाएं
संवाद न्यूज एजेंसी
संतकबीरनगर। ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करने के लिए शासन गंभीर हो गया है। इसके तहत जिले में 68 स्वास्थ्य उपकेंद्रों की मंजूरी मिली है। इसके साथ ही सभी स्वास्थ्य उपकेंद्रों को जल्द से जल्द संचालित कराने के निर्देश दिए गए हैं। जब तब भवन की उपलब्धता नहीं होगी तब तक इन स्वास्थ्य उपकेंद्रों को किराए के भवन में संचालित किया जाएगा।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अमित मोहन प्रसाद ने जिला स्वास्थ्य समिति की अध्यक्ष एवं डीएम को भेजे पत्र में अवगत कराया है कि शासन ने ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाएं और बेहतर करने के लिए जिले में 68 स्वास्थ्य उपकेंद्रों की मंजूरी दी है। उन्होंने जिक्र किया है कि भारत सरकार द्वारा 1977 में दिए गए नोटिफिकेशन के द्वारा 5000 की आबादी पर एक स्वास्थ्य उपकेंद्र स्थापित करने का मानक तय किया था। वर्तमान में जनसंख्या काफी बढ़ गई है, ऐसे में शासन ने नए स्वास्थ्य उपकेंद्रों की मंजूरी प्रदान की है। इसके भवन के लिए ग्राम पंचायतें जमीन उपलब्ध कराएंगी। जब तक नया भवन नहीं बन जाता है तब तक इन स्वास्थ्य उपकेंद्रों को किराए के भवन में संचालित किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। इसके लिए तय किया गया है कि स्वास्थ्य उपकेंद्र के लिए तीन कमरे, शौचालय, विद्युत व्यवस्था और पेयजल की उपलब्धता होनी चाहिए। किराए के भवन के लिए तीन हजार रुपये प्रतिमाह तय किया गया है। जिले में जिन स्वास्थ्य उपकेंद्रों को स्थापित करने की मंजूरी मिली है उसमें पजराभेरी, बरडाड़, गंगौरा, देवरिया, मीरापुर, मुडे़री, भिटिया, गजौली, पिपरा प्रथम, कैथवलिया, भिदौरा पिकौरा, चंगेरा-मंगेरा, चमरसन, मजगांवा, बेलपोखरी, महदेवा, फेरूसा, शिवसरा, भगता, सरौली सहारुम, पानाराम, कटका, रसूलाबाद, कटबंध आदि शामिल हैं।

इंसेट-
शीघ्र ही स्थापित हो जाएंगे स्वास्थ्य उपकेंद्र
जिले में 68 स्वास्थ्य उपकेंद्रों की शासन से मंजूरी मिली है। इन उपकेंद्रों को जल्द ही स्थापित कर दिया जाएगा। प्रत्येक स्वास्थ्य उपकेंद्र पर एक एएनएम की तैनाती की जाएगी। इससे ग्रामीण क्षेत्र में रहने वालों को नजदीक ही स्वास्थ्य सुविधाएं मिलेगी।
-डॉ. मोहन झा, अपर सीएमओ
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X