बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
22 जून को शुक्र का कर्क राशि में परिवर्तन, जानें सभी राशियों पर प्रभाव
Myjyotish

22 जून को शुक्र का कर्क राशि में परिवर्तन, जानें सभी राशियों पर प्रभाव

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना में लाएं तेजी

श्रावस्ती। वैश्विक महामारी का प्रकोप भले ही कम हुआ हो। लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। कोरोना के तीसरी लहर से निपटने के लिए तैयारियां की जा रही हैं। इसके लिए सीएचसी सोनवा में 100 बेड का एल-2 अस्पताल का निर्माण भी कराया जा रहा है। जिसका शुक्रवार को अपर आयुक्त ने डीएम के साथ जायजा लिया।
जिलाधिकारी टीके शिबु देवीपाटन मंडल के अपर आयुक्त प्रशासन राकेश चंद्र शर्मा के साथ नवनिर्मित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनवा पहुंचे। जहां उसका निरीक्षण किया। इस दौरान वहां मौजूद मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एपी भार्गव को को कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए इस अस्पताल को व्यवस्थित करने का निर्देश दिया। ताकि जरूरत पड़ने पर इसे उपयोग में लाया जा सके। उन्होंने अस्पताल की सफाई, पंखों आदि का संचालन दिखवाने, पेयजल के साथ ही अन्य व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने का निर्देश दिया। यहां पर आक्सीजन प्लांट भी स्थापित किया जाना है।
इसके लिए स्वास्थ्य एवं लोक निर्माण विभाग के अधिकारी को आपस में सामंजस्य बनाकर प्लांट स्थापित करने के लिए तत्काल सभी कार्यवाहियां प्रारंभ करने को कहा। ऑक्सीजन प्लांट स्थापना की गति धीमी होने पर कार्य में तेजी लाकर इसे तत्काल स्थापित करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही अस्पताल के जनरल वार्ड एवं आईसीयू वार्ड तथा अन्य वार्डों एवं कमरों की तत्काल सफाई कराकर सुसज्जित ढंग से बेडों को लगवाने का कहा। अस्पताल कैम्पस की भी सफाई पर भी विशेष बल देने को कहा। इसके बाद उनके द्वारा भंगहा एल-2 अस्पताल का भी निरीक्षण किया। जहां उन्होंने मरीजों का हाल जाना।
अधीक्षक डॉ. सत्यसरन ने बताया कि अस्पताल में दो मरीज भर्ती हैं, जिनका स्वास्थ्य अब पहले से बेहतर है। उन्हें कोविड प्रोटोकॉल के मुताबिक सभी सुविधाएं मुहैया करायी जा रही हैं। यहां भी अस्पताल परिसर में लगाए जा रहे ऑक्सीजन प्लांट का भी जायजा लिया। इस दौरान सीडीओ ईशान प्रताप सिंह, एडीएम योगानंद पांडें, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. मुकेश मातनहेलिया, डॉ. राकेश भारती सहित चिकित्सक व पैरामेडिकल कर्मी मौजूद रहे।
... और पढ़ें

पहाड़ी नाले में आया बाढ़ का पानी, ससुराल में फसी बारात

श्रावस्ती। भिनगा थाना छेत्र के ग्राम गंधी के माजरा धोवियनपुरवा में असई पुरवा से बरात बुधवार को आई थी। जिस दिन बरात गांव में आई उसी रात से मूसलाधार बरसात होने लगी। बरसात इतनी हुई कि जिस पहाड़ी नाले के किनारे गांव बसा हुआ था। यहां भी लगभग पांच फीट ऊंचा पानी बहने लगा।
यह सिलसिला दूसरे दिन भी चला। ऐसे में नाले में पानी घटने के बजाय और बढ़ने लगा। ऐसे में जब शुक्रवार को भी पानी बंद नहीं हुआ तो गांव के कुछ लोगों ने बराती के साथ ही दूल्हे को कंधे पर बिठा कर नाला पार कराया। ग्रामीणों का कहना था कि ऐसा कोई पहली बार नहीं है। नाले पर पुल नहीं है। इस लिए बरसात में ऐसे ही नाला पर करना पड़ता है।
... और पढ़ें

राप्ती का घट रहा जलस्तर, तेज हुई कटान

श्रावस्ती। राप्ती नदी का जलस्तर गुरुवार तेजी के साथ घट रहा है। लेकिन इसके बावजूद राप्ती नदी अभी भी खतरे के निशान से काफी ऊपर है। राप्ती नदी के तटीय इलाके में बसे गांवों में कटान व जलभराव है। कुछ गांवों के ग्रामीण कटान को देखते हुए अपने पक्के मकान को तोड़ कर मलवा सहित सुरक्षित स्थान की ओर निकल रहे हैं। इसी के साथ भिनगा जमुनहा का जमीनी संपर्क एक ओर से कट गया है। गुरुवार को जलस्तर 128.10 सेमी पर पहुंच गया जो कि खतरे के निशान 127.7 सेमी. से 40 सेमी. ऊपर है। जबकि बुधवार को जलस्तर खतरे के निशान से 70 सेमी. ऊपर पहुंच गया था।
लगातार जिले में हो रही बरसात के कारण राप्ती नदी अपना तांडव शुरू कर चुकी है। सुबह से ही राप्ती नदी मधवापुर सहित कुछ इलाकों में तेजी से कटान कर रही है। इसको देखते हुए मधवापुर, भगवानुपर गांव में अमेरिका प्रसाद व कमला प्रसाद अपने घरों को तोड़ कर सुरक्षित स्थान की ओर घर का सभी सामान व मलवा लेकर निकल चुके हैं। ताकि जहां वह अपना आशियाना बनाएं। वहां इस मलवे का उपयोग कर सकें। यही स्थिति भगवानपुर गांव का भी है। जहां राप्ती नदी गांव को काट रही है। जबकि भंगहा पुलिस चौकी अंतर्गत गोंडरा राजावीरपुर से भंगहा बाजार का संपर्क कट चुका है। जिसके चलते कई गांव एक दूसरे से जुड़ नहीं पा रहे हैं। बाढ़ की स्थिति को देखते हुए जमुनहा व हरिहरपुरनी क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति बाधित कर दी गई है। ताकि करंट से कोई दुर्घटना न हो सके।
यह गांव बाढ़ से हुए प्रभावित
वीरपुर, सर्रा, लक्ष्मरनपुर सेमरहनिया, संगमपुरवा, बेलरी, गंगाभागड़, मुजेहना, अमवा, शाहपुर कला, अशरफ नगर, टिकुइया, सुल्तानजोत, मनिकापुर, जरकुसहा, मनिकाचौक, महरौली, अलीनगर धर्मनगर, अशरफ नगर, कोकल, सुल्तानजोत, बरंगा, नेवादा भोजपुर, राजापुर वीरपुर, खजुहा झनझिनिया, तिलकपुर, शिकारी, लौकिहा, मोहनपुर, गोडऱा रेहरा,नाउन मनकापुर के साथ लालबोझा दर्वेश गांव व डिलवा के पास नदी ज्यादा कटान कर रही है।
इन गांवों में नदी कर रही घरों का कटान
राप्त्ी नदी मौजूदा समय में जमुनहा के भगवानपुर निवासी अमेरिका प्रसाद, कमला प्रसाद सहित अन्य लोगों के घरों का कटान कर रही है। राप्ती नदी की विभीषिका को देखते हुए सभी लोग अपने अपने आशियाने को उजाड़ कर सुरक्षित स्थान की तरफ जा रहे हैं। यही स्थिति कुछ अन्य गांवों का है। जहां लोग अपने पक्के मकान को तोड़ रहे हैं।
जमुनहा तहसील का जमीनी संपर्क जिला मुख्यालय से कटा
मधवापुर घाट के साथ ही तिलकपुर मोड़ के पास राप्ती नदी लगातार कटान कर रही है। कई स्थानों पर सड़क क्षतिग्रस्त है। यहां तक कि कुछ ऐसे भी स्थान हैं जहां मुख्य मार्ग से काफी ऊपर पानी बह रहा है। जिसके चलते यह देख पाना संभव नहीं है कि कहां कहां सड़क कटानग्रस्त हैं। ऐसे स्थिति में जमुनहा तहसील का जमीनी संपर्क जिला मुख्यालय से कटा हुआ है।
मार्ग हुआ क्षतिग्रस्त
विकास खंड सिरसिया के दुर्गापुर केपी से सिरसिया जाने वाला मार्ग कट गया है। पहाड़ों पर लगातार हो रही बरसात से दुर्गापुर केपी नाले में बाढ़ का पानी आ जाने से सड़क कट गई। जिससे आने जाने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
मोटरसाइकिल बही, युवक बचा
लालपुर महरी निवासी दिनेश कुमार (25) पुत्र संतराम बुधवार को अपनी ससुराल इकौना थाना क्षेत्र के ओड़ाझार गया था। गुरुवार को वह वापस अपने घर आ रहा था। रेवलिया के खड़ंजा मार्ग पर करीब चार फिट पानी होने के कारण व मार्ग कटा होने के कारण मोटर साइकिल सहित पानी में बह गया। करीब सौ मीटर दूर दिनेश कुमार पेड़ की ओट पा गया। जिससे वह पानी से बाहर आ सका। जबकि मोटरसाइकिल का अभी कोई पता नहीं चल सका है।
अधिकारियों ने बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों का किया दौरान
बाढ़ की संभावनाओं व स्थिति को देखते हुए डीएम टीके शिबु, एडीएम योगानंद पांडे सहित अन्य अधिकारियों के साथ बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र मधवापुर घाट, राप्ती बैराज सहित अन्य क्षेत्रों का दौरा करके स्थिति का अनुमान लगाया।
राप्ती नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर है। कुछ स्थानों से कटान की सूचना भी आई है। लेकिन अभी स्थिति सामान्य है। पानी तेजी के साथ निकल रहा है। उम्मीद है कि यदि बरसात नहीं हुई तो देर रात तक राप्ती नदी का जलस्तर पूर्ण रूप से सामान्य हो जाएगा। -योगानंद पांडे एडीएम
... और पढ़ें

वृक्षों के संरक्षण की दिलाई शपथ

श्रावस्ती। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर 62वीं वाहिनी एसएसबी मुख्यालय भिनगा सहित सभी बीओपी पर पौधरोपण कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस दौरान मुख्यालय पर कमान अधिकारी ने पौध रोपण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस दौरान पौधरोपण कर मौजूद लोगों को पौधों के फायदों के बारे में जागरूक कर वृक्षों के संरक्षण की शपथ भी दिलाई गई।
62वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल मुख्यालय भिनगा में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर कमान अधिकारी चिरंजीव भट्टाचार्य के नेतृत्व में पौधरोपण कार्यक्रम आयोजित हुआ। जिसमें एसएसबी के जवानों ने पौधरोपण कर उनके संरक्षण का संकल्प लिया। इस दौरान कमार अधिकारी ने कहा कि वृक्ष धरती का गहना हैं। यदि धरती हरी भरी रही तो हमें स्वच्छ प्राण वायु मिलती रहेगी। उपकमांडेंट संदीप कुमार जेटली ने ने कहा कि वन व जीव एक दूसरे के पूरक हैं। बिना वन जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती। इस मौके पर सहायक उपकमांडेट शशिकांत, अतुल कुमार सहित अन्य जवानों ने शीशम, जामुन, सागौन, चितवन, कदम आदि पौधे रोपित किए।
वहीं 62वीं वाहिनी गुज्जरगौरी व भचकाही नाका में जवानों ने जामुन, सागौन, नीम ,साखू, आम एवम नीबू के फलदार तथा छायादार पौधों का रोपण किया। इस दौरान सहायक उप निरीक्षक खगेन्द्र चौधरी दास ने वृक्षारोपण से होने वाले फायदों की जानकारी देते हुए वन मित्र बन कर पर्यावरण की रक्षा करने, वन, वृक्ष संपदा, जल एवं मृदा के सजग प्रहरी के रूप में सदैव इनकी रक्षा करने, अधिक से अधिक पौधे रोपित कर धरती को हराभरा बनाने, रोपित पौधों को सींच कर उनकी रक्षा करने, वृक्षों को न काटने की शपथ दिलाई। इस मौके पर विजय प्रसाद, जितेंद्र कुमार, भूषण कुमार सहित अन्य जवान व ग्रामीण मौजूद रहे।
... और पढ़ें

योजनाओं के संचालन में न हो लापरवाही

श्रावस्ती। जिले के प्रभारी मंत्री व प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री खाद्य एवं रसद तथा नागरिक आपूर्ति मंत्री ने सोमवार को ब्लॉक सभागार इकौना में योजनाओं की समीक्षा बैठक की। साथ ही इकौना व गिलौला परिसर में उन्होंने पौधरोपण किया। इस दौरान उन्होंने शहीद स्मारक पर पुष्प अर्पित कर शहीदों को नमन किया।
जिले के प्रभारी मंत्री व राज्यमंत्री खाद्य एवं रसद तथा नागरिक आपूर्ति मंत्री रणवेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ धुन्नी सिंह ने इकौना में ब्लॉक सभागार में सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की समीक्षा बैठक की। बैठक के दौरान उन्होंने कहा कि सरकार जन जन के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। गरीब असहाय लोगों के उत्थान के लिए सरकार कई योजनाएं चला रही है। ऐसे में संबंधित विभागीय अधिकारियों का दायित्व है कि वह सरकार की योजनाओं से प्रत्येक पात्र व्यक्ति को लाभान्वित करें। सरकार की योजनाओं से कोई भी पात्र व्यक्ति छूटने न पाए। ताकि सबका विकास हो और समाज में और खुशहाली आए। कोविड से बचाव व सुरक्षा के लिए वैक्सीन लगवाना अनिवार्य है। शत प्रतिशत लोगों का टीकाकरण कराया जाए। जिससे इस महामारी से लोगों को सुरक्षित किया जा सके।
कोरोना काल के दौरान जो भी प्रवासी मजदूर जिले में आए है उन्हें मनरेगा से जोड़ा जाए। जिससे उन्हें कोई दिक्कत न होने पाए। इस दौरान प्रभारी मंत्री ने कन्या सुमंगला योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, स्वच्छ शौचालय, प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री आवास योजना, कृषि विभाग द्वारा संचालित योजनाएं तथा विभिन्न विभागों द्वारा संचालित योजनाओं की गहन समीक्षा की। उन्होंने योजनाओं का बेहतर ढंग से संचालन करने के साथ ही शत प्रतिशत लक्ष्य पूरा करने का निर्देश दिया।
इसके बाद उन्होंने इकौना ब्लॉक मुख्यालय के सामने चल रहे कोविड टीकाकरण स्थल का जायजा लिया। इसके बाद प्रभारी मंत्री ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र इकौना व गिलौला पहुंचकर टीकाकरण स्थल व अन्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान, श्रावस्ती विधायक रामफेरन पांडे सहित जिलाधिकारी टीके शिबु व अन्य अधिकारियों ने ब्लॉक सभागार में पौधरोपण भी किया। इस मौके पर एडीएम योगानंद पांडे, एसडीएम आरपी चौधरी, जिलाध्यक्ष संजय कैराती पटेल, पूर्व जिलाध्यक्ष शंकर दयाल पांडे, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष रमन सिंह, एसीएमओ डॉ. मुकेश मातन हेलिया, खंड विकास अधिकारी इकौना एससी त्रिपाठी, गिलौला यशोबर्धन सिंह सहित संबंधित विभाग के जिला स्तरीय, तहसील व ब्लॉक स्तरीय अधिकारी एवं पदाधिकारी मौजूद रहे।
... और पढ़ें

योग करके निरोग रहने का दिया संदेश

श्रावस्ती। सातवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर अधिकारी कर्मचारी सहित अन्य लोगों ने योग करके निरोग रहने का संदेश दिया है। इस दौरान एसएसबी कैंप, पुलिस लाइन, सहित कई अन्य स्थानों पर सामूहिक योग शिविर का आयोजन किया गया। जबकि कुछ अधिकारियों ने अपने ही आवास पर अकेले ही योग किया।
कोविड काल में इम्युनिटी पावर सहित अन्य समस्याओं को लेकर लोगों को परेशान होना पड़ा। इसी बीच यह खुलकर आया कि योग ही कोरोना सहित कई अन्य बीमारियों को दूर कर सकता है। इसी संदेश को जन जन तक पहुंचाने के लिए जिले में सातवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन किया गया। इस दौरान एसएसबी 62वीं वाहिनी मुख्यालय पर सामूहिक योग शिविर आयोजित हुआ। जिसकी अध्यक्षता कमान अधिकारी चिरंजीव भट्टाचार्य ने की। वहीं भारत-नेपाल सीमा पर तैनात एसएसबी के विभिन्न कैंपों में योग शिविर आयोजित हुए। जिसमें एसएसबी के जवानों के साथ कुछ अन्य लोगों ने प्रतिभाग किया।
इसी प्रकार योग से रहे निरोग का संदेश देते हुए पुलिस लाइन में योग शिविर आयोजित हुआ। जिसकी अध्यक्षता एसपी अरविंद कुमार मौर्य ने की। इस दौरान प्रशिक्षु जवानों के साथ अन्य अधिकारियों को योग प्राणायाम की जानकारी दी गई। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए हमें पौष्टिक भोजन के साथ ही योग और ध्यान की भी जरूरत है। विभिन्न योगासान रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में अहम भूमिका निभा सकते हैं। इसलिए कुछ योगासन को अपने दैनिक कार्यों में जरूर शामिल करें। यह योगासन आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाकर आपके फेफड़ों को भी मजबूती देंगे। साथ ही आपके शरीर को लचीला भी रखेंगे। सभी योगासन बिना किसी बाहरी वस्तु या लोगों के संपर्क में आए आसानी से कर सकते हैं। इसमें सेतुबंध आसन व पाद हस्तासन को रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने में सर्वाधिक लाभदायक माना जाता है।
योग से 24 घंटे रहता तनावमुक्त
योग का प्रशिक्षण आईएएस ट्रेनिंग के दौरान मिला था। तभी से लगातार योग कर रहा हूं। योग से कई लाभ देखने को मिले। एक तो 24 घंटे तनाव मुक्त रहता हूं। मेरे संतुलित जीवन का राज ही योग है। इससे मुझे आत्मविश्वास से भरा सकारात्मक नजरिया मिलता है। इससे मैं लोगों से अधिक आत्मीयता से मिल पाता हूं।
-टीकेशिबु डीएम
योग से सकारात्मक होता जीवन
विगत 15 वर्षों से योग कर रहा हूं। इसका लाभ यह रहा कि इस दौरान मुझे किसी भी औषधि की आवश्यकता नहीं पड़ी। यूं कहें कि इन 15 वर्षों में मेरे ऊपर दवा का खर्च शून्य रहा। योग केवल शारीरिक व्यायाम ही नहीें है बल्कि मन का व्यायाम है। इससे जीवन सकारात्मक हो जाता है।
-बीसी दुबे, एएसपी
वैकल्पिक चिकित्सा का मिला लाभ
मैं विगत दो वर्षों से योग कर रहा हूं। इसका प्रभाव है कि मैं स्वस्थ हूं। तनाव पर भी नियंत्रण है। इससे मेरे अंदर कई बदलाव भी हुए। इससे वैकल्पिक चिकित्सा का लाभ भी मिला।
-ईशान प्रताप सिंह, सीडीओ
शारीरिक समस्याओं से मिला छुटकारा
कुछ शारीरिक समस्याओं के कारण स्वप्रेरित होकर योग की शरण में गई थी। उन समस्याओं से छुटकारा मिला। इसके साथ ही अब पहले की अपेक्षा ज्यादा ऊर्जावान रहती हूं। योग से मेरे अंदर एक अद्भुत आत्म विश्वास आ गया।
-सीमा बौद्ध
योगाभ्यास
कर लोगों को किया जागरूक
महा प्रजापति गौतमी भिक्षुणी प्रशिक्षण केंद्र श्रावस्ती में बौद्ध भिक्षु देवेंद्र की अध्यक्षता में योग दिवस का आयोजन किया गया। जिसमें प्रशिक्षुओं ने कपाल भांती, बर्जिका पद्मासन आदि योगाभ्यास किया। वहीं टीचर कॉलोनी इकौना में योग शिक्षक राम बिहारी बाजपेई की अध्यक्षता में लोगों ने योगाभ्यास किया। इस दौरान योग शिक्षक ने लोगों को जागरूक करते हुए कहा कि योग करने से व्यक्ति स्वस्थ और निरोगी रहता है। जो भी व्यक्ति प्रत्येक दिन योगा करता है। वह सदैव स्वस्थ व निरोग रहता है।
... और पढ़ें

तेज रफ्तार बोलेरो ने बाइक को मारी टक्कर, तीन घायल

श्रावस्ती। सिरसिया से भिनगा आ रहे मोटर साइकिल सवार को रविवार तेज रफ्तार बोलेरो ने गुलरा के पास ठोकर मोर दिया। जिसमें मोटर साइकिल पर सवार एक किशोर का पैर कट कर अलग हो या। आसपास मौजूद लोगों ने फोन कर एंबुलेंस से सभी घायलों को संयुक्त जिला चिकित्सालय भिनगा पहुंचाया। जहां से सभी को ट्रॉमा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया गया। लखनऊ जाते समय एक किशोरी की मौत हो गई।
सिरसिया बाजार निवासी बृजेंद्र कुमार सोनी (38) रविवार को भिनगा आ रहे थे। इस दौरान मोटर साइकिल पर उनके साथ उनकी पुत्री वैशाली (11) व वैष्णवी (9) भी थी। जैसे ही बृजेंद्र सिरसिया थाना क्षेत्र के गुलरा चौराहे के पास पहुंचा पीछे से आ रही तेज रफ्तार बोलेरो ने मोटर साइकिल को टक्कर मार दिया। जिससे मोटर सवार बृजेंद्र सहित वैष्णवी गंभीर रूप से घायल हो गईं। जबकि वैशाली का दाहिना पैर कट कर अलग हो गया।
आसपास मौजूद लोगों की सूचना पर पहुंची एंबुलेंस से बृजेंद्र, वैशाली व वैष्णवी को संयुक्त जिला चिकित्सालय भिनगा पहुंचाया गया। जहां हालत गंभीर होने के कारण चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार कर ट्रॉमा सेंटर लखनऊ के लिए रेफर कर दिया। लखनऊ ले जाते समय वैशाली की रास्ते में ही मौत हो गई।
... और पढ़ें

बाइकर्स ने मोटर साइकिल सवार दंपती को लूटा

इकौना (श्रावस्ती)। बौद्ध परिपथ स्थित ग्राम सोनरई मोड़ पर पेट्रोल पंप के पास तीन मोटर साइकिल पर सवार पांच लोगों ने मोटर साइकिल सवार एक दंपति को रोक लिया। इसके बाद मोटर साइकिल सवार बदमाशों ने दंपती को मारपीट कर उनके पास मौजूद बीस हजार रुपये छीन लिया। मारपीट की झड़प के बीच एक मोटर साइकिल की चाबी दंपती द्वारा फेंक दिए जाने के कारण मोटर साइकिल छोड़ सभी भाग निकले। सूचना पर पहुंची पुलिस ने जांच कर पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने पैसे की लूट को गलत बताया है।
बहराइच जिले के थाना पयागपुर अंतर्गत ग्राम भूपगंज निवासी संदीप शर्मा पुत्र धर्मराज शर्मा इकौना थाना क्षेत्र के ग्राम सौंरूपुर में मसाले का गोदाम बनाए हुए हैं। जिनके द्वारा ग्रामीण बाजारों की दुकानों पर थोक व्यापार किया जाता है। शनिवार को ग्रामीण बाजार से मसाला बेचकर वह वापस अपने गोदाम पर आया था। इसके बाद संदीप अपनी पत्नी शीला के साथ पेट्रोल पंप के सामने सोनरई मोड़ ढाबे पर खाना खाने गया था। खाना खाने के बाद संदीप वापस मोटर साइकिल से अपने गोदाम जा रहा था। रात करीब नौ बजे तीन मोटर साइकिल पर सवार पांच लोगों ने संदीप का पीछा किया। इसके बाद कुछ दूरी पर जाकर मोटर साइकिल सवारों ने दंपती को रोक लिया।
इस दौरान मोटर साइकिल सवारों ने दपंत्ति के साथ मारपीट किया। साथ ही जेब से रुपये निकाल लिए। इस दौरान मारपीट में संदीप द्वारा एक मोटर साइकिल की चाबी निकालकर फेंक दिया गया। इसके बाद लोगों को आता देख मोटर साइकिल सवार एक मोटर साइकिल छोड़ कर मौके से भाग निकले। संदीप द्वारा घटना की सूचना डायल 112 को दी गई। सूचना पर मौके पर पहुंचे सीओ इकौना महेंद्र पाल शर्मा, प्रभारी निरीक्षक कमलाकांत त्रिपाठी ने जांच पड़ताल शुरू कर दी।
वहीं पुलिस ने रात में ही पांचों अभियुक्तों को थाना विशेश्वरगंज के ग्राम असनाहवा से गिरफ्तार कर लिया। इस संबंध में प्रभारी निरीक्षक कमलाकांत त्रिपाठी ने बताया कि दोनों पक्षों के बीच मारपीट का मामला है। पैसों के छीने जाने का मामला गलत है। सभी आरोपियों के विरुद्ध शांतिभंग की कार्रवाई कर उपजिलाधिकारी इकौना के न्यायालय पर प्रस्तुत किया गया है।
... और पढ़ें

बस की छत पर सो रहे परिचालक की करंट से मौत

सिरसिया (श्रावस्ती)। बलरामपुर से सिरसिया यात्रियों को लेकर आई निजी बस शनिवार रात डगमरा नाला स्थित आश्रम के पास खड़ी थी। जिसका परिचालक रात में बस की छत पर सो रहा था। जिसके ऊपर से गुजरी हाई टेंशन लाइन की चपेट में आने से परिचालक की मौत हो गई। सूचना पर पहुंची सिरसिया पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिनगा भेज दिया है।
बलरामपुर जिले के थाना गौरा चौराहा अंतर्गत गोदाना गांव निवासी पुत्तूलाल उर्फ रामनिवास निजी बस का परिचालक था। यह बस सिरसिया बलरामपुर मार्ग पर चलती थी। बलरामपुर से शनिवार यात्रियों को लेकर निजी बस सिरसिया आई थी। जहां से सुबह उसे वापस बलरामपुर जाना था। इस दौरान बस को रात में सिरसिया थाना क्षेत्र के डगमरा नाला स्थित आश्रम के पास खड़ा किया गया था। बस के ऊपर से हाई टेंशन विद्युत लाइन गुजरी थी।
देर रात पुत्तूलाल सोने के लिए बस की छत पर गया था। सुबह आश्रम के लोगों ने देखा कि पुत्तूलाल की लाश हाई टेंशन लाइन से चिपकी हुई है। जिसकी सूचना स्थानीय लोगों द्वारा सिरसिया पुलिस को दी गई। सूचना पर पहुंची सिरसिया पुलिस ने लाश का पंचनामा भराकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भिनगा भेज दिया है। साथ ही घटना की जानकारी मृतक के परिवारीजनों को दी गई। सूचना के बाद मौके पर पहुंचे परिवारीजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।
... और पढ़ें

एचटी लाइन की चपेट में आने से युवक की मौत

जमुनहा (श्रावस्ती)। माल्ही चौराहे पर शनिवार को एक युवक ट्रक पर लकड़ी लादने आया था। इस दौरान ट्रक को पीछे करते समय उस पर बैठा युवक हाई टेंशन लाइन की चपेट में आ गया। जब तक लोग कुछ समझ पाते करंट से युवक की मौत हो गई।
माल्ही चौराहा मल्हीपुर व बहराइच के नवाबगंज थाना क्षेत्र की सीमा पर स्थित है। जहां बहराइच के थाना कोतवाली नानपारा के भज्जापुरवा निवासी निसार अली (45) पुत्र शमसाद अली ट्रक पर लकड़ी लादने आया था। शनिवार सुबह करीब 10 बजे वह ट्रक पर बैठा हुआ था। इस दौरान ट्रक चालक ट्रक पीछे करने लगा। तभी निसार अली ऊपर से गुजरी हाई टेंशन विद्युत लाइन की चपेट में आ गया। जब तक किसी को जानकारी होती करंट की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई।
आसपास मौजूद ग्रामीणों की सूचना के बाद पहुंची मल्हीपुर व नवाबगंज पुलिस ने घटना स्थल का जायजा लिया। बाद में नवाबगंज पुलिस की ओर से शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। इस बारे में मल्हीपुर थाना प्रभारी निरीक्षक दद्दन सिंह ने बताया कि घटना स्थल जिले की सीमा से बाहर का था। इसलिए नवाबगंज पुलिस की ओर से कार्रवाई की गई है।
... और पढ़ें

बाढ़ से बचाव की सभी व्यवस्थाएं रहें दुरुस्त

श्रावस्ती। कलेक्ट्रेट स्थित तथागत सभागार में रविवार को संभावित बाढ़ को लेकर राहत एवं बचाव कार्य से संबंधित विभागीय अधिकारियों के साथ डीएम ने बैठक की। इस दौरान डीएम ने कहा कि संभावित बाढ़ एवं अतिवृष्टि को देखते हुए राहत एवं बचाव कार्य से जुड़े सभी अधिकारी अपनी कार्य योजना विगत वर्षों आई बाढ़ के अनुभव के आधार पर तैयार कर लें। जिससे यदि अचानक बाढ़ आती है तो तत्काल बाढ़ पीड़ितों को राहत एवं सहायता प्रदान की जा सके। विगत वर्षों में आई बाढ़ में कितने गांव प्रभावित हुए थे। उन गांवों का दौरा कर ग्रामीणों से वार्ता करके सुझाव के आधार पर राहत एवं बचाव कार्य के लिए पूरी तैयारी की जाए।
बैठक में जिलाधिकारी टीके शिबु ने कहा कि सभी तैयारियां पहले से पूरी कर ली जाएं। जिससे बाढ़ के दौरान तत्काल बाढ़ पीड़ितों की मदद कर उन्हें सुरक्षित किया जा सके। आपदा के दौरान सभी अधिकारी टीम भावना के साथ कार्य करके बाढ़ पीड़ितों की मदद करें। विगत वर्षों में आई बाढ़ के दौरान कितने क्यूसेक पानी बाढ़ में आया था। उसके आधार पर राहत एवं बचाव कार्य के सभी तैयारियां करें। वैज्ञानिकों ने इस बार अच्छी बारिश की संभावना व्यक्त किया है। जिन बंधों एवं स्पर का कार्य अधूरा है अथवा मरम्मत कार्य चल रहा है। उसे युद्ध स्तर पर बरसात से पूर्व ही पूरा कराने का डीएम ने निर्देश दिया।
अधिशासी अभियंता बाढ़ कार्य खंड को निर्देश दिया है कि वह जिले में स्थापित सभी बांधों व स्परों का बारीकी से अपने टीम के साथ निरीक्षण करके देख लें। यदि कहीं मरम्मत की जरूरत है तो तत्काल करवा दें। साथ ही संवेदनशील बांधों पर पैनी नजर रखें । सभी उप जिलाधिकारी बाढ़ से प्रभावित होने वाले गांव में राहत शिविर की स्थापना अधिकारियों व कर्मचारियों की तैनाती नाव एवं नाविक की सूची ब्लॉक एवं ग्राम आपदा प्रबंधन समिति का गठन, जीवनरक्षक उपकरण, मोटरवोट आदि की व्यवस्था सुनिश्चित कर लें। सभी बंधों पर पर्याप्त बोल्डर, बालू की बोरी, नाइलान एवं जियायीक्रेट की व्यवस्था करें। बाढ़ क्षेत्र में बिजली के खंभे एंव तारों को मजबूत करें। बाढ़ आने की स्थिति में विद्युत आपूर्ति की वैकल्पिक व्यवस्था भी करें। राहत वितरण व खाद्य सामग्री के पैकेट आदि वितरण के संबंध में जो निविदा पास हुई है, उन फर्मों को भी संबंधित व्यवस्थाएं करने के लिए बता दिया जाए।
अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. मुकेश मातन हेलिया को निर्देश दिया कि सभी 18 बाढ़ चैकियों पर स्वास्थ्य टीम की व्यवस्था के साथ बरसात के दिनों में होने वाली संक्रामक बीमारियों से बचाव के लिए तैयारियां कर लें। साथ ही यदि किसी को बाढ़ के दौरान सांप काटे तो उनसे बचाव के लिए वैक्सीन सहित अन्य व्यवस्थाओं को दुरुस्त रखा जाए। पशुओं को चारे की कोई दिक्कत न होने पाए। इसके लिए भूसा का इंतजाम करने के साथ ही पशुओं को बीमारियों के बचाव के लिए शत-प्रतिशत टीकाकरण करा दें। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत बाढ़ क्षेत्र के सभी पात्र व्यक्तियों का बीमा करें। साथ ही बाढ़ आने की दशा में वैकल्पिक धान एवं अन्य बीजों की व्यवस्था रखें।
बैठक एडीएम योगानंद पांडे, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट परीक्षित खटाना, एसडीएम प्रवेंद्र कुमार, आरपी चैधरी, आशुतोष कुमार, राजेश कुमार मिश्र, तहसीलदार राजकुमार पांडे, अधिशासी अभियंता बाढ़ कार्य खंड विनोद कुमार, जिला कृषि अधिकारी आरपी राना, भूमि संरक्षण अधिकारी शिशिर वर्मा, आपदा सलाहकार गफ्फार हुमायुं सहित एनडीआरएफ टीम के निरीक्षक व एसएसबी के अधिकारी मौजूद रहे।
बाढ़ से निपटने की यह है व्यवस्था
जिलाधिकारी ने कहा कि पहले से ही कम्यूनिकेशन प्लान तैयार कर लिया जाए। राहत एवं बचाव कार्य के लिए पहले से ही एनडीआरएफ की 11 बटालियन टीम बनारस से जिले में आ चुकी है। जिसके टीम कमांडर प्रिय रंजन है। इस टीम में चार मोटरबोट, सोलह लाइफबॉय रिंग, 24 लाइफ जैकेट, एक टावर लाइट, 12 कटिंग यंत्र, एक आपदा प्रबंधन किट व एक शेल्टर टेंट है। ये कंपनी वर्षा ऋतु तक यहीं रहेगी तथा संभावित आपदा आने पर मदद के लिए तत्पर रहेगी।
यह भी की गई तैयारी
संभावित बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के ऐसे गांव जहां पर बाढ़ के आने की प्रबल संभावना रहती है। इन गांवों में निवासरत 910 व्यक्तियों की सूची बनायी गई है। संभावित आपदा आने के दौरान पहले ही उनके नंबर पर संदेश भेज कर अलर्ट कर दिया जायेगा। डीपीआरओ किरन को निर्देश दिया गया है कि जिले के विद्यालयों में स्थापित शौचालयों एवं पेयजल के लिए स्थापित हैंडपंप वाले स्थलों की सफाई कराए। दोनो नगर निकायों के अधिशासी अधिकारियों को पेयजल के लिए टैंकर की बेहतर ढंग से सफाई कराने को कहा गया है। ताकि बाढ़ के दौरान स्थापित शरणालयों में पेयजल के लिए टैंकर भेजा जा सके।
जलस्तर पर रखेंगे निगाह
सभी एसडीएम, तहसीलदार व नोडल अधिकारियों सहित बाढ़ चैकी प्रभारियों को राप्ती के घटते व बढ़ते जलस्तर पर पैनी नजर रखने का निर्देश दिया गया है। साथ ही उन्हें नाव और नाविकों की सूची एवं उनका मोबाइल नंबर, स्कूलों में तैनात रसोईया, सफाईकर्मी, रोजगार सेवक एवं गांवों में तैनात अन्य कर्मचारियों की भी सूची एवं मोबाइल नंबर अपडेट रखने को कहा गया है। ताकि जरूरत पड़ने पर इनकी सहायता ली जा सके।
... और पढ़ें

बेकाबू ट्रक की टक्कर से युवक की मौत, भाई गंभीर

श्रावस्ती। भिनगा लक्ष्मनपुर मार्ग स्थित भुजंगा खपरीपुर के निकट तेज रफ्तार ट्रक ने मोटर साइकिल को कुचल दिया। इसमें मोटर साइकिल सवार एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि उसके भाई की हालत गंभीर होने के कारण उसे ट्रॉमा सेंटर लखनऊ रेफर किया है। सुचना के बाद मौके पर पहुंची भिनगा कोतवाली पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
सिरसिया थाना क्षेत्र के ग्राम विशुनापुर पड़वलिया निवासी गुज्जी (18) बाइक से शनिवार को किसी काम से लक्ष्मनपुर बाजार की ओर जा रहे थे। इस दौरान बाइक से उसके साथ गुज्जी का छोटा भाई संतोष (17) भी था। जैसे ही गुज्जी बाइक लेकर भिनगा-लक्ष्मनपुर मार्ग स्थित भिनगा कोतवाली क्षेत्र के ग्राम भुजंगा व खपरीपुर के मध्य पहुंचा तभी पीछे से आ रहा राशन लादकर आ रहे ट्रक ने ठोकर मार दी। जिससे दोनों भाई मोटरसाइकिल सहित सड़क पर गिर गए। इस दौरान ट्रक मोटर साइकिल सहित संतोष को रौंदते हुए आगे बढ़ गया। घटना में संतोष की मौके पर मौत हो गई। जबकि गुज्जी गंभीर रूप से घायल हो गया।
ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची भिनगा कोतवाली पुलिस ने गुज्जी को एंबुलेंस से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भिनगा पहुंचाया। जहां हालत गंभीर होने के कारण चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार के बाद उसे ट्रॉमा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया। जबकि लाश को पोस्टमार्टम के लिए भिनगा भेज दिया है। घटना की जानकारी के बाद मौके पर पहुंचे परिवारीजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। वहीं घटना के बाद चालक मौके पर वाहन छोड़ कर फरार हो गया है। मृतक के परिजनों की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने अज्ञात चालक के विरुद्ध मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

राप्ती ने बदला रास्ता, अब ठोकरों पर कर रही कटान

जमुनहा (श्रावस्ती)। राप्ती नदी अक्सर अपना रास्ता बदलती रही है। नदी का धाराएं जहां भी मौका पाती हैं वहां काट कर अपना रास्ता बनाती रही हैं। ऐसे में जब नदी का जलस्तर खतरे का निशान पार कर गया तो इसकी लहरें मधवापुर घाट पुल के निकट रास्ता बदलने को बेताब है। नदी का मुहाना बदलने के कारण पुल व सड़क की सुरक्षा के लिए बनाए गए ठोकर को नदी तेजी से काट कर आगे बढ़ रही है। जिससे सड़क कटने का खतरा बढ़ गया है।
मल्हीपुर भिनगा मार्ग पर स्थित मधवापुर घाट के पास राप्ती नदी में अपना मुहाना बदल लिया है। जहां अब कटान तो धीमी हो गई है। लेकिन पुल के पास सुरक्षा के लिए बनाए गए ठोकर पर नदी तेजी से कटान कर रही है। पुल के पूर्व में बने ठोकर का कई मीटर हिस्सा नदी में कट कर समाहित हो चुका है। वहीं नदी के बदले हुए रूख को देखते हुए लोक निर्माण विभाग ठोकर को बचाने के लिए जुटा हुआ है।
वहीं सर्रा गांव के पास 14 वें किलोमीटर भंगहा मोड़ के पास बनी पुलिया व तेज प्रताप सिंह के बने मकान के सामने नदी के पानी का बहाव तेज होने के कारण सड़क के कटने का खतरा मंडराने लगा है।
अब तक सड़क की उत्तरी पटरी कई मीटर किनारेे कट चुकी है। जिसे बचाने के लिए प्रशासन की ओर से अभी कोई पहल नहीं की गई है। ऐसे में यदि सड़क कटी तो करीब 16 गांव के लोगों का आवागमन ठप हो जाएगा। बल्कि जमुनहा भंगहा मार्ग भी बाधित हो जाएगा। स्थानीय लोगों का मानना है कि प्रशासन को तत्काल पहल करनी चाहिए।
यही स्थिति जमुनहा बहराइच मार्ग स्थित बहोरवा से जोगिया व भालुइया जाने वाले संपर्क मार्ग की भी है। जंगलदास कुट्टी के पास बनी डिप के क्षतिग्रस्त हो जाने के कारण लोगों का आवागमन प्रभावित है। ऐसे में क्षेत्र वासियों ने जिलाधिकारी टीके शिबु से हस्तक्षेप कर आवागमन बहाल कराने के लिए राहत व बचाव कार्य शुरू कराने की मांग किया है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us