बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
साप्ताहिक राशिफल 09 से 15 मई : इन तीन राशियों के लिए खुशनुमा रहेगा ये सप्ताह
Myjyotish

साप्ताहिक राशिफल 09 से 15 मई : इन तीन राशियों के लिए खुशनुमा रहेगा ये सप्ताह

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

यूपी पंचायत चुनाव: वाराणसी के इस गांव में प्रधान पद के लिए पुनर्मतदान, जानें क्या है वजह

वाराणसी के सेवापुरी ब्लॉक के ओदरहां गांव में प्रत्याशी की मौत के बाद रविवार को पुनर्मतदान शुरू हो गया है। शाम 6 बजे तक होने वाले मतदान में सुबह 9 बजे तक 13 प्रतिशत मतदान हुआ है।  सुबह सात बजे से ही दो मतदान केंद्रों पर मतदाता वोट डाल रहे हैं।

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मास्क लगाकर लाइन में खड़े होकर मतदाता अपनी बारी का इंतजार करते रहे हैं। सुरक्षा में लगे पुलिस के जवान सभी मतदाताओं से मास्क व दो गज की दूरी बनाकर खड़े होने का संदेश देते नजर आए।

वहीं मतदान केंद्र पर मतदान करने पहुंचे गांव के मंगरू ने बताया कि कोरोना से बचना भी है, व मतदान करना जरूरी है। इसलिए हम अपने सभी कार्य छोड़कर सुबह ही मतदान करने आ गये हैं। सुबह भीड़ कम रहती है और आसानी से मतदान भी हो जाता है।
... और पढ़ें

सोनभद्र में दर्दनाक हादसा: खाई में कार गिरने से एक की मौत, मृतक भाई समेत तीन घायल

सोनभद्र जिले के चोपन थाना क्षेत्र के तेलगुड़वा के पास वाराणसी-शक्तिनगर मार्ग पर रविवार को एक कार अनियंत्रित होकर खाई में गिर गई। करीब 15 फीट नीचे गिरने से कार चला रहे खलीलाबाद निवासी अखिलेश वर्मा(38), उनके भाई राजेश वर्मा(42) व परिवार के दो अन्य सदस्य घायल हो गए।

सभी को चोपन सीएचसी में भर्ती कराया। वहां प्राथमिक उपचार के बाद अखिलेश की गंभीर स्थिति होने के कारण रेफर कर दिया गया। उन्हें जिला अस्पताल ले जाया जा रहा रहा था, तभी मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार, अनपरा तापीय परियोजना में अवर अभियंता के पद पर तैनात राजेश वर्मा परिवार के साथ अनपरा में ही रहते हैं। उनके छोटे भाई अखिलेश भी अनपरा में ही रहते थे। रविवार की सुबह अपनी कार से सभी लोग खलीलाबाद (संत कबीर नगर) जा रहे थे। तेलगुड़वा से डाला के बीच कार अनियंत्रित होकर खाई में गिर गई।
... और पढ़ें

यूपी: लापता बच्चे का शव दूसरे दिन खेत में मिलने से सनसनी, नाक से निकल रहा खून, हत्या की आशंका

उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले में एक बच्चे का शव मिलने से हड़कंप मच गया। किशोर की लाश सैयदराजा थाना क्षेत्र के मैढी अहलादपुर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से 100 मीटर की दूरी पर खेत मे रविवार की सुबह मिली है। ग्रामीणों की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस आगे की कार्रवाई में जुट गई है।

पुलिस के अनुसार, मैढी अहलादपुर ग्राम निवासी भीम साहनी का(12) वर्ष का बेटा आशू शनिवार की शाम से ही घर से गायब था। परिजनों ने बहुत तलाश की, लेकिन वह कहीं नहीं मिला। बच्चे का शव खेत में मिलने की सूचना पर घर के लोग दौड़कर मौके पर पहुंचे तो देखा कि बच्चे की नाक से खून व गले में चोट के निशान था। जिसे खींचकर वहां लाया गया था।

इसकी सूचना सैयदराजा थाना प्रभारी को दी गई। मौके पर पहुंचे सैयदराजा थाना प्रभारी ने शव को कब्जे में लेकर आगे की कार्यवाही में जुट गए। बच्चे की मौत के बाद परिवार में मातम छाया हुआ है।
... और पढ़ें

वाराणसी: हरिश्चंद्र घाट पर चार कंधों के लिए मोलभाव, मोक्ष की नगरी में अंतिम संस्कार के लिए चुकाने पड़ रहे इतने पैसे

वाराणसी के हरिश्चंद्र घाट पर पंद्रह सीढ़ी, सौ मीटर की दूरी और किराया 14 से 15 हजार रुपये। चौंकने की जरूरत नहीं है। मोक्ष की नगरी में अंतिम संस्कार की यह कड़वी हकीकत है। शासन-प्रशासन के तमाम दावों के बावजूद कोरोना संक्रमितों के अंतिम संस्कार में परिजनों को विवशता में जेब ढीली करनी पड़ रही है।

धर्म, अध्यात्म और मोक्ष की नगरी काशी में अंतिम यात्रा केदौरान शव को कंधा देना जहां कर्तव्य समझा जाता था, वहीं कोरोना संक्रमण ने तो अंतिम यात्रा में चार कंधे मिलना भी मुश्किल हो चुका है। परिजनों की लाचारी और विवशता को देखते हुए हरिश्चंद्र घाट की 15 सीड़ियां, सौ मीटर की दूरी तक कंधा देने के लिए रेट ३५ सौ से चार हजार रुपये प्रति व्यक्ति का रेट रखा गया है।

शुरूआत में यह रेट पांच से छह हजार रुपये था लेकिन मौत का आंकड़ा बढ़ने से कंधा देने वालों का रेट भी अब चार गुना बढ़ गया है। शासन और प्रशासन ने कोरोना संक्रमितों केअंतिम संस्कार निशुल्क कर रखा है लेकिन हकीकत कुछ और ही है। परिजनों को संक्रमितों का अंतिम संस्कार करने में 17 हजार से 22 हजार रुपये तक खर्च करने पड़ रहे हैं।
... और पढ़ें
हरिश्चंद्र घाट। हरिश्चंद्र घाट।

यूपी: रोडवेज को नहीं मिल रहे यात्री, वाराणसी परिक्षेत्र को रोजाना औसतन 40 लाख का हो रहा है घाटा

वाराणसी में कोरोना कर्फ्यू के चलते रोडवेज की कमाई डाउन हो गई है। सिर्फ ट्रेनों से आने वाले यात्रियों से ही बसें दौड़ रही है। हालांकि इसके अलावा रोडवेज बसें बगैर यात्रियों के खाली यानि कि पांच से दस यात्रियों को लेकर ही दौड़ रही है। 

रोडवेज अधिकारियों के अनुसार रोजाना औसतन लगभग 40 लाख रुपये की वाराणसी परिक्षेत्र को घाटा हो रहा है। सिर्फ 18 से 20 लाख की ही कमाई हो रही है। कोरोना कर्फ्यू से पहले 58 से 60 लाख प्रतिदिन कमाई हो रही थी। हर दिन गिरते आमदनी को लेकर रोडवेज अधिकारियों में भी बैचेनी है।

कैंट, काशी, ग्रामीण डिपो की बसें तो एकदम आय की लक्ष्य से भटक गई हैं। चालक व परिचालक भी अब लोड फैक्टर पर बहुत ध्यान नहीं दे रहे हैं। चालक व परिचालकों के अनुसार यात्री बस में सफर करने के लिए अब तैयार ही नहीं है। सिर्फ ट्रेनों से आने वाले यात्री ही बसों में सफर कर रहे हैं। कोविड वैक्सीन का आदेश आने के बाद भी चालक व परिचालकों को वैक्सीन अब तक नहीं लग सकी है। इसे लेकर अधिकतर कर्मियों में नाराजगी है।
... और पढ़ें

यूपी: दो दिन बाद आयुष को घर के बाहर छोड़ कर भागे अपहरणकर्ता, पुलिस ने खोजने को लगाई थीं कई टीमें

मिर्जापुर जिले में देहात कोतवाली क्षेत्र के हरिहरपुर बेदौली गांव से लापता बच्चे(4) को अपहरणकर्ता सोमवार की सुबह में घर के पास बगीचे में छोड़कर चले गए। बच्चे के रोने की आवाज सुनकर परिजन उठे तो देखा बगीचे में आयुष खड़ा है। बेटे को पाकर परिजनों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। सूचना पर पहुंची पुलिस छानबीन में जुटी है।

देहात कोतवाली क्षेत्र निवासी दिलीप उर्फ मंटू मजदूरी करता है। उसे दो पुत्र चार वर्षीय आयुष व दो वर्षीय पीयूष है। शुक्रवार की रात परिवार के साथ घर के बाहर चारपाई पर बच्चे सो रहे थे। एक चारपाई पर उसकी पत्नी दोनों बच्चों के साथ सोई थी।

भोर में लगभग ढाई बजे नींद खुलने पर देखा तो चारपाई पर बड़ा पुत्र आयुष नहीं था। पुत्र को ना पाकर माता पिता परेशान हो गया। खोजबीन की, नहीं मिलने पर पुलिस को सूचना दी। बच्चे को खोजने के लिए कई टीमें लगी थी। रविवार को डॉग स्क्वाड की टीम ने गांव में छानबीन की। खोजी कुतिया कई घरों में गई।
... और पढ़ें

वाराणसी: पंचायत चुनाव में संशय के बीच निर्दलीयों को साधने में जुटी पार्टियां

पंचायत चुनाव में ब्लॉक प्रमुख, जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव पर संशय है। इन सबके बीच पार्टियां निर्दलीयों को साधने में जुटी है। सभी पार्टियां जीतने वाले उम्मीदवार पर दांव लगा रही हैं। उधर पंचायती राज मंत्री चौधरी भूपेंद्र सिंह ने साफ कहा है कि प्रदेश में जिला पंचायत अध्यक्ष एवं ब्लॉक प्रमुख पद के चुनाव कराने का फिलहाल सरकार का कोई इरादा नहीं है। पहले कोविड पर नियंत्रण करना होगा।

इधर सपा और भाजपा चुनावी गणित बैठाने में लगे हैं। कई उम्मीदवार जिला पंचायत सदस्य और बीडीसी से संपर्क कर रहे हैं। 

दरअसल वाराणसी में जिला पंचायत की 40 सीटें हैं । इनमें से एक सीट पर प्रत्याशी की मौत हो गई है। जिसके चलते यह रिक्त हो गई है। जीतने के लिए उम्मीदवार को 50 प्लस वन के जादुई आंकड़े को प्राप्त करना है। इस नाते 21 से 25 सदस्यों को अपने पाले में करने की मुहिम शुरू हो गई है। सभी पार्टियों की नजर निर्दलीयों पर है। क्योंकि 40 में से 11 निर्दलीय जीते हैं। जिस पार्टी को इनका समर्थन होगा।

उस पार्टी के उम्मीदवार की जीत सुनिश्चित है। सपा जिला अध्यक्ष सुजीत यादव ने कहा कि हम अपनी पूरी तैयारी में लगे हैं । जैसे ही तारीख की घोषणा होगी। उम्मीदवार का ऐलान कर दिया जाएगा। भाजपा हार के डर से चुनाव को टाल रही है। भाजपा के जिला अध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा ने कहा कि शासन संगठन के निर्देश पर अगला कदम उठाया जाएगा। फिलहाल हम लोगों के पास चुनाव के लिए कई लोगों के आवेदन आए हैं।
 
... और पढ़ें

यूपी: ट्रैक पर सिर कटी लाश मिलने से सनसनी, पुलिस शिनाख्त करने में जुटी

पंचायत चुनाव।
उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में रेलवे ट्रैक पर एक युवक का शव मिलने से हड़कंप मच गया। युवक की लाश बीच ट्रैक पर पड़ी हुई थी, जिसका सिर कटा हुआ था।

यह शव फूलपुर कोतवाली क्षेत्र के रेलवे डगरे के पास सोमवार की सुबह मिला। सुबह टहलने निकले लोगों ने जब रेलवे लाइन पर शव देखा तो पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

जानकारी के अनुसार, स्थानीय खुरासो रोड रेलवे स्टेशन व नगर पंचायत कार्यालय फूलपुर के पीछे रेलवे डगरे के पास ट्रैक पर शव पड़ा हुआ था। सुबह लोग टहलने निकले तो शव देखा। रेलवे लाइन के पास ही एक साइकिल भी खड़ी थी। सूचना पर फूलपुर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर शिनाख्त का प्रयास किया।
... और पढ़ें

सोनभद्र:  मारकुंडी घाटी में पलटा बल्कर, बिहार निवासी चालक की मौत

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में सोमवार की सुबह राखड़ लड़ा एक बल्कर पलट गया। इस हादसे में बल्कर चालक की मौत हो गई। वह औरंगाबाद बिहार का निवासी बताया जा रहा है। घटना चोपन थाना क्षेत्र के मारकुंडी घाटी में हुई है।

जानकारी के अनुसार, राखड़ लोड बल्कर ऊर्जान्चल से राखड़ लोड करके वाराणसी जा रहा था। सुबह में करीब चार बजे जैसे ही बल्कर मारकुंडी घाटी में पहुंचा तो एक मोड़ पर अनियंत्रित होकर पलट गया। लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने करीब 3 घंटे बाद उसमें फसे चालक के शव को निकाला। उसकी पहचान संतोष सिंह(40) पुत्र विनीत निवासी औरंगाबाद (बिहार) के रूप में हुई। पुलिस के अनुसार, संतोष गाड़ी का चालक था।
... और पढ़ें

वाराणसी में सीएम योगी: डीआरडीओ अस्पताल का किया निरीक्षण, कोरोना की समीक्षा के लिए की बैठक

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार की दोपहर करीब दो बजे वाराणसी पहुंच गए। वह यहां कोरोना संक्रमण को रोकने की स्थिति का जायजा लेने पहुंचे। बीएचयू पहुंचने के बाद मुख्यमंत्री डीआरडीओ के अस्पताल का निरीक्षण किया। वहीं, वाराणसी प्रवास में सीएम योगी आदित्यनाथ होम आइसोलेशन के एक मरीज से टिकरी में उसके घर जाकर मुलाकात करेंगे।

मुख्यमंत्री ने बीएचयू में बनकर तैयार 750 बेड के अस्थायी अस्पताल में व्यवस्थाओं का जायजा लिया। कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए मंडल स्तरीय समीक्षा की बैठक में जनप्रतिनिधि भी रहेंगे। साथ ही स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन के अधिकारी भी शामिल होंगे। बीएचयू में डीआरडीओ की मदद से बनने वाला अस्पताल लखनऊ के बाद प्रदेश का दूसरा कोविड अस्पताल है, जहां कोरोना मरीजों का इलाज होगा। अस्पताल का काम लगभग पूरा हो गया है और सोमवार या मंगलवार से यहां मरीजों की भर्ती भी शुरू कर दी जाएगी।

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि रविवार को मुख्यमंत्री कोविड को लेकर मंडल स्तरीय समीक्षा बैठक कर कोरोना संक्रमण से निपटने के हालात की जानकारी लेंगे। उन्होंने बताया कि पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा डीआरडीओ अस्पताल के शुभारंभ की बात चल रही थी। फिलहाल शुभारंभ टल गया। डीआरडीओ के अधिकारियों से बातचीत होने के बाद सोमवार या मंगलवार से अस्पताल में मरीजों की भर्ती की प्रक्रिया भी शुरू हो जाएगी।
... और पढ़ें

आशिकी में युवक ने लगाई मौत की छलांग: पानी की टंकी से कूदा, नहीं सुनी युवती की गुहार, देखें तस्वीरें

उत्तर प्रदेश के मऊ जिले से एक बहुत हैरान करने वाला मामला सामने आया है। जिसका वीडियो भी वायरल हो रहा है। जिले के फातिमा अस्पताल परिसर में बनी 80 फुट ऊंची पानी की टंकी से एक युवक रविवार दोपहर कूद गया। कूदने से पहले वह फातिमा अस्पताल में ही काम करने वाली एक युवती को बुलाने की जिद कर रहा था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार युवक पानी की टंकी पर चढ़कर  मीडियाकर्मियों को बुलाने की मांग भी करने लगा। युवती को भी बुलाया गया, उसने भी युवक को नीचे उतर जाने को कहा। पुलिस और फायर ब्रिगेड के जवान भी मौके पर पहुंच गए। लगभग डेढ़ घंटे तक चली मान मनौवल के बाद भी युवक नहीं माना और पानी की टंकी से छलांग लगा दी। देखें अगली स्लाइड्स...।
... और पढ़ें

वाराणसी : बीएचयू में दाखिले के लिए कितना करना पड़ेगा इंतजार, जानिए यहां

बीएचयू में स्नातक व स्नातकोत्तर में दाखिले के लिए अभी विद्यार्थियों को लंबा इंतजार करना पड़ सकता है। प्रवेश के लिए अभी ऑनलाइन आवेदन कब से होंगे इस पर बीएचयू प्रशासन की ओर से कोई फैसला नहीं लिया जा सका है।

आमतौर पर हर साल मार्च-अप्रैल महीने से ही प्रवेश के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो जाती है, लेकिन कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से प्रवेश संबंधी व्यवस्थाओं पर कोई ठोस निर्णय नहीं हो सका है। बीएचयू में हर साल न केवल पूर्वांचल बल्कि देश के विभिन्न कोने से लगभग पांच लाख से अधिक अभ्यर्थी आवेदन करते हैं। इस बार आवेदन को लेकर अभ्यर्थियों को बीएचयू प्रशासन के फैसले का इंतजार है।

पिछले साल हुई थी ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा
पिछले साल भी कोरोना काल में ऑनलाइन आवेदन के बाद देश के विभिन्न केंद्रों पर ऑनलाइन प्रवेश परीक्षाएं भी कराई गईं थीं। इस बार भी कोरोना का संक्रमण अभी बना हुआ है ऐसे में माना जा रहा है कि पिछले साल की तर्ज पर ही इस साल भी ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा कराई जा सकती है। हालांकि पिछले दिनों बीएचयू कुलपति की अध्यक्षता में हुई बैठक में बीएचयू प्रशासन की ओर से 30 जून के पहले किसी तरह की कोई परीक्षा न कराए जाने का निर्णय लिया गया है।
... और पढ़ें

वाराणसी: रिटायर्ड आईएएस को साल भर पुराना वीडियो शेयर करना पड़ा महंगा, लंका थाने में मुकदमा

काशी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दौरे के दौरान रविवार को एक वीडियो ट्वीट करना रिटायर्ड आईएएस सूर्य प्रताप सिंह को महंगा पड़ गया। पुलिस ने इस वीडियो को पुराना व गलत करार देते हुए सोशल मीडिया में भ्रामक तथ्यों के साथ अफवाह फैलाने के आरोप में सूर्य प्रताप सिंह के खिलाफ लंका थाने में मुकदमा दर्ज किया गया।

इस संबंध में एडीसीपी काशी जोन विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि सूर्य प्रताप सिंह द्वारा किए गए ट्वीट की एसीपी भेलूपुर से जांच कराई गई। जांच में सामने आया कि जो वीडियो ट्वीट किया गया है वह 24 सितंबर 2020 का है। उस दौरान नाले में शव मिलने के घटना की मजिस्ट्रेटियल जांच भी हुई थी। उस प्रकरण में कोई कार्रवाई अब शेष नहीं है।

सूर्य प्रताप सिंह ने पुराना वीडियो गलत तथ्यों के साथ ट्वीट कर सोशल मीडिया में अफवाह फैलाने और प्रशासन की छवि को धूमिल करने का काम किया है। इसलिए उनके खिलाफ पुलिस की ओर से लंका थाने में मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। उधर, सूर्य प्रताप सिंह ने पलटवार करते हुए ट्वीट कर लिखा कि ऑक्सीजन पर सवाल करने पर मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X