लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Varanasi ›   Rawan Kumbhakaran and Meghnad statue damaged due to rain in bareka varanasi

बारिश ने झुकाया लंकापति का सिर: बरेका में दशानन, कुम्भकरण और मेघनाद भीगे, एक हाथ भी क्षतिग्रस्त

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, वाराणसी Published by: किरन रौतेला Updated Wed, 05 Oct 2022 05:01 PM IST
सार

बारिश से बरेका के रावण को क्षति पहुंची है हालांकि विजयदशमी समिति के लोग उसको ठीक करने में लगे हुए हैं। रावण का परिवार भीग गया है और झुक भी गया है। 

बरेका में दशानन, कुम्भकरण एवं मेघनाद
बरेका में दशानन, कुम्भकरण एवं मेघनाद - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

वाराणसी में अचानक से मौसम की मिजाज बदल गया है। शिव की नगरी काशी में सुबह से हो रही तेज बारिश की वजह से शहर भर में जगह-जगह लगाए गए रावण के पुतले क्षतिग्रस्त हो गए हैं। बारिश से बरेका के रावण को क्षति पहुंची है हालांकि विजयदशमी समिति के लोग उसको ठीक करने में लगे हुए हैं। रावण का परिवार भीग गया है और झुक भी गया है।  एहतियातन रावण और उनके परिवार को सहारे के लिए रस्सी से बांधा गया है। लगातार हो रही बारिश से शहर में जलभराव की स्थिति भी हो गई है। जिससे आम जन मानस को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। 

 

बारिश से क्षतिग्रस्त रावण का पुतला
बारिश से क्षतिग्रस्त रावण का पुतला - फोटो : अमर उजाला
बता दें कि बरेका के केंद्रीय खेल  मैदान में दर्शकों को बैठने के लिए  समिति द्वारा तकरीबन छ हजार कुर्सियां लगाई गई हैं। बरेका केंद्रीय खेल मैदान में राम चरित मानस पर आधारित राम वन गमन से रावण बध तक का रूपक मोनो एक्टिंग का मंचन बरेका इंटर कॉलेज के छात्र व छात्राओं द्वारा ढाई घंटे में प्रदर्शित किया जाता है। 

बरेका में रावण का पुतला
बरेका में रावण का पुतला - फोटो : अमर उजाला
चार रंगों के छ हजार वितरित हुए पास
विजयादशमी समिति ने ढाई घंटे के रुपक को देखने के लिए दर्शकों को चार रंगों का पास वितरित किया गया है। सफेद-रंग के पास धारकों को केन्द्रीय मैदान के मुख्य द्वार से प्रवेश दिया जाएगा। लाल रंग के पास धारकों को बास्केटबॉल कोर्ट के तरफ से प्रवेश होगा। हरे व पीला-रंगो के पास धारकों के लिए प्रशासनिक भवन के तरफ बने गेट से प्रवेश दिया जाएगा । मैदान के पूरब दिशा में बने गेट तथा सिनेमा हॉल के पूरब में बना गेट आम जनता के लिए खुला रहेगा। बरेका दशहरा मेला में दशानन, कुम्भकरण एवं मेघनाद के पुतलों का निर्माण शमशाद खान द्वारा किया गया है। इस बार दशानन, कुम्भकरण एवं मेघनाद क्रमशः 75,70 एवं 65 फिट बनाया गया है ।तीनों पुतलों में कुल तकरीबन 150 पटाखे लगाए गए हैं। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00