बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
हर संकट होगा समाप्त, सावन प्रदोष पर कराएँ विशेष नवग्रह पूजा - फ्री, अभी रजिस्टर करें
Myjyotish

हर संकट होगा समाप्त, सावन प्रदोष पर कराएँ विशेष नवग्रह पूजा - फ्री, अभी रजिस्टर करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

विज्ञापन
Digital Edition

गाजीपुरः पूर्व मंत्री नारद राय के वाहन से उचक्कों ने उड़ाया सूटकेस, सीसीटीवी खंगाल रही पुलिस

गाजीपुर के सकलेनाबाद स्थित एक शोरूम के सामने सोमवार की शाम करीब पांच बजे पूर्व मंत्री सपा नेता नारद राय के लक्जरी वाहन से उचक्कों ने सूटकेस उड़ा दिया। उसमें चार से पांच बैंकों के चेकबुक, एटीएम, महत्वपूर्ण कागजात और करीब 30 हजार रुपये मौजूद थे। सूचना पर पहुंची पुलिस ने एटीएम एवं शोरूम के सीसीटीवी कैमरे का फुटेज देखा।

सीसीटीवी में तीन उचक्के सूटकेस लेकर सीसीटीवी में जाते नजर आ रहे हैं। सपा नेता व पूर्व मंत्री नारद राय अपने निजी वाहन से वाराणसी से बलिया जा रहे थे। सकलेनाबाद स्थित एक शोरूम के सामने उनके वाहन का पहिया पंचर हो गया। इस पर चालक करुणाकर राय ने वाहन रोककर पहिया बदलना शुरू कर दिया।

इधर पूर्व मंत्री नारद राय अपने सरकारी गनर के साथ सड़क पर उतरकर टहलते हुए आगे बढ़ गए। इसी दौरान तीन उचक्कों ने वाहन में रखे सूटकेस पर हाथ साफ कर दिया। पहिया बदलने के बाद जब पूर्व मंत्री अपने वाहन में आकर बैठे तो सूटकेस गायब देख वे चालक से पूछताछ करने लगे। घटना की जानकारी होते ही मौके पर लोगों की भीड़ लग गई।

सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। साथ एटीएम एवं शोरूम के सामने लगे सीसीटीवी कैमरे को खंगालने में जुट गई। छानबीन के दौरान सीसीटीवी कैमरे में तीन उचक्के सूटकेस ले जाते दिखाई पड़े। फिलहाल पुलिस तीनों उचक्कों को चिह्नित कर दबोचने में जुटी हुई है।
... और पढ़ें

बलियाः राज्यमंत्री आनंद शुक्ला और 50 अन्य पर परिवाद दर्ज, महिलाओं से बदसलूकी का आरोप

मांगों के लिए राज्यमंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला के आवास पर गई महिलाओं से मारपीट, गालीगलौज करने, गहने छीनने के आरोप के मामले में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में याचिका दाखिल की गई थी। इसमें राज्यमंत्री, कोतवाल बालमुकुंद मिश्रा समेत छह और 40-50 अन्य लोगों के खिलाफ 22 जुलाई को परिवाद दर्ज कर लिया गया। साथ ही, बयान दर्ज कराने के लिए 24 अगस्त की तिथि निर्धारित की गई है। इधर, राज्यमंत्री आनंद स्वरूप और कोतवाल ने परिवाद दर्ज होने की जानकारी से इनकार किया है।

बलिया के मोहल्ला बनकटा निवासी रानी देवी पत्नी लल्लन शाह ने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट बलिया के यहां परिवाद दर्ज करने के लिए याचिका दाखिल की थी। इसमें कहा था कि मोहल्ले के कई बच्चों का स्कूलों में प्रवेश हुआ है। योजना के तहत बच्चों को पाठ्य पुस्तकें, ड्रेस आदि के लिए 5000 रुपये सहायता राशि देने का प्रावधान है। लेकिन, पिछले दो साल से यह धनराशि नहीं मिल रही है।

इसको लेकर पांच अप्रैल की दोपहर रानी देवी और अन्य महिलाएं राज्यमंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला के आवास पर गई थीं। आरोप है कि उनकी मांगें सुनकर राज्यमंत्री, उनके भाई और अन्य लोग नाराज हो गए। इसके बाद धक्का देकर आवास से बाहर निकालने लगे। उन लोगों ने गाली-गलौज करने के साथ ही मारपीट भी की। गहने भी छीन लिए। पुलिस को बुलाकर लाठीचार्ज कराया गया। मोबाइल फोन छीनकर बंधक बनाते हुए घटना का वीडियो डिलीट करा दिया। इसके बाद सादे कागज पर दस्तखत भी करा लिए गए। शिकायत करने पर भी पुलिस ने एफआईआर दर्ज नहीं की।
... और पढ़ें

जौनपुरः खुली रही क्रॉसिंग और पहुंच गई ट्रेन, वाहन सवारों में अफरातफरी, लोको पायलट की सूझबूझ से बचा हादसा

वाराणसी-लखनऊ रेल मार्ग पर जौनपुर में सुल्तानपुर गेट नंबर-3 बी पर हादसा होने से बच गया।  फाटक खुला रहा और ट्रेन पहुंच गई। सुबह 9:16 मिनट पर सुल्तानपुर से वाराणसी की तरफ पैसेंजर ट्रेन जा रही थी। लोको पायलट ने देखा कि सुल्तानपुर का गेट नंबर 3 बी बंद नहीं है और कई वाहन ट्रैक पर हैं। तब पायलट ने ट्रेन रोक कर ट्रैफिक पास होने के बाद धीरे-धीरे गाड़ी को आगे बढ़ाया।

पायलट ने सूझबूझ का परिचय दिया। इससे कोई हादसा नहीं हुआ। घटना के वक्त ट्रेन को आता देख दर्जनों बाइक, साइकिल व चार पहिया वाहन सवारों में दहशत फैल गई थी।  जफराबाद स्टेशन अधीक्षक  संजीव कुमार का कहना था कि पैसेंजर ट्रेन आने के पहले जफराबाद से सुल्तानपुर की तरफ मालगाड़ी पास हुई थी। इस कारण से गेट पर भारी ट्रैफिक था।

गेट खोलकर  ट्रैफिक पास कराया जा रहा था। तभी सुल्तानपुर की तरफ से आने वाली पैसेंजर का सिग्नल हो गया। जिस कारण गेट बंद नहीं हो सका। उन्होंने कहा कि गेट नंबर 3 बी सिग्नल वाला गेट है। ड्राइवर गेट खुला रहने पर भी अपने सूझबूझ से धीरे-धीरे ट्रेन ले जा सकता है। यह रूल में है। यही बात क्रॉसिंग गेट पर तैनात गेट मैन रमेंद्र नाथ मिश्रा ने भी कही।
... और पढ़ें

पोर्न फिल्म विवाद: राज कुंद्रा का सामने आया वाराणसी कनेक्शन, जांच के लिए आ सकती है मुंबई पुलिस की टीम

पोर्न फिल्म विवाद में फंसे राज कुंद्रा का वाराणसी कनेक्शन सामने आया है। राज कुंद्रा का साझेदार अरविंद श्रीवास्तव मूल रूप से बनारस का रहने वाला है। हालांकि कुछ साल पहले उसके पिता कानपुर में शिफ्ट हो गए थे। पुलिस जांच में इन कड़ियों को भी जोड़ने का प्रयास कर रही है। इधर, मुंबई पुलिस ने वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस से भी संपर्क साधा है। मामला हाई प्रोफाइल होने की वजह से स्थानीय पुलिस अभी इस मामले में बोलने से बच रही है। 

फिल्म विवाद की जांच कर रही मुंबई पुलिस इस मामले से जुड़े एक-एक पहलुओं को गंभीरता से ले रही है। इसके अलावा राज कुंद्रा के साझीदार के कानपुर और वाराणसी कनेक्शन की जानकारी के बाद क्राइम ब्रांच के साथ ही एलआईयू सहित अन्य खुफिया विभाग के लोग भी इसकी कड़ी तलाशने में लगे हैं।

बताया जा रहा है कि जांच के लिए मुंबई पुलिस कभी भी वाराणसी आ सकती है। पुलिस वाराणसी के गिलट बाजार में रहने के दौरान अरविंद के रहने के दौरान उसके करीबियों से भी पूछताछ कर इससे जुड़े तथ्य जुटाने का प्रयास करेगी। कानपुर में क्राइम ब्रांच ने अरविंद के पिता नर्मदा श्रीवास्तव से भी इस बारे में पूछताछ की है।
... और पढ़ें
राज कुंद्रा राज कुंद्रा

इंसानियत: पैसे के अभाव में पिता का शव लिए घंटों बैठी रही बेटी, काशी के 'कबीर' ने कराया अंतिम संस्कार

कोरोना काल में जहां कई लोग जहां एक दूसरे की मदद में जुटे हुए हैं, वहीं कुछ ऐसे भी हैं जो मुसीबत के समय भी अपनों से मुंह मोड़ लेते हैं। कुछ ऐसा ही मामला वाराणसी  में सामने आया जब घर-घर झाड़ू-पोछा लगाने वाली बेटी प्रेमलता के पिता की आकस्मिक मौत हो गई।

मौत के बाद पिता के अंतिम संस्कार के लिए बेटी के पास पैसे नहीं थे। रातभर वो पिता के शव के पास बैठकर रोती रही। किसी ने इसकी सूचना समाजसेवी अमन कबीर को दी। जिसके बाद अमन ने घर पहुंचकर प्रेमलता के पिता का मर्णिकर्णिका घाट पर अंतिम संस्कार कराया।  

पाण्डेयपुर निवासी प्रेमलता रविवार को जब काम के बाद घर लौटी तो पिता रामकुमार की तबीयत सही नहीं थी। उसके पास पिता का इलाज कराने के पैसे भी नहीं थे। दर्द से तड़पते पिता रामकुमार गुप्ता ने बेटी के सामने की दम तोड़ दिया। सूचना पर भी जब रिश्तेदार नहीं पहुंचे तो बेटी शव को चादर में लपेटकर रात भर कमरे में बैठी रही।
... और पढ़ें

राज्यसभा में शिक्षामंत्री ने दिया जवाब: बीएचयू में शिक्षकों के 422 और कर्मियों के 3695 पद हैं खाली

वाराणसी स्थित काशी हिंदू विश्वविद्यालय में शिक्षकों के 422 और कर्मचारियों के 3695 पद इस समय खाली हैं। यह चौंकाने वाली जानकारी केंद्रीय शिक्षामंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने राज्यसभा में दी है।  राज्यसभा में भाजपा सांसद नीरज शेखर की ओर से विश्वविद्यालयों में स्वीकृत और खाली पदों पर एक सवाल पूछा गया था। जिसके जवाब में केंद्रीय शिक्षामंत्री ने बीएचयू  सहित अन्य विश्वविद्यालयों  में खालों पदों की जानकारी दी।  

अगर आंकड़ों की बात करें तो बीएचयू में शिक्षकों के कुल 2104 पदों में इस समय 422 और कर्मचारियों के 8846 पदों में से 3695 पद खाली पड़े हैं। यानी शिक्षकों के एक चौथाई और कर्मचारियों के आधे से थोड़े कम पद खाली है।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने बताया कि देश भर के केंद्रीय विश्वविद्यालयों में 18911 टीचिंग पोस्ट हैं, जिनमें से 6136 और नान टीचिंग में 36351 सीटों में से 13706 पोस्ट खाली पड़ी हैं। बीएचयू में 32 हजार से ज्यादा छात्र पढ़ाई करते हैं। वहीं फैकल्टी की कमी शिक्षक और छात्र अनुपात के अनुपात को असंतुलित करते हैं।
... और पढ़ें

सावन का पहला सोमवारः गंगधार से विश्वनाथ दरबार तक रही भक्तों की कतार, तस्वीरों में देखें दिन भर का हाल

सावन के पहले सोमवार को गंगधार से बाबा दरबार एकाकार नजर आया। महामारी काल में श्रद्धा, आस्था व उमंग की हिलोरें के साथ भक्तिभाव से श्रद्धालुओं ने आदि विश्वेश्वर का जलाभिषेक किया। मंगला आरती से शुरू हुआ दर्शन पूजन व जलाभिषेक का सिलसिला खबर लिखने तक चलता रहा। शाम सात बजे के बाद भी लोग कतारबद्ध दिखे। बाबा का दरबार हर-हर, बम-बम के जयघोष से गूंजता रहा। स्टील की बैरिकेडिंग में रेड कार्पेट से गुजरते हुए भक्त बाबा दरबार पहुंच रहे थे। गर्भगृह में किसी को जाने की इजाजत नहीं थी। बाहर से लगे पात्र में ही जल दूध अर्पित कर भक्त बाबा का झांकी दर्शन करते रहे।

 बाबा को जल अर्पित कर किसी ने परिवार की खुशहाली तो किसी ने वैश्विक महामारी को खत्म करने की कामना की। अपराह्न 3 बजे तक 35 हजार 5 सौ लोगों ने बाबा दरबार में हाजिरी लगाई। बुजुर्गों व दिव्यांग लोगों को सीधे गेट नंबर एक से प्रवेश मिला। कोरोना को देखते हुए मंदिर प्रशासन ने काशी विश्वनाथ मंदिर के गर्भगृह में पूजन का कई स्थानों पर लाइव टेलीकॉस्ट भी शुरू किया था। एलईडी स्क्रीन पर शिवभक्तों ने बाबा का दर्शन किया। आगे की स्लाइड्स में देखें..
... और पढ़ें

अमर उजाला फाउंडेशन की पहलः कारगिल विजय दिवस पर बीएचयू में रक्तदान शिविर आयोजित, लोगों ने बढ़-चढ़कर की भागीदारी

बाबा के दरबार में हर-हर, बम-बम का जयघोष
अमर उजाला फाउंडेशन की ओर से कारगिल विजय दिवस पर सोमवार को बीएचयू में आयोजित रक्तदान शिविर में लोगों ने बढ़-चढ़कर भागीदारी की। कोरोना प्रोटोकॉल के साथ हुए शिविर में आए 50 लोगों में 34 लोगों ने रक्तदान कर जरूरतमंदों की जान बचाने का संकल्प लिया।  बीएचयू राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यालय पर बीएचयू ब्लड बैंक के सहयोग से आयोजित शिविर का उद्घाटन कर चीफ प्रॉक्टर प्रो. आनंद चौधरी ने किया।

रक्तदाताओं का उत्साह बढ़ाते हुए कोरोना काल में उनके प्रयास को सराहा। कहा कि स्वैच्छिक रक्तदान के लिए सभी को आगे आने की जरूरत है।  उधर राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम समन्वयक डॉ. बाला लखेंद्र की देखरेख में स्वयंसेवकों ने भी रक्तदान किया। सपा नेता अमन यादव के नेतृत्व में भी युवाओं ने बीएचयू पहुंचकर रक्तदान किया।


बीएचयू ब्लड बैंक प्रभारी डॉ. संदीप कुमार ने कहा कि स्वैच्छिक रक्तदान की वजह से ही जरूरत पड़ने पर बिना डोनर वाले मरीज को खून की जरूरत पड़ने पर उसकी मदद की जा सकती है। एक स्वस्थ व्यक्ति को रक्तदान जरूर करना चाहिए। इस दौरान बीएचयू के शिक्षकों, कर्मचारियों के साथ ही युवाओं ने भी रक्तदान किया। इस दौरान रक्तदाताओं को फाउंडेशन की ओर से प्रशस्ति पत्र मौके पर ही दिया गया। 
... और पढ़ें

मिशन 2022: बलिया की धरती से ब्राह्मणों को साधेगी सपा, 23 अगस्त को आएंगे पूर्व सीएम अखिलेश यादव

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 को देखते हुए राजनीतिक दलों की ओर से तैयारियां शुरू कर दी गईं हैं।  बीते दिनों बसपा की ओर से अयोध्या से शुरू हुए  ब्राह्मण सम्मेलन के बाद समाजवादी पार्टी  भी ब्राह्मणों को लुभाने की तैयारियों में जुट गई है। सपा ने ब्राह्मण सम्मेलन का आगाज बलिया की धरती से अगस्त महीने से करने का एलान किया है।

कार्यक्रम की जिम्मेदारी सपा के पांच ब्राह्मण नेताओं के कंधों पर रखी गई है। ब्राह्मण वोटर भाजपा का कोर वोटर माना जाता है। विधानसभा चुनाव से पहले इस समाज को अपने साथ करने के लिए सभी दलों ने ताकत झोंक दी है। बसपा के बाद अब सपा द्वारा ब्राह्मण वोटरों को लुभाने के लिए पूरे प्रदेश में ब्राह्मण सम्मेलन कराने की तैयारी शुरू की गई है।

सपा सूत्रों के अनुसार, सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पूर्व विधानसभा अध्यक्ष माताप्रसाद पांडेय, पूर्व मंत्री अभिषेक मिश्रा, मनोज पांडेय, पवन पांडेय और सनातन पांडेय को ब्राह्मण सम्मेलन की जिम्मेदारी दी है। खास बात यह है कि ब्राह्मण सम्मेलन की शुरुआत 23 अगस्त को टाउन डिग्री कॉलेज के मैदान बलिया से होने की संभावना है। ब्राह्मण सम्मेलन में पूर्वांचल सहित प्रदेश के ब्राह्मण नेताओं का जमावड़ा होगा। इसमें सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी शिरकत करेंगे। इसकी तैयारी अभी से शुरू हो गई है।
... और पढ़ें

आजमगढः जेल में बढ़ रहीं मुख्तार अंसारी की मुश्किलें, पेशी के दौरान उत्पीड़न व सुविधाएं न मिलने का लगाया आरोप

माफिया मुख्तार अंसारी की सोमवार को गैंगेस्टर कोर्ट (आजमगढ़) में पेशी हुई। इस दौरान मुख्तार ने जेल में उत्पीड़न और जेल मैनुअल के अनुरूप सुविधाएं नहीं मिलने का आरोप लगाया। पेशी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए हुई। इस मामले में सुनवाई की अगली तिथि 26 अगस्त नियत की गई है।      

आजमगढ़ जिले के तरवां थाना क्षेत्र के ऐराखुर्द गांव में सड़क निर्माण के ठेके को लेकर मुख्तार गैंग ने निर्माण कार्य करा रहे ठेकेदार पर हमला किया था। इस घटना में ठेकेदार तो बाल-बाल बच गया लेकिन उसके दो मजदूरों को गोली लगी थी। जिसमें एक की इलाज के दौरान मौत हो गई थी।

इस मामले में तरवां थाने में मुख्तार अंसारी और उसके साथियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। इसी घटना में मुख्तार व सहयोगियों पर गैंगेस्टर के तहत भी मुकदमा पंजीकृत किया गया। जब मुकदमा दर्ज हुआ तो उस समय मुख्तार पंजाब के रोपड़ जेल में बंद था।

वहां से प्रदेश के बांदा जेल पहुंचते ही जिले के गैंगेस्टर कोर्ट में मुकदमे की सुनवाई वीडियो कांफ्रेंसिंग  के माध्यम से शुरू हो गई। सोमवार को पेशी  के दौरान मुख्तार की  ने जेल में उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए जेल मैनुअल के हिसाब से टीवी आदि की सुविधा न दिए जाने का आरोप लगाया। अगली सुनवाई की तिथि 26 अगस्त तय की गई है।   
... और पढ़ें

दहेज में कार नहीं लाने पर बहू को जलाकर मारने वाले सास-ससुर सहित चार को 10 साल की कैद

दहेज में कार न मिलने पर बहू को जलाकर मार डालने के मामले में विशेष न्यायाधीश (भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम) पुष्कर उपाध्याय की कोर्ट ने सजा सुनाई है। आरोपित सास तारा चौबे, ससुर उमेश चंद्र चौबे, देवर मनीष एवं ननद अलका को दोषी पाते हुए दस- दस साल की सजा सुनाई गई।  साथ ही अदालत ने आरोपितों पर तीन-तीन हजार रुपया जुर्माना भी लगाया है।

चारों आरोपित उसी समय से जेल में हैं, जबकि मृतका के पति आशीष चौबे को संदेह का लाभ देते हुए दहेज हत्या के आरोप से बरी कर दिया। अदालत में अभियोजन पक्ष की ओर से एडीजीसी द्वय विनय कुमार सिंह व कमलेश यादव ने पैरवी की। अभियोजन पक्ष के अनुसार मऊ जिला के रानीपुर थानांतर्गत ब्राह्मणपुरा गांव निवासी अवधेश दूबे की पुत्री प्रियंका की तीन मार्च 2014 को वाराणसी के श्यामपुरी कालोनी, मीरापुर बसही (शिवपुर) निवासी उमेश चंद्र चौबे के बेटे आशीष चौबे के साथ हुई।

शादी के कुछ दिन बाद से ही दहेज में कार लाने की मांग करते ससुराल वाले उसे तरह तरह से प्रताड़ित करने लगे। शादी को एक साल भी नहीं बीता कि उपरोक्त अभियुक्तों ने 17 सितंबर 2014 की शाम में प्रियंका के ऊपर मिट्टी का तेल डालकर उसे जला दिया। बाद में अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई। पुलिस ने विवेचना के बाद आरोपितों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया।अदालत ने दोनो पक्ष के सुनने व साक्ष्य के अवलोकन के बाद आरोपितों को दोषी पाते हुए सजा सुनाई।
... और पढ़ें

वाराणसी: बीएचयू चौकी के पास नशे में धुत कार चालक ने राहगीरों को मारी टक्कर, लोगों ने पीटा फिर पुलिस को सौंपा

काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के सीर गेट के समीप डाफी से छित्तूपुर मार्ग पर सोमवार की रात नशे में धुत कार चालक ने अनियंत्रित होकर बाइक व साइकिल सवार चार राहगीरों को टक्कर मार दी। टक्कर मारने के बाद चालक कार लेकर भागने लगा लेकिन कुछ दूरी पर राहगीरों ने उसे पकड़कर जमकर पिटाई के बाद पुलिस को सौंप दिया। हादसे में किसी को गंभीर चोटें नहीं आई। पुलिस चालक को हिरासत में लेकर कार्रवाई में जुट गई। 

शराब के नशे में सिपाही ने जमकर काटा बवाल
सारनाथ। वर्दी में पुलिसकर्मी शराब के नशे में बियर की दुकान पर खड़े कुछ युवकों से उलझ पड़ा। सूचना पर पहुंची स्थानीय पुलिस ने दोनों पक्षों को समझा बुझाकर मामला शांत कराया। सोमवार की देर रात आशापुर चौराहे पर स्थित एक बियर की दुकान पर कुछ युवक आपस में बातचीत कर रहे थे, इतने में बलुआ थाने का वर्दीधारी सिपाही पंकज यादव बियर की दुकान पर पहुंचा और युवकों से उलझ गया। फिर सिपाही डायल 112 पर फोन कर सूचना बताया कि दो सोने की चेन छीन ली गई है। सुचना पर थाना प्रभारी कुलदीप दुबे मौके पर पहुंचते ही दोनों पक्ष दोनों पक्ष निकल गए। 
... और पढ़ें

वाराणसीः पूर्वांचल के औद्योगिक विकास के लिए रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर में होगा मंथन, जुटेंगे इन जिलों के उद्यमी

पूर्वांचल में औद्योगिक विकास की गंगा बहने की असीम संभावनाएं हैं। बस थोड़ी सहायता और प्रोत्साहन की जररूत है। इसी प्रोत्साहन को गति देने और औद्योगिक विकास का खाका खींचने के लिए पूर्वांचल भर के उद्यमियों का जुटान 27 जुलाई को वाराणसी में होने जा रहा है। वाराणसी के सिगरा स्थित रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर में  कार्यक्रम रखा गया है।

इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन वाराणसी की ओर से पूर्वांचल में औद्योगिक विकास की संभावनाएं एवं आईआईए की भूमिका विषयक संगोष्ठी का आयोजन किया गया है। इस संगोष्ठी में सरकार की मंशा के अनुरूप पूर्वांचल में तीव्र औद्योगिक विकास के लिए मंथन किया जाएगा। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि आयुक्त वाराणसी मंडल  दीपक अग्रवाल एवं आयुक्त विंध्याचल मंडल योगेश्वर राम मिश्रा व विशिष्ट अतिथि जिलाधिकारी वाराणसी कौशल राज शर्मा होंगे।

अध्यक्षता आईआईए के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक कुमार अग्रवाल करेंगे। आईआईए के राष्ट्रीय पदाधिकारी एवं भारतीय जनता पार्टी लघु उद्योग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष कुश पुरी कार्यक्रम में शामिल रहेंगे। आईआईए के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आरके चौधरी ने बताया कि संगोष्ठी में पूर्वांचल के सभी जिलों से इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के पदाधिकारी एवं उद्यमी भाग लेंगे। वाराणसी, चंदौली, गाजीपुर, जौनपुर, मिर्जापुर, सोनभद्र, भदोही समेत अन्य जिलों के उद्यमी आ रहे हैं।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us