लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Pithoragarh ›   Tawaghat-Lipulekh road remained closed for the seventh day

सातवें दिन भी बंद रही तवाघाट-लिपुलेख सड़क

Haldwani Bureau हल्द्वानी ब्यूरो
Updated Thu, 29 Sep 2022 10:57 PM IST
तवाघाट लिपुलेख सड़क के पेलसीती झरने के पास आदि कैलाश यात्रियों को रास्ता पार कराते एसएसबी के जवा?
तवाघाट लिपुलेख सड़क के पेलसीती झरने के पास आदि कैलाश यात्रियों को रास्ता पार कराते एसएसबी के जवा? - फोटो : PITHORAGARH
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पिथौरागढ़। तवाघाट-लिपुलेख सड़क सातवें दिन भी बंद रही। बृृहस्पतिवार को हेलिकॉप्टर आने की कोई सूचना नहीं होने पर लोग गुंजी हेलिपैड नहीं पहुंचे। इस कारण सेना के हेलिकॉप्टर ने मात्र एक उड़ान से तीन यात्रियों को रेस्क्यू किया। वहीं बृहस्पतिवार को आदि कैलाश ट्रैक ऑपरेटर के 19 यात्री, निगम और अन्य टूर ऑपरेटरों के फंसे यात्रियों के धारचूला पहुंचने पर सभी ने राहत की सांस ली है।

तम्पा मंदिर के पास भूस्खलन के कारण तवाघाट-लिपुलेख सड़क बंद हो गई थी। तब से लोग जान जोखिम में डालकर आवाजाही कर रहे हैं। बृहस्पतिवार को सेना के हेलिकॉप्टर ने एक उड़ान भरी और तीन यात्रियों को रेस्क्यू किया। बता दें कि बुधवार को सेना के हेलिकॉप्टर का एक मात्र उड़ान होने पर आदि कैलाश ट्रैक ऑपरेटर के आदि कैलाश के 19 यात्री, 2 गाइड और तीन चालक निराश होकर 11 बजे गुंजी से पैदल ही धारचूला को निकल पड़े। शाम को नजंग पहुंचने पर उन्हेें कोई वाहन नहीं मिला। इसके बाद उन्हें एसएसबी 11वीं वाहिनी के नजंग चौकी में रात गुजारनी पड़ी।

गाइड अर्जुन कुटियाल ने बताया कि निवेदन करने पर एसएसबी ने उनकी टीम एवं यात्रियों के लिए रात में रहने और खाने की व्यवस्था की। यात्रियों एवं आदि कैलाश ट्रैक संचालक लक्ष्मण कुटियाल और नगेंद्र कुटियाल ने एसएसबी नजंग चौकी इंचार्ज उपनिरीक्षक घनश्याम शर्मा और जवानों की इस मदद के लिए आभार जताया।
वहीं बृहस्पतिवार सुबह इन सभी यात्रियों ने तम्पा मंदिर के पास बंद सड़क पर जान जोखिम में रखकर गाइड और एसएसबी जवानों की मदद से पैदल ही सड़क पार की। उसके बाद धारचूला सकुशल पहुंचने पर राहत की सांस ली। आदि कैलाश ट्रैक संचालक लक्ष्मण कुटियाल ने बताया कि उनके 19 यात्री, निगम और अन्य टूर आपरेटरों के फंसे सभी यात्रियों के धारचूला पहुंचने पर सभी ने राहत की सांस ली है।
उपजिलाधिकारी नंदन कुमार के निर्देश पर बृहस्पतिवार को तहसीलदार डीके लोहनी तम्पा मंदिर तक पहुंचे और कार्यदायी संस्था गर्ग एंड गर्ग कंपनी को सड़क शीघ्र खोलने के निर्देश दिए। तहसीलदार ने बताया कि बोल्डर लगातार गिरने पर सड़क खोलने में दिक्कतें आ रही हैं। उन्होंने बताया कि पेलसीती झरने के पास सड़क खुल गई है। तम्पा मंदिर के पास बंद सड़क शनिवार तक खुलने की उम्मीद है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00